You are here
Home > QB Subjectwise > 020 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

020 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Q1. गद्यांश में क्रिसमस के लिए ‘ह्वाइट क्रिसमस’ शब्द इसलिए आया है क्योंकि –
(1) क्रिसमस के अवसर पर सब लोग सफेद केक खाते हैं
(2) क्रिसमस के अवसर पर सब लोग सफेद रंग के कपड़े पहनते हैं
(3) क्रिसमस के अवसर पर बहुत बर्फ पड़ी थी
(4) क्रिसमस का असली नाम यही है
Ans: (3) उपर्युत्त गद्यांश के अनुसार क्रिसमस के अवसर पर बहुत बर्फ पड़ी थी और चारो तरफ बर्फ के कारण सफेद ही सफेद दिखाई पड़ रहा था इसीलिए लेखक ने सफेद बर्फ के लिए ‘ह्वाइट क्रिसमस’ शब्द का प्रयोग किया है।
Q2. जाड़े के दिनों में पानी का रिसना –
(1) इस बार ज्यादा था
(2) हमेशा ज्यादा होता है
(3) कभी-कभी होता था
(4) इस बार कम था
Ans: (1) गद्यांश के अनुसार- जाड़े के दिनों में पानी का रिसना इस बार ज्यादा था। क्योंकि गद्यांश में वर्णित है कि जाड़े के दिनों में रिसाव कम ही होता था परन्तु पता नहीं क्यों इस बार ज्यादा था उसके कारण ठण्ड भी कुछ ज्यादा थी।
Q3. सन्तोष की क्या बात थी?
(1) सुबह ठण्ड का प्रभाव बिल्कुल नहीं था
(2) शाम को ठण्ड का प्रभाव ज्यादा नहीं था
(3) शाम को बारिश रूक गई
(4) शाम को बारिश कम होने लगी
Ans: (4) प्रस्तुत गद्यांश के अनुसार लेखक कह रहा है कि सन्तोष की बात यह थी कि शाम तक पानी का जोर हल्का पड़ने लगा। या शाम को बारिस कम होने लगी।
Q4. जाड़े के दिनों में पानी का रिसना –
(1) 22 दिसम्बर की सुबह से
(2) 22 दिसम्बर की शाम से
(3) 24 दिसम्बर की शाम से
(4) 24 दिसम्बर की सुबह से
Ans: (2) गद्यांश के अनुसार-22 दिसम्बर की शाम से ही बर्फ गिरनी शुरू हो गई थी। गद्यांश के अनुसार 22 दिसम्बर 1939 को श्री धनसिंह नगर कोटी का घर रिसने लगा था जबकि जाड़े के दिनों में रिसना कम ही होता था लेकिन पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के चलते 22 दिसम्बर की शाम से ही शुरू हो गये।
Q5. पानी की आपूर्ति क्यों नहीं हो पाई?
(1) पानी नलों में जम गया था
(2) पानी पर्याप्त मात्रा में नहीं था
(3) पानी फट गया था
(4) बर्फ धीमी गति से पिघल रही थी
Ans: (1) उपर्युत्त गद्यांश के अनुसार- पानी की आपूर्ति न होने का कारण था-पानी का नलों में जमजाना। क्योंकि बर्फ के पड़ने से तापमान शून्य से तीन डिग्री नीचे हो गया था जिससे नलों के अन्दर पानी जम गया था जिससे पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही थी।
Q6. गद्यांश के आधार पर कहा जा सकता है कि –
(1) पहाड़ों पर हमेशा त्योहार मनाए जाते हैं
(2) पहाड़ों का जीवन आसान है
(3) पहाड़ों पर जीवन व्यतीत करना कठिन होता है
(4) पहाड़ों पर हमेशा बर्फ जमी रहती है
Ans: (3) गद्यांश के अनुसार कहा जा सकता है कि पहाड़ों पर जीवन व्यतीत करना कठिन होता है, क्योंकि वहाँ पर जिस प्रकार से बर्फ पड़ रही है तथा उन्हें वहाँ समुचित चिकित्सा और जरूरत की वस्तुओं की भरपूर उपलब्धता नहीं मिल सकती।
Q7. ‘हाड़ कँपाने वाली सर्दी’ से आशय है-
(1) हाथ कँपाने वाली सर्दी
(2) होंठ कँपाने वाली सर्दी
(3) सिर कँपाने वाली सर्दी
(4) हड्‌डी कँपाने वाली सर्दी
Ans: (4) ‘हाड़’ कँपाने वाली सर्दी से आशय हड्‌डी कँपाने वाली सर्दी है। ऐसी सर्दी जो पूरे शरीर के अन्दर प्रवेश कर सभी अंगों को कंपा रही हो।
Q8. ‘उत्साह’ शब्द है –
(1) सकर्मक क्रिया
(2) भाववाचक संज्ञा
(3) गुणवाचक विशेषण
(4) सम्बन्धवाचक सर्वनाम
Ans: (2) उत्साह भाववाचक संज्ञा है। संज्ञा – ‘‘संज्ञा उस विकारी शब्द को कहत हैं, जिससे किसी विशेष वस्तु, भाव या जीव के नाम का बोध हो।’’ संज्ञा के पाँच भेद है। 1.जातिवाचक, 2. व्यत्तिवाचक, 3. गुणवाचक, 4. भाववाचक, 5. द्रव्यवाचक भाववाचक संज्ञा – ‘‘जिस संज्ञा शब्द से व्यत्ति या वस्तु के गुण या धर्म, दशा अथवा व्यापार का बोध होता है, उसे ‘भाववाचक संज्ञा’ कहते है’’ भाववाचक संज्ञाओं का निर्माण जातिवाचक संज्ञा, विशेषण, क्रिया, सर्वनाम और अव्यय में प्रत्यय लगा कर होता है। (स्रोत-आधुनिक हिन्दी व्याकरण और रचना (पृष्ठ 70)- डा . वासुदेव नन्दन प्रसाद)
Q9. ‘घर’ का बहुवचन रूप है –
(1) घर
(2) घरों
(3) घरें
(4) घराएँ
Ans: (1) घर का बहुवचन ‘घर’ होता तथा चाकू का भी बहुवचन चाकू ही होता है और नेत्र, प्राण, आंसू, अक्षत, दर्शन, लोग सदैव बहुवचन में प्रयोग होते हैं।
निर्देश (प्र. सं. 1015) कविता की पंत्तियाँ पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों में सबसे उचित विकल्प चुनिए। एक ही दीया, स्नेह से भरा, प्रेम का प्रकाश, प्रेम से धरा, झिलमिला हवा को तिलमिला रहा ज्योति का निशान जो हिला रहा मुस्करा रहा है अन्धकार पर
यह मजार है किसी शहीद का, दर्शनीय था जो चाँद ईद का, देश का सूपत था, गुमान था सत्य का स्वरूप नौजवान था जो चला किया सदा दुधार पर

Q10. हवा क्यों तिलमिला रही है?

(1) दीये के निरन्तर जलने से
(2) दीये के चलने से
(3) दीये के स्नेह से
(4) अन्धकार होने से
Ans: (1) दीये के निरन्तर जलने से हवा तिलमिला रही है क्योंकि शहीद के मजार के पर जो दीये की ज्योति का निशान (लौ) हिल रहा है ऐसा प्रतीत होता है कि दीये की झिलमिलिहाट से हवा तिलमिला रही है।
Q11. ईद का चाँद किसे कहा गया है?
(1) दर्शनीय स्थल को
(2) मजार को
(3) शहीद को
(4) नौजवानों को
Ans: (3) ईद का चाँद ‘शहीद को’ कहा गया है जो कि कभी ईद के चाँद की तरह दर्शनीय एवं देश का सपूत था तथा पूरे देश को उस नौजवान पर गर्व था।
Q12. शहीद की कौन-सी विशेषता बताई गई है?
(1) वह तलवारबाजी में निपुण था
(2) वह सच्चा इंसान था
(3) ईद के दिन पैदा हुआ था
(4) उसे अपने ऊपर बहुत घमण्ड था
Ans: (2) उपर्युत्त विकल्प में ‘वह सच्चा इंसान था’ शहीद की विशेषता बताता है। क्योंकि कि उपर्युत्त पंत्ति में बताया गया है कि वह जो मजार है वह देश के सच्चे ईमानदार नौजवान की मजार है जो सदा सत्य के मार्ग पर चलते हुए देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुत दे देता है।
Q13. कविता में ‘अन्धकार’ शब्द से आशय है –
(1) रात्रि
(2) तम
(3) बुराइयाँ
(4) चुनौतियाँ
Ans: (3) कविता में ‘अंधकार’ शब्द से आशय ‘बुराईयों’ से है क्योंकि वह बता रहा कि शहीद की मजार पर जलने वाला जो दीपक है उसका प्रकाश अंधकार रूपी बुराईयों पर विजय प्राप्त करने वाला है।
Q14. ‘दर्शनीय’ शब्द में प्रत्यय है–
(1) नीय
(2) ईय
(3) ई
(4) य
Ans: (2) ‘दर्शनीय’ शब्द में ‘ईय’ प्रत्यय लगा है क्योंकि दर्शन मूल शब्द है जैसे दर्शन ईय ृ दर्शनीय प्रत्यय- शब्दों के बाद जो अक्षर या अक्षर समूह लगाया जाता है उसे प्रत्यय कहते हैं।
Q15. ‘हवा’ का पर्यायवाची शब्द नहीं है –
(1) मारुत
(2) अनिल
(3) समीर
(4) अनल
Ans: (4) हवा का पर्यायवाची शब्द अनल नहीं है हवा का पर्यायवाची शब्द है- अनिल, मारुत, पवन, समीर, वायु, वयार, प्रकम्पन जबकि ‘अनल’ का पर्याय है- पावक, अग्नि, वायुसखा, दहन, कृशानु आदि हैं। (स्रोत- आधुनिक हिन्दी व्याकरण एवं रचना (पृष्ठ 227) – डा . वासुदेव नन्दन प्रसाद)
निर्देश (प्र. सं. 1620) निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे उचित विकल्प चुनिए।
Q16. भाषा के सम्बन्ध में कौन-सा कथन सही नहीं है?
(1) बहुभाषिकता बच्चे की अस्मिता का निर्माण करती है
(2) भारत की भाषिक विविधता एक जटिल चुनौती है
(3) भाषाएँ आपस में सम्पर्क संवाद करती हैं
(4) भाषागत विविधता एक समस्या है
Ans: (4) भाषागत विविधिता एक समस्या है यह कथन भाषा के सम्बन्ध में सही नहीं है जबकि भारत की भाषिक विविधिता एक जटिल चुनौती है, लेकिन बहुभाषिकता बच्चे की अस्मिता का निर्माण करती है तथा भाषाएँ आपस में सम्पर्क संवाद करती है।
Q17. नेहा अपनी बात कहते समय अपनी मातृभाषा के शब्दों का प्रयोग करती है। आप क्या करेंगे?
(1) उसे डाँटेंगे कि वह अपनी भाषा के शब्दों का प्रयोग न करे
(2) लक्ष्य भाषा के शब्द का प्रयोग करते हुए सहजता से उसके वाक्य को दोहराएँगे
(3) उसे बताएँगे कि किसी शब्द विशेष को क्या कहते है
(4) उसे बताएँगे कि ये शब्द गलत है
Ans: (2) यदि कोई छात्र या छात्रा अपनी बात कहते समय अपनी मातृभाषा के शब्दों का प्रयोग करता/ करती है तो उस छात्र/छात्रा को लक्ष्य भाषा के शब्द का प्रयोग करते हुए सहजता से उसके वाक्य को दोहराना चाहिए।
Q18. भाषा की कक्षा में यह जरूरी है कि –
(1) बच्चे मानक भाषा में ही बातचीत करें
(2) भाषा की पाठ्‌य-पुस्तक पर विशेष ध्यान दिया जाए
(3) भाषिक पृष्ठभूमि के आधार पर किसी को पीछे न छोड़ा जाए
(4) बच्चों की अधिक-से-अधिक परीक्षाएँ ली जाएँ
Ans: (3) भाषा की कक्षा में यह जरूरी होता है कि भाषिक पृष्ठभूमि के आधार पर किसी को पीछे न छोड़ा जाय और यदि शिक्षक बच्चों को पीछे छोड़ देंगे तो वह अन्य बच्चों से पिछड़ जायेगे तथा उनका भाषिक विकास पूर्ण रूप नहीं हो पायेगा।
Q19. उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा-शिक्षण का उद्देश्य है –
(1) भाषा की विभिन्न संरचनाओं को यान्त्रिक अभ्यास कराना
(2) व्याकरण के नियमों को कण्ठस्थ कराना
(3) सभी साहित्यिक विधाओं में लेखन की कुशलता विकसित करना
(4) भाषा की बारीकी और सौन्दर्यबोध को समझने की क्षमता का विकास करना
Ans: (4) उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा शिक्षण का प्रमुख उद्देश्य है कि बच्चों में भाषा की बारीकी और सौन्दर्य बोध को समझने की क्षमता का विकास हो। क्योंकि जबतक बच्चे भाषा की बारीकियों को नही समझेगे तब तक भाषा शिक्षण का उद्देश्य पूर्ण नहीं होगा।
Q20. भाषा-शिक्षण में पाठ्‌य-पुस्तकों के अतिरित्त कौन-सा सबसे कम प्रभावशाली है?
(1) संवाद अदायगी
(2) प्रश्नों के उत्तर लिखना
(3) परिचर्चा करना
(4) घटना-वर्णन करना
Ans: (2) भाषा शिक्षण में पाठ्‌य-पुस्तकों के अतिरित्त ‘प्रश्नों के उत्तर लिखना’ सबसे कम प्रभावशाली है अपेक्षाकृत संवाद अदायगी, परिचर्चा करना एवं घटना वर्णन करना के।
Q21. ‘‘हर व्यत्ति को मैंने ही सच्चाई दिखाई।’’ वाक्य पर चर्चा करने का उद्देश्य है
(1) बच्चों को सर्वनाम के प्रयोग का ज्ञान कराना
(2) बच्चों को संज्ञा के प्रयोग का ज्ञान कराना
(3) बच्चों को क्रिया के प्रयोग का ज्ञान कराना
(4) बच्चों को भाषा की नियमबद्ध प्रकृति की पहचान और उसका विश्लेषण करना सिखाना
Ans: (4) ‘‘हर व्यत्ति को मैने ही सच्चाई दिखाई’’ वाक्य पर चर्चा करने का उद्देश्य बच्चों को भाषा की नियमबद्ध प्रकृति की पहचान और उसका विश्लेषण करना सिखाना है।
Q22. लेखन-क्षमता का विकास करने के सन्दर्भ में आपके लिए सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण है
(1) मानक वर्तनी का प्रयोग
(2) सुन्दर लेखन का अभ्यास
(3) सुनी-पढ़ी और समझी हुई बातों की स्वाभाविक लिखित अभिव्यत्ति
(4) दिए हुए बिन्दुओं और निर्देशों के आधार पर निबन्ध लिखना
Ans: (3) लेखन क्षमता का विकास करने के सन्दर्भ में सबसे अधिक महत्वपूर्ण है ‘सुनी, पढ़ी, और समझी हुई बातों की स्वाभाविक लिखित अभिव्यत्ति का अभ्यास करना।
Q23. भाषा की पाठय-पुस्तकों में हिन्दीतर भाषाओं को भी जगह मिलनी चाहिए। इस कथन के समर्थन में कौन-सा तर्क काम करेगा?
(1) इससे भाषागत विविधता को सही रूप में सम्बोधित किया जा सकता है
(2) इससे भाषाओं के बीच द्वन्द्व नहीं होगा
(3) इससे भारत की सभी भाषाओं को स्थान दिया जा सकेगा
(4) इससे त्रिभाषा सूत्र का पालन किया जा सकता है
Ans: (1) ‘भाषा की पाठ्‌य-पुस्तकों में हिन्दीतर भाषाओं को भी जगह मिलनी चाहिए’ के लिए सही कथन है – इससें भाषागत विविधता को सही रूप में सम्बोधित किया जा सकता है।
Q24. पूरक पठन-सामग्री का उद्देश्य है –
(1) शिक्षक की सहायता से बच्चों को पढ़ाना लिखाना
(2) भाषा की नियमबद्धता को सिखाना
(3) द्रुत गति से पठन की योग्यता का विकास करना
(4) सहपाठियों की सहायता से पढ़ना सीखना
Ans: (3) द्रुतगति से पठन की योग्यता का विकास करना पूरक पठन सामग्री का उद्देश्य है।
Q25. हिन्दी भाषा के प्रश्न-पत्र में आप किस सवाल को सबसे बेहतर मानते हैं?
(1) लाल बहादुर शास्त्री के बचपन का क्या नाम था?
(2) संज्ञा की परिभाषा बताइए
(3) बाबा भारती क्यों उदास थे?
(4) अगर आप बाबा भारती की जगह होते तो क्या करते?
Ans: (4) हिन्दी भाषा के प्रश्न पत्र में सबसे बेहतर सवाल होगा कि ‘अगर आप बाबा भारती की जगह होते तो क्या करते’ क्योंकि इससे विद्यार्थियों को अभिव्यत्ति का मौका मिलेगा। जो कि भाषायी कौशल के विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है।
Q26. कविता-शिक्षण के सन्दर्भ में आप किस बिन्दु को सर्वाधिक महत्त्व देते हैं?
(1) कविता के एक से अधिक अर्थ हो सकते हैं
(2) कविता का एक निश्चित अर्थ होता है
(3) कविता में सामाजिक परिस्थितियों की झलक नहीं होती
(4) कविता में राजनीतिक परिस्थितियों की झलक नहीं होती
Ans: (1) कविता शिक्षण के सन्दर्भ में सर्वाधिक महत्वपूर्ण विन्दु होगा कि कविता के एक से अधिक अर्थ हो सकते हैं। जबकि कविता के सन्दर्भ में यह कहना कि कविता का एक निश्चित अर्थ होता है तथा उनमें सामाजिक परिस्थितियों तथा राजनैतिक परिस्थियों की झलक नहीं होती कविता के प्रति महत्वपूर्ण बिन्दु नही हो सकता।
Q27. कोई भी भाषा पुस्तक तभी सफल मानी जाएगी, जब –
(1) वह बच्चों को प्राचीन साहित्य की पूरी जानकारी दे
(2) वह बच्चों में साहित्य की धरोहर और वर्तमान साहित्य के प्रति उत्सुकता बनाए
(3) वह बच्चों को व्याकरण के नियमों से परिचित कराए
(4) वह बच्चों को केवल प्रसिद्ध साहित्य से परिचित कराए
Ans: (2) कोई भी भाषा पुस्तक तभी सफल मानी जायेगी जब वह बच्चों में साहित्य की धरोहर और वर्तमान साहित्य के प्रति उत्सुकता पैदा करने वाली होगी। क्योंकि ऐसा करने से उन्हें अपनी भाषा पुस्तक को पढ़ने की रोचकता प्राप्त होगी तथा वह साहित्यिक धरोहर को और वर्तमान साहित्य के बारे में समझ सकेगें और उसकी तुलना कर सकेगें।
Q28. भाषा की कक्षा को एक समावेशी कक्षा बनाने के लिए यह आवश्यक है कि –
(1) भाषाई कुशलताओं का आकलन न किया जाए
(2) पाठयक्रम को कम कर दिया जाए
(3) विभिन्न प्रकार की दृश्य-श्रव्य सामग्री का उपयोग किया जाए
(4) पाठय-पुस्तक के पाठ कम कर दिए जाएँ
Ans: (3) भाषा की कक्षा को समावेशी कक्षा बनाने के लिए यह आवश्यक है कि उसमें विभिन्न प्रकार की दृश्य-श्रव्य सामग्री का उपयोग किया जाय। क्योंकि एक समावेशी कक्षा में जहां सभी (विभिन्न प्रतिभा वाले) विद्यार्थी मौजूद हो वहां दृश्य-श्रव्य सामग्री का प्रयोग करने से बच्चों के ध्यान को केन्द्रित किया जा सकता है, इसके द्वारा मिला ज्ञान बच्चों में लम्बे समय तक विद्यमान रहता है।
Q29. अन्तःवाक्‌ की संकल्पना किससे सम्बद्ध है?
(1) वाइगोत्स्की से
(2) चॉम्स्की से
(3) पैवलॉव से
(4) स्किनर से
Ans: (1) अन्तः वाव्‌ की संकल्पना का सम्बन्ध-वाइगोत्स्की से है।
Q30. ‘‘भाषा और चिन्तन में सम्बन्ध होता है।’’ यह कथन–
(1) आंशिक रूप से सही है
(2) पूर्णतः सही है
(3) पूर्णतः गलत है
(4) व्यर्थ का है
Ans: (2) भाषा और चिन्तन में सम्बन्ध होता है यह कथन पूर्णतः सही है क्योंकि भाषा चिन्तन करने की वस्तु है भाषा को हम जितना अधिक प्रयोग करेंगे उतनी ही उसकी वस्तुनिष्ठता प्रमाणिक होगी और यह चिन्तन के द्वारा ही सम्भव है। अतः यह कहना कि भाषा और चिन्तन में सम्बन्ध होता है पूर्णतः सही है।
निर्देश (प्र. सं. 1 से 9) : नीचे दिए गए गद्यांश को पढ़कर सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए।ः शिक्षा की बैंकीय अवधारणा (बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वयं को ज्ञानवान समझने वालों के द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते हैं। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीड़न की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा और ज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नहीं मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वयं को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है; उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्ध करता है। छात्र, हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भाँति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपने अज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व का औचित्य सिद्ध करने वाला समझते हैं-लेकिन इस फर्क के साथ कि दास तो अपनी वास्तविकता को जान लेता है (कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर है) लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नहीं जान पाते कि वे भी शिक्षक को शिक्षित करते हैं।

Top
error: Content is protected !!