You are here
Home > Previous Papers > GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2012 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0024.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2012 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0024.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2012 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल

निर्देश : इस प्रश्न-पत्र में पचहत्तर (75) बहु-विकल्पीय प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न के दो (2) अंक हैं। सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।
1. जो घाटियाँ प्रारम्भिक अनुवर्ती अपवाह की दिशा में ही प्रवाहित होती हैं किन्तु निम्नतर स्थलाकृतिक स्तरों पर होती हैं और नूतन आधार स्तरों के संदर्भ में विकसित हुई हैं‚ वे कहलाती है।
(a) नवानुवर्ती (b) प्रत्यनुवर्ती
(c) अक्रमवर्ती (d) परवर्ती
उत्तर (a) : जो घाटिया प्रारम्भिक अनुवर्ती अपवाह की दिशा में ही प्रवाहित होती है किन्तु निम्नतर स्थलाकृति स्तरों पर होती है और नूतन आधार स्तरों के सन्दर्भ में विकसित हुई है‚ वे नवानुवर्ती कहलाती है। प्रत्यानुवर्ती – प्रधान अनुवर्ती सरिता की प्रवाह दिशा के विपरीत दिशा में प्रवाहित होने वाली सरिता को प्रतिअनुवर्ती कहा जाता है। परवर्ती- अनुवर्ती सरिताओं के बाद उत्पन्न अपनतियों या कटकों के अक्षों का अनुसरण करने वाली सरिताओं को परवर्ती सरिता कहते है। देहरादून घाटी में गंगा तथा यमुना नदियाँ प्रमुख अनुवर्ती है जबकि यमुना की सहायक आसन नदी तथ गंगा की सहायक सांग नदी परवर्ती नदियों के उदाहरण है। अक्रमर्ती- जो नदियाँ प्रादेशिक ढाल के अनुरूप न होकर प्रतिकूल दिशा तथा भौमिकीय संरचना के आर-पार प्रवाहित होती है।
2. निम्नतम अपरदन तल की अवधारणा का प्रस्ताव प्रस्तुत किया था
(a) डेविस (b) मलॉट
(c) जॉनसन (d) पॉवेल
उत्तर (d) : प्रत्येक नदी के निम्नवर्ती अपरदन की अन्तिम सीमा होती है जिसके बाद पुनः अपरदन सम्भव नहीं हो सकता है। इस सीमा को नदी का आधार तल कहते है। आधार तल‚ वास्तव में नदी के लम्बवत अपरदन की अन्तिम सीमा होती है आधार तल की संकल्पना को पॉवेल ने 1875 ई. में प्रस्तुत किया था। पॉवेल के अनुसार समुद्र तल मुख्य आधारतल है जिसके नीचे कोई भी नदी अपरदन नहीं कर सकती है।
3. नीचे दो कथन दिये गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) का नाम दिया गया है अभिकथन(A) : गतिमान बर्फ का वेग क्षेत्र की ढ़लान की प्रवणता तथा हिमानी बर्फ की मोटाई के साथ बढ़ जाता है।
कारण (R) : निचले तल तथा बर्फ की कम गहराई तथा घाटी की भित्तियों के साथ घर्षण के कारण वेग कम हो जाता है। उपरोक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सत्य हैं और (R), (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सत्य हैं‚ परन्तु (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सत्य है‚ परन्तु (R) असत्य है।
(d) (A) असत्य है‚ परन्तु (R) सत्य है।
उत्तर (b) : कथन और कारण दोनो सही है लेकिन कारण कथन की सही व्याख्या नही कर रहा है अत: उत्तर (b) होगा।
4. सामान्य अपरदन चक्र सम्बन्धित है
(a) समुद्री अपरदन (b) वायु अपरदन
(c) नदी अपरदन (d) हिमनदीय अपरदन
उत्तर (C) : नदी द्वारा अपरदन चक्र को सामान्य अपरदनचक्र कहा जाता है। इसे सामान्य चक्र इसलिए कहा जाता है कि बहते हुये जल का कार्य अन्य अपरदन के साधनों से अधिक व्यापक तथा महत्वपूर्ण होता है। इसकी व्यापकता का पता इसी बात से चल जाता है कि पवन तथा हिमानी के कार्यों में भी जल का आंशिक हाथ रहता है।
5. विद्वानों के निम्नलिखित समूहों में से किसने पेडिमेंट्स के निर्माण में धाराओं द्वारा पार्श्िवक अपरदन की भूमिका पर जोर दिया है?
(a) मैगी‚ पेगा‚ ब्लैकवेल्डर
(b) मैगी‚ ब्लैकवेल्डर‚ जॉनसन
(c) पेगा‚ ब्लैकवेल्डर‚ जॉनसन
(d) पेगा‚ जॉनसन‚ लॉसन
उत्तर (c) : पेगा‚ ब्लैकवेल्डर और जॉनसन नामक विद्वानों ने पेडिमेंट्स के निर्माण में धाराओं द्वारा पार्श्िवक अपरदन की भूमिका पर जोर दिया है।
6. निम्नलिखित में से कौन भू-आकृति में पुनर्युवन का स्थलाकृतिक प्रमाण (या साक्ष्य) नहीं है?
(a) कटे – फटे विसर्प (b) संरचनात्मक बेंच
(c) युग्मित घाटी वेदिकाएँ (d) बहु – चक्रीय घाटी
उत्तर (b) :संरचनात्मक बेंच पुनर्युवन का स्थलाकृतिक प्रमाण नहीं है जबकि कटे-फटे विसर्प युग्मित घाटी वेदिकाएँ‚ बहु चक्रीय घाटी‚ मिश्र घाटी‚ द्विचक्रीय घाटी आदि पुनर्यवन स्थलाकृति का प्रमाण है।
7. सूची I को सूची II के साथ सुमेलित करें और नीचे दिये कूटों से सही उत्तर का चयन करें –
सूची- I सूची- II
(a) लोएस (i). नदीय निक्षेप
(b) हिमोढ़ (ii). हिमानी निक्षेप
(c) बजर (iii). वायु निक्षेप
(d) सिल्ट (गाद) (iv). समुद्री निक्षेप
कूट :
. A B C D
(a) (i) (ii) (iv) (iii)
(b) (iii) (ii) (iv) (i)
(c) (iv) (i) (iii) (ii)
(d) (iii) (iv) (i) (ii)
उत्तर (b) : सूची का सही चयन इस प्रकार हैसूची-
I सूची- II
लोएस वायु निक्षेप हिमोढ़ हिमानी निक्षेप बंजर समुद्री निक्षेप सिल्ट (गाद) नदीय निक्षेप
8. नीचे दो कथन दिये गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) का नाम दिया गया है
अभिकथन (A) :
ओजोन छिद्र दक्षिण धु्रवीय क्षेत्र के ऊपर दिखाई पड़ता है। कारण(R) : ओजोन नष्ट करने वाली गैसें पूरे समताप मंडल में उपस्थित रहती हैं। उपरोक्त दो कथनों के संदर्भ में नीचे दिये कूटों में से सही उत्तर का चयन करें :
(a) (A) और (R) दोनों सत्य हैं
(b) (A) सत्य है‚ परन्तु (R) गलत है।
(c) (A) और (R) दोनों गलत हैं।
(d) (A) गलत है‚ परन्तु (R) सत्य है।
उत्तर (b) : ओजोन गैस समताप मण्डल के निचले भाग में 15 से 35 किमी. के मध्य पायी जाती है। यह गैस सूर्य से निकलने वाली पराबैंगनी किरणों को पृथ्वी पर आने में अवरोधक का काम करती है। कुछ वैज्ञानिकों ने दक्षिणी ध्रुव के ऊपर ओजोन छिद्र होने का दावा किया है। इस तरह कथन सत्य है और कारण गलत अत: उत्तर
(b) होगा।
9. निम्नलिखित प्रकार के मेघों में से कौन से आकाश में उच्चतम स्तर में दिखाई पड़तें हैं?
(a) मध्य – कपासी (b) पक्षाभ – कपासी
(c) कपासी – वर्षी (d) स्तरी – कपासी
उत्तर (b)
10. क्षोभमंडल में ऊंचाई के साथ वायुमंडलीय तापमान घटता है क्योंकि
(a) उच्चतर ऊंचाई पर वायु कम घनी होती है।
(b) उच्चतर स्तर पर सौर विकिरण कम होती है।
(c) उच्चतर ऊंचाई पर वायुमंडलीय गैसें ज्यादा होती है।
(d) वायुमंडल धरातल से विकिरण के द्वारा गर्म होता है।
उत्तर (d) : क्षोभमण्डल वायुमण्उल की सबसे सघन व निचली परत है। वर्षा‚ बिजली चमकना‚ चक्रवात‚ तूफान‚ कुहरा तथा बादल निर्माण जैसी वायुमण्डलीय घटनायें इसी मण्डल में सम्पन्न होती है। इसी कारण इसे क्षोभमण्डल के नाम से जाना जाता है। इस मण्डल को अधिकांश उष्मा की प्राप्ति पृथ्वी द्वारा विकिरण से होती है। वायुमण्डल पार्थिव विकिरण के द्वारा गर्म होता है। धरातल से उâँचाई की ओर जाने पर तापमान एवं दाब दोनों क्रमश: घटता जाता है। धरातल के आस-पास पार्थिव विकिरण का प्रभाव रहता है जबकि ऊपर जाने पर पार्थिक विकिरण अन्तरिक्ष में चली जाती है जिसके कारण वहाँ तापमान सामान्य रहता है।
11. निम्नलिखित में से कौन सा युग्म सही तरह से मेलित नहीं है
(a) फॉन : उष्ण शुष्क हवाओं का ऐल्प पर नीचे की ओर बढ़ना
(b) मिस्ट्रल : एल्प से फ्रांस के ऊपर शीत हवा का बहना
(c) सांताआना : उष्ण शुष्क वायु का अप्लेशियन पर नीचे की ओर बहना
(d) बोरा : एड्रियाटिक सागर के पूर्वी तट के सहारे अनुभव किया जाती शीतलपवन
उत्तर (c) : सांताआना संयुक्त राज्य के कैलिफोर्निया की सान्ता आना घाटी में चलने वाली गर्म तथा शुष्क पवन है। यह मरूस्थलीय इलाके से है और पहाड़ो की ढलानों के साथ उतरने के कारण गर्म शुष्क एवं धूलमयी बन जाती है।
12. निम्नलिखित गैसों में से कौन सी वायुमंडल का प्राकृतिक घटक नहीं है?
(a) क्रिप्टॉन (b) आर्गन
(c) क्लोरोफ्लोरो कार्बन (d) जल कण
उत्तर (c) : इसमें वायुमण्डल के संगठन में कई गैसों का योगदान होता है इसमें नाइट्रोजन (78%) तथा आक्सीजन (21%) रहता है शेष 1% में आर्गन‚ कार्बनडाईआक्साइड‚ नियॉन‚ हीलियम‚ क्रिप्टॉन‚ जिनान‚ ओजोन‚ आर्गन‚ जल कण‚ आदि गैसों का होता है। अतः स्पष्ट है क्लोरोफ्लोरो कार्बन वायुमण्डल का प्राकृतिक घटक नहीं है।
13. कोपेन के जलवायु वर्गीकरण में Aw चिह्न किसका संकेत करता है?
(a) उष्णकटिबंधीय सवाना जलवायु
(b) मानसूनी जलवायु
(c) उष्णकटिबंधीय आर्द्र वन जलवायु
(d) स्टेपी जलवायु
उत्तर (a) : कोपेन के जलवायु वर्गीकरण में Aw चिह्न उष्ण कटिबन्धीय सवाना जलवायु का संकेत करता है। कोपेन के जलवायु वर्गीकरण में Aw उष्ण कटिबन्धीय आर्द्र तथा शुष्क जलवायु प्रदेश आते है जिसमें शीतकाल शुष्क होता है। कम से कम एक महीने की वर्षा 6 सेमी. से कम होती है। वर्ष भर उच्च तापमान रहता है।
14. हरिकेन में बलवती हवाएँ कहाँ पाई जाती हैं?
(a) हरिकेन की आँख में
(b) तड़ित झंझा की सर्पिल पट्टियों में
(c) हरिकेन की अक्षि-परिधि में
(d) पुरवा लहरों में
उत्तर (c) : हरिकेन में बलवती हवाऍ हरिकेन की अक्षि परिधि में पायी जाती है। हरिकेन प्रति घण्टे 120 किमी. की गति से चलते है। हरिकेन प्रायः संयुक्त राज्य अमेरिका के दक्षिणी तथा दक्षिणी पूर्वी तटवर्ती भगों को प्रभावित करते है। खाड़ी तटीय प्रदेश (लूसियाना‚ टेक्सास‚ अलबामा‚ फ्लोरिडा) हरिकेन से सर्वाधिक पीड़ित क्षेत्र है।
15. निम्नलिखित में से झीलमाला (पैटर-नॉस्टर) की कौन सी विशेषता है?
(a) ज्वारमुखी उद्भव की झील
(b) समुद्र से पृथक्कृत जल का छिछला भाग
(c) नदीय विसर्प के छाड़न के फलस्वरूप निर्मित अर्द्धचन्द्राकार झील
(d) हिमनदीय सोपनों पर बनी झील
उत्तर (d) : हिमसोपानों में क्लिफ के पास उत्पाटन क्रिया की अधिकता के कारण गहरे गर्त बन जाते है। जिसमें हिम के पिघलने से जल एकल हो जाता है तथा छोटी-छोटी झीलों का निर्माण हो जाता है इन्ही झीलों को पेटानास्टर झील कहते है। ये झीलें भी इन सोपानों के साथ सीढ़ीनुमा होती है।
16. थॉर्नथ्वेट का संशोधित जलवायु वर्गीकरण निम्नलिखित की अवधारणा पर आधारित है:
(a) प्रभावी तापमान (b) वर्षण सूचक
(c) संभावी वाष्पन पारश्वसन (d) संभावी वर्षण
उत्तर (c) : थार्नथ्वेट का संशोधित जलवायु वर्गीकरण संभावी वाष्पन पारश्वसन की अवधारणा पर आधारित है। थॉर्नथ्वेट सर्वप्रथम अपना वर्गीकरण 1931 में प्रस्तुत किया तत्पश्चात उसमें कुछ परमार्जन करके 1933 में प्रस्तुत किया। पुनः इन्होंने 1998 में अपने वर्गीकरण का संशेधित रूप प्रस्तुत किया । इन्होंने अपने वर्गीकरण में वर्षण प्रभाविता तथा तापीय दक्षता को महत्व दिया।
17. सेल्वा वन हैं :
(a) पृथुपर्णी सदाबहार वन (b) पृथुपर्णी पतझड़ी वन
(c) शंकुधारी सदाबहार वन (d) शंकुधरी पतझड़ी वन
उत्तर (a) : सेल्वा वन पृथुपर्णी सदाबहार वन है। ये वन उष्ण कटिबन्ध के ऐसे क्षेत्रों में मिलते है जहॉ 200 सेमी. से अधिक वार्षिक वर्षा हो इन वनों का सबसे अधिक विस्तार भूमध्य रेखा से 5उत्तर तथा 5दक्षिण अक्षाशों के बीच है। इन वनों को कई नामों से पुकारा जाता है जैसे- उष्ण कटिबन्धीय आर्द्रवन‚ उष्ण कटिबन्धीय चौड़ी पत्ती वाले वन‚ अमेजन की घाटी में इनको सेल्वा कहते है। ये वन दक्षिण अमेरिका की अमेजन नदी की घाटी अफ्रीका के जायरे बेसिन तथा गिनी के तट दक्षिणी पूर्वी एशिया में मलेशिया न्यूमिनी‚ इंडो-चीन‚ म्यांमार के निचले प्रदेश थाइलैंड तथा भारत के पश्चिमी तट एवं असम में पाए जाते है।
18. पारिस्थितिकीय व्यवस्था में जीव का विशिष्ट स्थान क्या कहलाता है?
(a) गर्तस्थ (निश)
(b) स्वपोषी
(c) पोषणज स्तर (ट्रॉफिक लेवल)
(d) खाद्य पिरामिड
उत्तर (a) : पारिस्थितिकीय व्यवस्था में जीव का विशिष्ट स्थान गर्तस्थ ‘निश’ कहलाता है वे स्तर जिनसे होकर आहार‚ ऊर्जा का एक वर्ग के जीवों से दूसरे वर्ग के जीवों में स्थानान्तरण या गमन होता है‚ को पोषण स्तर कहते है। पोषण स्तरों की यह शृंखला आहार शृंखला कहलाती है ।
19. निम्नलिखित में से किसे समुद्री परिस्थितिकी में उत्पादक के रूप में जाना जाता है?
(a) छोटी मछली (b) फपँâुद मछली
(c) प्राणीप्लवक (d) पादपप्लवक
उत्तर (d) : पादक प्लवक को समुद्री पारिस्थितिकी में उत्पादक के रूप में जाना जाता है। ध्यातव्य है कि उत्पादक वर्ग के अन्तर्गत सभी हरे पौधे आते है जो प्रकाश‚ संशलेषण की क्रिया द्वारा CO2 एवं जल को क्लोरोफिल की उपस्थिती में सूर्य के प्रकाश द्वारा ग्लूकोज में परिवर्तित करते है।
20. लोनी मिट्टी किसका परिणाम होती है?
(a) मिट्टी का निक्षालन तथा बहुत अधिक अवक्षेपण
(b) उच्च दर का वाष्पीकरण और मिट्टी का बहुत थोड़ा निक्षालन
(c) उच्च अवक्षेपण तथा मिट्टी का बहुत कम निक्षालन
(d) उपर्युक्त सभी
उत्तर (b) :उच्च दर का वाष्पीकरण और मिट्टी के बहुत थोड़ा निक्षालन से लोनी मिट्टी का निर्माण होता है।
21. ‘‘वनस्पति के लिये कोई अवकाश नहीं हैविकास तीव्र‚ अनवरत‚ और सतत होता है’’-
यह कथन किस पर लागू होता है?
(a) टैग क्षेत्र (b) मानसून क्षेत्र
(c) भूमध्यसागरीय क्षेत्र (d) वृष्टिमय उष्णकटिबंध
उत्तर (d) व्याख्या : वृष्टिमय उष्णकटिबन्धीय प्रदेश का विस्तार विषुवत रेखा के उत्तर तथा दक्षिण 5से 10अक्षांश तक पाया जाता है। इस क्षेत्र में वर्ष भर उच्च तापमान‚ तथा वर्ष भर उच्च वर्षा पायी जाती है। इस प्रदेश का विस्तार दक्षिण अमेरिका के अमेजन बेसिन‚ अफ्रीका के कांगो बेसिन‚ गिनी तट‚ पूर्वी द्वीप समूह तथा पूर्वी मध्य अमेरिका के क्षेत्रों में पाया जाता है। यह इस क्षेत्र में औसत वार्षिक वर्षा 200 सेमी. होती है। इस क्षेत्र में गटापार्चा रबर‚ एबोनी‚ ताड़‚ बॉस‚ बेंत‚ महोगनी इत्यादि वृक्ष पाये जाते है।
22. पादपों एवं पशुओं का प्रचुरतम प्रकार निम्नलिखित में पाया जाता है :
(a) शीतोष्ण वन
(b) मानसून वन
(c) उष्णकटिबंधीय वन
(d) उष्णकटिबंधीय घास के मैदान
उत्तर (c) : उष्ण कटिबन्धीय वन में पादपों तथा पशुओं के प्रचुरतम प्रकार पाये जाते है।
23. लवणता के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है?
(a) लवणता सीधे वर्षण से सम्बन्धित है।
(b) वर्षण की दर तथा लवणता के बीच प्रत्यक्ष सम्बन्ध है।
(c) नदी के मुहाने के समीप निम्न लवणता पाई जाती है।
(d) उष्णकटिबंध में लवणता अधिकतम होती है और ध्रुव तथा भूमध्य रेखा की ओर कम हो जाती है।
उत्तर (a) व्याख्या : वाष्पीकरण अधिक होने से महासागरों के जल में खारापन बढ़ जाता है क्योंकि वाष्पीकरण से समुद्रों का बहुत सा जल वाष्प बन कर उड़ जाता है जिससे शेष जल में लवणों की मात्रा अधिक रहती है। जिन क्षेत्रों में वर्षा की मात्रा अधिक होती है उन क्षेत्रों में लवणता कम पायी जाती है गर्म तथा शुष्क हवाओं के कारण वाष्पीकरण अधिक होता है अतः गर्म शुष्क हवाओं वाले सागरों में खारापन अधिक पाया जाता है। नदियों के मुहाने वाले स्थान पर लवणता कम पायी जाती है।
24. सागरीय धाराओं का उद्भव किससे सम्बन्धित है?
(a) गुरूत्वीय बल (b) हवाएँ
(c) लवणता तथा घनत्व (d) उपर्युक्त सभी
उत्तर (d) व्याख्या : महासागरीय धाराओं का उद्भव तापमान‚ गुरूत्वीय बल‚ लवणता तथा घनत्व‚ प्रचलित तथा सनातनी हवाऍ वाष्पीकरण तथा वर्षा से सम्बन्धित है।
25. शेफर किसके पक्ष में थे?
(a) अपवादवाद (b) भावचित्रण
(c) क्षेत्रीय विभेदन (d) वैज्ञानिक सामान्यीकरण
उत्तर (d) व्याख्या : शेफर वैज्ञानिक सामान्यीकरण के पक्ष में थे। अमेरिकन भूगोलवेत्ता फ्रेड शेफर के अनुसार भूगोल के अपने नियम सिद्धान्त होते है। अतः ये नियम प्रतिपादक भूगोलवेत्ता कहे जाते है। उनकी पुस्तक निम्न है। Exceptionalism in Geography
26. निम्नलिखित में से कौन सा सिद्धान्त तार्किक प्रत्यक्षवाद से सम्बन्धित नहीं है?
(a) कार्य-कारण का सिद्धान्त (b) संरचनावाद
(c) व्यवहारवाद (d) प्रकार्यवाद
उत्तर (c) व्याख्या : व्यवहारवाद का सिद्धान्त तार्किक प्रत्यक्षवाद से सम्बन्धित नहीं है। व्यवहारवाद का जन्म मात्रात्मक क्रान्ति तथा प्रत्यक्षवाद के प्रति असन्तोष के फलस्वरूप हुआ। व्यवहारवाद की संकल्पना का प्रादुर्भाव 1952 में ही क्रीक ने किया था। कार्य-कारण का सिद्वान्त‚ संरचनावाद तथा प्रकार्यवाद का सम्बन्ध प्रत्यक्षवाद से है।
27. निम्नलिखित में से कौन सा सही सुमेलित नहीं है?
लेखक पुस्तक
(a) विलियम बुंगी : थ्यिोरिटिकल जियोग्रॉफी
(b) डेविड हारवे : सोशल वेल बीइंग : ए स्पेशल पर्सपेक्टिव
(c) डेविड स्मिथ : ह्यूमेन जियोग्रॉफी ए वेलफेयर एप्रोच
(c) आर. पीट : मॉडर्न जियोग्रॉफिकल थॉट
उत्तर (b) व्याख्या : अमेरिकन भूगोलवेत्ता डेविड हार्वे ने तत्कालीन परम्परागत पूँजीवादी व्यवस्था को निरर्थक बताते हुए भूगोल को सामाजिक मूल्यों से जोड़ने पर बल दिया। डेविड हार्वे की प्रमुख पुस्तक निम्न है-
1. Explanation in Geography
2. Social juctice and spatial system 3- Social juctice and city
28. ‘‘मिश्र नील नदी का उपहार है’’ यह कथन किसका माना जाता है?
(a) अरस्तू (b) हेरोडोट्स
(c) स्ट्राबो (d) सेनेका
उत्तर (b) : हेरोडोटस ने मिश्र को नील नदी का उपहार बताया। इन्होंने सर्वप्रथम डेल्टा शब्द को दिया। इन्हे इतिहास का पिता कहा जाता है। हैरोडोटस विश्व भूखण्ड को तीन महाद्वीपों यूरोप एशिया तथा लीबिया में विभाजित किया। हेरोडोटस ने डेन्यूब नदी को विश्व की सबसे बड़ी नदी माना
29. निम्नलिखित में से किसने यह दलील दी है कि इतिहास का भौगोलिक रूप से अध्यन किया जाए और भूगोल को ऐतिहासिक रूप से पढ़ा जाए?
(a) होमर (b) थेल्स
(c) हिकेटियस (d) हेरोडोटस
उत्तर (d) : प्रश्नगत कथन हेरोडोटस ने कहा है। यूनानी भूगोलवेत्ता होमर ने 900 ई. पूर्व में इलियड तथा ओडिसी नामक महाकाव्य लिखे। होमर ने चार दिशाओं से आने वाली पवनों का उल्लेख किया जिनका निम्न नाम है- बोरस‚ नोट्स‚ ह्यूरस तथा जैफरस। थेल्स को गणितिय भूगोल का संस्थापक माना जाता है। हिकेटियस की प्रमुख पुस्तक जस पीरियोडस है इनको भूगोल का पिता कहा जाता है।
30. निम्नलिखित अरबी विद्वानों में से किसने टॉलमी की पुस्तक में सुधार किएँ हैं?
(a) अल – मसूदी (b) अल – इद्रिसी
(c) इब्न – खलदून (d) इब्न – बतूता
उत्तर (b) : अल-इद्रिसी ने टॉलमी की पुस्तक में सुधार किया इन्होंने 1154 ई. में एक पुस्तक लिखी जिसका शीर्षक था- उसके लिए मनोरंजन जो विश्व भ्रमण की इच्छा रखता हो। अल-इद्रिसीे ने 1154 में विश्व का मानचित्र बनाया था।
31. मात्रात्मक क्राँति का दार्शनिक आधार निम्नलिखित में से क्या है?
(a) अस्तित्ववाद (b) आदर्शवाद
(c) घटनाक्रम वर्णन (d) प्रत्यक्षवाद
उत्तर (d) : मात्रात्मक क्राँति का दार्शनिक आधार प्रत्यक्षवाद है। इस क्राँन्ति के लिए भौगोलिक आधारशिला का निर्माण बोंगी ने सर्वप्रथम 1962 में Theotical Geography तथा एक लेख Quantitative revolution in Geography द्वारा किया। पीटर हैगेट‚ रिचर्डशोल डेविड हार्वे इसके प्रमुख समर्थक थे।
32. प्रतिमान (पैराडाइम) की अवधारण का प्रतिपादन किसने किया है?
(a) कांट (b) पीट
(c) कुह्न (d) हैगेट
उत्तर (c) :प्रतिमान (पैराडाइम) की अवधारणा का प्रतिपादन कुह्न ने किया है।
33. निम्नलिखित में से कौन ज्ञान के सभी पहलुओं को समाविष्ट करने वाला ‘सार्वभौमिक विज्ञान’ विकसित करना चाहते थे?
(a) हम्बोल्ट (b) रिट्टर
(c) रेक्लूस (d) गुयॉट
उत्तर (a) : ज्ञान के सभी पहलुओं को समाविष्ट करने वाला सार्वभौमिक विज्ञान हम्बोल्ट विकसित करना चाहते थे हम्बोल्ट ने 1845 ई. में कासमॉस का प्रकाशन किया जिसमें उनकी यात्राओं का विस्तृत वर्णन है।
34. निम्नलिखित भूगोलवेत्ताओं में से किसने मानव केन्द्रित भूगोल पर बल दिया?
(a) डब्लू. एच. डेविस (b) जै़फरसन
(c) सेम्पल (d) हंटिंगटन
उत्तर (b) : जैफरसन ने मानव केन्द्रित भूगोल पर बल दिया। एलेन चर्चिल सेम्पला (1863-1932) निश्चयवादी विचार धारा की समर्थक थी। इनकी प्रमुख पुस्तके निम्न है-1. अमेरिका का इतिहास तथा इसकी भौगोलिक दशाएँ
2. भौगोलिक वातावरण के प्रभाव
3. भूमध्यसागरीय प्रदेश का भूगोल
35. मानसिक मानचित्र की अवधारणा किसने प्रतिपादित की है?
(a) डाऊनस् एवं स्टी (b) गोल्ड एवं व्हाइट
(c) सारिनेन (d) बोल्ंिडग एवं हैगर स्ट्रैंड
उत्तर (b) : मानसिक मानचित्र की अवधारणा गोल्ड तथा व्हाइट ने दी थी। गोल्ड के अनुसार मानव का स्थानिक व्यवहार उसके मानसिक मानचित्र के द्वारा क्रियात्मक रूप में होता है। जिसे वह निर्मित करता है। पृथ्वी पर उपलब्ध सभी स्थलरूपों‚ प्रक्रियाओं इत्यादि के लिए मानव द्वारा निर्मित मानसिक मानचित्र ही उत्तरदायी है।
36. द्वितीय जनसांख्यिकीय संक्रमण की अवधारणा किसने प्रारम्भ की ?
(a) वेन डी का (b) लेसथैघ
(c) कोलमैन (d) फिट्जजेराल्ड
उत्तर (a) : द्वितीय जनसांख्यिकीय संक्रमण की अवधारणा वेन उी का ने प्रारम्भ की।े
37. आयु-विशेष प्रजननदर किस आयु-समूह में अधिकतम होती है:
(a) 20-24 वर्ष (b) 25-29 वर्ष
(c) 30-34 वर्ष (d) 35-39 वर्ष
उत्तर (a) : आयु विशेष प्रजनन दर 20-24 वर्ष आयु समूह में अधिकतम होती है। 1971 के बाद प्रजनन आयु वर्ग में पुरूषों तथा ध्Eिायों का प्रतिशत संख्या में काफी वृद्धि हुयी है।
38. भारत में ग्रामीण से नगर प्रवास के लिये निम्नलिखित में से मुख्य कारण क्या है?
(a) विवाह (b) शिक्षा
(c) परिवार स्थानांतरण (d) रोजगार
उत्तर (d) : ग्राम से नगर प्रवास के लिए रोजगार प्रमुख कारक है। उच्च शिक्षा तथा तकनीकी प्रशिक्षण के लिए बड़ी संख्या में विद्यार्थी ग्रामीण क्षेत्रों से नगर के लिए प्रति वर्ष प्रवास करते है। इसी प्रकार शिक्षित तथा प्रशिक्षित युवक ही नहीं बल्कि अकुशल व्यक्ति भी रोजगार की खोज में नगर को जाते है।
39. किसने दलील दी कि बहु केन्द्र या केन्द्र (नाभिक) नगरीय विकास के लिये जिम्मेदार थे?
(a) हैरिस एवं उलमान (b) होयट
(c) पार्क एवं बर्गेस (d) नेलसन
उत्तर (a) : बहुकेन्द्र या केन्द्र के लिए हैरिस तथा उलमैन जिम्मेदार थे। जिन्होंने 1945 के अपने सम्मिलित लेख ‘द नेचर आफ सिटीज’ में इस सिद्धान्त को प्रस्तुत किया होयट ने खण्डीय सिद्धान्त का प्रतिपादन किया। होयट के अनुसार आवासीय भू उपयोग आवागमन मार्गोे के सहारे नगर के केन्द्र से सभी दिशाओं की तरफ फैलते हुए खण्डो के रूप में विकसित होते है।
40. राज्य में वाणिज्यिक‚ औद्योगिक‚ शैक्षिक तथा राजनीतिक गतिविधियों के सम्बन्ध में सबसे बड़ा तथा सर्वाधिक प्रभावी नगर जाना जाता है:
(a) नगर क्षेत्र (b) नगरीय क्षेत्र
(c) प्रमुख नगर (d) नेक्रोपोलिस
उत्तर (c) : राज्य में वाणिज्यिक‚ औद्योगिक‚ शैक्षिक तथा राजनीतिक गतिविधियों के सम्बन्ध में सबसे बड़ा तथा सर्वाधिक प्रभावी नगर के तौर पर प्रमुख नगर को जाना जाता है।प्रमुख नगर का नियम मार्क जैफरसन ने 1939 में प्रस्तुत किया। इन्होंने Low of the primatic city नामक अपने अध्ययन में 51 चयनित देशों के प्रमुख नगरों तथा द्वितीय वर्ग के नगरों के बीच उपस्थित सम्बन्धों का परीक्षण किया।
41. बर्गेस मॉडल में भूमि उपयोग के निम्नलिखित अनुक्रमों में से कौन सा सही है?
(a) केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र‚ कर्मकार गृह क्षेत्र‚ कम्यूटर
(अभिगमक) क्षेत्र‚ बेहतर आवास क्षेत्र
(b) केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र‚ कर्मकार गृह क्षेत्र‚ बेहतर आवास क्षेत्र‚ कम्यूटर क्षेत्र
(c) केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र‚ कर्मकार गृह क्षेत्र‚ बेहतर आवास क्षेत्र‚ कम्यूटर क्षेत्र
(d) केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र‚ बेहतर आवास क्षेत्र‚ कम्यूटर क्षेत्र‚ कर्मकार गृह क्षेत्र
उत्तर (c) : शिकागो के समाजशाध्Eाीय बर्गेस ने 1920 में संकेन्द्रीय पेटी सिद्धान्त का प्रतिपादन किया। बर्गेस ने अपने सिद्धान्त में नगर की अन्तरिक संरचना को निम्न पाँच संकेन्द्रीय पेटियों के रूप में विकसित किया-
1. केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र यह नगर के केन्द्र का प्रमुख वाणिज्य यातायात और सामाजिक जीवन केन्द्र है।
2. संक्रमणीय पेटी केन्द्रीय व्यापारिक क्षेत्र को घेरते हुए बाहर की ओर आवासीय गिरावट का क्षेत्र
3. स्वतन्त्र कार्यशील व्यक्तियों के आवास के गृहपेटी इनमें नगर की फैक्ट्री आदि में काम काम करने वालों के निवास होते है।
4. अच्छे आवासों की पेटी इनमें रहने वाले छोटे व्यापारी‚ पेशेवर लोग‚ क्लर्क आदि रहते है।
5. अधिगमनकर्ताओं की पेटी यह उपनगरयी कस्बे एवं अर्द्धनगरीय दोनों की पेटी
42. यदि 1 से.मी. त्रिज्या का वृत्त एक लाख जनसंख्या निरूपित करता है‚ तो 4 लाख जनसंख्या निरूपित करने वाले वृत्त की त्रिज्या क्या होगी ?
(a) 1 cm (b) 2 cm
(c) 4 cm (d) 16 cm
उत्तर (b)
43. औद्योगिक भूदृश्य के नीचे दिये गये रेखाचित्र में कौन सी बाजार अवस्थिति इष्टतम है?


(a) b (b) c
(c) a (d) d
उत्तर (b) : औद्योगिक भूदृश्य के नीचे दिये गये रेखाचित्र में लागत रेखा C की बाजार अवस्थिति इष्टतम होगी।
44. स्थानांतरी खेती की अनिवार्य विशेषता क्या है?
(a) फसलों की सघनता (b) खेतों का चक्र
(c) एकल फसल (d) दोहारी फसल
उत्तर (b) : इस कृषि में किसान अपना खेत तथा निवास स्थान बराबर बदलता है। मक्का‚ ज्वार‚ बाजरा‚ धान इसकी प्रमुख खाद्य फसलें है। किसान वनों को साफ करके खेत बनाते है तथा कुछ दिनों बाद उस स्थान को छोड़कर दूसरी जगह यही करते है इस कृषि में उपज बहुत कम होती है अतः किसान आखेट‚ वन तथा संग्रहण आदि के माध्यम से जीवन यापन करते है।
45. स्वतन्त्र उद्योग वह होते हैं जिनके लिये
(a) परिवहन लागत तुलनात्मक रूप से महत्वहीन होती है।
(b) परिवहन लागत बहुत महत्वपूर्ण है।
(c) आस-पास कच्चे माल की उपस्थिति आवश्यक है।
(d) उपर्युक्त सभी आवश्यक हैं।
उत्तर (a) : स्वतन्त्र उद्योग वह होते है जिनके लिए परिवहन लागत तुलनात्मक रूप से महत्वहीन होती है।
46. सूची- I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिये और नीचे दिये कूटों की सहायता से सही उत्तर का चयन कीजिये:
सही उत्तर का चयन कीजिये:
सूची- I सूची- II
(a) मलेशिया (a). कॉफी
(b) ब्राजील (b). चीनी
(c) क्यूबा (c). अनानास
(d) हवाई (d). रबड़
कूट :
. A B C D
(a) (b) (c) (d) (a)
(b) (a) (b) (c) (d)
(c) (d) (a) (c) (b)
(d) (d) (c) (b) (a)
उत्तर (*) :सूची- I सूची- II मलेशिया – रबड़ ब्राजील – कॉफी क्यूबा – चीनी हवाई – अन्नास अत: कोई भी विकल्प सुमेलित नहीं है।
47. कुल्टी‚ बर्नपुर तथा हीरापुर में लौह एवं इस्पात संयन्त्रों को एक में समामेलित किया गया है जिसका नाम है:
(a) टाटा लौह एवं इस्पात कम्पनी
(b) भारतीय लौह एवं इस्पात कम्पनी
(c) बंगाल आयरन वर्क्स
(d) मैसूर आयरन वर्क्स
उत्तर (b) : बंगाल में हीरापुर‚ कुल्टी व बर्नपुर भारतीय लौह इस्पात कम्पनी के अधीन तीन संयन्त्र है हीरापुर में पिग आयरन‚ कच्चा लोहा‚ कुल्टी में इस्पात तथा बर्नपुर में चादरें बनाने का संयन्त्र स्थापित है। भारतीय लौह एवं इस्पात कम्पनी को झरिया से कोयला व दामोदर घाटी निगम से जल विद्युत की प्राप्ति होती है। लौहा सिंहभूमि की खानों से तथा मैगनीज उड़ीसा की खानों से प्राप्त होता है।
48. धान का उत्पादन करने वाले क्षेत्रे सम्बन्धित है:
(a) अल्प जनसंख्या घनत्व से
(b) सामान्य जनसंख्या घनत्व से
(c) अधिक जनसंख्या घनत्व से
(d) उपर्युक्त में से किसी से भी नहीं
उत्तर (c) : धान का उत्पादन अधिक जनसंख्या घनत्व से सम्बन्धित है। प्रमुख धान उत्पादक क्षेत्र – इण्डोनेशिया‚ बांग्लादेश थाइलैण्ड‚ ब्राजील‚ चीन‚ भारत इत्यादि प्रमुख है। अन्तर्राष्ट्रीय चावल अनुसन्धान केन्द्र मनीला (फिलीपीन्स) में है।
49. सूची I को सूची II के साथ सुमेलित करें और नीचे दिये कूटों से सही उत्तर का चयन करें –
सूची- I सूची- II
(नगरीकरण की अवस्था) (स्पष्टीकरण)
(a) नगरीकरण (i). कुछ अधिवास आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों की लागत पर विकसित होते हैं।
(b) उपनगरीकरण (ii). अभिगमक (कम्यूटर) पट्टी नगरी मूल (या सारभाग) की लागत पर विकसित हाती है।
(c) विनगरीकरण (iii). सारभाग में जनसंख्या हानि की दर क्रमशः कम होती है या सारभाग में जनसंख्या बढ़ने लगती है।
(d) पुनर्नगरीकरण (iv). नगरी सारभाग में जनसंख्या हानि कम्यूटर पट्टी के जनसंख्या लाभ से अधिक होती है।
कूट :
. A B C D
(a) (i) (ii) (iii) (iv)
(b) (i) (ii) (iv) (iii)
(c) (ii) (iii) (iv) (i)
(d) (iii) (ii) (i) (iv)
उत्तर (b) :
नगरीकरण की अवस्था स्पष्टीकरण
नगरीकरण कुछ अधिवास आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों की लागत पर विकसित होते है। उपनगरीकरण अभिगमन (कम्प्यूटर पट्टी नगरीय मूल की लागत पर विकसित होती है विनगरीकरण नगरीय सारभाग में जनसंख्या हानि कम्यूटर पट्टी के जनसंख्या लाभ से अधिक होती है। पुनर्नगरीकरण सारभाग में जनसंख्या हानि की दर क्रमश: कम होती है या सारभाग में जनसंख्या बढ़ने लगती है।
50. प्रवास के परिणामों के बारे में कौन सा कथन सही है?
(a) प्रवास के फलस्वरूप‚ प्रवास की प्रक्रिया से जुड़े दो क्षेत्रों का जनसंख्या-संसाधन सम्बन्ध काफी बदल जाता है।
(b) ग्रामीण क्षेत्रों से नगरीय औद्योगिक क्षेत्रों को प्रवासित करने वाले लोग खुली जगह‚ ताजी हवा और उत्तम आवासगृह के अभाव में कष्ट भोगते हैं।
(c) नव क्षेत्रों में उत्प्रवासियों की आहार आदतें भी बदल जाती है।
(d) अपर्युक्त सभी ।
उत्तर (d) : प्रवास के परिणामों में उपरोक्त सभी कथन सत्य है। ध्यातव्य है कि प्राणी प्रवास‚ एक स्थान से दूसरे स्थान को चले जाने से अर्थ लगाया जाता है। जैसे गाँव से शहर को प्रवास करना। इस तरह के प्रवास के शहरों में जनघनत्व अधिक होता है जिससे खुली जगह एवं आवास की समस्या सामने आती है।
51. अर्थव्यवस्था के अनौपचारिक खण्ड निम्नलिखित में से किससे सम्बन्धित है?
(a) पूँजीवादी प्रकार की अर्थव्यवस्था
(b) बाजार किस्म की अर्थव्यवस्था
(c) गतिमान तथा टिकाऊ (या स्थाई) आय
(d) स्थाई तथा उत्पादक प्रतिष्ठान
उत्तर (b) : अर्थव्यवस्था के अनौपचारिक खण्ड बाजार किस्म की अर्थव्यवस्था से सम्बन्धित है। ध्यातव्य है कि अनौपचारिक अर्थव्यवस्था के आशय ऐसी अर्थव्यवस्था से है जिसमें पूरे असंगठित क्षेत्र के उद्यम‚ कृषि‚ स्वरोजगार‚ ग्रामीण मजदूर‚ कारीगर विभिन्न पेशेवर कर्मी अनगिनत अनियत काम करनें वाले लोग आते है।
52. निम्नलिखित में से क्या अर्थव्यवस्था के अनौपचारिक क्षेत्र से सम्बन्धित नहीं है?
(a) अर्थव्यवस्था का बाजार प्रकार
(b) अकुशल/अर्द्ध कुशल श्रम शक्ति
(c) अस्थायी तथा अस्थिर आय
(d) पूँजीवादी अर्थव्यवस्था
उत्तर (d) : पूँजीवादी अर्थव्यवस्था अनौपचारिक क्षेत्र से सम्बन्धित नहीं है ध्यातव्य है कि अनौपचारिक अर्थव्यवस्था का क्षेत्र बहुत व्यापक है जिसमे कृषि मजूदर से लेकर पटरी पर बैठने वाले व्यवसायी‚ घरेलू नौकर‚ साइकिल व पैदल फेरी लगाने वाले तक सभी सम्मिलित है। देश के कुल घरेलू उत्पाद जी.डी.पी. में अनौपचारिक अर्थव्यवस्था का योगदान लगभग 60% है।
53. नगरीय विकास के संदर्भ में प्राथमिकता का सिद्धान्त उन देशों के लिये सर्वाधिक प्रासंगिक है जिसका:
(a) तुलनात्मक रूप से सरल अर्थव्यवस्था और स्थानिक ढाँचा सरल है।
(b) जटिल अर्थव्यवस्था है।
(c) एकीकृत-स्थानिक ढाँचा है।
(d) परिपक्व अर्थव्यवस्था है।
उत्तर (a) : नगरीय विकास के सन्दर्भ में प्राथमिकता का सिद्धान्त उन देशों के लिए सर्वाधिक प्रासंगिक है जिनकी तुलनात्मक रूप से सरल अर्थव्यवस्था और सरल स्थानिक ढॉचा है।
54. गोंडों का मुख्य- व्यवसाय है:
(a) भोजन एकत्र करना (b) वानिकी
(c) आखेट (d) खेती
उत्तर (d) : गोंडों का मुख्य व्यवसाय कृषि है। निवास स्थान- मध्यप्रदेश‚ आन्ध्रप्रदेश‚ उड़ीसा। उद्यम- कृषि‚ आखेट‚ पशुचरण उपकरण- औजार बहुत ही साधारण तथा भद्दे किस्म के होते है। पशु बलियाँ- ये लोग देवी देवताओं को प्रसन्न करने के लिए भेड़ बकरियों की बलियाँ देते है। ऐसा करने से ये लोग समझते है कि खेत की पैदावार कई गुना होगी।
55. क्षेत्रीय विस्तार की दृष्टि से कौन सबसे बड़ा है?
(a) सांस्कृतिक परिमण्डल (b) सांस्कृतिक क्षेत्र
(c) सांस्कृतिक भू-आकृति (d) सांस्कृतिक बिन्दु
उत्तर (a) : क्षेत्रीय विस्तार की दृष्टि से सांस्कृतिक परिमण्डल सबसे बड़ा है। संस्कृति की संरचना के विशिष्ट भाग है‚ जिसमें सबसे छोटे तत्व को सांस्कृतिक तत्व कहते है। कई तत्वों को मिलाकर एक तत्व समूह होता है। एक संस्कृति में अनेक सांस्कृतिक तत्व समूह होते है इसके अतिरिक्त कई संस्कृतियों में एक या अधिक प्रेरक सिद्धान्त होते है जो उन्हें विशिष्टता प्रदान करते है।
56. नूतन सीमा अधिकांश स्थितियों के अंतर्गत जिन तीन अवस्थाओं के माध्यम से निर्धारित होती है उसका सही अनुक्रम बताइये:
(a) परिसीमन‚ सीमांकन‚ नियतन
(b) नियतन‚ परिसीमन‚ सीमांकन
(c) सीमांकन‚ परिसीमन‚ नियतन
(d) नियतनय‚य सीमांकन‚परिसीमन
उत्तर (b) : नूतन सीमा अधिकांश स्थितियों के अन्तर्गत नियतन परिसीमन और सीमांकन की अवस्थाओं के माध्यम से निर्धारित होती है।
57. निम्नलिखित में से कौन सामान्यतया सामाजिक कल्याण का सूचक नहीं माना जाता है?
(a) शिशु मृत्युता
(b) महिला साक्षरता
(c) शुद्ध पेय जल की उपलब्धता
(d) अपराध
उत्तर (d) : अपराध सामाजिक कल्याण का सूचक नही है। जबकि शिशु मृत्युता‚ महिला साक्षरता‚ शुद्ध पेय जल की उपलब्धता सामाजिक कल्याण का सूचक माना जाता है।
58. निर्यात आधारित मॉडल के समर्थक कौन थ?
(a) अलोंसी (b) कुकलिंस्की
(c) पैरू (d) नॉर्थ
उत्तर (d) : निर्यात आधारित मॉडल के समर्थक डगलस सी. नार्थ है।
59. कश्मीर की घाटी हिमालय में एक मात्र समतल पट्टी है। इस समतल मैदान को निर्मित करने के लिये किस नदी ने अपने निक्षेप जमा किय:
(a) रावी (b) सतलुज
(c) ब्यास (d) झेलम
उत्तर (d) :कश्मीर की घाटी हिमालय में एक मात्र समतल पट्टी है इस समतल मैदान को निर्मित करने के लिए झेलम नदी ने अपने निक्षेप जमा किए है। झेलम नदी बेरीनाग से स्थित शेषनाग झील से निकलकर वाल्कर झील में मिल जाती है। पुनः हिमालय तथा पीरपंजाल के बीच से प्रवाहित होते हुए पाकिस्तान में चेनाब में संगम करती है। कश्मीर में इस नदी के माध्यम से परिवहन तथा व्यापार होता है।
60. भारत के किस राज्य में ध्Eिायों की संख्या पुरूषों से अधिक है?
(a) उत्तरप्रदेश (b) कर्नाटक
(c) हरियाणा (d) केरल
उत्तर (d)-:सवार्धिक लिगांनुपात वाले 5 राज्य (जनगणना-2011)
61. जनगणना-2011 के अनुसार भारत के कौन से राज्य में जनसंख्या का निम्नतम घनत्व दर्ज किया गया है?
(a) अरूणाचल प्रदेश (b) मेघालय
(c) त्रिपुरा (d) मणिपुर
उत्तर (a): :
62. भारत में लौह-अयस्क के कुल उत्पादन का 85 प्रतिशत किन राज्यों से आता है?
(a) झारखंड एवं उड़ीसा
(b) कर्नाटक एवं उड़ीसा
(c) बिहार एवं मध्यप्रदेश
(d) कर्नाटक एवं आन्ध्रप्रदेश
उत्तर (b) : भारत में लौह अयस्क का 85% कर्नाटक तथा ओड़िसा राज्यों से प्राप्त होता है। कर्नाटक राज्य के प्रमुख लौह अयस्क उत्पादक क्षेत्र- बेल्लारी‚ चित्रदुर्ग‚ चिकमंगलूर‚ बीजापुर‚ धारवाड़ तथा दक्षिण कन्नड़ जनपदों से प्राप्त होता है। इनमें बेल्लारी-हास्पेट तथा कुद्रेमुख क्षेत्र विशेष रूप से उल्लेखनीय है। इसमें केम्मानमुंडी के लौह अयस्क को विजयनगर के इस्पात संयन्त्र में इस्तेमाल किया जाता है। उड़ीसा- राज्य के प्रमुख लौह अयस्क उत्पादक क्षेत्र- मयूरभंज‚ गुरूमहिसानी‚ सुलेपात तथा बादाम पहाड़ प्रमुख क्षेत्र है।
63. ‘स्वैच्छिक बन्ध्याकरण जनसंख्या नीति’ किस पंचवर्षीय योजना में लागू की गई थी?
(a) प्रथम पंचवर्षीय योजना
(b) द्वितीय पंचवर्षीय योजना
(c) तृतीय पंचवर्षीय योजना
(d) चतुर्थ पंचवर्षीय योजना
उत्तर (d) : स्वैच्छिक बन्ध्याकरण जनसंख्या नीति चौथी पंचवषीर्य
(1969-1974) योजना में लागू की गयी थी। इस योजना में परिवार नियोजन कार्यक्रम को उच्च प्राथमिकता दी गयी थी। इस कार्यक्रम में छोटे परिवार के लाभ‚ परिवार नियोजन विधियों के बारे में व्यक्तिगत जानकारी तथा परिवार नियोजन की सामग्री व सेवाओं की तुरन्त उपलब्धियों पर जोर दिया गया।
64. भारत के उपमहाद्वीप में उष्णकटिबंधीय चक्रवातों द्वारा प्रायः प्रभावित क्षेत्र है:
(a) गुजरात तट (b) कोरोमंडल तट
(c) कोंकण तट (d) मलाबार तट
उत्तर (b) : अयनवर्ती क्षेत्रों (30उ.- 30दक्षिणी आक्षांश) में उत्पन्न चक्रवातों को उष्ण कटिबन्धी चक्रवात कहते है। ये निम्न वायुदाब वाले अभिसरणीय परिसंचरण तन्त्र होते है। जिनकी औसत व्यास 640 किमी. तक होती है। इनकी वायु संचरण की दिशा
उत्तरी गोलार्द्ध में घडी के सूइयों‚ के प्रतिकूल तथा दक्षिणी गोलार्द्ध में घड़ी के सूइयों के अनुकूल होती है। ये चक्रवात कोरोमण्डल तट
(ओडिशा पंश्चिम बंगाल तथा आन्ध्रप्रदेश) पर भयानक विनाश उत्पन्न करते है।
65. निम्नलिखित में से कौन क्षेत्र अरब सागर शाखा की मानसून द्वारा प्रभावित नहीं होता है?
(a) पश्चिमी घाट (b) दक्षिण घाट
(c) मध्य प्रदेश (d) पंजाब का मैदान
उत्तर (d) : अरब सागर की मानसून की उत्पत्ति अरब सागर में होती है। जब ये भारत के तट पर पहुचती है तो तीन शाखाओं में विभाजित हो जाती है-
(क) पहली शाखा पश्चिमी घाट से टकराकर पश्चिमी तटीय मैदान में 250 सेमी. से भी अधिक वर्षा करती है। पश्चिमी घाट को पार करने के बाद जब यह नीचे उतरती है तब इनका तापमान बढ़ जाता है और इसकी आर्द्रता में कमी आ जाती है। इससे दक्षिण पठार के वृष्टि छाया क्षेत्र में बहुत कम वर्षा होती है। यही कारण है कि इस क्षेत्र में मंगलौर में 280 सेमी. वर्षा होती है जबकि बंगलूर में केवल 50 सेमी. वर्षा होती है।
(ख) इसकी दूसरी शाखा नर्मदा तथा प्राप्ति की घाटियों से होकर भारत के मध्यवर्ती क्षेत्रों में प्रवेश करती है। तट के निकट कोई रूकावट ना होने के कारण ये आन्तरिक क्षेत्रों तक वर्षा करती है। नागपुर में इन पवनों के द्वारा 60 सेमी. वर्षा होती है।
(ग) इसकी तीसरी शाखा उत्तर पूर्वी दिशा में अरावली पर्वत के समान्तर जाती है। तथा हिमालय की पहाड़ियों से टकराकर पर्याप्त वर्षा करती है।
66. स्थलाकृतिक मानचित्र विशिष्ट बिन्दुओं की ऊंचाई किसके द्वारा इंगित की जाती है?
(a) केवल स्पॉट हाइट (b) केवल बेंचमार्क
(c) केवल त्रिभुजीकरण बिंदु (d) उपर्युक्त सभी
उत्तर (d) : स्थलाकृति मानचित्र पर विशिष्ठ बिन्दुओं की उâँचाई स्पाट हाइट‚ बेंचमार्क एवं त्रिभुजीकरण बिन्दु‚ तीनों के द्वारा इंगित किया जाता है।
67. हिमालय का ज्यादा चौड़ा हिस्सा स्थित है:
(a) हिमालय प्रदेश में (b) अरूणाचल प्रदेश में
(c) जम्मू-कश्मीर में (d) नागालैंड में
उत्तर (c) : जटिल भू-गर्भिक संरचना‚ वलित पर्वत‚ पूर्वगामी जल प्रवाह तथा शीतोष्ण सघन वनस्पति हिमालय प्रदेश की विशेषता है। यह पर्वतमाला सिन्धु नदी के मोड़ से प्रारम्भ होकर ब्रह्मपुत्र नदी के मोड़ तक विस्तृत है। पूर्व से पश्चिम दिशा में इसकी लम्बाई 2400 किमी. तथा चौड़ाई 160 से 400 किमी. के बीच है। इसकी औसत ऊचाई 6000 मी. के लगभग है। यह पर्वतमाला भारत के 5 लाख वर्ग किमी. क्षेत्र में फैली है। यह एक नवीन वलित पर्वत है। जिसकी उत्पत्ति यूरेशिया तथा भारतीय प्लेट के अभिसरण के फलस्वरूप हुई है। अत्यधिक सम्पीड़न के कारण यहॉ परतदार चट्टाने अत्यन्त मुड़ी हुयी तथा भ्रंशित अवस्था में मिलती है। जम्मू-कश्मीर राज्य में हिमालय का सर्वाधिक चौडा हिस्सा स्थित है।
68. भारत के निम्नलिखित क्षेत्रों में से कौन सा आर्थिक रूप से सर्वाधिक विकसित है?
(a) उत्तर-पूर्वी पहाडी क्षेत्र (b) पूर्वी क्षेत्र
(c) उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र (d) केन्द्रीय क्षेत्र
उत्तर (d) : केन्द्रीय क्षेत्र प्रश्नगत विकल्पों में दिये गये अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा सर्वाधिक विकसित क्षेत्र है। ध्यातव्य है कि झारखण्ड‚ उडीसा‚ छत्तीसगढ़‚ पूर्वी म. प्र. एवं कनार्टक का क्षेत्र खनिज संसाधनों की दृष्टि से सर्वाधिक विकसित क्षेत्र है। इसी क्षेत्र में कोयला‚ मैगनीज‚ बाक्साइट‚ अभ्रक एवं अन्य लौह तत्वों की प्रधानता पायी जाती है।
69. यदि बिन्दु A समुद्र तल से 230 मी. तथा बिन्ुद B 570 मी. ऊँचा है और दोनों के बीच क्षैतीज तुल्यता 2.0 कि.मी है‚ तो इन दोनों बिन्दुओं के बीच निम्नलिखित प्रवणताओं में से कौन सा सही है?
(a) 0.7प्रतिशत (b) 7.0 प्रतिशत
(c) 17.0 प्रतिशत (d) 27.0 प्रतिशत
उत्तर (c) : उपरोक्त दोनों बिन्दुओं के बीच 17% का अन्तर होगा।
70. सूची- I को सूची II के साथ सुमेलित करें और नीचे दिये कूटों से सही उत्तर का चयन करें:
सूची- I सूची- II
(a) SPOT (a). भारत
(b) GOES (b). फ्रांस
(c) Meteor-3 3). रशिया
(d) INSAT (d). यू. एस. ए.
कूट :
. A B C D
(a) 2 4 3 1
(b) 2 4 1 3
(c) 4 2 3 1
(d) 4 2 1 3
उत्तर (a) : सेटेलाइट देश SPOT फ्रांस GOES यू.एस.ए.
Meteor-3 रशिया INSAT भारत
71. मानचित्र पर नगरीय जनसंख्या दर्शाने के लिये कौन सी तकनीक उपयुक्त नहीं है?
(a) वृत्त (b) विभाजित वृत्त
(c) गोला (d) हैश्यूर
उत्तर (d) : मानचित्र पर नगरीय जनसंख्या दर्शाने के लिए हैश्यूर तकनीकी उपयुक्त नहीं है। वृत्त‚ गोला तथा विभाजित वृत्त जनसंख्या दर्शाने के लिए उपयुक्त तकनीकी है।
72. निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है?
(a) समोच्च रेखी मानचित्र सममान रेखा
(b) सममान रेखा एक समान मान की रेखाएँ हैं।
(c) सममान रेखा तकनीक प्रशासनिक सीमाओं को हमेशा ध्यान में रखती है।
(d) सममान रेखा तकनीक सतत आकड़े के लिये उपयुक्त है।
उत्तर (c) : सममान रेखा तकनीक प्रशासनिक सीमाओं को हमेशा ध्यान में रखती है। यह कथन सत्य नही है। शेष अन्य कथन सत्य है।
73. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें और नीचे दिये गये
कूटों से सही उत्तर का चयन करें:
(a) मरूस्थल‚ कच्छ तथा पहाड़ी क्षेत्र जनसंख्या के नकारात्मक क्षेत्रों के रूप में जाने जाते हैं।
(b) जनसंख्या का वितरण दर्शाने के लिये बिन्दु पद्धति श्रेष्ठ पद्धति है।
(c) बिन्दु पद्धति को आयु तथा लिंग अनुपात दर्शाने के लिये उपयोग किया जा सकता है।
(d) बिन्दु मानचित्र को सममान रेखा मानचित्र में स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है।
कूट :
. (a) सिर्फ (a) और (c) सही हैं।
(b) 1, 2 और 3 सही हैं।
(c) 1, 2 और 4 सही हैं।
(d) 1‚2‚3 ओर 4 सही हैं।
उत्तर (c) : बिन्दु तकनीकी को आयु तथा लिंग अनुपात दर्शाने के उपयुक्त नहीं है। बिन्दु तकनीक के माध्यम से बिन्दु विशिष्ट बिन्दुओं की उँचाई तथा जनसंख्या का वितरण सुविधाजनकपूर्ण दर्शाया जाता है।
74. वितरण में असमानता दर्शाने के लिये क्या सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a) लॉरेंज वक्र (b) दंड आलेख
(c) वृत्त आरेख (d) सममान रेखा
उत्तर (a) : वितरण में असमानता को दर्शाने के लिए लॉरेंज वक्र सवार्धिक उपुयक्त है।
75. आंकड़ा समुच्चय: 0, 50, 100, 100, 150, 250, 450, 500 का सही ज्यामितीय माध्य क्या है?
(a) 125 (b) 100
(c) 200 (d) 0
उत्तर (d)

Top
error: Content is protected !!