You are here
Home > QB Subjectwise > 001 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

001 Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Hindi Language Previous Year Questions for CTET & TET Exams

Q1.भाषा शिक्षण की पद्धति नहीं है–
(1) मॉण्टेसरी
(2) किण्डरगार्टन
(3) डैव्राली
(4) अभिक्रमित अनुदेशन
Ans : (4) भाषा शिक्षण पद्धति के अन्तर्गत किण्डरगार्टन, मॉण्टेसरी और डैव्राली अनुदेशन प्रणाली आती है, जबकि अभिक्रमित अनुदेशन भाषा शिक्षण की पद्धति नहीं है बल्कि यह अधिगम से सम्बन्धित है।
Q2. ‘बालक की प्रारम्भिक शिक्षा उसकी मातृभाषा में दी जाये’ यह मानना है–
(1) महात्मा गाँधी का
(2) मॉण्टेसरी का
(3) प्रॉबेल का
(4) क्लिपैट्रिक का
Ans : (1) बालक की प्रारम्भिक शिक्षा उसकी मातृभाषा में ही दी जानी चाहिए, यह विचार महात्मा गांधी से सम्बन्धित है। उन्होंने मातृभाषा पर विशेष जोर दिया था। चूंकि बच्चा एक निश्चित परिवेश में पलता बढ़ता है अतएव उसे मातृभाषा में प्रारम्भिक शिक्षा अपरिहार्य है।
Q3. व्याकरण शिक्षण के लिये उपयुक्त नहीं है–
(1) निगमन प्रणाली
(2) आगमन प्रणाली
(3) अव्याकृति प्रणाली
(4) कक्षाभिनय प्रणाली
Ans : (4) कक्षाभिनय प्रणाली व्याकरण शिक्षा के लिए उपयुक्त नहीं है। जबकि आगमन प्रणाली, निगमन प्रणाली एवं अव्याकृति प्रणाली व्याकरण शिक्षण हेतु उपयुक्त है।
Q4. ‘आनन्द कादम्बिनी’ पत्रिका का प्रकाशन कहाँ से होता है?
(1) मिर्जापुर
(2) बनारस
(3) इलाहाबाद
(4) लखनऊ
Ans : (1) ‘आनन्द कादम्बिनी’ पत्रिका का प्रकाशन मिर्जापुर (उ.प्र.) से होता है। इस पत्रिका के सम्पादक बदरीनारायण चौधरी ‘प्रेमघन’ थे। इनकी एक और पत्रिका ‘नागरी नीरद’ मिर्जापुर से ही निकलती थी। जबकि हंस (1930) पत्रिका ‘बनारस’ से निकलती थी इसके संपादक मुंशी प्रेमचन्द्र थे तथा ‘प्रतीक’ पत्रिका इलाहाबाद’ से निकलती है इसके सम्पादक ‘अज्ञेय’ तथा लखनऊ से प्रकाशित पत्रिका तद्‌भव है। इसके सम्पादक अखिलेश हैं।
Q5. आदिकाल की रचना है-
(1) छत्रसाल दसक
(2) अखरावट
(3) दीपशिखा
(4) खुमाण रासो
Ans : (4) आदिकाल की रचना ‘खुमाण रासो’ हैं। खुमाण रासो के रचयिता दलपति विजय हैं। आदिकाल की अन्य रचनाएं हैंबीसलदेव रासो, पृथ्वीराज रासो, परमाल रासो (आल्हा खण्ड) संदेश रासक आदि।
Q6. हिन्दी गद्य-शिक्षण की पाठ-योजना में उद्देश्य कथन आता है
(1) प्रस्तावना प्रश्न के पश्चात्‌
(2) पूर्वज्ञान
(3) आदर्श वाचन के पश्चात्‌
(4) मौन वाचन के पहले
Ans : (1) हिन्दी गद्य शिक्षण की पाठ-योजना के अन्तर्गत उद्देश्यकथन प्रस्तावना प्रश्न के उपरान्त आता है। प्रस्तावना किसी भी सन्दर्भ का आमुख होता है जो कथ्य की रूपरेखा प्रस्तुत करता है।
Q7. शब्द का अर्थ स्पष्ट करने हेतु कौन सा तरीका सर्वाधिक उपयुक्त है–
(1) व्याख्यान
(2) वाक्यप्रयोग
(3) भ्रमण
(4) चित्र-निर्माण
Ans : (2) शब्द का अर्थ स्पष्ट करने हेतु वाक्य प्रयोग का तरीका सर्वाधिक उपयुक्त है। वाक्य प्रयोग से भाव की स्पष्टता और अधिक निदर्शित होने लगती है।
Q8. राष्ट्रवादी कवि रामधारीसिंह ‘दिनकर’ को ‘उर्वशी’ के लिए ‘ज्ञानपीठ-पुरस्कार’ किस वर्ष प्रदान किया गया?
(1) सन्‌ 1972 ई. में
(2) सन्‌ 1971 ई. में
(3) सन्‌ 1973 ई. में
(4) सन्‌ 1974 ई. में
Ans : (1) राष्ट्रवादी कवि रामधारी सिंह ‘दिनकर’ को उनकी कृति ‘उर्वशी’ के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार 1972 में प्रदान किया गया। हिन्दी भाषा पर प्रथम ज्ञानपीठ पुरस्कार सुमित्रानंदन पंत को 1968 ई. में उनकी कृति ‘चिदम्बरा’ के लिए प्रदान किया गया तथा 1978 ई. में अज्ञेय को ‘कितनी नावों में कितनी बार’ के लिए तथा 1982 में महादेवी वर्मा को उनकी कृति ‘यामा’ के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार प्रदान किया गया। (परीक्षा तिथि : 19-12-2016)
Q9. ‘निरामिष’ किसे कहते हैं?
(1) मोक्ष का इच्छुक
(2) माँस रहित भोजन
(3) रात्रि में विचरण करने वाला
(4) मृत्यु का इच्छुक
Ans : (2) निरामिष का आशय मास रहित भोजन से सम्बन्धित है। जबकि रात्रि में विचरण करने वाला के लिए एक शब्द है ‘निशिचर’ और मोक्ष की इच्छा रखने वाला के लिए उपयुक्त शब्द ‘मुमुक्षु’ होता है।
Q10. ‘शहद’ शब्द है–
(1) तद्‌भव
(2) तत्सम
(3) देशज
(4) आगत
Ans : (4) ‘शहद’ शब्द आगत शब्द है। जो कि तत्सम, तद्‌भव एवं देशज शब्दों से पृथक है। संस्कृत के शुद्ध शब्दों को तत्सम्‌, उनसे उत्पन्न या विकसित शब्दों को तद्‌भव कहते हैं। ‘देशज’ वे शब्द है जो देश में ही बोले जाते हैं परन्तु इनकी उत्पत्ति का पता नहीं चलता तथा आगत वे शब्द है जो विदेशी भाषाओं से आये हैं और उनका प्रयोग हिन्दी में किया जाता है, जैसे अरबी, फारसी, अंग्रेजी, प्रांसीसी, पुर्तगाली तुर्की इत्यादि।
Q11. ‘वनिता’ का प्रयोग किस अर्थ में होता है?
(1) स्त्री
(2) जंगल
(3) पुस्तक
(4) व्यवसायी
Ans : (1) वनिता का प्रयोग स्त्री के अर्थ में होता है। वनिता के अन्य पर्यायवाची शब्द हैं- नारी,कलत्र, त्रिया, वामा, कान्ता, रमणी, कामनी, प्रमदा, सुन्दरी आदि।
Q12. ‘मुकुंद’ किसका पर्याय है?
(1) शिव
(2) विष्णु
(3) सूर्य
(4) कामदेव
Ans : (2) मुकुंद विष्णु का पर्याय है। इसके अन्य पर्याय हैंपुण्ड रीकाक्ष, जनार्दन, चक्रपाणि, उपेन्द्र, चतुर्भुज, गरुणध्वज, विश्वम्भर आदि।
Q13. ‘‘काहे री नलिनी तू कुम्हलानी तेरे ही नालि सरोवर पानी’’ पंक्ति के रचनाकार कौन हैं?
(1) रैदास
(2) जायसी
(3) कबीर
(4) दादू
Ans : (3) ‘‘काहे री नलिनी तू कुम्हलानी, तेरे ही नालि सरोवर पानी’’ यह पंक्ति निर्गुण ब्रह्म उपासक, धर्माडम्बर के विरोधी, समाज सुधारक कबीर दास जी की है।
Q14. आचार्य रामचन्द्र शुक्ल का निबंध संग्रह है–
(1) चिन्तामणि
(2) माटी का फूल
(3) क्षण बोले कण मुसकाए
(4) आलोक पर्व
Ans : (1) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल का निबन्ध संग्रह चिन्तामणि है। शुक्ल जी के अन्य निबन्ध हैं- मित्रता, व्रोध, श्रद्धा और भक्ति आदि। जबकि ‘आलोक पर्व’ हजारी प्रसाद द्विवेदी का तथा ‘क्षण बोले कण मुस्काये के लेखक विष्णु प्रभाकर हैं।
Q15. निम्नलिखित में वर्तनी की दृष्टि से कौन सा शब्द युग्म शुद्ध है?
(1) बारात, बसंत
(2) बरात, बसंत
(3) बरात, वसंत
(4) बारात, वसंत
Ans : (3) दिये गये विकल्पों में ‘बरात, वसंत’ सही विकल्प है। अन्य तीनों विकल्प त्रुटिपूर्ण हैं। वर्तनी की दृष्टि से यही दो शब्द सही है।
Q16. ‘अर्ध-स्वर’ है–
(1) इ, उ
(2) य, व
(3) ऋ, लृ
(4) ऋ, ष
Ans : (2) दिये गये विकल्पों में य, व ही अर्द्ध स्वर हैं। ‘अ + इ’ मिलकर ‘य’ बना है तथा ‘अ + उ’ मिलकर ‘व’ बना है, इसीलिए ये अर्द्ध स्वर कहलाते हैं।
Q17. ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ मुहावरे का सही अर्थ है–
(1) अपराधी का शंकाग्रस्त रहना
(2) अपराधी का अपनी दाढ़ी खुजलाना
(3) अपराधी को पहचान हो जाना
(4) अपराधी का अपनी पहचान छिपाना
Ans : (1) ‘‘चोर की दाढ़ी में तिनका’’ मुहावरे का अर्थ है-अपराधी का शंकाग्रस्त रहना। अन्य विकल्प तर्कसंगत नहीं है।
Q18. ‘एक बार कही बात को दुहराते रहना’ वाक्यांश के लिये एक शब्द है-
(1) प्राक्कथन
(2) आगार
(3) पिष्टपेषण
(4) प्रस्तावना
Ans : (3) ‘एक बार कही बात को दुहराते रहना’ वाक्यांश के लिए एक शब्द है- पिष्टपेषण जबकि प्राक्कथन को भूमिका कहते हैं एवं प्रस्तावना किसी शीर्षक का प्रथम चरण होता है।
Q19. ‘बुद्धिहीन’ शब्द व्याकरण की दृष्टि से किस संवर्ग में है?
(1) सर्वनाम
(2) संज्ञा
(3) विशेषण
(4) क्रिया
Ans : (3) बुद्धिहीन शब्द व्याकरण की दृष्टि से विशेषण है। इस शब्द में बुद्धि की हीनता का भाव स्पष्ट होता है।
Q20. ‘छत से र्इंट गिरी’ वाक्य में कौन सा कारक है?
(1) सम्बन्ध
(2) अपादान
(3) अधिकरण
(4) सम्प्रदान
Ans : (2) ‘‘छत से र्इंट गिरी’’ इस वाक्य में अपादान कारक है। संज्ञा के जिस रूप से किसी वस्तु के अलग होने का भाव प्रकट होता है, उसे अपादान कारक कहते हैं।
Q21. ‘महोर्मि’ का संधि-विच्छेद है-
(1) महा + उर्मि
(2) महत्‌ + उर्मि
(3) महा + ऊर्मि
(4) महत्‌ + मर्मि
Ans : (3) ‘‘महोर्मि’’ का सन्धि विच्छेद महा +ऊर्मि है। इसमें गुण सन्धि है, आ + ऊ = ओ। इसका अन्य उदाहरण है-महा +ऊर्जा = महोर्जा, गंगा + ऊर्मि = गंगोर्मि।
Q22. ‘समष्टि’ का विपरीतार्थी शब्द है–
(1) अशिष्ट
(2) विशिष्ट
(3) अपुष्टि
(4) व्यष्टि
Ans : (4) ‘समष्टि’ का विपरीतार्थी शब्द व्यष्टि होता है। जबकि विशिष्ट का सामान्य एवं अपुष्टि का पुष्टि तथा अशिष्ट का शिष्ट विलोम होगा।
Q23. ‘कर्पट’ का तद्‌भव रूप है–
(1) कारपेट
(2) कपट
(3) कपूर
(4) कपड़ा
Ans : (4) कर्पट का तद्‌भव रूप कपड़ा होता है न कि कपट, करपेट एवं कपूर। जबकि कपूर का तत्सम कर्पूर होता है।
Q24. ‘रमणीय’ में कौन सा प्रत्यय है?
(1) ईय
(2) अनीय
(3) रम
(4) णीय
Ans : (2) ‘रमणीय’ में अनीय प्रत्यय है। अनीय प्रत्यय के अन्य शब्द हैं- आदरणीय, उल्लेखनीय, अभिनंदनीय, आदि।
Q25. ‘बोरौ सबै रघुवंश कुठार की धार में बारन बजि सरत्थहिं। बान की वायु उड़ाव के लच्छन लच्छ करौं अरिहा समरत्थहिं।।’ इन काव्य पंक्तियों में कौन सा रस है?
(1) भयानक रस
(2) रौद्र रस
(3) बीभत्स रस
(4) वीर रस
Ans : (2) उक्त काव्य पंक्तियों में रौद्र रस है। रौद्र रस का स्थायी भाव ‘व्रोध’ होता है।
Q26. ‘‘श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार। बरनौ रघुवर विमल जस, जो दायक फल चार।।’’ में छन्द है–
(1) सोरठा
(2) दोहा
(3) रोला
(4) बरवै
Ans : (2) ‘‘श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार। बरनौ रघुवर विमल जस, जो दायक फलचार।।’’ में दोहा छन्द है। इसके प्रथम और तृतीय चरण में 13-13 मात्राएं और द्वितीय तथा चतुर्थ चरण में 11–11 मात्राएं होती हैं।
Q27. वाक्य शुद्ध है–
(1) गीता और मोहन गा रहा है
(2) मोहन और गीता गा रही है
(3) मोहन और गीता गा रहे हैं
(4) मोहन और गीता गा रही हैं
Ans : (3) निम्न चारों दिये गये वाक्यों में ‘‘मोहन और गीता गा रहे हैं।’’ यही वाक्य शुद्ध है। शेष विकल्पों के वाक्य अशुद्ध हैं।
Q28. इन शब्दों में से कौन सा शब्द हिन्दी शब्दकोश में सबसे अन्त में आएगा?
(1) क्रम
(2) क्लीव
(3) कृषक
(4) कृशानु
Ans : (2) दिये गये विकल्पों में क्लीव शब्द सबसे अन्त में आयेगा। दिये गये विकल्पों के बढ़ते हुए क्रम इस प्रकार हैंवृ शान→ कृषक → क्रम → क्लीव ।
Q29. चराचरम्‌ (जगत) में कौन सा समास है?
(1) द्वन्द्व
(2) तत्पुरुष
(3) बहुब्रीहि
(4) कर्मधारय
Ans : (1) चराचरम में द्वन्द्व समास है। इसमें सामासिक पद होगाचर और अचर। इस समास में दोनों पद प्रधान होते हैं तथा दोनों के बीच और का लोप हो जाता है जैसे-जय-पराजय अर्थात जय और पराजय। सीता-राम अर्थात सीता और राम । आयोग ने इसका उत्तर (4) ‘कर्मधारय’ माना है जो असंगत प्रतीत होता है।
Q30. ‘अभ्यागत’ शब्द में कौन सा उपसर्ग है?
(1) अभ्य
(2) अ
(3) अभि
(4) अभ्या
Ans : (3) ‘अभ्यागत’ शब्द में अभि उपसर्ग हैं। ‘अभि’ उपसर्ग का समीप, बुरा, चारों ओर, बारम्बार, अच्छी तरह आदि अर्थ का बोधक है। जैसे-अभ्याघात, अभिकरण, अभिसरण, अभिप्राय आदि।

Top
error: Content is protected !!