You are here
Home > QB Subjectwise > 021 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

021 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Q1. शिक्षा की बैंकीय अवधारणा शिक्षा को किस रूप में प्रस्तुत करती है?
(1) शिक्षा ज्ञान के लेन-देन की प्रक्रिया है
(2) शिक्षा की प्रक्रिया में केवल परम अज्ञानी शामिल होते हैं
(3) शिक्षा में केवल छात्र शिक्षकों को शिक्षित करते हैं
(4) शिक्षा में उपहारों का लेन-देन होता है।
Ans: (1) शिक्षा की बैंकीय अवधारणा शिक्षा को ज्ञान के लेनदेन की प्रक्रिया मानता है। यह स्वयं को ज्ञानवान समझने वालों के द्वारा उन्हें प्रदान किया जाता है, जिन्हें वे नितांत अज्ञानी मानते हैं।
Q2. गद्यांश के अनुसार छात्र अपनी किस वास्तविकता को नहीं जान पाते?
(1) शिक्षा में ज्ञान ही सर्वोपरि है
(2) शिक्षक ज्ञानवान है
(3) शिक्षक पूर्णतः शिक्षित नहीं है
(4) वे अज्ञानी है
Ans: (3) गद्यांश के अनुसार छात्र-‘शिक्षक पूर्णतः शिक्षित नहीं हैं’, इस वास्तविकता को जान नहीं पाते। शिक्षा अपने छात्रों के समक्ष स्वयं को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है।
Q3. इस गद्यांश के अनुसार शिक्षा की प्रक्रिया सम्पन्न होने के लिए अनिवार्य शर्त है –
(1) शिक्षक का परम ज्ञानवान होना
(2) शिक्षक की उपस्थिति
(3) छात्र का परम अज्ञानी होना
(4) छात्रों का सीखने के लिए उत्सुक होना
Ans: (2) शिक्षा की प्रक्रिया सम्पन्न होने के लिए अनिवार्य शर्त है – शिक्षक की उपस्थिति।
Q4. गद्यांश के अनुसार उत्पीड़न की विचारधारा की विशेषता क्या है?
(1) शिक्षक ‘श्रेष्ठ’ है और छात्र ‘हीन’ है
(2) शिक्षा ज्ञान का उपहार है
(3) आदर्श शिक्षक सदैव उत्पीड़क होता है
(4) परम अज्ञानियों का शोषण अनिवार्य है
Ans: (1) ‘‘शिक्षक श्रेष्ठ हैं और छात्र हीन हैं’’, यही उत्पीड़न की विचारधारा की विशेषता है। हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति अलगाव के शिकार होने के कारण अपने अज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व का औचित्य सिद्ध करने वाला समझते हैं।
Q5. गद्यांश में……पर करारा व्यंग्य किया गया है।
(1) उत्पीड़ितों की दिशा
(2) ज्ञानवान व्यत्तियों
(3) शि़क्षितों की दशा
(4) शिक्षक और छात्र के मध्य सम्बन्ध
Ans: (4) उक्त गद्यांश में शिक्षक एवं छात्र के बीच सम्बन्ध पर करारा व्यंग्य किया गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि दास तो यह जान लेता है कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर है किन्तु छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नहीं जान पाता कि वे भी शिक्षक को शिक्षित करते हैं।
Q6. ‘जिज्ञासा’ शब्द से बनने वाला विशेषण है –
(1) जिज्ञासावाला
(2) जिज्ञासी
(3) जिज्ञासु
(4) जिज्ञासाशील
Ans: (3) जिज्ञासा शब्द से बनने वाला विशेषण ‘‘जिज्ञासु’’ है।
Q7. किस शब्द में दो प्रत्ययों का प्रयोग हुआ है?
(1) ज्ञानवान
(2) वास्तविकता
(3) विशेषता
(4) विचारधारा
Ans: (2) वास्तविकता में दो प्रत्ययों का प्रयोग हुआ है – (i) इक और (ii) ता ।
Q8. प्रस्तुत गद्यांश में ‘नितान्त’ शब्द का अर्थ है –
(1) एकान्त
(2) केवल
(3) बहुत
(4) बिल्कुल
Ans: (4) प्रस्तुत गद्यांश में नितान्त शब्द का अर्थ ‘बिल्कुल’ होता है। ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वयं को ज्ञानवान समझने वालों के द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी समझते हैं। (परीक्षा तिथि : 16 फरवरी, 2014)
Q9. ‘‘उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्ध करता है।’’ रेखांकित शब्द की जगह किस शब्द का प्रयोग किया जा सकता है?
(1) प्रतिफलित
(2) प्रमाणित
(3) अंतर्निहित
(4) प्रतिस्थापना
Ans: (2) ‘उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्ध करता है’, में सिद्ध की जगह प्रमाणित शब्द का प्रयोग किया जा सकता है।
निर्देश (प्र. सं. 10 से 14) : सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए।
Q10. कहानी, कविता, गीतों और नाटकों के माध्यम से बच्चे-
(1) केवल अपनी तर्कशक्ति का विकास करते हैं
(2) केवल मूल्यों का अर्जन करते हैं
(3) अपनी सांस्कृतिक धरोहर से जुड़ते हैं
(4) केवल मनोरंजन प्राप्त करते हैं
Ans: (3) कविता, कहानी, गीत एवं नाटक हमारे सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े होते हैं। अतः इनके पठन-पाठन से बच्चे अपनी सांस्कृतिक विषयों की जानकारी प्राप्त करते हैं।
Q11. प्राथमिक स्तर पर बच्चों को भाषा सिखाने का सर्वोपरि उद्देश्य है –
(1) कहानी-कविताओं को दोहराने की कुशलता का विकास करना
(2) मुहावरे-लोकोत्तियों का ज्ञान प्राप्त करना
(3) तेज़ प्रवाह के साथ पढ़ने की योग्यता का विकास करना
(4) अपनी बात को दूसरों के समक्ष अभिव्यत्ति करने की कुशलता का विकास करना
Ans: (4) प्राथमिक स्तर पर बच्चों को भाषा सिखाने का महत्वपूर्ण उद्‌देश्य यह होता है कि वे अपनी बात को दूसरों के समक्ष अभिव्यक्त करने की कुशलता का विकास कर सके।
Q12. लिखना –
(1) एक अनिवार्य कुशलता है, जिसे जल्दी प्राप्त किया जाना है
(2) एक बेहद जटिल प्रक्रिया है
(3) एक तरह की बातचीत है
(4) एक अत्यन्त यांत्रिक प्रक्रिया है
Ans: (3) एक तरह की बातचीत है।
Q13. कक्षा ‘एक’ के बच्चे ……एवं ……से प्राप्त बोलचाल की भाषा के अनुभवों को लेकर ही विद्यालय आते हैं।
(1) घर-परिवार, परिवेश
(2) घर-परिवार,पड़ोसी
(3) घर-परिवार, दोस्तों
(4) घर-परिवार, टी.वी.
Ans: (1) कक्षा ‘एक’ के बच्चे अपने घर परिवार एवं परिवेश से प्राप्त बोलचाल की भाषा के अनुभवों को लेकर ही विद्यालय आते हैं।
Q14. कक्षा ‘एक’ और ‘दो’ के शुरुआती समय में पढ़ने का प्रारंभ ……से हो और किसी …….के लिए हो।
(1) अक्षर-ज्ञान, मनोरंजन
(2) अर्थ, उद्देश्य
(3) शब्द-पहचान, मूल्यांकन
(4) अक्षर-ज्ञान, उद्देश्य
Ans: (2) कक्षा ‘एक’ और ‘दो’ के प्रारम्भिक समय में पढ़ने का प्रारम्भ ‘अर्थ’ से हो और किसी उद्‌देश्य के लिए हो।
Q15. इनमें से कौन-सा प्राथमिक स्तर पर हिन्दी भाषा शिक्षण का उद्देश्य नहीं है?
(1) चित्रकारी को स्वयं की अभिव्यत्ति का माध्यम बनाना
(2) सन्दर्भ के अनुसार अनुमान लगाकर पढ़ने का प्रयास करना
(3) बच्चों की घर की भाषा और स्कूल की भाषा में सम्बन्ध बनाते हुए उसे विस्तार देना
(4) सुनी गई बातों को ज्यों का त्यों दोहराना
Ans: (4) ‘‘सुनी गई बातों को तद्‌नुरूप दुहराना’’ निश्चय ही प्रारम्भिक हिन्दी भाषा शिक्षण का उद्‌देश्य नहीं है।
Q16. भाषा-कौशलों के संबंध में कौन-सा कथन सही है?
(1) भाषा के सभी कौशलों को नए सिरे से सिखाने की आवश्यकता होती है
(2) भाषा के कौशल अन्तः सम्बन्धित होते है
(3) भाषा-कौशल एक-दूसरे से स्वतंत्र होते हैं
(4) भाषा के चारों कौशल एक क्रम से सीखे जाते हैं
Ans: (2) ‘भाषा के कौशल (पढ़ना, लिखना, सुनना, बोलना) अंतः सम्बन्धित होते हैं’ कथन भाषा-कौशल के सम्बन्ध में सही है।
Q17. भाषा……और……का एक उत्तम साधन है।
(1) पढ़ने, लिखने, सम्पे्रषण
(2) सुनने, बोलने, सोचने
(3) सोचने, महसूस करने, चीज़ों से जुड़ने
(4) पढ़ने, लिखने, समझने
Ans: (3) भाषा सोचने, महसूस करने और चीजों से जुड़ने का एक उत्तम साधन है।
Q18. भाषा सीखने का व्यवहारवादी दृष्टिकोण……पर बल देता है।
(1) रचनात्मकता
(2) अनुकरण
(3) भाषा-प्रयोग
(4) अभिव्यत्ति
Ans: (2) भाषा सीखने का व्यवहारवादी दृष्टिकोण अनुकरण पर बल देता है।
Q19. नासिरा पढ़ते समय अनेक बार अटकती है। उसे पढ़ने में कठिनाई होती है। उसकी समस्या मुख्यतः से सम्बन्धित है।
(1) बुद्धि-लब्धि
(2) पठन-अरूचि
(3) डिस्लेक्सिया
(4) डिस्ग्राफिया
Ans: (3) नासिरा डिस्लेक्सिया द्वारा पीड़ित है।
Q20. वाइगोत्स्की के विचारों पर आधारित कक्षा में …… पर सबसे अधिक बल दिया जाता है।
(1) कहानी सुनने
(2) कविता दोहराने
(3) कार्य-पत्रकों (worksheets)
(4) परस्पर अन्तः क्रिया
Ans: (4) वाइगोत्स्की के विचारों पर आधारित कक्षा में परस्पर अंतःक्रिया पर सबसे अधिक बल दिया जाता है।
Q21. हमारी कक्षाओं में बच्चे भिन्न-भिन्न भाषिक पृष्ठभूमि से आते हैं, अतः –
(1) उनकी भाषाओं को सीखना सभी शिक्षार्थियों के लिए अनिवार्य है।
(2) उनकी भाषाओं को भी कक्षा में सम्मान देना अनिवार्य है।
(3) भाषा की पाठ्य-पुस्तक में उनकी सभी भाषाओं के शब्द वाक्य होना अनिवार्य है।
(4) उनकी सभी भाषाओं की जानकारी शिक्षक के लिए अनिवार्य।
Ans: (2) हमारी कक्षाओं में बच्चे भिन्न-भिन्न भाषिक पृष्ठभूमि से आते हैं, अतः उनकी भाषाओं को भी कक्षा में सम्मान देना अनिवार्य है।
Q22. इनमें से प्राथमिक स्तर पर भाषा-आकलन का सर्वाधिक उचित तरीका है –
(1) बच्चों को चित्र-वर्णन और प्रश्न पूछने के अवसर देना
(2) किसी पाठ की पाँच पंत्तियाँ पढ़वाना
(3) बच्चों से पत्र लिखवाना
(4) बच्चों से प्रश्नों के उत्तर लिखवाना
Ans: (1) प्राथमिक स्तर पर भाषा आकलन का सर्वाधिक महत्वपूर्ण तरीका यह है कि बच्चों से चित्रों के माध्यम से प्रश्नों को पूछना चाहिए। इससे बच्चों में रुचि पैदा होगी और ठीक से वे प्रश्नों का जवाब भी दे लेंगे चूँकि जो वस्तुएं देखी गई होती हैं। उसके विषय में बताना बड़ी सहज बात होती है।
Q23. कौन-सा प्रश्न बच्चों की भाषा-क्षमता का सही आकलन करेगा?
(1) लड़की टोकरी में क्या बेच रही थी?
(2) लड़की ने किसके दाम नहीं बताए?
(3) यदि तुम आम बेचोगे तो उसके कितने दाम लोगे और क्यों?
(4) आजकल आम का दाम कितना है?
Ans: (3) यदि तुम आम बेचोगे तो उसके कितने दाम लोगे और क्यों?
Q24. प्राथमिक स्तर पर बच्चों के लिए बाल-साहित्य के चयन का मुख्य आधार क्या होना चाहिए?
(1) रोचक विषय-वस्तु
(2) छोटी रचनाएँ
(3) रंगीन चित्र
(4) सरल जानकारी
Ans: (1) रोचक विषय-वस्तु
निर्देश (प्र. सं. 25 से 30) : नीचे दी गई काव्य-पंत्तियों को पढ़कर सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए। नहीं झुका करते जो दुनिया से करने को समझौता, ऊँचे से उँचे सपनों को देते रहते जो न्योता, दूर देखती जिनकी पैनी आँख भविष्यत्‌ का तक चीर मैं हूँ उनके साथ खड़ी जो सीधी रखते अपनी रीढ़।
Q25. कविता की पंत्तियों के अनुसार कविता किसके पक्ष में खड़ी है?
(1) जो केवल सपनों में खोए रहते हैं
(2) जो स्वाभिमानी, साहसी और निर्भीक हैं
(3) जो उजाला फैलाते हैं
(4) जो समझौता करके शांति फैलाते हैं
Ans: (2) प्रस्तुत काव्य पंक्तियों में ऐसे व्यक्तित्व का वर्णन किया गया है जो स्वाभिमानी, साहसी और निर्भीक है, जो झुककर समझौता करना स्वीकार नहीं करते।
Q26. व्यत्ति की दृष्टि कैसी होनी चाहिए?
(1) दूर की चीज़ों को साफ-साफ देखने वाली
(2) अंधकार को चीरने वाली
(3) दूरदर्शिता से लैस
(4) भविष्य का अँधेरा दूर करने वाली
Ans: (3) व्यक्ति की दृष्टि दूरदर्शिता से युक्त होनी चाहिए। छोटी सोच कदापि नहीं रखनी चाहिए।
Q27. उँचे से ऊँचे सपनों को निमंत्रण देने का भाव है
(1) उच्च कोटि के स्वप्न देखना और उन्हें साकार करने का प्रयास करना
(2) उँचे सपनों को आमंत्रित करना
(3) स्वप्नशील रहना
(4) सपनों को आमंत्रित करना
Ans: (1) ऊँचे से ऊँचे सपनों को नियंत्रण देने का भाव है – उच्च कोटि के स्वप्न देखना और उन्हें साकार करने का प्रयास करना।
Q28. ‘तम’ शब्द का पर्याय है
(1) रात
(2) यामिनी
(3) अंधकार
(4) निशा
Ans: (3) तम शब्द का पर्याय अंधकार होता है। यामिनी और निशा रात्रि के पर्याय हैं।
Q29. ‘‘नहीं झुका करते जो दुनिया से’’ पंत्ति में किसके सामने न झुकने की बात की गई है?
(1) दुनिया के सभी देशों के सामने
(2) विषम परिस्थितियों और अन्याय के सामने
(3) अन्यायी राजाओं के सामने
(4) दुनिया के व्यत्तियों के सामने
Ans: (2) ‘‘नहीं झुका करते जो दुनिया से’’ का आशय है – विषम परिस्थितियों और अन्याय के सामने नहीं झुकते हैं।
Q30. ‘सीधी रीढ़’ का आशय है –
(1) सीधी बात कहना
(2) आत्मनिर्भर होना
(3) स्वाभिमानी और स्वावलम्बी होना
(4) अभिमानी होना
Ans: (3) सीधी रीढ़ का आशय होता है – स्वाभिमानी और स्वावलम्बी होना।
निर्देश (प्र. सं. 16) नीचे दी गई काव्य-पंत्तियों को पढ़कर सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए। सदियों की ठण्डी-बुझी राख सुगबुगा उठी, मिट्‌टी सोने का ताज पहन इठलाती है; दो राह, समय के रथ का घर्घर-नाद सुनो सिंहासन खाली करो कि जनता आती है। जनता, हाँ, मिट्‌टी की अबोध मूरतें वही, जाड़े-पाले की कसक सदा सहने वाली जब अंग-अंग में लगे साँप हो चूस रहे, तब भी न कभी मुँह खोल दर्द कहने वाली।

Top
error: Content is protected !!