You are here
Home > Previous Papers > GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2007 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल 0033.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2007 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल 0033.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2007 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल

1. निम्नलिखित में से कौन सा बल अभिनतिक रचना के लिये उत्तरदायी है ?
(a) भूपर्पटीय भं्रशन (b) भूपर्पटीय रिपिटंग
(c) भूपर्पटीय संपीडन (d) भूपर्पटीय धसाव
उत्तर(c) : भूपर्पटीय संपीडन बल अभिनतिक रचना के लिये
उत्तरदायी है। जब दो क्षैतिज बल एक ही दिशा में या दो दिशाओं से आमने-सामने कार्य करते हैं तो संपीडन होता है। संपीडन के कारण चट्टानों में वलन तथा संवलन बढ़ जाते है जिसके परिणामस्वरूप अभिनतिक रचना का निर्माण होता है। पृथ्वी के अन्तर्जात बल द्वारा उत्पन्न क्षैतिज संचलन द्वारा भूपटलीय चट्टानों में सम्पीडन की स्थिति उत्पन्न हो जाती है तो चट्टानों में लहरनुमा मोड़ पड़ जाते है। इस तरह के मोड़ों को वलन कहा जाता है।
2. पदस्थली (पेडीप्लेन) तथा इन्सेलवर्ग किस क्षरणचव्र् ाâ की वृद्धावस्था के लक्षण है।
(a) हिमनदीय (b) कार्स्ट
(c) शुष्क (d) समुद्रीय
उत्तर(c) : पदस्थली (पेडीप्लेन) तथा इन्सेलबर्ग शुष्क क्षरण चक्र की वृद्धावस्था के लक्षण है। इस प्रकार की भू-आकृतियाँ अफ्रीका के अर्द्धशुष्क तथा सवाना प्रदेशों से मिलती है।
3. निम्नलिखित में से कौन सा शब्द समान प्रक्रियाओं को नहीं दर्शाता है ?
(a) पटल विरूपण (b) वलन
(c) अपशल्कन (d) आवलन
उत्तर(c) : पटल विरूपण‚ वलन तथा आवलन शब्द समान प्रक्रियाओं को दर्शाता है‚ उपर्युक्त सभी प्रक्रिया प्लेटों के संचलन तथा सम्पीडन द्वारा निर्मित होती है जबकि अपशल्कन इनसे भिन्न क्रिया है।
4. निम्नलिखित में से किसमें बहाव की दिशा चट्टानों के बनावट के द्वारा नियंत्रित होती है ?
(a) अनुवर्ती (b) परवर्ती
(c) अक्रमवर्ती (d) प्रत्यनुवर्ती
उत्तर(a) : अनुवर्ती बहाव की दिशा चट्टानी बनावट के द्वारा नियन्त्रित होती है। किसी भी क्षेत्र में सर्वप्रथम अनुवर्ती सरिता का उद्भव होता है। ये सरितायें क्षेत्रीय धरातल के प्रारम्भिक ढाल के अनुरूप प्रवाहित होती है। अर्थात् अनुवर्ती नदियाँ प्रादेशिक ढाल का अनुसरण करती है।
5. सूची-प्रथम को सूची-द्वितीय से सुमेलित कीजिये तथा दिये गये कूट से सही उत्तर अंकित कीजिये। सूची-प्रथम सूची-द्वितीय
(a) वायु-क्षरण (i) ड्रमलिन
(b) भूजलीय ह्रास (ii) स्टेलेग्माईट
(c) हिमनदीय जमाव (iii) बरखान
(d) नदी-अपरदन (iv) समतलीकृत मैदान
कूट :
(a) (b) (c) (d)
(a) (iii) (ii) (i) (iv)
(b) (ii) (i) (iv) (iii)
(c) (ii) (iv) (iii) (i)
(d) (iv) (ii) (iii) (i)
उत्तर(a) :
सूची- I सूची- II
वायु क्षरण बरखान भूजलीय ह्रास स्टेलेग्माईट हिमनदीय जमाव ड्रमलिन नदी अपरदन समतलीकृत
6. जलारेख (हाइड्रोग्रॉफ) की सहायता से क्या अंकित किया जाता है।
(a) वायु तीव्रता (b) वाष्प अवधारणा
(c) सापेक्ष आर्द्रता (d) जल निकास
उत्तर(d) : हाइड्रोग्राफ की सहायता से जल निकास अंकित किया जाता है। जबकि वायुदाब मापने के लिए बैरोमीटर का प्रयोग किया जाता है और वायु की गति मापने के लिए एनिमोमीटर का प्रयोग किया जाता है।
7. वातावरण में क्लोरो फ्लोरो कार्बन की वृद्धि निम्नलिखित में संबद्ध है –
(a) ओजोन हृास
(b) समुद्र तल का तापमान
(c) जलीय जीवों का हृास
(d) सघन ध्वनीय प्रदूषण
उत्तर(a) : वातावरण में क्लोरो-फ्लोरो कार्बन की वृद्धि ओजोन हृास से सम्बद्ध है। क्लोरो-फ्लोरो कार्बन यौगिक प्रशीतको रेफ्रिजरेटरों‚ एरोसोल्स से प्राप्त होता है। यह वायुमण्डल में रेफ्रिजरेटरों‚ एयरकण्डीशनर‚ स्पे्र और औद्योगिक पदार्थों से निष्कासित होता है।
8. भूकंप के उद्गम-बिन्दु को क्या कहते है ?
(a) भूकम्प केन्द्र (b) एपीसेन्टर
(c) सीसमिक फोकस (d) टेक्टोनिक बिन्दु
उत्तर(c) : भूंकप के कारण जब धरातल पर कम्पन होता है तो उसे प्रघात कहते है। भूकम्प के मूल उद्गम स्थल की उद्गम केन्द्र या सीसमिक केन्द्र (focus) कहते हैं। केन्द्र के ठीक ऊपर भूतल पर स्थित स्थान को भूकम्प का ‘अधिकेन्द्र’ कहते है।
9. भूतलीय ताप व्युत्क्रम निम्नलिखित से संबंधित है –
(a) ऊँचाई बढ़ने के साथ ताप का बढ़ना
(b) ऊँचाई बढ़ने के साथ ताप का घटना
(c) ऊँचाई घटने के साथ ताप का घटना
(d) ऊँचाई घटने के साथ ताप का बढ़ना
उत्तर(a) : भूतलीय ताप व्युत्क्रम ऊँचाई बढ़ने के साथ ताप के बढ़ने से सम्बन्धित है। सामान्य नियमानुसार क्षोभमण्डल में ऊँचाई के साथ तापमान घटता जाता है। परन्तु इस सामान्य ताप पतन के विपरीत कभीकभी कालिक तथा स्थानीय रूप से ऊँचाई के साथ तापमान बढ़ता जाता है इसे ऋणात्मक ताप पतन दर की संज्ञा दी जाती है। इस क्रिया के कारण नीचे अपेक्षाकृत ठण्डी वायु की परत तथा उसके ऊपर गर्म वायु की परत स्थित हो जाती है। इस दशा को तापमान का प्रतिलोमन कहा जाता है।
10. जलवायु वर्गीकरण में वाष्पन-वाष्पोत्सर्जन की अवधारणा का उपयोग किसके द्वारा किया गया था।
(a) थार्नथ्वेट (b) कोपेन
(c) केन्ड्रयू (d) आस्टिन मिलर
उत्तर(a) : जलवायु वर्गाेकरण में वाष्पन-वाष्पोत्सर्जन की अवधारणा का उपयोग थार्नथ्वेट द्वारा किया गया था। थार्नथ्वेट ने 1931 में अपना वर्गीकरण प्रस्तुत किया। थार्नथ्वेट ने अपने वर्गीकरण में जलवायु प्रदेश की सीमाओं का निर्धारण वनस्पति को आधार न मानकर वर्षा तथा सम्भाव्य वाष्पोत्सर्जन को आधार माना है। वाष्पोत्सर्जन तापीय दक्षता तथा जल के ह्रास का सूचकांक है। वाष्पोत्सर्जन का परिकलन औसत मासिक तापमान के आधार पर किया जाता है।
11. समुद्र तल के सुस्थितिक परिवर्तन किसके द्वारा होते है?
(a) हिमयुग (b) एपीरोजनिक चलन
(c) पर्वतनी चलन (d) समस्थितिक परिवर्तन
उत्तर(d) : समुद्रतल के सुस्थितिक परिवर्तन समस्थितिक परिवर्तन के द्वारा होता है। समुद्रतल में परिवर्तन प्राकृतिक तथा मानवीय दोनों कारणों से हो रहा है।
12. निम्नलिखित में से कौन-सा द्वीप प्रवाल द्वीप है।
(a) तसमानिया (b) लक्ष्यद्वीप
(c) मालद्वीप (d) रामेश्वरम्
उत्तर(b) : लक्ष्यद्वीप प्रवाल द्वीप है। लक्ष्यद्वीप में कुल द्वीपों की संख्या 36 है। इनके अधिकांश द्वीप कोरल तथा एटॉल है। लक्ष्यद्वीप की राजधानी कावारत्ती है। लक्ष्यद्वीप का एकमात्र हवाईबेड़ा आगाती द्वीप पर स्थित है।
13. निम्नलिखित में से किस राज्य में चिपको आन्दोलन आरम्भ किया गया था।
(a) मध्य प्रदेश (b) झारखण्ड
(c) उत्तराखण्ड (d) राजस्थान
उत्तर(c) : चिपको आन्दोलन उत्तराखण्ड राज्य में आरम्भ किया गया था। यह आन्दोलन वृक्ष कटने से रोकने हेतु प्रारम्भ किया गया था। जिससे काफी हद तक सफलता प्राप्त हुई थी।
14. निम्नलिखित में से कौन टैगा जीवोम है।
(a) उप-ध्रुवीय जीवोम
(b) उप-सहारा जीवोम
(c) सवाना घास
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर(a) : टैगा जीवोम का विस्तार उत्तरी-अमेरिका तथा यूरेशिया में शीत महाद्वीपीय अथवा उप-ध्रुवीय जलवायु प्रदेशों में पाया जाता है। यह जीवोम दक्षिणी गोलार्द्ध में नहीं पाया जाता है। यह कोणधारी वृक्ष वनस्पतियों में सबसे प्रभावशाली है।
15. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और दिये गये कूट में से सही उत्तर का चयन कीजिए। सूची-I सूची-II
(a) प्रवाल भित्ति 1. जीवीय समुद्री निक्षेप
(b) माधस्थल (शोल) 2. गहरा‚ आपेक्षाकृत समतल समुद्री तल
(c) वितलीय मैदान 3. मग्नतट ढाल से तीव्र अवरोहण
(d) महाद्वीपीय ढाल 4. उथली गहराईयों के साथ विलग्न उन्नत भूमि
(a) (b) (c) (d)
(a) (ii) (iii) (i) (iv)
(b) (i) (iv) (ii) (iii)
(c) (iii) (ii) (iv) (i)
(d) (iv) (i) (iii) (ii)
उत्तर(b) :
सूची-प्रथम सूची-द्वितीय
प्रवाल भित्ति जीवीय समुद्री निक्षेप माधस्थल (शोल) उथली गहरायी के साथ विलग्न उन्नत भूमि वितलीय मैदान गहरा‚ अपेक्षाकृत समतल समुद्री मैदान महाद्वीपीय ढाल मग्नतट ढाल से तीव्र अवरोहण
16. अभिकथन (A) : रिटर ने इतिहास तथा भूगोल के बीच संबंध को उतना स्पष्ट नहीं बताया है‚ जितना स्पष्ट हम्बोल्ट ने बताया है।
कारण (R) : इमैन्युअल कांट इतिहास तथा भूगोल के बीच संबंध को रिटर की तुलना में अधिक स्पष्ट ढंग से समझते थे।
(a) A तथा R दोनों सही है और A का सही स्पष्टीकरण R से मिलता है।
(b) A तथा R दोनों सही है R से A का सही स्पष्टीकरण नहीं मिलता है।
(c) A सही है परन्तु R गलत है।
(d) A गलत है परन्तु R सही है
उत्तर(b) : यह कथन सत्य है कि कार्ल रिटर ने इतिहास तथा भूगोल के बीच सम्बन्ध को उतना स्पष्ट नहीं किया जितना हम्बोल्ट ने किया। हमबोल्ट वैज्ञानिक भूगोल वेत्ता के साथ-साथ क्रमबद्ध पद्धfत से भूगोल की व्याख्या करते थे‚ इसी कारण उनके अध्ययन में इतिहास तथा भूगोल काफी हद तक अलग-अलग वर्णित होते थे।
17. एलेक्जेन्डर वॉन हम्बोल्ट की पुस्तक ‘कॉसमॉस’ उनकी निम्नलिखित में से महाद्वीप की यात्रा पर आधारित है।
(a) एशिया (b) उत्तरी अमेरिका
(c) यूरोप (d) दक्षिणी अमेरिका
उत्तर(d) : एलेक्जण्डर हम्बोल्ट की पुस्तक ‘कॉसमॉस’ उनकी दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप की यात्रा पर आधारित है। भूगोल की विषय वस्तु का विचार करते हुये हम्बोल्ट ने एक नया पद नाम ‘विश्व रचना’ दिया और इसे ब्रह्माण्ड वर्णन (Uranagraphy) एवं भूगोल (Geography) में विभाजित किया। हम्बोल्ट प्रेरणिक विधि (Inductive mathod) में विश्वास करते थे और उन्होंने अनुसंधान की अनुभाषिक विधि के महत्व पर बल दिया। हम्बोल्ट भूगोल तथा मौसम विज्ञान का प्रारम्भकर्ता था।
18. अभिकथन (A) : हम्बोल्ट के जर्मनी के अकादमिक क्षेत्र में कोई निकट अनुयायी नहीं थे क्योंकि उनके पास कोई अकादमिक पद नहीं था।
कारण (R) : हम्बोल्ट के सही अनुयायी वैज्ञानिक यात्री थे।
(a) A तथा R दोनों सही है और A का सही स्पष्टीकरण R से मिलता है।
(b) A तथा R दोनों सही है R से A का सही स्पष्टीकरण नहीं मिलता है।
(c) A सही है परन्तु R गलत है।
(d) A गलत है परन्तु R सही है
उत्तर(d)
19. ‘‘प्रकृति मनुष्य को किसी विशिष्ट मार्ग पर नही चलाती है‚ लेकिन वह अनेक सम्भावनाएँ प्रस्तुत करती है‚ जिसमें से मनुष्य को चुनने की स्वतंत्रता होती है।’’ इस कथन का निहितार्थ है-
(a) निश्चयवादी उपागम
(b) सम्भववादी उपागम
(c) निश्चयवादी एवं सम्भववादी दोनों ही उपागम
(d) प्रायिकतात्मक उपागम
उत्तर(b) : उपरोक्त कथन का निहितार्थ सम्भववादी उपागम से सम्बन्धित है। सम्भववाद की बात सर्वप्रथम फैब्रे महोदय ने की बाद में इसको विकसित करने का कार्य वाइडल डी ला ब्लाश ने किया। सम्भववादी उपागम का विकास मुख्यत: फ्रांस में हुआ जो मानव की प्रभुता को स्वीकार करती है।
20. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और दिये गये कूट में से सही उत्तर का चयन कीजिये। सूची-I सूची-II
(भूगोलवेत्ताओं के नाम) (देश का नाम)
(a) एलेक्जेन्डर वॉन हम्बोल्ट 1. फ्रांस
(b) एलेन चर्चिल सैम्पल 2. यू. के.
(c) पीटर हैगेट 3. यू.एस.ए.
(d) जीन ब्रून्स 4. जर्मनी
(a) (b) (c) (d)
(a) (iv) (iii) (ii) (i)
(b) (i) (ii) (iii) (iv)
(c) (iii) (iv) (ii) (i)
(d) (ii) (iii) (i) (iv)
उत्तर(a) :
भूगोलवेत्ता देश का नाम
एलेक्जेण्डर वॉन हम्बोल्ट जर्मनी एलेन चर्चिल सेम्पल यू. एस. ए.
पीटर हैमेट यू. के.
जीन ब्रूस फ्रांस
21. नगरीय पर्यावरण का हृास विभिन्न कारको से होता है-
(i) निलम्बित विविक्त पदार्थ (एस.पी.एम.)
(ii) प्रदूषित जल
(iii) कार्बन डाइआक्साइड
(iv) यानीय उत्सर्जन
(a) (i), (ii), (iii) एवं (iv) सही है।
(b) (ii) एवं (iv) सही है।
(c) (ii) एवं (iii) सही है।
(d) (i) एवं (iv) सही है।
उत्तर(a) : नगरीय पर्यावरण का ह्रास प्रश्नगत दिये गये सभी विकल्पों द्वारा होता है। विभिन्न औद्योगिक कल कारखानों से निकला प्रदूषित जल विभिन्न प्रकार की बीमारियों को बढ़ावा दे रहा है।
22. नगरीय जनसंख्या में वृद्धि ग्रामीण जनसंख्या वृद्धि से अधिक तेज रफ्तार से होती है‚ क्योंकि –
(a) नगरीय जनसंख्या में उच्च जन्म दर है।
(b) ग्रामीण जनसंख्या में उच्च मृत्यु दर है।
(c) बड़ी संख्या में व्यक्ति नगर केन्द्रों की ओर प्रवासन करते है।
(d) नगर केन्द्र व्यवसाय के अच्छे अवसर प्रदान करते है
उत्तर(c) : नगरीय जनसंख्या में वृद्धि ग्रामीण जनसंख्या वृद्धि से अधिक तेज रफ्तार से होती है क्योंकि बड़ी संख्या में व्यक्ति रोजगार‚ शिक्षा‚ चिकित्सा तथा अन्य नगरीय सुविधाओं हेतु नगर केन्द्रों की ओर प्रवासन करते है।
23. नगरों के वर्गीकरण का सबसे महत्वपूर्ण आधार है –
(a) जनसंख्या (b) स्थल
(c) आकार (d) कार्य
उत्तर(a) : विश्व के कोई भी दो नगर एक से नहीं है। सभी नगर अपने आकार‚ प्रकार‚ बसाव‚ स्थिति‚ कार्यों आदि की दृष्टिसे एक दूसरे से भिन्न है। नगरों के वर्गीकरण का सबसे महत्वपूर्ण आधार जनसंख्या है। इसके अतिरिक्त आकार‚ स्थिति तथा उनके द्वारा किये गये कार्यों के आधार पर नगरों को विभिन्न वर्गों में विभाजित किया जा सकता है। परन्तु एक भूगोलवत्ता की दृष्टि से नगर का प्रकार्य सबसे महत्वपूर्ण है‚ क्योंकि इससे नगर की अर्थव्यवस्था तथा उसके आन्तरिक पक्ष का ज्ञान होता है।
24. एक उच्च एवं क्रमश: ह्वासोन्मुख 30 प्रति हजार से अधिक प्रजननता एवं एक तीव्रता से घटती हुई 15 प्रति हजार से अधिक मृत्यु दर जनसंख्या संक्रमण की विशेषता है-
(a) प्रथम अवस्था की (b) द्वितीय अवस्था की
(c) तृतीय अवस्था की (d) अन्तिम अवस्था की
उत्तर(b) : जनांकिकीय संक्रमता की प्रथम अवस्था में जन्मदर 35 प्रति हजार से अधिक पायी जाती है तथा मृत्यु दर घटती बढ़ती रहती है। जनांकिकीय संक्रमण की द्वितीय अवस्था में जन्मदर 35 प्रति हजार से ऊपर पायी जाती है तथा मृत्युदर 25 हजार से 15 प्रति हजार के मध्य पायी जाती है। तृत्तीय अवस्था में जन्म दर 20 प्रति हजार से ऊपर तथा मृत्युदर 15 प्रति हजार से कम पायी जाती है। चतुर्थ अवस्था में जन्म दर तथा मृत्यु दर दोनों निम्न पायी जाती है।
25. जब किसी क्षेत्र की जनसंख्या घनत्व कुल जनसंख्या को कुल कृषि क्षेत्र में विभाजित करके ज्ञात किया जाता है‚ तो इसे कहते है-
(a) अंकगणितीय घनत्व (b) कृषि घनत्व
(c) आर्थिक घनत्व (d) कायिक घनत्व
उत्तर(d) :
कायिक घनत्व प्रदेश को कुल जनसंख्या प्रदेश को कुल कृ षिा योग्य भूमि आर्थिक घनत्व देश को कुल जनसंख्या देश के सम्पूणर् संसाधन का मूल्य
(एकल इकाई में ) कृषि घनत्व कृषिा पर आ धारित जनसंख्या कुल कृषि योग्य भूमि
26. उत्तरी अटलांटिक महासागरीय मार्ग विश्व का सर्वाधिक महत्वपूर्ण मार्ग है‚ क्योंकि –
(a) वहाँ लेब्रोडोर ठंडी जल धारा है
(b) दोनों किनारों पर विकसित देश है
(c) इसके पश्चिमी तट पर संयुक्त राज्य अमेरिका है
(d) यह एक सुरक्षित जल परिवहन मार्ग है।
उत्तर(b) : उत्तरी अटलांटिक महासागरीय मार्ग विश्व का व्यस्ततम महासागरीय जलमार्ग है जो पश्चिमी यूरोपीय और उत्तरी अमेरिकी देशों को जोड़ता है। अत: उत्तरी अटलांटिक महासागरीय जल मार्ग के दोनों किनारों पर विकसित देशों की स्थिति के कारण बड़ी मात्रा में व्यापार होता है। पश्चिमी यूरोपीय तथा उत्तरी देशों के किनारे पर गर्म जलधारा के कारण वर्ष भर बन्दरगाह भी खुले मिलते हैं।
27. निम्नलिखित में से कौन बागानी कृषि नहीं है ?
(a) चाय की कृषि (b) कॉफी की कृषि
(c) रबर लेटेक्स उत्पादन (d) सोयाबीन की कृषि
उत्तर(d) : चाय‚ काफी‚ रबर‚ बागाती कृषि है अर्थात इनके बगान पाये जाते हैं जबकि सोयाबीन बागाती कृषि नहीं है। सोयाबीन का सर्वाधिक उत्पादन मध्य प्रदेश राज्य में होता है।
28. अभिकथन (A) : वेबर का सिद्धान्त परिवहन लागत पर आधारित है परन्तु इसमें इस तथ्य की उपेक्षा की गयी है कि‚ भाड़ा दर सर्वदा दूरी के अनुपात में नहीं बढ़ सकता।
कारण (R) : तथापि‚ भाड़ा दर कच्चे माल एवं तैयार माल के लिये समान नहीं हो सकता।
(a) A तथा R दोनों सही है और A का सही स्पष्टीकरण R से मिलता है।
(b) A तथा R दोनों सही है R से A का सही स्पष्टीकरण नहीं मिलता है।
(c) A सही है परन्तु R गलत है।
(d) A गलत है परन्तु R सही है
उत्तर(a) : बेवर के अनुसार कच्चे माल या उत्पादित वस्तु का सापेक्षिक परिवहन व्यय अथवा न्यूनतम परिवहन व्यय यह निश्चित करता है कि उद्योग कच्चे माल के दोत के निकट या बाजार के निकट या फिर दोनों के मध्य किसी उचित स्थान पर स्थापित होग। परिवहन व्यय सिद्धान्त में मात्रा दर सर्वदा दूरी के अनुपात में नहीं बढ़ सकता क्योंकि मात्रा दर का मान कच्चे माल और तैयार माल के लिये एक-एक समान नहीं हो सकता।
29. निम्नलिखित कौन-सा एक वृहत पैमाने वाला मानचित्र है ?
(a) 1 : 2,50,000 (b) 1 : 10,00,000
(c) 1 : 25,000 (d) 1 : 50,000
उत्तर(c) : 1: 25,000 वृहद पैमाने के मानचित्र हैं 1:25000 या इससे कम प्रदर्शक भिन्न वाले मापक वृहद पैमाने वाले मानचित्र होते हैं। वृहद पैमाने वाले मानचित्र में छोटे क्षेत्रों को दर्शाया जाता है।
30. कपास की कृषि के लिये सबसे उपयुक्त मिट्टी है –
(a) लैटेराइट मिट्टी (b) रेगुऱ मिट्टी
(c) रेतीली मिट्टी (d) दुमट मिट्टी
उत्तर(b) : रेगुर मिट्टी को काली मृदा भी कहते है यह कपास के लिये सबसे उपयुक्त मिट्टी है। रेगुर मृदा का निर्माण मुख्यता दक्कन के लावा के अपक्षय से हुआ है। इस मृदा में लोहा‚ चूना‚ कैल्शियम‚ पोटाश‚ एल्युमिनियम और मैग्नेशियम कार्बोनेट की प्रचुरता पायी जाती है। परन्तु इनमें नाइट्रोजन‚ फास्फोरस तथा जैव पदार्थो की कमी पायी जाती है।
31. अभिकथन (A) : तत्काल साफ किये गये वनों की अछूती मिट्टियाँ कॉफी के सर्वोच्च उत्पादन के लिये
उत्तरदायी है।
कारण (R) : कॉफी एक मिट्टी रेचक फसल है।
(a) A तथा R दोनों सही है तथा R, A का सही स्पष्टीकरण है।
(b) A तथा R दोनों सही है परन्तु R, A का सही स्पष्टीकरण नहीं है।
(c) A सही है परन्तु R गलत है।
(d) A गलत है परन्तु R सही है
उत्तर(b) : कथन एवं कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण कथन का सही स्पष्टीकरण नहीं है। ध्यातव्य है कि कॉफी एक लोकप्रिय पेय पदार्थ है जो कॉफी के पेड़ के भुने हुए बीजों से बनाया जाता है। कॉफी में कैफीन होने के कारण वह हल्के उद्दीपक-सा प्रभाव डालती है।
32. सांस्कृतिक भू-दृश्य दर्शाता है।
(a) वातावरण पर मानव का प्रभाव
(b) प्रकृति की प्रमुखता
(c) पारिस्थितिक कारकों का प्रभाव
(d) प्राणि जाति एवं वनस्पति का आपसी सम्बन्ध
उत्तर(c) : सांस्कृतिक वातारण में विभिन्न संस्कृति के लोग रहते हैं जिन पर पारिस्थितिक कारकों का प्रभाव अधिक रहता है। इसमें पश्चिम अफ्रीका के फुलानी तथा पूर्वी अफ्रीकी पठार के मसाई के तरह पशुपालन तथा दूसरी उत्तर-नाइजीरिया के हाऊसा जैसे व्यवसायिक कृषक भी निवास करते हैं।
33. निम्नलिखित में से किस जिले में जनजातीय बहुलता है।
(a) कन्याकुमारी (b) बस्तर
(c) रोहतक (d) करनाल
उत्तर(b) : छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में जनजातीय बहुलता पायी जाती है।
34. आदिकालीन व्यक्ति‚ जो कालाहारी मरूस्थल में रहते है‚ जाने जाते हैं।
(a) पिग्मी (b) बांटू
(c) बुशमैन (d) तोन्डा
उत्तर(c) : आदिकालीन व्यक्ति जो कालाहारी मरूस्थल में रहते हैं। इन्हें बुशमैन कहा जाता है। बुशमैन लोगों को भोजन आखेट के जन्तुओं और पक्षियों से‚ मछलियों से तथा जंगली वनस्पति के कन्दमूल‚ गांठों‚ फलों तथा शहद से प्राप्त होता था।
35. निम्नलिखित में से किसमें कोई भी जाति अनुसूचित श्रेणी में नहीं है।
(a) नागालैण्ड (b) मणिपुर
(c) दादर एवं नगर हवेली (d) पुदुचेरी
उत्तर(d) : भारत में जनजातियों का वितरण बहुत ही असमान है। देश की अधिकांश जनजातियाँ उत्तर पूर्वी राज्यों तथा मध्यवर्ती राज्यों में ही निवास करती है। भारत के कुल छ: सौ से अधिक जिलों में से 452 जिलों में जनजातियाँ रहती है और इन जिलों में इनके संकेन्द्रण में काफी भिन्नता पायी जाती है। 68प्रतिशत जनजातीय जनसंख्या केवल 65 जिलों में ही केन्द्रित है। इसके विपरीत गोवा में जनजातीय जनसंख्या लगभग नगण्य है और पंजाब‚ हरियाणा‚ दिल्ली‚ चण्डीगढ़ और पुदुचेरी में कोई अनुसूचित जनजाति अधिसूचित नहीं की गयी है।
36. भारत के निम्नलिखित राज्यों में से किसकी अन्य राज्यों से सर्वाधिक उभयनिष्ठ सीमा है।
(a) पश्चिम बंगाल (b) मध्य प्रदेश
(c) छत्तीसगढ़ (d) कर्नाटक
उत्तर(c) : छत्तीसगढ़ राज्य की सर्वाधिक उभयनिष्ठ सीमा है। छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा उत्तरप्रदेश‚ झारखण्ड‚ उड़ीसा‚ मध्यप्रदेश‚ महाराष्ट्र छत्तीसगढ़ आन्ध्रप्रदेश राज्य की सीमा 6राज्यों से मिलती है।
37. निम्नलिखित लक्षणों में से कौन मानवीय विकास का माप नहीं है ?
(a) साक्षरता (b) जीवन प्रत्याशी
(c) प्रति व्यक्ति आय (d) उपभोक्ता व्यय
उत्तर(d) : उपभोक्ता व्यय मानवीय विकास का माप नहीं है। साक्षरता‚ जीवन प्रत्याशा तथा प्रति व्यक्ति आय मानवीय विकास की माप है।
38. अभिकथन (A) : विकसित देशों में नगरीकरण का स्तर एक दीर्घ S वक्र का अनुसरण करता है।
कारण (R) : भारत में नगरीकरण का स्तर एक करीब-करीब सीधी रेखा का अनुसरण करता है।
(a) A तथा R दोनों सही है तथा R, A का सही स्पष्टीकरण है।
(b) A तथा R दोनों सही है परन्तु R, A का सही स्पष्टीकरण नहीं है।
(c) A सही है परन्तु R गलत है।
(d) A गलत है परन्तु R सही है
उत्तर(c) : विकसित देशों में नगरीकरण का स्तर एक दीर्घ 5 वक्र का अनुसरण करता है यह कथन सत्य है लेकिन भारत में नगरीकरण का स्वर करीब करीब सीधी रेखा का अनुसरण करता है यह कथन पूर्णत: सत्य नहीं है।
39. निम्नलिखित में से कौन-सा शब्द महानगरीय प्रदेश को परिभाषित करने के लिये सबसे उपयुक्त है।
(a) औपचारिक (b) कार्यकारी
(c) आर्थिक (d) जातिगत
उत्तर(c) : महानगरीय क्षेत्र में आर्थिक क्रियाकलाप सबसे अधिक मात्रा में संचालित होती है। ध्यातव्य है कि नगरीय क्षेत्रों का वर्गीकरण आर्थिक क्रियाकलाप‚ जनसंख्या‚ आधुनिक संसाधन‚ उच्च शैक्षिक स्तर के आधार पर किया जाता है।
40. निम्नलिखित में से किसने आपसी संबंधों को त्रिक ‘‘स्थान‚ कार्य एवं लोग’’ प्रस्तावित किया था ?
(a) ली प्ले (b) क्लेरेन्स स्टाईल
(c) ली कार्बूजिए (d) ईबेनेजर होवार्ड
उत्तर(a) : लि प्ले ने आपसी सम्बन्धों को त्रिक स्थान − कार्य –
लोग प्रस्तावित किया था जो फ्रांसीसी सम्प्रदाय से सम्बन्धित भूगोलवेत्ता थे।
41. विकास के प्रादेशिक असमानताओं को कम करने में जो कारक कार्य करते हैं वे अनेक है। निम्नलिखित में से कौन-सा कारक सबसे प्रासंगिक है ?
(a) बढ़ती हुयी गम्यता
(b) प्रादेशिक अर्थव्यवस्थाओं के बलदायी अग्रिम एवं विलोम अनुबन्ध
(c) कम विकसित प्रदेशों में निवेश
(d) महानगरीय केन्द्रों के विकास का नियोजन
उत्तर(b) : विकास के प्रादेशिक असमानताओं को कम करने में जो कारक कार्य करते है‚ वे अनेक है। प्रश्नगत दिये गये कारकों में सबसे प्रासंगिक कारक है – प्रादेशिक अर्थव्यवस्थाओं के बलदायी अग्रिम एवं विलोम अनुबन्ध।
42. निम्नलिखित राज्यों में से कौन-सा राज्य मछली पकड़ने की दृष्टि से सबसे आगे है ?
(a) केरल (b) तमिलनाडु
(c) पश्चिम बंगाल (d) गुजरात
उत्तर(c) : प्रश्नगत दिये गये विकल्पों में पश्चित बंगाल राज्य मछली पकड़ने की दृष्टि से सबसे आगे है। पश्चिम बंगाल की कटी-फटी तट रेखा मछली उत्पादन में अुनकूल पर्यावरणीय दशायें उपलब्ध कराती है
43. निम्नलिखित में से कौन-सी नदी हिमालय से भी पुरानी है।
(a) सतलज (b) गंगा
(c) व्यास (d) रावी
उत्तर(a) : सतलज नदी का विकास हिमालय निर्माण के पूर्व ही हुआ था। हिमालय के विकास के उपरान्त भी यह नदी अपने ढाल का ही अनुसरण कर बहती है जिस कारण यह पूर्ववर्ती नदियों की श्रेणी में आती है।
44. निम्नलिखित में से किस राज्य में फरवरी 2005 में सर्वाधिक हिमपात हुआ था।
(a) असम (b) जम्मू एवं कश्मीर
(c) मिजोरम (d) सिक्किम
उत्तर(d) : फरवरी‚ 2005 में सिक्किम में सर्वाधिक हिमपात हुआ था।
45. निम्नलिखित में से कौन-सा सही है।
(a) अंकगणितीय माध्य संख्यात्मक मूल्य है
(b) अंकगणितीय माध्य आँकड़ा-समूह में परिवर्तता से प्रभावित नहीं होता है।
(c) अंकगणितीय माध्य सदैव एक सकारात्मक अंक होता है।
(d) अंकगणितीय माध्य आँकड़ों की किसी अन्य सांख्यिकीय समीक्षा के लिये उपयोगी नहीं है।
उत्तर(a) : अंकगणितीय माध्य संख्यात्मक मूल्य है। अंकगणितीय माध्य वह संख्या है जो किसी शृंखला के सभी पदों के मूल्यों के जोड़ को उनकी कुल संख्या से भाग देने पर प्राप्त होता है। अंकगणितीय माध्य को समान्तर माध्य भी कहते है।
46. निम्नलिखित में से कौन विसर्जन के अध्ययन के लिये सबसे उपयुक्त है।
(a) माध्य (b) माध्यिका
(c) बहुलक (d) प्रामाणिक विचलन
उत्तर(d) : प्रामाणिक विचलन विसर्ज के अध्ययन के लिये सबसे उपयुक्त एवं अत्यन्त संतोषजनक विधि है। इसका प्रयोग सबसे अधिक होता है। इसका प्रयोग सबसे पहले कार्ल पियर्सन ने किया था। इसे विचलन वर्ग माध्य मूल्य भी कहा जाता है। इसे ग्रीक भाषा के अक्षर (सिग्मा) द्वारा व्यक्त किया जाता है।
47. आइसोक्रोन मानचित्र निम्नलिखित को जोड़ने वाली रेखाओं को दर्शाता है –
(a) सम-यात्रा समय (b) सम परिवहन लागत
(c) सम-यात्रा दूरी (d) सम-गम्यता प्रदेश
उत्तर(a) : आइसोकोन मानचित्र सम यात्रा समय को जोड़ने वाली रेखाओं को दर्शाता है। सम परिवहन लागत आइसोडापेन रेखा द्वारा दर्शाया जाता है।
48. डेसीमीट्रिक मानचित्र कोरोप्लेथ मानचित्र का उन्नत रूप है क्योंकि यह निम्नलिखित को प्रभावी ढंग से दर्शाता है –
(a) समांगता तथा तीव्र परिवर्तन
(b) भिन्नता तथा अनूठापन
(c) क्रमश: प्रादेशिक परिवर्तन
(d) संयोगिक (रेण्डम) वितरण
उत्तर(a) : डेसीमीट्रिक मानचित्र कोरोप्लेथ मानचित्र का उन्नति रूप है क्योंकि यह समांगता तथा तीव्र परिवर्तन को प्रभावी ढंग से दर्शाता है। निर्देश (49-50)- निम्नलिखित अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़ें और नीचे दिये गये प्रश्नों के उत्तर दीजिए। मानव भूगोल में स्थान की अवधारणा के अंतर्गत निरपेक्ष‚ आपेक्षिक तथा सम्बन्धात्मक संकल्पनाओं का उपयोग किया गया है। वास्तविक अवधारणा में स्थान को एक सुस्पष्ट भौतिक‚ प्रयोगाश्रित और वास्तविक सत्व माना गया है। आपेक्षिक अवधारणा में स्थान को घटनाओं के बीच सम्बन्ध माना गया है और इस प्रकार समय तथा प्रक्रिया से सम्बन्ध बन जाता है। संबंधात्मक अवधारणा में स्थान को ज्यामिति के संदर्भ में नहीं देखा जाता है बल्कि यह देखते है कि किस प्रकार स्थानिक संबंध मानवीय क्रियाओं से गढ़े गये हैं अर्थात् किस प्रकार स्थानीय संघटन से ये संबंध बनते है।
49. आकृतिक अध्ययनों में स्थान की कौन-सी अवधारणा उपयोग की जाती है ?
(a) निरपेक्ष (b) संबंधात्मक
(c) आपेक्षिक (d) ‘a’ तथा ‘c’ दोनों
उत्तर(c) : आपेक्षिक अवधारणा में स्थान की घटनाओं के बीच सम्बन्ध माना गया है।
50. स्थानिक संघटन मूलत: निम्नलिखित पर आधारित है-
(a) स्थानिक ज्यामिति
(b) स्थानिक प्रक्रिया
(c) स्थानिक संबंध
(d) स्थानिक-सामाजिक द्वैत्व
उत्तर(c) : स्थानिक संघटन मूलत: स्थानिक सम्बन्ध पर आधारित है।

Top
error: Content is protected !!