अध्याय 14. आधुनिक भारत – उदारवादी चरण L2

1025. स्वराज को बतौर राष्ट्रीय मांग के रूप में सर्वप्रथम रखा था
(a) बी.जी. तिलक ने (b) सी.आर. दास ने
(c) दादाभाई नौरोजी ने (d) महात्मा गाँधी ने
Answer:─(c)


1026. भारत के ‘ग्रैण्ड ओल्ड मैन’ की संज्ञा किसे दी जाती है?
(a) दादाभाई नौरोजी (b) गोपाल कृष्ण गोखले
(c) रमेश चन्द्र बैनर्जी (d) सर सैयद अहमद खाँ
Answer:─(a)


1027. कांग्रेस ने ‘स्वराज’ प्रस्ताव वर्ष 1906 में पारित किया। प्रस्ताव का उद्देश्य था
(a) अपने लिए संविधान बनाने का अधिकार ‚ परन्तु ऐसा नहीं हुआ
(b) स्वशासन (Self-rule) सुनिश्चित करना
(c) उत्तरदायी सरकार
(d) स्वयं की सरकार
Answer: – (b)


1028. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उदारवादी युग में ‘भारतीय ग्लैडस्टोन’ की उपाधि दी गई
(a) एम.ए. जिन्ना को
(b) गोपाल कृष्ण गोखले को
(c) फिरोजशाह मेहता का
(d) दादा भाई नौरोजी को
Answer: (d)


1029. निम्नलिखित में से किस नेता ने 1906 में कलकत्ता कांगे्रस अधिवेशन की अध्यक्षता की थी?
(a) बाल गंगाधर तिलक (b) गोपालकृष्णए गोखले
(c) अरबिन्द घोष (d) दादाभाई नौरोजी
Answer: (d)


1030. “राजा जनता के लिये बने हैं; जनता राजा के लिये नहीं बनी है” ‚ राष्ट्रीय आन्दोलन के दौरान निम्नलिखित में से किसने यह वक्तव्य दिया था?
(a) सुरेन्द्रनाथ बनर्जी ने (b) आर. सी. दत्त ने
(c) दादाभाई नौरोजी ने (d) गोखले ने
Answer: – (c)


1031. ब्रिटिश हाउस ऑफ कामन्स में चुने जाने वाले दादाभाई नौरोजी प्रथम भारतीय थे जिन्होंने इस दल की टिकट पर चुनाव लड़ा:
(a) उदारवादी दल (b) मजदूर दल
(c) कंजर्वेटिव दल (d) साम्यवादी दल
(e) उपरोक्त में से कोई नहीं/ उपरोक्त में से एक से अधिक
Answer: (a)


1032. निम्नलिखित में से किसे भारतीय ग्लैडस्टोन कहा जाता है?
(a) विपिन चन्द्र पाल (b) जी.के. गोखले
(c) दादाभाई नौरोजी (d) एस.एन. बनर्जी
Answer: (c)


1033. दादा भाई नौरोजी आमतौर पर किस नाम से जाने जाते थे─
(a) पंजाब केसरी
(b) गुजरात रत्न
(c) गुरुदेव
(d) ग्रैण्ड ओल्ड मैन ऑफ इण्डिया
Answer:─(d)


1034. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उदारवादी युग में ‘भारतीय ग्लैडस्टोन’ की उपाधि दी गई
(a) एम.ए. जिन्ना को
(b) गोपाल कृष्ण गोखले को
(c) फिरोजशाह मेहता का
(d) दादा भाई नौरोजी को
Answer: (d)


1035. ‘दी ग्रैण्ड ओल्ड मैन ऑफ इंडिया’ के नाम से कौन जाना जाता था?
(a) बी.जी. तिलक (b) जी.के. गोखले
(c) महात्मा गाँधी (d) दादाभाई नोरोजी
Answer:─(d)


1036. निम्नलिखित में से कौन कथन दादाभाई नौरोजी के विषय में सत्य नहीं है?
(a) उन्होंने ‘पावर्टी एण्ड अनब्रिटिश रुल इन इंडिया’ पुस्तक लिखी थी
(b) उन्होंने गुजराती के प्रोफेसर के रूप में यूनिवर्सिटी कालेज लंदन में कार्य किया था
(c) उन्होंने बम्बई में महिला शिक्षा की नींव रखी थी
(d) वे ब्रिटिश पार्लियामेन्ट के सदस्य के रूप में अनुदारवादी पार्टी के टिकट पर चुने गये थे
Answer:─(d)


1037. दादाभाई नौरोजी के विषय में निम्नलिखित में से कौन सा एक कथन असत्य है?
(a) वह पहले भारतीय थे जो एलफिन्स्टन कॉलेज ‚ बम्बई में गणित एवं भौतिकी के प्रोफेसर नियुक्त हुए थे
(b) 1892 में उन्हें ब्रिटिश पार्लियामेन्ट का एक सदस्य निर्वाचित किया गया था
(c) उन्होंने एक गुजराती पत्रिका ‚ ‘रफ्त गोफ्तार’ का आरम्भ किया था
(d) उन्होंने चार बार भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की अध्यक्षता की थी
Answer: – (d)


1038. ब्रिटिश पार्लियामेन्ट में चुना जाने वाला प्रथम भारतीय कौन था─
(a) रासबिहारी बोस (b) सुरेन्द्रनाथ बनर्जी
(c) दादाभाई नौरोजी (d) विट्ठल भाई पटेल
Answer:─(c)


1039. कांग्रेस के लिए समर्थन प्राप्त करने के लिए 1889 ई0 में एक समिति स्थापित की गयी। निम्न में से कौन उस समिति का सभापति था?
(a) सर डब्ल्यू0 वेडरबर्न
(b) मि0डिग्बी
(c) दादाभाई नौरोजी
(d) डब्ल्यू0 सी0 बनर्जी
Answer: (c)


1040. निम्नलिखित में से किसने 1906 के भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में दादाभाई नौरोजी के अध्यक्षीय भाषण को उनके बदले में पढ़ा था?
(a) फिरोज शाह मेहता (b) गोपाल कृष्ण गोखले
(c) मदन मोहन मालवीय (d) मोहम्मद अली जिन्ना
Answer:─(b)


1041. निम्नलिखित में से किसने सन् 1906 के भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में दादा भाई नौरोजी के अध्यक्षीय भाषण को पढ़ा था?
(a) मदन मोहन मालवीय (b) फिरेाजशाह मेहता
(c) गोपाल कृष्ण गोखले (d) मोहम्मद अली जिन्ना
Answer: (c)


1042. निम्नलिखित में से किस राष्ट्रवादी नेता को राजनीति में अतिवादी और सामाजिक विषयों में रूढ़िवादी बताया गया है?
(a) बाल गंगाधर तिलक को (b) गोपाल कृष्ण गोखले को
(c) लाला लाजपत राय को (d) मदनमोहन मालवीय को
Answer:─(a)


1043. तिलक ने पूना सार्वजनिक सभा का उपयोग निम्नांकित को लोकप्रिय बनाने के लिए किया
(a) दुर्भिक्ष की अवस्था में रैयत के वैधानिक अधिकार
(b) बम्बई प्रान्त में स्वदेशी आन्दोलन
(c) सविनय अवज्ञा आन्दोलन
(d) सामाजिक सुधारों की माँग
Answer: (a)


1044. महाराष्ट्र में गणपति─पर्व का श्री गणेश किया था─
(a) बी. जी. तिलक ने (b) एम. जी. रानाडे ने
(c) विपिन चन्द्र पाल ने (d) अरविन्द घोष ने
Answer: ─ (a)


1045. निम्नलिखित में से किसने महाराष्ट्र के गणपति उत्सव का ऐसा कायाकल्प किया कि वह एक राष्ट्रीय उत्सव हो गया और उसका स्वरूप राजनैतिक हो गया?
(a) रामदास (b) शिवाजी
(c) महादेव गोविन्द रानाडे (d) बाल गंगाधर तिलक
Answer:–(d)


1046. निम्न में कौन मध्यममार्गी नहीं था
(a) गोपालकृष्ण गोखले
(b) बाल गंगाधर तिलक
(c) ए. ओ. ह्यूम
(d) मदनमोहन मालवीय
Answer: ─ (b)


1047. किसने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पर प्रार्थना ‚ याचना तथा विरोध की राजनीति करने का आरोप लगाया?
(a) लाला हरदयाल (b) बाल गंगाधर तिलक
(c) सुभाषचन्द्र बोस (d) सरदार भगत सिंह
Answer:–(b)


1048. किसने कांग्रेस पर अनुनय ‚ विनय तथा विरोध की राजनीति करने का आरोप लगाया?
(a) एस.एन. बनर्जी (b) वी.डी. सावरकर
(c) एस.सी. बोस (d) बी.जी. तिलक
Answer:–(d)


1049. ‘स्वराज’ शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किसने किया?
(a) बाल गंगाधर तिलक ने (b) लाला लाजपत राय ने
(c) एस. सी. बोस ने (d) महात्मा गाँधी ने
Answer: – (a)


1050. निम्नलिखित में से किसने 1893-94 में “न्यू लैम्प्स फॉर ओल्ड” नाम से लिखी गई लेख-श्रृंखला में उदारवादी राजनीति की पहली व्यवस्थित आलोचना की थी?
(a) अरविन्द घोष (b) बाल गंगाधर तिलक
(c) सतीश चन्द्र मुखर्जी (d) लाला लाजपत राय
Answer:─(a)


1051. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को किसने “भीख माँगने वाली संस्था” (बेगिंग इन्स्टीट्यूट) कहा था?
(a) बी.सी. पाल ने (b) तिलक ने
(c) अरबिन्द घोष ने (d) इनमें से किसी ने नहीं
Answer:–(c)


1052. `निष्क्रिय विरोध’ के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
(a) महात्मा गांधी (b) बिपिन चन्द्र पाल
(c) बाल गंगाधर तिलक (d) अरविन्द घोष
Answer: (d)


1053. किसने उदारवादी नेताओं की नीतियों को ‘राजनीतिक भिक्षावृत्ति’ की संज्ञा दी?
(a) बिपिन चन्द्र पाल (b) अरविन्द घोष
(c) लाला लाजपत राय (d) बाल गंगाधर तिलक
Answer: (a)


1054. निम्नलिखित में से किसने कांग्रेस के प्रारम्भिक अधिवेशन को ‘तीन दिवसीय तमाशा’ कहा था?
(a) अश्विनी कुमार दत्त (b) रमेशचन्द्र दत्त
(c) विलियम वेडरबर्न (d) लार्ड डफरिन
Answer: (a)


1055. कथन (a)– प्रारंभिक राष्ट्रीय आंदोलन की आधारभूत कमजोरी उसका संकीर्ण सामाजिक आधार था।
कारण (R)–यह इसमें सम्मिलित होने वाले सामाजिक समूहों के संकीर्ण हितों के लिए लड़ता था। कूट:
(a) A और R दोनों सही हैं ‚ और R, A का सही स्पष्टीकरण है
(b) Aऔर R दोनों सहीं हैं ‚ और R, A का सही स्पष्टीकरण नहीं है
(c) A सही है ‚ परन्तु R गलत है
(d) A गलत है ‚ परन्तु R सही है
Answer:–(c)


1056.
कथन (A): बाल गंगाधर तिलक साम्प्रदायिकतावादी थे।
कारण (R): उन्होंने धर्म का राजनैतिक अस्त्र के रूप में प्रयोग किया। नीचे दिए हुए कूट से सही उत्तर चुनिए– कूट:
(a) A तथा R दोनों सही हैं तथा R, A की सही व्याख्या है
(b) A तथा R सही हैं किन्तु R, A की सही व्याख्या नही हैं
(c) A सही है किन्तु R गलत है
(d) A गलत है किन्तु R सही है
Answer:–(d)


1057. “18 वर्ष की आयु में स्नातक ‚ 20 वर्ष की आयु में प्रोफेसर तथा सुधारक के सह सम्पादक ‚ 25 वर्ष की आयु में सार्वजनिक सभा और प्रान्तीय सम्मेलन के मंत्री ‚ 29 वर्ष की अवस्था में राष्ट्रीय कांग्रेस के मंत्री ‚ 34 वर्ष की आयु में प्रान्तीय विधायक ‚ 36 वर्ष की आयु में इम्पीरियल विधायक ‚ 39 वर्ष की आयु में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष एवं देशभक्त जिसे महात्मा गाँधी ने अपना गुरु माना है” इन शब्दों में एक जीवनीकार ने वर्णन किया है
(a) पण्डित मदन मोहन मालवीय का
(b) महादेव गोविन्द रानाडे का
(c) गोपाल कृष्ण गोखले का
(d) बाल गंगाधर तिलक का
Answer: – (c)


1058. निम्न में से किन्हें गांधीजी ने अपना राजनैतिक गुरू माना─
(a) रवीन्द्रनाथ टैगोर (b) हेनरी डेविड थोरो
(c) गोपाल कृष्ण गोखले (d) राजा राममोहन राय
Answer:─(c)


1059. निम्नलिखित में से कौन उग्र राष्ट्रवादी नेता नहीं था?
(a) बिपिन चन्द्र पाल (b) बी. जी. तिलक
(c) लाला लाजपत राय (d) जी. के. गोखले
Answer:–(d)


1060. गोपाल कृष्ण गोखले ने कांग्रेस के किस अधिवेशन में अध्यक्षता की?
(a) 1902 (b) 1905 (c) 1906 (d) 1909
Answer: (b)


1061. गोपाल कृष्ण गोखले ने निम्नलिखित में से किसकी स्थापना की थी?
(a) डेक्कन एजुकेशन सोसायटी
(b) सर्वेन्ट्स ऑफ इण्डिया सोसायटी
(c) इण्डियन फेडरेशन
(d) भारतीय जमींदार एसोसियेशन
Answer: ─ (b)


1062. गोपाल कृष्ण गोखले ने किस वर्ष में भारत सेवक मण्डल
(सर्वेन्ट्स ऑफ इण्डिया सोसाइटी) की स्थापना की?
(a) 1902 (b) 1903 (c) 1904 (d) 1905
Answer:–(d)


1063. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने निम्नलिखित में से किस अधिवेशन में निकासी के सिद्धान्त को औपचारिक रूप से स्वीकार किया गया?
(a) बनारस अधिवेशन ‚ 1905 ई
(b) कलकत्ता अधिवेशन ‚ 1906 ई.
(c) सूरत अधिवेशन ‚ 1907 ई.
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Answer: (d)


1064. कांग्रेस के नरम-दल के नेताओं की आन्दोलन की पद्धति थी─
(a) असहयोग (b) राजवांमबद्ध आंदोलन
(c) अनुकूल प्रविघटन (d) अविधेयक
Answer:─(b)


1065. 20वीं शताब्दी के आरम्भिक दो दशकों में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का मुख्य लक्ष्य क्या था?
(a) स्वतंत्रता
(b) स्वराज्य
(c) औपनिवेशिक स्वायत्तता
(d) प्रशासन में भारतीयों की पर्याप्त भागीदारी
Answer: (c)


1066. अधिकतर नरमपंथी नेता थे−
(a) ग्रामीण क्षेत्रों से
(b) शहरी क्षेत्रों से
(c) दोनों ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों से
(d) पंजाब से
Answer: (b)


1067. निम्न में से कौन नेता उग्रवादी नहीं था
(a) विपिन चन्द्र पाल (b) बाल गंगाधर तिलक
(c) डब्ल्यू. सी बनर्जी (d) उक्त में कोई नहीं
Answer: (c)


1068. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नरमदलीय नेताओं के सम्बन्ध में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा एक सही नहीं है?
(a) वे भारत से सम्पदा के अपहवन के लिये ब्रिटिश की आलोचना करते थे
(b) वे विदेशी माल के बहिष्कार की वकालत करते थे
(c) वे जमींदारों द्वारा भारतीय ग्रामीण जन के शोषण की समस्या की उपेक्षा करते थे
(d) वे ब्रिटेन की साम्राज्यिक अर्थव्यवस्था में भारत द्वारा निभाई जा रही जानदार भूमिका को समझते थे
Answer: (c)


1069. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए और उनमें निर्दिष्ट एक व्यक्ति को नीचे दिए गए कूट की सहायता से पहचानिए:
इंग्लैण्ड में अपने प्रवास के दौरान ‚ उन्होंने ब्रिटिश लोगों को भारत के शासक के रूप में उनके दायित्वों के बारे में शिक्षित करने का प्रयत्न किया। उन्होंने ब्रिटिश राज के अन्यायपूर्ण और दमनकारी शासन के प्रति अपने विरोध के समर्थन में भाषण दिए और लेख प्रकाशित किए। 1867 में उन्होंने ईस्ट इण्डिया एसोसिएशन की स्थापना में सहायता की जिसके वे मानद सचिव बने। कूट:
(a) फिरोजशाह मेहता (b) मैरी कारपेंटर
(c) दादाभाई नौरोजी (d) आनन्दमोहन बोस
Answer:–(c)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *