You are here
Home > QB Subjectwise > 047 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

047 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Q1. नीचे दिए शब्दों में से किसकी वर्तनी शुद्ध है?
(1) पूज्यानीया
(2) जाग्रति
(3) अन्तर्ध्यान
(4) अभ्यारण्य
Ans: (4) नीचे दिए गये शब्दों में अभ्यारण्य वर्तनी की दृष्टि से सही है। जबकि दिए गये शेष शब्दों की शुद्ध वर्तनी इस प्रकार होगी- अशुद्ध शुद्ध जाग्रति – जागृति अन्तर्ध्यान – अन्तर्धान पूज्यनीया – पूजनीय
Q2. ‘जिसके पास कुछ न हो’ उसके लिए उपयुत्त शब्द है–
(1) अकिंचन
(2) अभावग्रस्त
(3) दीनहीन
(4) महादीन
Ans: (1) ‘जिसके पास कुछ न हो’ उसके लिए उपयुक्त शब्द अकिंचन है। जबकि जिसके पास कुछ विशेष वस्तुओं का अभाव हो इसके लिए उपयुक्त शब्द अभावग्रस्त होता है।
Q3. निम्नलिखित में से क्रिया-विशेषण है –
(1) धीरे-धीरे
(2) अँधेरा
(3) चाल-चलन
(4) सौंदर्य
Ans: (1) ‘धीरे-धीरे’ एक क्रिया-विशेषण शब्द है। जो शब्द क्रिया की विशेषता प्रकट करें, उन्हें क्रिया-विशेषण कहते हैं। क्रियाविशेष् ाण चार प्रकार के होते हैं- 1. स्थानवाचक क्रिया विशेषण – यहाँ, वहाँ, इधर-उधर 2. कालवाचक क्रिया विशेषण – आज, कल, जब, तब, प्रातः, सायं 3. परिमाणवाचक क्रिया विशेषण – अधिक, थोड़ा, बहुत, कम 4. रीतिवाचक क्रिया विशेषण – धीरे-धीरे, तेज, अवश्य आदि।
Q4. ‘निर्दय’ का विलोम शब्द है-
(1) सह्‌य
(2) सहृदय
(3) सभय
(4) सदय
Ans: (4) ‘निर्दय’ का विलोम शब्द ‘सदय’ होता है। विलोम शब्द का अर्थ है- उल्टा। जो शब्द उल्टे अर्थ का बोध कराते है, उन्हें विलोम शब्द या विपरीतार्थक शब्द कहते हैं।
Q5. ‘अनश्वर’ शब्द के लिए एक वाक्य है-
(1) ईश्वर को न मानने वाला
(2) नष्ट होने वाला
(3) नष्ट न होने वाला
(4) जो इन्द्रियों के द्वारा न जाना जा सके
Ans: (3) ‘नष्ट न होने वाला’ वाक्य के लिए एक शब्द है ‘अनश्वर’ जबकि नष्ट होने वाला के लिए, ‘नश्वर’ ईश्वर को न मानने वाला के लिए ‘नास्तिक’ तथा जो इन्द्रियों के द्वारा न जाना जा सके वाक्य के लिए एक शब्द अगोचर होता है।
Q6. ‘अखरोट’ शब्द का तत्सम रूप है –
(1) अक्षोट
(2) अक्षवाट
(3) अक्षरोट
(4) अषरोट
Ans: (1) ‘अखरोट’ शब्द का तत्सम रूप अक्षोट है। तत्सम का शाब्दिक अर्थ है उसके समान या ज्यों का त्यों। ये वे शब्द है, जिन्हें हिन्दी ने मूल रूप में स्वीकार कर लिया है।
Q7. निम्नलिखित में से कौन-सा प्रकम्पित वर्ण है?
(1) ल
(2) र
(3) य
(4) व
Ans: (2) ‘र’ एक प्रकम्पित वर्ण है। प्रकम्पित वर्ण वह होता है जिसको बोलने पर जिह्‌वा में कम्पन्न होता है। इसे लुण्ठित ध्वनि भी कहते हैं।
Q8. ‘प्रत्युत्पन्नमति’ में कौन-सा उपसर्ग है?
(1) प्रत्‌
(2) प्रत्य
(3) प्रति
(4) प्रत्यु
Ans: (3) ‘प्रत्युत्पन्नमति’ में प्रति उपसर्ग है। यहाँ पर, प्रति (उपसर्ग) + उत्पन्न (मूल शब्द) + मति (मूल शब्द) है।
Q9. निम्नलिखित वाक्यों में से अपादान कारक का उदाहरण कौन-सा है?
(1) सीता गीता से अच्छा गाती है।
(2) राधा घर से निकली।
(3) मुझे आपसे बहुत डर लगता है।
(4) उपर्युत्त सभी
Ans: (4) उपर्युत्त सभी वाक्यों में अपादान कारक है। जहाँ पर अलग होने का भाव हो या किसी एक व्यत्ति से श्रेष्ठता प्रदर्शित किया जाता हो या रक्षा एवं भय का भाव स्पष्ट होता हो वहाँ पर अपादान कारक होता है।
Q10. ‘तत्‌ + शंकर’ संधि विच्छेद से बनने वाला शब्द है–
(1) तत्‌शंकर
(2) तच्छंकर
(3) तच्शंकर
(4) तत्संकर
Ans: (2) तत्‌ + शंकर तच्छंकर। जब ‘त्‌’ के बाद ‘श’ हो तो ‘त’ का ‘च’ तथा ‘श’ का ‘छ’ हो जाता है। जैसे- उच्छृंखल उत्‌ + शृंखल
Q11. ‘स्थावर’ का विलोम है–
(1) संपत्ति
(2) जंगल
(3) जंगम
(4) स्थापना
Ans: (3) ‘स्थावर’ का विलोम शब्द जंगम होता है।
Q12. ये फल उसके लिए है। इस वाक्य में रेखांकित अंश है-
(1) मध्यमपुरुष, बहुवचन, कर्ता
(2) अन्यपुरुष, एकवचन, संप्रदान
(3) मध्यमपुरुष, एकवचन, संप्रदान
(4) उत्तमपुरुष, एकवचन, संप्रदान
Ans: (2) रेखांकित अंश में अन्य पुरुष, एकवचन, सम्प्रदान कारक है।
Q13. ‘सव्यसाची’ शब्द के लिए एक वाक्य है–
(1) बाएँ हाथ से कार्य करने वाला
(2) सदा सत्य बोलने वाला
(3) जिसने बहुत कुछ सुना हो
(4) अपनी इच्छा के अनुसार आचरण करने वाला
Ans: (1) ‘बाएं हाथ से कार्य करने वाला’ वाक्य के लिए एक शब्द ‘सव्यसाची’ है। जबकि ‘सदा सत्य बोलने वाला’ के लिए सत्यवादी, जिसने बहुत कुछ सुना हो के लिए बहुश्रुत ‘अपनी इच्छा के अनुसार आचरण करने वाला’ के लिए एक शब्द स्वेच्छाचारी होता है।
Q14. ‘वह श्रेष्ठ उपासक है’ में विशेष्य है
(1) श्रेष्ठ
(2) वह
(3) उपासक
(4) है
Ans: (3) ‘वह श्रेष्ठ उपासक है’ वाक्य में ‘उपासक’ शब्द विशेष्य है। यहाँ पर वह (सर्वनाम), श्रेष्ठ (विशेषण), उपासक विशेष्य तथा ‘है’ सहायक क्रिया है। जिस शब्द की विशेषता बतलायी जाए उसे विशेष्य कहते हैं।
Q15. इनमें से किस वाक्य में ‘पूर्वकालिक’ क्रिया का प्रयोग हुआ है?
(1) विद्यार्थी पढ़ेंगे तो पास होंगे।
(2) ठोकर लगते ही लड़का बेहोश हो गया।
(3) श्याम दूध पीकर घूमने जाता है।
(4) अध्यापक बच्चों को प्रतिदिन हिंदी पढ़ाता है।
Ans: (3) ‘श्याम दूध पीकर घूमने जाता है’ वाक्य में पूर्वकालिक क्रिया का प्रयोग हुआ है। मुख्य क्रिया से पहले आने वाली क्रिया पूर्वकालिक क्रिया कहलाती है। उपर्युत्त वाक्य में घूमने जाता है मुख्य क्रिया है, इससे पहले जो क्रिया है, वह है- ‘पी’ जिनके साथ कर लगा है। पूर्वकालिक क्रिया की पहचान है कि इसमें प्रायः ‘कर’ जुड़ा रहता है।
Q16. निम्नलिखित में से कौन-से शब्द अपने विभाजन के पश्चात्‌ अन्य अर्थ में प्रचलित हो जाते हैं?
(1) योगरूढ़
(2) सार्थक
(3) रूढ़
(4) यौगिक
Ans: (1) योगरूढ़ शब्द अपने विभाजन के पश्चात्‌ अन्य अर्थ में प्रचलित हो जाते हैं। जैसे- जलज, इसमें ‘जल’ का अर्थ है पानी तथा ‘ज’ का अर्थ है उत्पन्न होना, इस प्रकार जल + ज जलज योगरूढ़ शब्द है जिसका अन्य अर्थ ‘कमल’ है। जबकि अर्थपूर्ण शब्द को सार्थक शब्द कहते हैं। प्रायः यही शब्द की कसौटी है। या जो शब्द एक से अधिक शब्द या शब्दांशों से बने और जिनके खण्डों के भी अर्थ होते हैं, वे यौगिक शब्द कहलाते हैं। परम्परा से ही किसी विशेष अर्थ के लिए जो शब्द रूढ़ हो जाते हैं और जिन्हें अलग करने पर उनसे कोई अर्थ नहीं निकलता, वे रूढ़ शब्द कहलाते हैं।
Q17. ‘गुरू के समीप रह कर शिक्षा ग्रहण करने वाला’ के लिए एक शब्द है–
(1) छात्रावासी
(2) गुरुकुलवासी
(3) अन्तेवासी
(4) आश्रमवासी
Ans: (3) ‘गुरू के समीप रह कर शिक्षा ग्रहण करने वाला’ के लिए एक शब्द ‘अन्तेवासी’ होता है।
Q18. ‘उतर गई लोई तो क्या करेगा कोई’ कहावत का सही अर्थ है–
(1) गंभीर रोगी की चिकित्सा संभव नहीं होती
(2) कंगले को किसी हानि की आशंका नही होती
(3) खोई हुई प्रतिष्ठा वापस नहीं मिल सकती
(4) बेशर्म हो चुके व्यत्ति को इज्जत गँवा देने का भय नहीं रहता
Ans: (4) ‘उतर गई लोई तो क्या करेगा कोई’ कहावत का सही अर्थ है बेशर्म हो चुके व्यत्ति को इज्जत गवां देने का भय नहीं रहता।
Q19. कृदंत प्रत्यय किसके साथ जुड़ते हैं?
(1) सर्वनाम
(2) संज्ञा
(3) धातु
(4) विशेषण
Ans: (3) कृदंत प्रत्यय धातु के साथ जुड़ते हैं। वे शब्द जो धातुओं के अंत में जुड़कर नए शब्दों की रचना करते हैं, कृदन्त प्रत्यय कहलाते हैं। जैसे- लड़ + आई लड़ाई (धातु) (प्रत्यय)
Q20. ‘जनार्दन’ किसका पर्यायवाची है?
(1) कृष्ण
(2) राम
(3) विष्णु
(4) ब्रह्मा
Ans: (3) ‘जनार्दन’ विष्णु का पर्यायवाची है। इसके अन्य पर्यायवाची शब्द हैं- नारायण, हरि, मुकुंद, चतुर्भुज, गोविंद, श्रीपति, चक्रपाणि आदि। जबकि कृष्ण का पर्यायवाची है – केशव, घनश्याम, गोपाल, श्याम, वासुदेव, माधव और ब्रह्मा का पर्यायवाची विधाता, विरंचि, सृष्टिकर्ता, तथा राम का पर्यायवाची हैरघुवर, रघुपति, राघव, रघुनंदन, सीतापति, अवधेश, पुरुषोत्तम आदि।
Q21. ‘‘शबरी प्रतिदिन राम की प्रतीक्षा करती थी।’’ वाक्य का सही भेद है।
(1) विधानार्थक
(2) संदेहार्थक
(3) प्रश्नार्थक
(4) आज्ञार्थक
Ans: (1) ‘शबरी प्रतिदिन राम की प्रतीक्षा करती थी।’ विधानार्थक वाक्य है। विधानार्थक वाक्य उसे कहते हैं जिस वाक्य में किसी काम के होने या करेन का सामान्य रूप से बोध होता है। जबकि संदेहार्थक वाक्य उसे कहते हैं, जिस वाक्य में किसी कार्य के होने या न होने का संदेह होता है। प्रश्नार्थक वाक्य उसे कहते हैं, जिस वाक्य में किसी प्रकार के प्रश्न पूछने का बोध होता है तथा आज्ञार्थक वाक्य उसे कहते हैं जिस वाक्य से आज्ञा, उपदेश, प्रार्थना, अनुमति का बोध होता है।
Q22. ‘सावधानी’ शब्द में कौन-सा प्रत्यय है?
(1) ई
(2) नी
(3) इ
(4) आनी
Ans: (1) ‘सावधानी’ शब्द में ‘ई’ प्रत्यय लगा है। इसमें मूल शब्द ‘सावधान’ तथा उसके बाद ‘ई’ (सावधान + ई सावधानी) प्रत्यय लगा है। वे शब्दांश जो शब्द के अन्त में जुड़कर नया शब्द बनाते हैं, उन्हें प्रत्यय कहते हैं।
Q23. ‘सियार’ का तत्सम क्या है?
(1) स्यार
(2) शृंगार
(3) श्यालक
(4) शृगाल
Ans: (4) ‘सियार’ का तत्सम शब्द शृगाल है। जबकि दिए गये अन्य विकल्प सही नही हैं।
Q24. ‘पित्राज्ञा’ शब्द का सही संधि विच्छेद है–
(1) पित्रा + आज्ञा
(2) पित्र + आज्ञा
(3) पितृ + आज्ञा
(4) उपर्युत्त सभी
Ans: (3) पितृ + आज्ञा पित्राज्ञा। यह यण संधि का उदाहरण है। जब इ, ई, उ, ऊ, ऋ के बाद असमान स्वर आएँ तो ह्रस्व या दीर्घ इ का य्‌, उ का व्‌ तथा ऋ का र्‌ हो जाता है वहाँ यण संधि होता है।
Q25. निम्नलिखित में से किस शब्द में एक प्रत्यय लगा हुआ है?
(1) नगर
(2) सागर
(3) अगर
(4) जादूगर
Ans: (4) जादूगर शब्द में एक प्रत्यय लगा हुआ है। इसमें मूल शब्द ‘जादू’ तथा ‘गर’ प्रत्यय लगा हुआ है। ‘गर’ प्रत्यय अरबीफारसी के तद्धित प्रत्यय है। जबकि दिए गये अन्य विकल्प में कोई प्रत्यय नहीं लगे है।
Q26. मुखावयवों के निकट आने से संघर्ष के पश्चात्‌ प्रकट होने वाली ध्वनि कौन-सी है?
(1) अंतस्थ
(2) स्पर्श
(3) वर्त्स्य
(4) ऊष्म
Ans: (4) मुखावयवों के निकट आने से संघर्ष के पश्चात प्रकट होने वाली ध्वनि, ऊष्म ध्वनि है। ऊष्म ध्वनि के अन्तर्गत- श, ष, स, ह ध्वनियां आती है। इन्हें ऊष्म या संघर्षी ध्वनि भी कहा जाता है।
Q27. ‘षट्‌पद’ का पर्यायवाची है–
(1) भ्रमर
(2) तितली
(3) मकड़ी
(4) केकड़ा
Ans: (1) ‘षट्‌पद’ भ्रमर का पर्यायवाची शब्द है। इसके अन्य पर्यायवाची शब्द है- भँवरा, भौंरा, अलि, भृंग, मधुकर आदि।
Q28. एक उद्देश्य एवं एक विधेय से मिलकर बनने वाला वाक्य क्या कहलाता है?
(1) साधारण वाक्य
(2) संयुत्त वाक्य
(3) मिश्र वाक्य
(4) आज्ञार्थक
Ans: (1) एक उद्देश्य एवं एक विधेय से मिलकर बनने वाला वाक्य, साधारण वाक्य कहलाता है। जबकि जिस वाक्य में दो या दो से अधिक समान स्तर के उपवाक्य योजक शब्दों से जुड़े होते हैं, वे संयुत्त वाक्य कहलाते हैं तथा जिस वाक्य में एक उपवाक्य प्रधान होता है व अन्य उपवाक्य उस पर आश्रित होते हैं, वह मिश्र वाक्य कहलाता है।
Q29. ‘देहलता’ इस सामासिक पद में कौन-सा समास है?
(1) द्विगु
(2) कर्मधारय
(3) अव्ययीभाव
(4) द्वन्द्व
Ans: (2) देहलता- देह रूपी लता इस सामासिक पद में कर्मधारय समास है। जिस समास में पहला पद विशेषण तथा दूसरा पद विशेष्य होता है या एक पद उपमान और दूसरा पद उपमेय होता है, उसे कर्मधारय समास कहते हैैं। यहाँ देहलता में उपमान तथा उपमेय का सम्बन्ध है।
Q30. शुद्ध वर्तनी का चयन कीजिए–
(1) अक्षुण्य
(2) अहुण्य
(3) अक्षुण्ण
(4) अक्ष्णुण
Ans: (3) ‘अक्षुण्ण’ शुद्ध वर्तनीयुत्त शब्द है।

Top
error: Content is protected !!