You are here
Home > Previous Papers > GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2012 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल 0021.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2012 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल 0021.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2012 भूगोल व्याख्या सहित द्वितीय प्रश्न-पत्र का हल

1. भूस्खलन से सम्बन्धित है :
(a) व्यष्टिक शैल खंडों की ढलुवाँ गति जो कि सामान्यत:
दृष्टिगोचर नहीं होती है।
(b) आधार शैल या भूमिज मलबे के तुलनात्मक रूप से शुष्क पुंज को द्रुत अवगम्य संचलन (या गति)।
(c) जल संतृप्त शैल मलबे को धीमे से बहुत तेज गति।
(d) जल से संतृप्त शैल मलबे के धीमे-प्रवाही ढलुवाँ पुंज।
उत्तर-(b) : अपशिष्ट शैल (Rockwaste) के स्थानान्तरण या द्रव्यमान संचलन के सभी प्रकार के (मृदा एवं हिम सहित) सामूहिक रूप को भूमिस्खलन कहते हैं। भूमिस्खलन की तीव्रता तथा आकार भूगर्भिक संरचना‚ भूमि का ढाल‚ चट्टानों के झुकाव का कोण‚ चट्टानों की प्रकृति तथा मानवीय हस्तक्षेप पर निर्भर करती है।
2. निम्नलिखित में से मरुस्थल तथा देश/महाद्वीप का कौन सा युग्म नहीं है?
(a) अटाकामा मरूस्थल – दक्षिण अमेरिका
(b) गोबी मरुस्थल – केन्दीय एशिया
(c) सोनोरन मरुस्थल – पश्चिम एशिया
(d) ग्रेट विक्टोरियन मरुस्थल – ऑस्ट्रेलिया
उत्तर-(c) : सोनोरन मरुस्थल उत्तरी अमेरिका में स्थित है न कि पश्चिम एशिया में।
3. अंत:समुद्री केनियन के उद्भव के पंकिल धारा सिद्धांत के प्रतिपादकों में से एक निम्नलिखित थे :
(a) डैली (b) डाना
(c) सेलिस (d) ग्रेगरी
उत्तर-(a) : अन्त:समुद्री कैनियन के उद्भव के पंकिल धारा सिद्धान्त के प्रतिपादक डैली हैं। प्रसिद्ध अमेरिकी विद्वान डेली ने सन् 1915 में प्रवाल भित्ति से सम्बन्धित महाद्वीपीय फिसलन सिद्धान्त का प्रतिपादन किया।
4. ‘पैनप्लेन’ शब्द किसका संकेत करता है?
(a) नदीय चक्र के वृद्धावस्था में निर्मित समतल पृष्ठ
(b) पवन अपरदन द्वारा निर्मित समतल पृष्ठ
(c) समुद्री क्रिया द्वारा निर्मित समतल मैदान
(d) बाढ़कृत मैदानों के जुड़ने से निर्मित मैदान
उत्तर-(d) : पैनप्लेन शब्द क्रिकमें ने दिया। क्रिकमे के अनुसार पैनप्लेन पैनप्लनेशन चक्र का अन्तिम परिणाम है तथा इसका निर्माण कई बाढ़ के मैदानों के मिलने से होता है। इनका कहना है कि डेविस तथा उनके अनुगामियों ने क्षय जलविभाजकों दर तथा उनके स्थानान्तरण को आवश्यकता से अधिक महत्व दे डाला जबकि जलविभाजकों की क्षय दर बहुत कम होती है और अपरदन चक्र की अन्तिम अवस्था में तो और भी कम होती है।
5. अपरदन की प्रक्रिया में‚ घोल द्वारा पदार्थ का अवनयन क्या कहलाता है?
(a) संनिघर्षण (b) अपघर्षण
(c) संक्षारण (d) अध: खनन
उत्तर-(c) : संक्षारण की प्रक्रिया के द्वारा नदी के बहते हुए जल के सम्पर्क में आने वाली चट्टानों के घुलनशील पदार्थ घुलकर शैल से अलग हो जाते हैं तथा जल के साथ मिल जाते हैं। कार्बोनेशन की क्रिया द्वारा चट्टान का अधिकांश घुलनशील नमक उससे अलग होकर नदी में बहने लगता है। भूमिगत जल द्वारा भी चट्टान के घुलनशील पदार्थ अलग हो जाते हैं तथा जलदोतों द्वारा ऊपर आकर सरिता में मिल जाते हैं।
6. सौर स्पेक्ट्रम को उसके तरंग दैर्ध्य के आरोही क्रम में व्यवस्थित करें :
(a) पराबैंगनी (b) सूक्ष्म तरंगें
(c) एक्स रे (d) टेलीविजन तरंगें
कूट :
(a) (d), (c), (b), (a) (b) (a), (c), (d), (b)
(c) (c), (a), (b), (d) (d) (b), (c), (a), (d)
उत्तर-(c) : सौर स्पेक्ट्रम में उनके तरंग दैर्ध्य का आरोही क्रम इस प्रकार है-
एक्सरे‚ पराबैंगनी‚ सूक्ष्म तरंगे‚ टेलीविजन तरंगें
7. वायुमंडल द्वारा परावर्तित ऊर्जा
(a) वायुमंडल को गर्म नहीं करती है।
(b) आने वाली ऊर्जा से उसका भिन्न तरंग दैर्ध्य होता है।
(c) सामान्यतया दृश्यमान प्रकाश की तरह से लघु ऊर्जा होती है जो कि वायुमंडल को वेधती नहीं है।
(d) अवशोषण के द्वारा वायुमंडल को गर्म करती है।
उत्तर-(c) : वायुमण्डल द्वारा परावर्तित ऊर्जा समान्यता दृश्यमान प्रकाश की तरह से लघु ऊर्जा होती है जो कि वायुमण्डल को बेधती नहीं है। वायुमण्डल की बाहरी सीमा पर सूर्य से प्रति मिनट प्रति वर्ग सेन्टीमीटर पर 1.94 कैलोरी उष्मा प्राप्त होती है।
8. ध्रुवीय जेट धारा (पोलर जेट स्ट्रीम) के बारे में कौन सा कथन सत्य नहीं है?
(a) ग्रीष्मकाल में यह उत्तर की ओर गतिमान होती है।
(b) यह सतही तूफान के परिसंचरण को ऊर्जा देती है।
(c) इसकी अवस्थिति ध्रुवीय वाताग्र के अनुरूप होती है।
(d) इसका वेग ग्रीष्म काल में अधिक होता है।
उत्तर-(d) : ध्रुवीय जेट स्ट्रीम को समताप मण्डलीय उपध्रुवीय जेट स्ट्रीम भी कहते हैं। इसका निर्माण सागर तल से 30 किमी0 की ऊँचाई पर क्षोभमण्डल के ऊपर अर्थात समतापमण्डल में शीत ध्रुव के ऊपर तीव्र ताप प्रवणता के कारण शीत काल में होता है‚ जिस समय प्रबल पछुवा जेट स्ट्रीम का संचरण होता है। परन्तु ग्रीष्म काल में इसका वेग कम हो जाता है तथा दिशा पूर्व की ओर हो जाती है।
9. उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में वायु में जल के कणों का प्रतिशत कितना अधिक हो सकता है?
(a) 4 प्रतिशत (b) 10 प्रतिशत
(c) 30 प्रतिशत (d) 50 प्रतिशत
उत्तर-(a) : उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में वायु में जल के कणों का प्रतिशत 4% से अधिक हो सकता है।
10. प्रतिचक्रवात में ऊर्ध्वाकार वायु प्रवाह निम्नलिखित में फलीभूत होता है :
(a) ऊपरी दिक्परिवर्तन
(b) ऊपरी रूपान्तरण
(c) ऊपरी तथा सतही दोनों दिक्परिवर्ती
(d) सतह पर रूपान्तरण और ऊपरी दिक्परिवर्तन
उत्तर-(b) : चक्रवात के विपरीत दशाओं एवं विशेषताओं वाले वायु परिसंचरण तन्त्र को ‘प्रतिचक्रवात’ कहते हैं। उच्च वायुदाब वाले केन्द्र से बाहर की ओर चारों दिशाओं में चलने वाले अपसारी (Divergnt) वायु परिसंचरण के लिए Anticyclone शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम एफ. गैफन ने 1861 में किया था। प्रतिचक्रवात वृत्ताकार समदाब रेखाओं द्वारा घिरा वायु का एक ऐसा क्रम होता है जिसके केन्द्र में वायु दाब उच्चतम होता है तथा बाहर की ओर घटता जाता है।
11. समुद्र में सर्वाधिक सर्वनिष्ट लवण है :
(a) कैल्शियम क्लोराइड (b) सोडियम नाइट्रेट
(c) सोडियम क्लोराइड (d) कैल्शियम नाइटे्रेट
उत्तर-(c) : समुद्र में सर्वाधिक सर्वनिष्ठ लवण सोडियम क्लोराइड पाया जाता है। समुद्र में सोडियम क्लोराइड की मात्रा प्रति 1000 ग्राम जल में 27.213 पायी जाती है‚ जो कुल लवणों का 77.8% है।
12. जल चक्र में वाष्पीकरण से एकदम पहले क्या आता है?
(a) मेघ (b) अवक्षेपण
(c) ताप (d) संघनन
उत्तर-(c) : सागरीय सतह से वायुमण्डल‚ वायुमण्डल से स्थलीय सतह
(महाद्वीपीय भाग) तथा स्थलीय सतह से पुन: सागरीय भाग में जल के चक्रीय रूप से संचरण को जलीय चक्र कहते हैं। इस प्रकार जलीय चक्र में क्रियाओं का क्रम इस प्रकार है- वाष्पीकरण‚ वाष्पोत्सर्जन‚ वर्षण‚ अंत:
स्पन्दन और धरातलीय प्रवाह। अत: स्पष्ट है कि जल चक्र में वाष्पीकरण से एकदम पहले ‘ताप’ आता है।
13. खाद्य शृंखला में पोषण स्तर I में निम्नलिखित में से कौन आता है?
(a) बैक्टीरिया (b) मांसाहारी
(c) मुख्य उपभोक्ता (d) पादप
उत्तर-(d) : वह स्तर जिनसे होकर आहार‚ ऊर्जा का एक वर्ग के जीवों से दूसरे वर्ग के जीवों में स्थानान्तरण या गमन होता है‚ पोषण स्तर कहलाता है। पोषण स्तर की यह श्रंृखला आहार शृंखला कहलाती है। पोषण स्तर प्रथम में पादप आते हैं। इन्हें प्राथमिक उत्पादक भी कहा जाता है।
14. निम्नलिखित में से कौन सा क्षेत्र ग्लोब के ‘कार्बन सिंक’ के रूप में जाना जाता है?
(a) अंटार्कटिका (b) सवाना
(c) उत्तर-पश्चिमी यूरोप (d) उष्णकटिबंधीय वर्षावन
उत्तर-(d) : उष्णकटिबन्धीय वर्षा वन को ग्लोब के ‘कार्बन सिंक’ के रूप में जाना जाता है।
15. पारिस्थितिकीय निक किसका संकेत करता है?
(a) मनुष्य तथा पर्यावरण के बीच अंत:क्रिया
(b) पारिस्थितिकीय व्यवस्था में जीव की कार्यात्मक भूमिका
(c) मनुष्य तथा पौधे की अंत: निर्भरता
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर-(b) : पारिस्थितिकीय निक पारिस्थितिकीय व्यवस्था में जीव की कार्यात्मक भूमिका का संकेत देते हैं। पारिस्थितिकी वह विज्ञान है जिसके अन्तर्गत समस्त जीवों तथा भौतिक पर्यावरण के मध्य अन्तर्सम्बन्धों एवं विभिन्न जीवों के मध्य पारस्परिक अर्न्तसम्बन्धों का अध्ययन किया जाता है।
16. निम्नलिखित में से किसने यह अवधारणा कि ‘‘वर्तमान भूत की वंâुजी है’’ प्रतिपादित की?
(a) बफ्फन (b) लेल
(c) हट्टन (d) प्ले फेयर
उत्तर-(c) : ‘‘वर्तमान भूत की वंâुजी है।’’ इस अवधारणा के प्रतिपादक ‘जेम्स हट्टन’ हैं। जेम्स हट्टन ‘एकरूपतावाद’ की संकल्पना के प्रतिपादक थे। इनके अनुसार ‘वर्तमान समय में जो भूगर्भिक प्रक्रम तथा नियम कार्यरत है‚ वे ही समस्त भूगर्भिक इतिहास में कार्यरत थे परन्तु उनकी सक्रियता में अन्तर था।’’
17. रिटर के अनुसार‚ इस उपागम को कि ‘‘कुछ भौगोलिक तथ्यों की वैज्ञानिक रूप से व्याख्या नहीं की जा सकती है’’ क्या कहते हैं?
(a) पारिस्थितिकीय (b) क्षेत्रीय
(c) उद्देश्यवादी (d) स्थानिक
उत्तर-(c) : रिटर के अनुसार‚ इस उपागम को कि ‘‘कुछ भौगोलिक तथ्यों की वैज्ञानिक रूप से व्याख्या नहीं की जा सकती है को उद्देश्यवादी कहते हैं। उद्देश्यवाद के समर्थक समाज की व्यावहारिक समस्याओं के हल के लिए तथा भूगोल की यथार्थता को निश्चित करने के लिए मूल्य आधारित क्रिया पद्धति का प्रयोग करते हैं। उद्देश्यवाद एक दर्शन है जिसके अनुसार अर्थ तथा ज्ञान की परिभाषा उसके अनुभव की भूमिका के सन्दर्भ में की जा सकती है।
18. हार्टशार्न के अनुसार‚ आधुनिक भूगोल के क्षेत्र तथा पद्धति पर किसके अग्रगामी कथन ने भविष्य के लिये भौगोलिक विचारधारा की दिशा निर्धारित की?
(a) ब्लाश (b) श्लूटर
(c) रैट्जेल (d) रिचथोफेन
उत्तर-(d) : जर्मन भूवैज्ञानिक फर्डीनेण्ड वान रिचथोफेन की प्रमुख पुस्तकें निम्न हैं-
(1) चीन का भूगोल (2) सीलाकृति विज्ञान (3) आर्थिक एवं खनिज भूगोल
19. मानव जीवन में जलवायु की प्रमुख भूमिका पर किस भूगोलवेत्ता ने जोर दिया है?
(a) गेडीस (b) जेफरसन
(c) हंटिंगटन (d) ब्रून्स
उत्तर-(c) : मानव जीवन में जलवायु की प्रमुख भूमिका पर हटिंग्टन ने जोर दिया। अमेरिकन भूगोलवेत्ता हटिंग्टन की प्रुख पुस्तकें निम्न है-
(i) Civilization and Climate
(ii) Principles of Human Geography
(iii) Pules of Asia
(iv) Mainsprins of Civilization.
20. यह विचार कि ऐसा हिम युग था जिस दौरान अधिकांश उत्तरी यूरोप हिम या बर्फ की चादर से आच्छादित था की वैधता स्थापित करने का श्रेय सामान्यतया किसे दिया जाता है?
(a) अगासिज (b) रामसे
(c) ज्यूक्स (d) पेंक
उत्तर-(a) : प्रश्न कथन की वैधता स्थापित करने का श्रेय अगासिज को जाता है। पेंक ने ढाल प्रतिस्थापन मॉडल तथा अपरदन चक्र से सम्बन्धित सिद्धान्त दिया था।
21. नीचे दो कथन दिये गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) का नाम दिया गया है। नीचे दिये कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
अभिकथन (A) :
महानगरों में वयस्क पुरुष जनसंख्या की संख्या का अधिक वर्चस्व रहता है।
कारण (R) : प्रवास आयु तथा लिंग चयनात्मक है।
कूट :
(a) (A) और (R) दोनों सही हैं और(R), (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सही हैं परन्तु (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है।
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है।
उत्तर-(a) : महानगरों में ग्रामीण क्षेत्रों से अधिकांशत: प्रवास होता है। ग्रामीण क्षेत्रों से नगरों को होने वाले प्रवास का मुख्य कारण रोजगार तथा शिक्षा होती है। अत: रोजगार हेतु अधिकांशत: वयस्क पुरुष ही आते हैं जिस कारण महानगरों में वयस्क पुरुष जनसंख्या की संख्या का अधिक वर्चस्व रहता है।
22. भारत में कुल जनसंख्या में बुजुर्गों (60+) की जनसंख्या का प्रतिशत निम्नलिखित के बीच पड़ता है :
(a) 2 – 5 (b) 5– 10
(c) 10 – 12 (d) 12 – 15
उत्तर-(b) : भारत में कुल जनसंख्या में बुजुर्गो की जनसंख्या का प्रतिशत 5-10 के बीच में पड़ता है।
23. निम्नलिखित में से कौन सी प्रवास धारा भारत में अधिकतम प्रवास का अनुभव करती है ?
(a) ग्रामीण से ग्रामीण (b) ग्रामीण से नगरीय
(c) नगरीय से नगरीय (d) नगरीय से ग्रामीण
उत्तर-(a) : ग्रामीण से ग्रामीण धारा भारत में अधिकतम प्रवास का अनुभव करती है। इस प्रकार के प्रवास विकसित तथा विकासशील दोनों प्रकार के देशों में मिलते हैं और प्राय: दो कृषि प्रधान क्षेत्रों के मध्य पाये जाते हैं। जिस क्षेत्र में कृषि की कमी और जनसंख्या का घनत्व अधिक होता है वहाँ से कृषि आधारित जनसंख्या का प्रवास ऐसे क्षेत्रों के लिए होता है जहाँ पर्याप्त उपजाऊ कृषि भूमि उपलब्ध होती है और कृषि के विकास के लिए नवीन सम्भावनाएँ उपलब्ध होती है।
24. 21वीं शताब्दी के अंत तक प्रक्षेपित नगरीय विश्व या सार्वभौमिक शहर को निम्नलिखित में से कौन सा व्यक्त करता है
(a) सन्नगर
(b) नगर-क्षेत्र
(c) विश्वनगरी (मेगालोपोलिस)
(d) वास्य नगरी (एक्यूमेनोपोलिस)
उत्तर-(d) : 21वीं शताब्दी के अन्त तक प्रक्षेपित नगरीय विश्व या सार्वभौमिक शहर को वास्य नगरी (एक्यूमेनोपोलिस) व्यक्त करता है।
25. निम्नलिखित में से कौन सा अधिवास का ‘यादृच्छिक’ वितरण इंिरगत करता है?
(a) 0.49 (b) 1.00
(c) 1.59 (d) 2.15
उत्तर-(b) : 1.00 अधिवास का यादृच्छिक वितरण इंगित करता है।
26. संसाधन की तनन क्षमता क्या संकेत करती है?
(a) समुचित प्रतिस्थापन खोजने की क्षमता
(b) विनाश की संभाव्यता
(c) अधिक उत्पादन की क्षमता
(d) अनि: शेषणता
उत्तर-(c) : वह तत्व या दोत जो मानवीय उद्देश्यों तथा आवश्यकताओं की पूर्ति करने में सक्षम है‚संसाधन कहलाता है। संसाधन की तनन क्षमता अधिक उत्पादन की क्षमता का संकेत करती है।
27. वॉन थ्यूनेन के मॉडल के अनुसार भूमि उपयोग के निम्नलिखित अनुक्रमों में से कौन सा सही है?
(a) बाजार बागवानी एवं ताजा दूध‚ ईंधन एवं काष्ठ‚ गहन फसल खेती
(b) ईंधन एवं काष्ठ‚ गहन फसल खेती‚ बाजार बागवानी एवं ताजा दूध
(c) गहन फसल खेती‚ बाजार बागवानी एवं ताजा दूध‚ ईंधन एवं काष्ठ
(d) बाजार बागवानी एवं ताजा दूध‚ गहन फसल खेती‚ ईंधन एवं काष्ठ
उत्तर-(a) : प्रसिद्ध जर्मन अर्थशाध्Eाी वान थ्यूनेन ने सर्वप्रथम 1826 ई. में कृषि के स्थानीकरण के सिद्धान्त का प्रतिपादन किया था। वान थ्यूनेन मॉडल के अनुसार विलग प्रदेश में केन्द्रीय नगर के चारों ओर कृषि भूमि उपयोग की विभिन्न संकेन्द्रीय पेटियाँ पायी जाती है जिनका क्रम नगर से बाहर की ओर निम्नवत है-
(1) शाक सब्जी उत्पादन
(2) काष्ठ उत्पादन
(3) अन्न उत्पादन
(4) चारागाह एवं परती के साथ शस्यावर्तन
(5) त्रिक्षेत्र पद्धति
(6) पशुपालन
28. संसाधन सृजन किसका परिणाम है?
(a) प्राकृतिक तथा सांस्कृतिक प्रक्रियाओं की अंत:क्रिया
(b) विभिन्न प्राकृतिक प्रक्रियाओं की अंत:क्रिया
(c) विभिन्न सामाजिक प्रक्रियाओं की अंत:क्रिया
(d) विभिन्न आर्थिक प्रक्रियाओं की अंत:क्रिया
उत्तर-(a) : संसाधन सृजन प्राकृतिक तथा सांस्कृतिक प्रक्रियाओं की अन्त:क्रिया का परिणाम है।
29. ऊर्जा संसाधन उपयोग की प्रक्रिया में अन्तिम अवस्था है:
(a) परिवहन (b) भंडारण
(c) अवशिष्ट सामग्री का निपटान(d) रूपान्तरण
उत्तर-(c) : ऊर्जा संसाधन उपयोग की प्रक्रिया में अन्तिम अवस्था अपशिष्ट सामग्री का निपटान है। आज के वैज्ञानिक युग में किसी भी देश का आर्थिक विकास वहाँ पनपे हुए उद्योग-धन्धों पर निर्भर करता है। पेट्रोलियम उद्योग‚ चीनी मिल इत्यादि उद्योग धन्धों से अवशिष्ट सामग्री निकलती है।
30. निम्नलिखित में से किसने आनुक्रमिक विस्तारण परिवहन नेटवर्क मॉडल विकसित किया है?
(a) डिसूजा एवं पॉर्टर (b) ब्राउन तथा ब्रेसी
(c) मिर्डल‚ सियर्स तथा रोस्टोव (d) टाफे‚ मॉरिल तथा गूल्ड
उत्तर-(d) : परिवहन जाल भौगोलिक स्थितियों के वर्ग होते है जो विभिन्न भागों द्वारा अन्तरसंयोजित होते है। टाफे‚ मॉरिल तथा गूल्ड ने आनुक्रमिक विस्तरण परिवहन नेटवर्क मॉडल को विकसित किया।
31. इतिहास की भौगोलिक धुरों की अवधारणा का प्रस्ताव किसने रखा?
(a) मैकिन्डर (b) मार्टिन
(c) क्रोपोटकिन (d) रैट्जल
उत्तर-(a) : मैकिण्डर ने 1904 में अपने निबन्ध ‘इतिहास की भौगोलिक धुरी’ में हृदय स्थल की संकल्पना का प्रतिपादन किया मैकिण्डर ने अपने अध्ययन के आधार पर बताया कि समुद्री शक्तियाँ क्षीण हो रही है और अन्तिम विजय महाद्वीपीय शक्तियों की ही होगी। उन्होंने विश्व के स्थलीय क्षेत्र को तीन स्तरों में व्यक्त किया जिसके नाम निम्न है-
(1) हृदय स्थल
(2) आन्तरिक अर्द्ध चन्द्राकार पेटी
(3) बाह्य अर्द्ध चन्द्राकार पेटी
32. चिली अपनी आकृति के अनुसार किस वर्ग में पड़ता है?
(a) खंडित (b) खंडित लम्बाकार
(c) लम्बाकार (d) संहत-लम्बाकार
उत्तर-(b) : दक्षिण अमेरिका के पश्चिम तट पर स्थित‚ चिली अपनी आकृति के अनुसार खण्डित लम्बाकार वर्ग में पड़ता है। चिली में विश्व की सबसे लम्बी पर्वतमाला एण्डीज का अधिकांश भाग आता है।
33. वर्ष मे प्रति हजार जीवित जन्में बच्चों के जन्म के प्रथम वर्ष में मरने वाले बच्चों की संख्या कहलाती है-
(a) मृत्युदर (b) मानकीकृत मृत्युदर
(c) शिशु मृत्यु दर (d) जीवन प्रत्याशा दर
उत्तर-(c) : वर्ष में प्रति हजार जीवित जन्में बच्चों के जन्म के प्रथम वर्ष में मरने वाले बच्चों की संख्या शिशु मृत्य दर कहलाती है। किसी निश्चित क्षेत्र एवं समयावधि में मृत्यु या मृतकों की संख्या को ‘मृत्यु दर’ कहते है।
34. 2011 की जनगणना के अनुसार साक्षरता दरों के अवरोही क्रम को लेकर राज्यों की निम्नांकित व्यवस्थाओं में से कौन सा सही है?
(a) केरल‚ मिजोरम‚ त्रिपुरा‚ गोआ
(b) केरल‚ गोआ‚ मिजोरम‚ त्रिपुरा
(c) गोआ‚ केरल‚ त्रिपुरा‚ मिजोरम
(d) मिजोरम‚ त्रिपुरा‚ केरल‚ गोआ
उत्तर-(a) : 2011 की जनगणना के अनुसार साक्षरता दरों के अवरोही क्रम को लेकर राज्यों का सही क्रम निम्न हैकेरल‚ मिजोरम‚ त्रिपुरा‚ गोवा सर्वाधिक साक्षरता वाले 3 राज्य/केन्द्र शासित प्रदेश जनगणना 2011 के अनुसार−
(1) केरल 94%‚
(2) लक्षद्वीप 91.85%‚
(3) मिजोरम 91.33%
35. निम्नलिखित में से क्या जनजातीय अर्थव्यवस्था के साथ सम्बन्धित है?
(a) गहन खेती (b) स्वच्छंद उद्योग
(c) खनन तथा उत्खनन (d) स्थानांतरीय कृषि
उत्तर-(d) : स्थानांतरीय कृषि जनजातीय अर्थव्यवस्था से सम्बन्धित है। स्थानांतरीय कृषि के अन्तर्गत किसी एक क्षेत्र में 2 या 3 वर्ष खेती की जाती है‚ तत्पश्चात् उसकी उर्वरक क्षमता समाप्त होने पर यह भूमि परती छोड़ दी जाती है।
36. योजना आयोग द्वारा प्रस्तावित भारत के कृषि जलवायु क्षेत्रों का आधार क्या है?
(a) उच्चावच‚ मृदा तथा अपवाह
(b) वर्षा ऋतु‚ तापमान तथा कृषित क्षेत्र
(c) वनस्पति‚ मृदा तथा भूमि उपयोग
(d) उच्चावच‚ भूमि उपयोग तथा निवल बोया क्षेत्र
उत्तर-(b) : योजना आयोग द्वारा प्रस्तावित भारत के कृषि जलवायु प्रदेशो का आधार वर्षा ऋतु‚ तापमान तथा कृषित क्षेत्र है। भारत के कृषि जलवायु प्रदेशों की संख्या 15 है।
37. महानगरीय क्षेत्र कौन से क्षेत्र में है?
(a) आकारी (समांगी) क्षेत्र (b) कार्यात्मक क्षेत्र
(c) एकल उद्देश्य क्षेत्र (d) प्राकृतिक क्षेत्र
उत्तर-(b) : महानगरीय क्षेत्र कार्यात्मक क्षेत्र के अन्तर्गत आते हैं। प्रदेश‚ जिसके सम्पूर्ण भाग में एक विशेष प्रकार की प्राकृतिक दशाओं से एक विशेष प्रकार का आर्थिक जीवन विकसित होता है। जिन क्षेत्र में एक समान प्राकृतिक तत्व तथा प्राकृतिक कारक पाये जाते है‚ उन्हें प्राकृतिक प्रदेश कहते है। जैसे- भूमध्यरेखीय प्रदेश‚ भूमध्यसागरीय प्रदेश आदि।
38. निम्नलिखित में से किसने भारत को नियोजन प्रदेशों में विभाजित किया?
(a) ओ.एच.के. स्पेट (b) एल.डी. स्टैम्प
(c) आर.एल. सिंह (d) आर. पी. मिश्रा
उत्तर-(d) : आर. पी. मिश्रा ने भारत को नियोजन प्रदेशों में विभाजित किया। प्रोफेसर आर. पी. मिश्रा एवं सहयोगियों ने भारत को 13 वृहत तथा 36 मध्यम प्रदेशों में विभाजित किया। इनके विभाजन का आधार आर्थिक विकास स्तर‚ संसाधनो का वितरण तथा उपयोग आदि है।
39. निम्नलिखित में से किस पंचवर्षीय योजना में प्रादेशिक विषमता को पहली बार महत्त्व दिया गया?
(a) प्रथम (b) द्वितीय
(c) तृतीय (d) चतुर्थ
उत्तर-(c) : तृतीय पंचवर्षीय योजना में प्रादेशिक विषमता को पहली बार महत्व दिया गया। इस पंचवर्षीय योजना में समानता के बेहतर अवसरों का विकास तथा आय एवं सम्पत्ति के सन्दर्भ में विषमताऐं कम करना‚ साथ ही धन के समान वितरण की उचित व्यवस्था करना आदि प्रमुख उद्देश्य शामिल थे।
40. निम्नलिखित में से कौन शाश्वत विकास का संघटक नहीं है?
(a) अन्त:पीढ़ी स्थानान्तरणता
(b) सामाजिक न्याय
(c) अन्त: प्रादेशिक स्थानान्तरणता
(d) अन-इष्टतमेतर संसाधन उपयोग
उत्तर-(d) : अन् इष्टतमेतर संसाधन उपयोग शाश्वत विकास का संघटक नहीं है।
41. 1600 मीटर और 3300 मीटर की ऊँचाई के बीच हिमालय के शंकुधारी वन की मुख्य स्पेसीज है :
(a) सिडार‚ पाइन‚ साइन‚ सिल्वर फर‚ स्प्रुस
(b) सागौन एवं साखु
(c) सैंडलवुड तथा रोजवुड
(d) ओक‚ चेस्टनट‚ चीर‚ चील
उत्तर-(a) : 1600 मी. तथा 3300 मीटर की ऊचाई को बीच हिमालय के शंकुधारी वन की मुख्य स्पीशीज है- सिडार‚ पाइन‚ साइन‚ सिल्बर फर‚ स्प्रेूस। हिमरेखा के निकट पहुँचने पर इनका विकास रुक जाता है। इनका विस्तार असम से कश्मीर तक पाया जाता है। यातायात के साधनों के अभाव‚ दुर्गमता एवं पर्वतीय क्षेत्रों का अल्प विकास होने के कारण पर्वतीय वनों का उचित दोहन नहीं हो सका है।
42. बुन्देलखंड पठार के अंतर्गत किन दो राज्यों के हिस्से समाविष्ट है?
(a) छत्तीसगढ़ एवं झारखंड
(b) उत्तर प्रदेश एवं मध्यप्रदेश
(c) छत्तीसगढ़ एवं उत्तर प्रदेश
(d) मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़
उत्तर-(b) : बुन्देलखण्ड पठार के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश तथा मध्यप्रदेश राज्यों के हिस्से आते है। बुन्देलखण्ड पठार उत्तर में यमुना नदी‚ दक्षिण में विन्ध्य पठार‚ उत्तर-पश्चिम में चम्बल नदी तथा दक्षिण पूर्व में पन्ना अजयगढ़ श्रेणियों द्वारा सीमांकित किया जाता है। यह उत्तर पश्चिम एवं
उत्तर पूर्व में गंगा-यमुना के जलोदक तथा दक्षिण-पश्चिम में दकन ट्रेप से ढँका है।
43. भारत में निम्नलिखित में से कौन सा स्थान विश्व में सबसे ठन्डे आवासित स्थानों में द्वितीय श्रेणी में पड़ता है?
(a) द्रास (b) इटानगर
(c) मनाली (d) माना
उत्तर-(a) : द्रास विश्व में सबसे ठण्डे आवासित स्थानों में द्वितीय श्रेणी में पड़ता है। द्रास भारत के जम्मू-काश्मीर राज्य के कारगिल जिले में पड़ता है। भारत का सबसे ठण्डा स्थान लद्दाख है। द्रास को लद्दाख का द्वार भी कहा जाता है।
44. निम्नलिखित में से किस राज्य में उसके कृषि क्षेत्र का अधिकतम प्रतिशत नहर सिंचाई के अंतर्गत आता है?
(a) मध्य प्रदेश (b) जम्मू व कश्मीर
(c) उत्तराखण्ड (d) उत्तर प्रदेश
उत्तर-(d) : उत्तर प्रदेश राज्य में कृषि क्षेत्र का अधिकतम प्रतिशत नहर सिंचाई के अन्तर्गत आता है। भारत में जितनी भूमि में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध है उनका 40% भाग नहरों द्वारा सीचा जाता है। उत्तर प्रदेश में शारदा नहर‚ ऊपरी गंगा नहर‚ निचली गंगा नहर‚ पूर्वी यमुना नहर‚ आगरा नहर इत्यादि प्रमुख नहरें है।
45. कश्मीर घाटी को सिन्धु नदी घाटी से कौन सी श्रेणियाँ पृथक करती हैं?
(a) पीर पंजाल श्रेणी (b) धौलाधर श्रेणी
(c) वृहद हिमालय श्रेणी (d) शिवालिक श्रेणी
उत्तर-(c) : कश्मीर घाटी को सिन्धु नदी घाटी से वृहद हिमालय श्रेणी पृथक करती है। यह श्रेणी नंगा पर्वत से लेकर नामचावरवा तक एक पर्वतीय दीवार के रूप में फैली है। इसकी लम्बाई 250 किमी. जबकि औसत चौड़ाई 25 किमी. है। कश्मीर घाटी पीरपंजाब तथा मध्य हिमालय के बीच फैली हुयी है। कश्मीर घाटी में हिमनद उत्पत्ति के चीका मिट्टी के निक्षेप पाए जाते है जिन्हे करेवा कहा जाता है।
46. निम्नलिखित में से कौन सी विधि किसी क्षेत्र में विभिन्न भूमि उपयोगों के अनुपातों को निरूपित करने के उपयुक्त है
(a) रेखा ग्राफ (b) पाई आरेख
(c) हीदर ग्राफ (d) त्रिभुजीय आरेख
उत्तर-(b) : पाई आरेख किसी क्षेत्र में विभिन्न भूमि उपयोगों के अनुपातों को निरूपित करने के लिए उपयुक्त है।
47. वितरण की बिन्दु पद्धति किसका संकेत करती है?
(a) प्रतिमापरक मॉडल (b) सदृश मॉडल
(c) प्रतीकात्मक मॉडल (d) ग्राफिकीय मॉडल
उत्तर-(b) : वितरण की बिन्दु पद्धति सदृश मॉडल का संकेत करती है।
48. विसरण का तुलनात्मक माप निम्नलिखित में से क्या है?
(a) मानक विचलन (b) चतुर्थक विचलन
(c) विचलन गुणक (d) परिसरण
उत्तर-(c) : विसरण का तुलनात्मक माप विचलन गुणक है मानक विचलन की गणना में किसी भी बीजगणितिय चिह्न की अवहेलना नहीं की जा सकती है। चूकि मानक विचलन सदैव समान्तर माध्य‚ जो स्वयं एक आदर्श माध्य है‚ के आधार पर परिकलित किया जाता है‚ अत: दो या दो से अधिक समंक श्रेणियों के अपकिरण की तुलना करने में मानक विचलन परम उपयोगी है। यह माप श्रेणी के सभी मूल्यों पर आधारित है।
49. यदि मानचित्र को RF 1/5500 पर बनाया जाता है और यदि मानचित्र को छोटा करके आधा किया जाता है तो निम्नलिखित में से कौन सा प्रतिनिधिक अंश सही होंगे?
(a) 1/2750 (b) 1/11,000
(c) 1/5,000 (d) 1/33,000
उत्तर-(b) :
1 1 1 5500 2 11000 50. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें और नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
(1) नासा भारत में समस्त सेटेलाइट डेटा के लिये राष्ट्रीय स्तर पर प्राप्ति एवं वितरण की एजेन्सी है।
(2) नासा डि-कोडड डेटा एन.एन.आर. एम. एस. (NNRMS) को भेजती है जिसकी गतिविधियाँ विभिन्न स्थायी समितियों द्वारा मार्गदर्शित होती हैं।
कूट:
(a) केवल (1) सही है
(b) केवल (2) सही है
(c) (1) और (2) दोनों सही हैं
(d) न ही (1) और न ही (2) सही है।
उत्तर-(d) : उपरोक्त में कोई भी कथन सही नहीं है‚ अत: उत्तर (d) होगा। 203

Top
error: Content is protected !!