You are here
Home > QB Subjectwise > 016 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

016 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Q1. कौन-सा विकल्प गद्यांश के मुख्य भाव के सबसे निकट है?
(1) पहले घर फिर बाहर
(2) साहस और खतरे
(3) हिम्मत और जिन्दगी
(4) हिम्मत करे इन्सान तो क्या काम है मुश्किल
Ans : (4) ‘हिम्मत करे इन्सान तो क्या काम है मुश्किल’ विकल्प गद्यांश के मुख्य भाव के सबसे निकट है इसका तात्पर्य है कि अगर मनुष्य हिम्मत तथा धैर्य के साथ कोई कार्य प्रारम्भ करता है तथा मेहनत एवं लगनपूर्वक उस कार्य को करता है तो सफलता निश्चित ही मिलेगी।
Q2. किस शब्द में उपसर्ग और प्रत्यय दोनों हैं?
(1) सफलता
(2) प्रारम्भ
(3) परिवहन
(4) कठिनाइयाँ
Ans : (1) ‘सफलता’ शब्द में उपसर्ग एवं प्रत्यय दोनों का प्रयोग हुआ है। सफलता का मूल शब्द ‘फल’ होता है। जिसमे ‘स’ उपसर्ग लगाने से ‘सफल’ तथा ‘ता’ प्रत्यय लगाने से ‘सफलता’ हो जाता है। उपसर्ग- ‘उपसर्ग’ उस शब्दांश को कहते हैं, जो किसी शब्द के पहले आकर उसका विशेष अर्थ प्रकट करता है। प्रत्यय- शब्दों के बाद जो अक्षर या अक्षरसमूह लगाया जाता है, उसे प्रत्यय कहते हैं।
Q3. ‘परपीड़ा’ शब्द का गद्यांश में प्रयोग के अनुसार अर्थ है
(1) दूसरों में पीड़ा
(2) दूसरों से पीड़ा
(3) दूसरों की पीड़ा
(4) दूसरों को पीड़ा
Ans : (3) ‘परपीड़ा’ शब्द का अर्थ है- ‘दूसरों की पीड़ा’
Q4. गद्यांश के प्रारम्भ में उदधृत कथन किसके जीवन का दर्शन बना?
(1) रेवती रॉय के
(2) संघर्षशील व्यत्ति के
(3) विवेकानन्द के
(4) असुरक्षित महिलाओं के
Ans : (1) गद्यांश में उद्‌घृत कथन किसी को देखने के लिए आँख की नहीं, दृष्टि की आवश्यकता होती है। रेवती रॉय के जीवन का दर्शन बना।
Q5. रेवती रा य की कैब सेवा मूलतः किसके लिए है?
(1) महानगरों के लिए
(2) कामकाजी महिलाओं के लिए
(3) जरूरतमन्द लोगों के लिए
(4) मुम्बई के निवासियों के लिए
Ans : (2) रेवती रॉय की कैब सेवा मूलतः ‘कामकाजी’ महिलाओं के लिए है। रेवती राय ने एकदम नया रास्ता कैब के द्वारा कामकाजी महिलाओं को सुरक्षित यात्रा का आश्वासन देने के जिए चुना।
Q6. कामकाजी महिलाओं को प्रायः नित्य ही जूझना पड़ता है
(1) परिवहन की समस्याओं से
(2) मनमानी करने वाले बालकों से
(3) गृहस्थी की समस्याओं से
(4) परपीड़क और अपराधी लोगों से
Ans : (4) कामकाजी महिलाओं को महानगरों में मुँह बाए बैठे अपराधी तत्वों या परपीड़ा में आनन्द लेने वालों से प्रायः रोज ही जूझना पड़ता है।
Q7. कैब सेवा प्रारम्भ करने के पीछे कारण था।
(1) महिलाओं की कठिनाइयाँ
(2) समाजसेवा की भावना
(3) सामाजिक दबाव
(4) पारिवारिक विवशता
Ans : (1) कैब सेवा प्रारम्भ करने के पीछे ‘महिलाओं की कठिनाइयाँ थी। जिसे ध्यान में रखकर केवल उन्हीं की सुविधा के लिए ‘फॉरशी’ कैब सेवा प्रारम्भ की। इसका उद्देश्य कामकाजी एवं जरूरतमंद महिलाओं को अपने शहर में सुरक्षित सफर का भरोसा देना।
Q8. रेवती रा य ने एकदम नया रास्ता चुना-
(1) लोगों की सेवा करने का
(2) खतरों में कदम रखने का
(3) बीमार पति की देखभाल का
(4) महिलाओं के लिए कैब संचालन का
Ans : (4) रेवती रॉय ने एकदम नया रास्ता कामकाजी तथा जरूरतमंद महिलाओं के लिए कैब संचालन को चुना। यह सेवा उन महिलाओं के लिए वरदान साबित हुई।
Q9. किस जिन्दगी को खतरों और आशंकाओं से भरा माना गया है?
(1) कामकाजी महिलाओं की
(2) ‘फॉरशी’ कैब संचालन की
(3) महानगरों की
(4) सड़क परिवहन की
Ans : (4) सड़क परिवहन की जिदंगी को खतरों और आशंकाओं से भरा माना गया है। जहाँ प्रत्येक क्षण दुर्घटना होने की सम्भावना बनी रहती है।
निर्देश (प्र. सं. 1015) : निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों के सबसे उचित उत्तर वाले विकल्प चुनकर लिखिए। गरजते घन घनन-घन-घन नाचता है मोर-सा मन, ऐसी पड़ी झर-झर झड़ी- भीगा बदन बेसुध है मन। आज वर्षा अजब आई। बह रही है मस्त पुरवाई, नदी है द्‌वार तक आई। मेघों से लिपटकर सो गया सूरजले रहे हैं खेत अँगड़ाई। आज वर्षा गज़ब आई।
Q10. ‘बेसुध है मन’ कहकर कवि बताना चाहता है कि मन-
(1) झूमने लगता है
(2) गाने लगता है
(3) पानी से भीग जाता है
(4) मस्त हो जाता है
Ans : (4) कवि का मन गरजते बादल तथा घनघोर बरसात में मोर जैसा प्रसन्न है यहाँ ‘बेसुध है मन’ कहकर कवि बताना चाहता है कि मन मस्त हो जाता है।
Q11. खेत अँगड़ाइयाँ ले रहे हैं, क्योंकि
(1) उन्हें बहुत आनन्द आ रहा हैे
(2) सुबह हो गई, वे नींद से जाग रह हैं
(3) सूर्य दिखाई नहीं दे रहा है
(4) सूर्य के सो जाने से उन्हें भी नींद आ रही है।
Ans : (4) काव्यांश में खेत अँगड़ाइयाँ ले रहे हैं, क्योंकि सूर्य के सो जाने से उन्हें (खेतों) भी नींद आ रही है।
Q12 ‘गरजते घन घनन-घन-घन’ में अलंकार है
(1) श्लेष
(2) रूपक
(3) उपमा
(4) अनुप्रास
Ans : (4)
S12 ‘गरजते घन घनन-घन-घन’ में अलंकार है ‘गरजते घन घनन-घन-घन’ में अनुप्रास अलंकार का प्रयोग हुआ है। अनुप्रास अलंकार-जिस अलंकार में एक ही वर्ण की आवृत्ति एक से अधिक बार हो, उसे अनुप्रास अलंकार कहते हैं। श्लेष अलंकार- श्लिष्ट पदों से अनेक अर्थों के कथन को श्लेष कहते हैं। एक शब्द के एक से अधिक अर्थ हो तथा एक से अधिक अर्थ प्रकरण में अपेक्षित हों। उपमा अलंकार- दो वस्तुओं में समान धर्म के प्रतिपादन को ‘उपमा’ कहते हैं। उपमा का अर्थ है- समता तुलना या बराबरी। जहाँ उपमेय से उपमान की तुलना की जाएँ वहाँ उपमा अलंकार होता है। रुपक अलंकार- जहाँ उपमेय में उपमान का आरोप हो या उपमान और उपमेय का अभेद हो उसे रुपक अलंकार कहते हैं।
Q13. मन की उपमा किससे दी गई है?
(1) सावन से
(2) मोर से
(3) बादलों से
(4) वर्षा से
Ans : (2) काव्यांश में कवि द्वारा मन की उपमा मोर से दी गई है। जिस प्रकार घनघोर बारिस से मोर का मन प्रफुल्लित होता है तथा वह झूम उठता है उसी प्रकार मन भी प्रसन्न हो गया है।
Q14. ‘‘लिपटकर सो गया सूरज’’ का भाव है कि सूर्य
(1) छिप गया है
(2) थक गया है
(3) नींद में है
(4) खो गया है
Ans : (1) ‘‘लिपटकर सो गया सूरज’ का भाव है कि सूर्य छिप गया है। बरसात के मौसम में बादलों में अक्सर सूर्य छिप जाया करते हैं।
Q15. ‘पुरवाई’ से आशय है
(1) मदमस्त करने वाली हवा
(2) पूर्व की ओर बहने वाली पवन
(3) पूर्व से आने वाली वायु
(4) पूर्व को बहने वाली नदी
Ans : (3) ‘पुरवाई’ से आशय पूर्व से आने वाली वायु से है।
निर्देश (प्र.सं. 1620) : नीचे दिए गए प्रश्नों के सबसे उचित उत्तर वाले विकल्प चुनिए।
Q16. कक्षा आठ में पढ़ने वाली नन्दिनी लिखते समय वर्तनी की अशुद्धियाँ करती है। भाषा-शिक्षक के रूप में आप अपनी क्या जिम्मेदारी मानते हैं?
(1) नन्दिनी की अशुद्धियों को काटकर सही करना और उन्हें बीस-बीस बार लिखवाना
(2) नन्दिनी को ऐसे अवसर प्रदान करना कि वह स्वयं उनमें सुधार करे
(3) नन्दिनी को समझाना कि वर्तनी की अशुद्धियाँ करने पर उसके अंक कट जाएँगे
(4) नन्दिनी को समझाना कि वर्तनी की शुद्धता ही लेखन का सशत्त पहलू है
Ans : (2) यदि कोई विद्यार्थी (प्राथमिक स्तर/उच्च प्राथमिक स्तर) लिखते समय वर्तनी सम्बन्धी अशुद्धियाँ करती/करता है तो भाषा शिक्षक के रूप में अध्यापक की जिम्मेदारी बनती है कि उन्हें ऐसे अवसर प्रदान करना कि वह स्वयं उनमें (वर्तनी सम्बन्धी अशुद्धियों में) सुधार कर सके।
Q17. उच्च प्राथमिक स्तर पर मुहावरे-लोकोत्तियों के शिक्षण के सम्बन्ध में आपके लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण है
(1) अधिक-से-अधिक मुहावरे-लोकोत्तियों के प्रयोग द्वारा भाषा को आलंकारिक बनाना
(2) मुहावरे-लोकोत्तियों का वाक्यों में प्रयोग करना
(3) सन्दर्भानुसार मुहावरे-लोकोत्तियों के प्रयोगों को समझना और उनका प्रयोग करना
(4) मुहावरे-लोकोत्तियाँ का अर्थ समझाने का प्रयत्न
Ans : (3) उच्च प्राथमिक स्तर पर मुहावरे- लोकोत्तियों के शिक्षण में सर्वाधिक महत्वपूर्ण सन्दर्भानुसार मुहावरे- लोकोत्तियों के प्रयोगों के समझना और उनका प्रयोग करना है।
Q18. निम्नलिखित में से कौन-सा प्रश्न ‘‘सन्दर्भ में व्याकरण शिक्षण’’ को पुष्ट करता है?
(1) ‘घर-घर’ पुनरुत्त शब्द-युग्म है, दिए गए शब्द-समूहों में से ऐसे शब्द-युग्म छाँटिए।
(2) ‘घर-घर’ पुनरुत्त शब्द-युग्म है, इसी तरह के दो और शब्द-युग्म बताइए।
(3) ‘घर-घर’ शब्द-युग्म का प्रयोग करते हुए दो वाक्य बनाइए।
(4) ‘घर-घर’ आपकी ही चर्चा है। वाक्य में ‘घर’ शब्द की पुनरावृत्ति से अर्थ पर क्या प्रभाव पड़ता है।
Ans : (4) घर-घर आपकी ही चर्चा है। इस वाक्य में ‘घर’ शब्द की पुनरावृत्ति हुई है। इस पुनरावृत्ति से वाक्य के आशय पर प्रभाव पड़ता है जिसका बोध हमें व्याकरणिक ज्ञान से सम्भव है। अतः वाक्य का विषय व्याकरण शिक्षण को पुष्ट करता है।
Q19. उच्च प्राथमिक स्तर पर हिन्दी भाषा की पाठ्‌-पुस्तक का निर्माण करते हुए आपके लिए सबसे कम महत्वपूर्ण है
(1) भाषायी क्षमताओं को बढ़ावा देने के अभ्यास
(2) समृद्ध हिन्दी साहित्य की छटा का प्रदर्शन
(3) समस्त व्याकरणिक बिन्दुओं का समावेश
(4) भाषा की विविध छटाओं को समेटने वाले पाठ
Ans : (3) उच्च प्राथमिक स्तर पर हिन्दी भाषा की पाठ्‌-पुस्तक का निर्माण करते समय समस्त व्याकरणिक बिन्दुओं का समावेश सबसे कम महत्वपूर्ण बिन्दु है।
Q20. किसी रचना के बारे में स्वतन्त्र राय बनाने का आत्मविश्वास विकसित करने के लिए आवश्यक है-
(1) साहित्य बोध और ऐतिहासिक बोध
(2) कवि और कविता बोध
(3) साहित्य बोध और छन्द बोध
(4) भाषा बोध और साहित्य बोध
Ans : (4) किसी रचना के बारे में स्वतन्त्र राय बनाने का आत्मविश्वास विकसित करने के लिए भाषा बोध और साहित्य बोध का होना अति आवश्यक है। अगर किसी आलोचक/समालोचक को भाषा तथा साहित्य का ज्ञान नहीं होगा तो वह किसी रचना के सन्दर्भ में अपनी प्रतिक्रिया नही दे सकता।
Q21. बच्चों के लिए अतिरित्त पठन सामग्री क्यों विकसित की जाती है?
(1) पढ़ने में रुचि जगाने एवं सामान्य ज्ञान में वृद्धि के लिए
(2) पढ़ने में रुचि जगाने एवं भाषा ज्ञान में वृद्धि के लिए
(3) भाषा ज्ञान बढ़ाने एवं साहित्यकारों में रुचि जगाने के लिए
(4) भाषा ज्ञान बढ़ाने और सामान्य ज्ञान में रुचि जगाने के लिए
Ans : (2) बच्चों के लिए अतिरित्त पठन सामग्री बच्चों में पढ़ने में रुचि जगाने एवं भाषा ज्ञान में वृद्धि के लिए विकसित की जाती है। अतिरित्त पठन सामग्री के माध्यम से बच्चो में शिक्षा के प्रति रुचि पैदा की जाती है। जिससे उनका शिक्षा के प्रति लगाव बढ़े।
Q22. उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा-शिक्षण का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य है
(1) भाषा के आलंकारिक रूप से पहचानना
(2) भाषा की नियमबद्ध प्रकृति को पहचानना
(3) भाषा के व्याकरण को कण्ठस्थ करना
(4) साहित्यिक विधाओं में रचना करना
Ans : (2) उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा शिक्षण का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य भाषा की नियमबद्ध प्रकृति को पहचानना है। भाषा शिक्षण के द्वारा विद्यार्थियों में भाषा का उचित एवं नियमबद्ध तरीके से ज्ञान प्रदान किया जाता है।
Q23. ‘‘विभिन्न कार्यक्षेत्रों से जुड़ी प्रयुत्तियों से विद्यार्थियों को परिचित कराया जाना चाहिए।’’ इस कथन में ‘प्रयुत्ति’ से तात्पर्य है।
(1) विशिष्ट भाषा प्रयोग
(2) विभिन्न भाषा उदाहरण
(3) भाषा के नियम
(4) शब्दों की व्युत्पत्ति
Ans : (1) प्रयुत्ति एक विशिष्ट नियम का प्रयोग विधि का सूत्र या ट्रिक होती है जिससे विभिन्न कार्यक्षेत्रों के विद्यार्थी परिचित कराएँ जाते हैं ताकि वे (विद्य़ार्थी) भाषा के विभिन्न नियमों को सीख सवें।
Q24. भाषा-शिक्षण की किस विधि में मातृभाषा को मध्यस्थ नहीं रखा जाता?
(1) सूत्र विधि
(2) व्याकरण विधि
(3) अनुवाद विधि
(4) प्रत्यक्ष विधि
Ans : (4) भाषा शिक्षण की प्रत्यक्ष विधि में मातृभाषा को मध्यस्थ नहीं रखा जाता है जबकि व्याकरण विधि, सूत्रविधि एवं अनुवाद विधि को भाषा शिक्षण की विधि से मातृभाषा के मध्यस्थ रखा जाता है।
Q25. भाषा-शिक्षण के सन्दर्भ में किसी शिक्षक के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण है
(1) भाषा प्रयोग के अधिक अवसर प्रदान करना
(2) पाठ्‌यचर्या सहगामी क्रियाओं का आयोजन करना
(3) निर्धारित पाठ्‌यक्रम को पूरा करना
(4) परीक्षा का आयोजन करना
Ans : (1) भाषा शिक्षण के सन्दर्भ में किसी शिक्षक के लिए भाषा प्रयोग के अधिक अवसर विद्यार्थियों को प्रदान करना सर्वाधिक महत्चपूर्ण होता है। पाठ्‌यचर्या सहगामी क्रियाओं का आयोजन करना, निर्धारित पाठ्‌यक्रम को पूरा करना तथा परीक्षा का आयोजन करना आदि सभी भाषा-शिक्षण के सन्दर्भ में मात्र सहायक क्रियाएँ है।
Q26. सतत्‌ आकलन का उद्देश्य यह जानना है कि
(1) बच्चे क्यों नही सीखते?
(2) बच्चे कैसे सीखते हैं?
(3) बच्चों ने कितना सीखा है?
(4) बच्चों ने क्या सीखा है?
Ans : (2) सतत्‌ आकलन का उद्देश्य यह जानना है कि बच्चों ने कितना सीखा है अर्थात्‌ कक्षा अधिगम तथा शिक्षण विधियों द्वारा पढ़ाये गये पाठ्‌य सामग्री का बच्चे कितना सीखते हैं।
Q27. जब शिक्षिका पूछती है कि ‘‘हम भी सफल होंगे- इस वाक्य में ‘भी’ लगने से अर्थ में क्या अन्तर आता है?’’, तो इसका आशय है कि शिक्षिका बच्चों को –
(1) भाषा की बारीकियाँ समझाना चाहती है
(2) अवलोकन क्षमता के अवसर देना चाहती है
(3) व्याकरण सिखाना चाहती है
(4) परीक्षा के लिए तैयार करना चाहती है
Ans : (4) जब कोई शिक्षिका किसी वाक्य में ‘भी’ ‘ही’ ‘तो’ जैसे अनेक निपात शब्दों के बारे में अर्थान्तर करती है तो वह भाषा की बारीकियों को समझाना चाहती है।
Q28. हिन्दी भाषा के शिक्षक के रूप में आपके लिए सबसे कम महत्वपूर्ण है –
(1) व्याकरणिक नियमों की जानकारी
(2) भाषा प्रयोग की क्षमता का विकास
(3) भाषा-कौशलों का ज्ञान
(4) संवैधानिक मूल्यों की जानकारी
Ans : (4) हिन्दी भाषा के शिक्षक के रूप में भाषा प्रयोग की क्षमता का विकास, व्याकरणिक नियमों की जानकारी तथा भाषा कौशलों का ज्ञान सर्वाधिक महत्वपूर्ण है जबकि संवैधानिक मूल्यों की जानकारी सबसे कम महत्वपूर्ण है।
Q29. साहित्य की किस विधा के शिक्षण में सस्वर पठन सर्वाधिक अपेक्षित है?
(1) संस्मरण
(2) आत्मकथा
(3) एकांकी
(4) जीवनी
Ans : (3) साहित्य में एकांकी विद्या के शिक्षण में सस्वर पठन सर्वाधिक अपेक्षित है। क्योंकि एकांकी में कई पात्र होते हैं और प्रत्येक पात्र का भिन्न-भिन्न किरदार होता है उन किरदारों को सस्वर पठन विधि द्वारा सर्वाधिक उपयुत्त तरीके से व्यत्त किया जा सकता है।
Q30. उच्च प्राथमिक स्तर पर हिन्दी भाषा में अभिव्यत्ति परखने के लिए आप किस प्रश्न को सर्वाधिक महत्वपूर्ण समझते हैं?
(1) ‘आँखों पर पर्दा पड़ना’ मुहावरे का वाक्य में प्रयोग कीजिए।
(2) ‘लोकगीत संस्कृति के परिचायक होते हैं’ इस कथन पर अपने विचार व्यत्त कीजिए।
(3) सेना ने पार्क को क्यों घेर लिया था?
(4) लेखक ने ऐसा क्यों कहा कि ताजा बर्फ धोखा देने वाला होता है?
Ans : (1) उच्च प्राथमिक स्तर पर हिन्दी भाषा में विद्यार्थी की अभिव्यत्ति को परखने के लिए आप लोकोत्तियाँ एवं मुहावरों का प्रयोग सर्वाधिक महत्वपूर्ण होते हैं। इन प्रयोगों से विद्यार्थी की भाषा पर पकड़ का पता चलता है।
निर्देश : नीचे दिए गए प्रश्नों के लिए सबसे सही विकल्प चुनिए।

Top
error: Content is protected !!