You are here
Home > Previous Papers > GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2013 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0018.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2013 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0018.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ दिसम्बर- 2013 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल

1. भू-अभिनतियों की अवधारणा किसने प्रस्तुत की?
(a) जेम्स हॉल और डाना (b) हैंग
(c) होल्मस (d) स्टियर्स
उत्तर-(a) : भूसन्नतियाँ लम्बे किन्तु सॅकरे तथा उथले जलीय भाग होती है जिसमें तलछटीय विक्षेप के साथ-साथ धसाव होता रहता है‚ प्रमुख उदाहरण में टेथीस भूसन्नति‚ अप्लेशियन भूसन्नति राकी भूसन्नति‚ यूराला भूसन्नति प्रमुख है। जेम्स हॉल और डाना ने भू-अभिनतियों की अवधारणा प्रस्तुत की। मोड़दार पर्वतों की व्याख्या के दौरान हाल तथा डाना ने अपनी संकल्पना को जन्म दिया। उन्होंने मोड़दार पर्वतों तथा भूसन्नतियों के बीच सम्बन्ध स्थापित करते हुये बताया कि सभी वलित पर्वतों का आविर्भाव भूसन्नतियों से हुआ है। इनके अनुसार भूसन्नतियाँ उथले सागर थी जिनमे तलछतीय जमाव के साथ धसाव होता रहता है। परन्तु जमाव एवं धसाव की दर समान रहती है। इसलिए जल की गहरायी अपरिवर्तित रहती है।
2. ‘बेस लेवल’अवधारणा की कल्पना किसने की थी?
(a) जेम्स हट्टन (b) जे.डब्ल्यू. पॉवेल
(c) डब्ल्यू.एम. डेविस (d) वाल्थर पेंक
उत्तर-(b) : प्रत्येक नदी के निम्नवर्ती अपरदन की अन्तिम सीमा होती है जिसके बाद पुन: अपरदन सम्भव नहीं हो सकता। इस सीमा को नदी का आधार तल कहते है। आधार तल‚ वास्तव में नदी के लम्बवत अपरदन की अन्तिम सीमा होती है। पावेल ने 1875 ई. में आधार तल पर अपनी विचारधारा का प्रतिपादन किया।
3. निम्नलिखित में से किसका निर्माण विवर्तनिका शक्तियों के परिणामस्वरूप होता है?
(a) निलंबी घाटी (हैगिंग वैली)
(b) V- आकार वाली घाटी
(c) रिफ्ट घाटी
(d) अंध घाटी
उत्तर-(c) : रिफ्ट घाटी का निर्माण विवर्तनिक शक्तियों के परिणाम स्वरूप होता है। रिफ्ट घाटी का विकास तब होता है‚ जब दो भ्रंश रेखाओं के बीच का चट्टानी स्तम्भ विवर्तनिक शक्तियों के कारण नीचे की ओर धस जाता है। रिफ्ट घाटियाँ लम्बी‚ सॅकरी तथा गहरी होती है। अमेरिका के कैलीफोर्निया स्थित मृतक घाटी भी एक रिफ्ट घाटी का उदाहरण है।
4. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. ऐसा समतल जो काफी 1. पदस्थली हद तक हाल के जलोढक से बना हो
B. डीप सी समतल 2. लोएस मैदान
C. पवन की गतिविधि से 3. बाढ़कृत मैदान निर्मित समतल
D. जलोढक की झीनी परत 4. वितलीय मैदान से कुछ-कुछ ढकी समतल सतह A B C D
(a) 4 3 2 1
(b) 3 4 1 2
(c) 4 3 1 2
(d) 3 4 2 1
उत्तर-(d) : सूची- I सूची- II ऐसा समतल जो काफी हद तक हाल – बाढ़कृत मैदान के जलोढ़क से बना हो डी सी समतल – वितलीय मैदान पवन की गतिविधि से निर्मित समतल – लोएस मैदान जलोढ़क की झीनी परत से कुछ-कुछ ढकी समतल सतह – पदस्थली
5. ‘‘वर्तमान अतीत की कुँजी है।’’ यह कथन निम्नलिखित में से किसका है?
(a) डब्ल्यू. एम. डेविस (b) जेम्स हट्टन
(c) वैन रिचथोफेन (d) ए. पेन्क
उत्तर-(b) : उपर्युक्त सिद्धान्त का प्रतिपादन सर्वप्रथम स्काटिश भूगोलवेत्ता जेम्स हट्टन द्वारा 1785 ई में किया। आगे चलकर चर्ल्स ल्येल ने उसे अपनी पुस्तक ‘प्रिंसिपुल्स ऑफ ज्यॉलाजी’ में भरपूर स्थान दिया। जेम्स हट्टन ने बताया कि भूगर्भिक प्रक्रम‚ भूगर्भिक इतिहास के प्रत्येक काल में समान रूप से सक्रिय थे तथा इसी आधार पर उन्होंने प्रतिपादित किया वर्तमान भूत की कुन्जी है।
6. निम्नलिखित में से कौन-सा लॉरेशिया का भाग था?
(a) अनातोलियन प्लेट (b) चीनी प्लेट
(c) ईरानी प्लेट (d) एजीयन प्लेट
उत्तर-(b) : वेगनर ने पूर्व जलवायु शाध्Eा‚ ‘पूर्व वनस्पति शाध्Eा’‚ भूशाध्Eा तथा भूगर्भशाध्Eा के प्रमाणों के आधार पर यह मान लिया कि कार्बोनिफेरस युग में समस्त स्थल भाग एक स्थल भाग के रूप में संलग्न थे। इस एक स्थलपिण्ड का नामकरण उन्होंने पैन्जिया किया है। इस स्थलखण्ड पर छोटे-छोटे सागरों का विस्तार था। पैन्जिया चारों तरफ से एक विस्तृत जलभाग द्वारा आवृत्त था। इस विशाल जलभाग का नाम वेगनर ने पैन्थलासा रखा। इस प्रकार पैन्जिया का उत्तरी भाग लारेशिया (जिसमें उत्तरी अमेरिका‚ यूरोप तथा एशिया को सम्मिलित किया तथा दक्षिणी भाग गोण्डवानालैण्ड (जिसमें दक्षिणी अमेरिका‚ अफ्रीका‚ मैडागास्कर‚ प्रायद्वीपीय भाग‚ आस्ट्रेलिया तथा अंटार्कटिका को सम्मिलित किया) बताया।
7. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. सामान्य भं्रश 1. दोनों शैलखंडों का विपरीत दिशाओं में विस्थापन
B. उत्क्रम भं्रश 2. दोनों शैलखंडो का एकदूसरे की ओर संचलन
C. पार्श्व भं्रश 3. भ्रंश तल के सहारे-सहारे शैलखंड का क्षैतिज विस्थापन
D. स्टेज भं्रश 4. जब भं्रश-शंृखलाओं का ढलान उसी दिशा में हो A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 4 3 2 1
(c) 3 1 2 4
(d) 2 3 1 4
उत्तर-(a) : सूची-I सूची-II सामान्य भ्रंश – दोनों शैलखण्डों का विपरीत दिशाओं में विस्थापन उत्क्रम भ्रंश – दोनों शैलखण्डों का एक दूसरे की ओर संचलन पार्श्व भ्रंश – भ्रंश तल के सहारे- सहारे शैलखण्डों का क्षैतिज विस्थापन स्टेज भ्रंश – जब भ्रंश शृखलाओं का ढलान उसी दिशा में हो
8. कगार (खाई-प्रवण) कब प्रकट होता है?
(a) जब भू-खंड समस्तरी रूप से खिसक जाता है
(b) जब भू-खंड ऊर्ध्वाधर रूपसे खिसक जाता है
(c) जब भू-खंड जलाक्रांति के कारण खिसकना है
(d) जब भू-खंड मानव के हस्तक्षेप के कारण चलायमान होता है
उत्तर-(b) : जब भूखण्ड उर्ध्वाकार रूप से खिसक जाता है‚ तो कगार (खाई-प्रवण) प्रकट होता है। अधिक खड़े ढ़ाल के कारण कगार कभी-कभी क्लिक के समान होते है। कगार का निर्माण सदैव भ्रंशन द्वारा ही नहीं होता है। कभी-कभी कगार का निर्माण अपरदन द्वारा भी होता है।
9. निम्नलिखित से नदीय-हिमानी निक्षेपों की पहचान करें−
(a) हिमानीधैत मैदान (b) बाढ़कृत मैदान (कछार)
(c) पेनी प्लेन (d) पेन प्लेन
उत्तर-(a) : हिमनद से पिघला हुआ जल आगे अन्तिम हिमोद की स्थिति के कारण पीछे की ओर एकत्रित हो जाता है। जब जल की मात्रा अधिक हो जाती है। तब हिमोद के ऊपर से जल नीचे की ओर उतरता है। इस बार जल किसी धारा के रुप में नहीं बहता‚ बल्कि विस्तृत रुप में आगे फैल कर चलता है। इसमें हिमनद का कुछ महीन पदार्थ हिमोढ़ के सामने बिछा दिया जाता है‚ जिसे हिमनद अपक्षय/ out wash plain कहते है। नदीय हिमानी द्वारा निर्मित अन्य स्थलाकृति निम्न है- एस्कर केम‚ केटल‚ हमक
10. विकसित प्रदेश से कम विकसित प्रदेश की ओर प्रवसन क्या कहलाता है?
(a) उत्प्रवासन (b) आप्रवास
(c) दुराग्रही प्रवसन (d) विपरीत प्रवसन
उत्तर-(c) : दुराग्रही प्रवसन के अन्तर्गत विकसित प्रदेश से कम विकसित प्रदेश की ओर प्रवसन होता है।
11. ‘‘ क्षेत्र सामजिक रूप से अथवा सांस्कृतिक रूप से निर्मित होता है’’‚ यह निम्नलिखित में से किसका विचार है?
(a) तार्किक प्रत्यक्षवाद (b) व्यवहारवाद
(c) उत्तर-आधुनिकतावाद (d) संरचनावाद
उत्तर-(c) : प्रश्नगत कथन उत्तर आधुनिकतावाद का है। व्यवहारवाद के जनक प्रैड माने जाते है। 1970 के दशक में ज्यामितिय प्रातिरुपों तक सीमित भूवैन्यासिक संगठन की विचारधारा के प्रति असन्तोष एवं मानवतापरक भूगोल के रुझान से भूगोलवेत्ताओं का ध्यान व्यवहारवाद की तरफ आकृष्ट हुआ। यद्यपि व्यवहारवाद की संकल्पना का प्रार्द्रुभाव 1952 में ही क्रीक ने कर दिया था। तथा इसका विस्तार मात्र बाद के दशक में हुआ। व्यवहारवाद के अन्तर्गत मानव के व्यवहार या आचारण को भूगोल के केन्द्रिय विषय के रूप में रखकर इसका अध्ययन किया जाता है।
12. उत्तर गोलार्द्ध में प्रति-दक्षिणावर्त वायुमंडलीय संचरण क्या कहलाता है?
(a) दाब प्रवणता (b) चक्रवात
(c) प्रति-चक्रवात (d) टारनेडो
उत्तर-(b) : सामान्य रुप से चक्रवात निम्न दाब के केन्द्र होते है जिसके चारों तरफ संकेन्द्रीय समवायुदाब रेखाएँ विस्तृत होती है तथा केन्द्र से बाहर की ओर वायुदाब बढ़ता जाता है। परिणामस्वरूप परिधि से केन्द्र की ओर हवाएँ चलने लगती है। जिसकी दिशा उत्तरी गोलार्द्ध में घड़ी की सुइयों के विपरीत तथा दक्षिणी गोलार्द्ध में अनुकूल होती है। चक्रवातों का आकार प्राय:
गोलाकार‚ अण्डाकार या V अक्षर के समान होता है।
13. ‘द अनस्टेबल अर्थ’ नामक पुस्तक के लेखक कौन हैं?
(a) पैश्चल (b) गिलबर्क जी. के.
(c) मेलौट‚ सीए.ए. (d) जे.ए. स्टियर्स
उत्तर-(d) : द अनस्टेबल अर्थ नामक पुस्तक के लेखक जे.ए.
स्टियर्स हैं।
14. निम्नलिखित में से कौन-सी भूकंप-तरंगें सर्वाधिक विनाशकारी हैं?
(a) S- तरंगें (b) P- तरंगें
(c) R- तरंगें (d) L- तरंगें
उत्तर-(d) : L- तरंगें सर्वाधिक विनाशकारी होती हैं। इसे धरातलीय तरंग भी कहते हैं।
15. भूमध्य सागरीय जलवायु की विशेषता क्या है?
(a) शुष्क ग्रीष्म एवं आर्द्र शीतकाल
(b) आर्द्र ग्रीष्म एवं शुष्क शीतकाल
(c) शुष्क ग्रीष्म एवं शुष्क शीतकाल
(d) आर्द्र ग्रीष्म एवं कोई शीतकाल नहीं
उत्तर-(a) : भूमध्य सागरीय जलवायु को एम सागरीय जलवायु भी कहा जाता है। इस जलवायु प्रदेश की प्रमुख विशेषताएँ निम्न है-
(i) शीतकाल में वार्षिक वर्षा का अधिकांश भाग प्राप्त होता है‚ जबकि ग्रीष्मकाल शुष्क व्यतीत होता है।
(ii) ग्रीष्मकाल गर्म और उष्ण होता है‚ जबकि शीतकाल साधारण होता है।
(iii) वर्ष भर अधिक मात्रा में धूप की प्राप्ति होती रहती है भूमध्यसागरीय जलवायु का विस्तार भूमध्यरेखा के दोनों ओर 300 से 400 अक्षांशों के बीच महाद्वीपों के पश्चिम भाग में पाया जाता है। इन जलवायु प्रदेश में वार्षिक वर्षा का औसत 37 से 75 सेमी. के बीच होता है। जिसका अधिकांश भाग शीतकाल में प्राप्त होता है। इस जलवायु प्रदेश के प्रमुख वृक्ष निम्न है- ओक‚ वालनट‚ चेस्टनट‚ साइप्रस‚ सिडार आदि है।
16. इन्सोलेशन (सूर्यातप) पृथ्वी की सतह पर किस रूप में पहुँचता है?
(a) लघु तरंगें (b) दीर्घ तरंगें
(c) सूक्ष्म तरंगें (d) लॉरेन्ज वक्र
उत्तर-(a) : सूर्य से पृथ्वी का उसके वायुमण्डल को प्राप्त होने वाली ऊर्जा की सूर्यातप (इनसोलेशन) कहते है। सूर्यातप पृथ्वी की सतह पर लघु तरंगों के रूप में पहुँचता है। पृथ्वी के द्वारा उपयोग की गयी कुल ऊर्जा की मात्रा का 99.97% उर्जा सूर्य से ही प्राप्त होती है। सूर्यातप के विवरण को प्रभावित करने वाले निम्न कारक है-
(i) सूर्य की किरणों के सापेक्ष तिरछापन
(ii) दिन की अवधि
(iii) पृथ्वी से सूर्य की दूरी
(iv) सौर कलंक
(v) वायुमण्डल का प्रभाव
17. दृष्टिगोचर तरंगदैर्ध्य की परास विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम में कितनी होती है?
(a) 0.4 से 0.7 माइक्रोमीटर
(b) 0.7 से 15.0 माइक्रोमीटर
(c) 0.3 से 0.9 माइक्रोमीटर
(d) 0.3 से 15.0 माइक्रोमीटर
उत्तर-(a) : दृष्टिगोचर तरंगदैर्ध्य की परास विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम में 0.4 से 0.7 माइक्रोमीटर होती है।
18. कोपेन की स्कीम के अनुसार BWhw प्रकार की जलवायु कहाँ पाई जाती है?
(a) जम्मू एवं कश्मीर (b) राजस्थान
(c) गुजरात (d) ओड़िशा
उत्तर-(b) : कोपेन की योजना के अनुसार भारत के जलवायु प्रदेश जलवायु के प्रकार क्षेत्र Amw लघु शुष्क ऋतु वाला मानसूनी प्रकार गोवा के दक्षिण में भारत का पश्चिम तट As शुष्क ग्रीष्म ऋतु वाला मानसूनी प्रकार तमिलनाडु का कोरोमण्डल तट Aw उष्ण कटिबधिय सवाना प्रकार कर्क वृत्त के दक्षिण प्रायद्वीपीय पठार का अधिकतर भाग BShw अर्द्धशुष्क स्टेपी जलवायु
उत्तर पश्चिमी गुजरात‚ पश्चिमी राजस्थान और पंजाब के कुछ भाग BWhw गरम मरुस्थल राजस्थान का सबसे पश्चिमी भाग Cwg शुष्क शीत ऋतु वाला मानसूनी प्रकार गंगा का मैदान‚ पूर्वी राजस्थान उत्तरी मध्य प्रदेश‚
उत्तर पूर्वी भारत का अधिकतर प्रदेश Dfc लघु ग्रीष्म तथा ठंडी आर्द्र शीत ऋतु वाला जलवायु प्रदेश अरुणाचल प्रदेश E ध्रुवीय प्रदेश जम्मू काश्मीर‚ हिमाचल प्रदेश और उत्तराखण्ड
19. शीत शुष्क वायु विशेष रूप से जो अटलांटिक सागर के पूर्वी तट के किनारे-किनारे और उत्तरी इटली में शीतकाल में अनुभव की जाती है‚ क्या कहलाती है?
(a) चक्रवात (b) बोरास
(c) टारनेडो (d) हरिकेन
उत्तर-(b) : बोरास एक शुष्क ठण्डी तथा तीव्र गति से चलने वाली वायु है जो भूमध्य सागर के पूर्वी तट पर चलती है। इटली का
उत्तरी भाग इससे विशेष रुप से प्रभावित होता है। यह उत्तरी एवं
उत्तरी पूर्वी वायु आल्पस पर्वत के दक्षिणी ढाल से नीचे उतरकर दक्षिण दिशा में प्रवाहित होती है। मिस्ट्रल की अपेक्षा बोरास कुछ अधिक आर्द्र होती है। क्योंकि यह भूमध्य सागर से कुछ आर्द्रत ग्रहण कर लेती है। यह मिस्ट्रल से अधिक तेज गति से चलती है। टारनैडाे आकार की दृष्टि से सभी वायुमण्डलीय तूफानों से सबसे छोटा होता है‚ परन्तु प्रभाव की दृष्टिकोण से सबसे अधिक प्रलयकारी तथा प्रचण्ड होता है। टारनैडो मुख्य रुप से संयुक्त राज्य अमेरिका तथा आस्ट्रेलिया में उत्पन्न होते है।
20. वायुमंडल निम्नलिखित में से किसके द्वारा गर्म हो जाता है?
(a) सूर्य की सीधी किरणें (b) ज्वालामुखीय गतिविधि
(c) जैव पदार्थ का जलना (d) पृथ्वी से विकिरण
उत्तर-(d) : वायुमण्डल पार्थिव विकिरण या पृथ्वी के विकिरण द्वारा गर्म होता है। हमारा वायुमण्डल सूर्य से आने वाली लघु तरंगों के लिए पारदर्शी है परन्तु पृथ्वी द्वारा छोड़े गये दीर्घ तरंगों के लिए अपारदर्र्शी होता है। अत: दीर्घ तरंगें अन्तरिक्ष में जाकर वायुमण्डल में रुककर तापमान को बढ़ा देती है।
21. उष्णकटिबंधीय चक्रवात विशाखापट्टनम के 500 किमी दक्षिण-पश्चिम में स्थित था। सर्वप्रथम चक्रवात 250 किमी उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ा और फिर अकस्मात् दिशा उत्तर-पूर्व की ओर बदल ली। निम्नलिखित में से कौन-सा पत्तन/बन्दरगाह अधिकतम खतरे का संकेत देंगे?
(a) चेन्नई (b) हल्दिया
(c) विशाखापट्टनम (d) तूतीकोरिन
उत्तर-(c) : विशाखापट्टनम बन्दरगाह अधिकतम खतरे का संकेत देंगे।
22. निम्नलिखित में से कौन-सा क्षेत्र दक्षिण-पश्चिम मानसून के मौसम के दौरान अधिक वृष्टि नहीं प्राप्त करता है?
(a) तमिलनाडु तट (b) महाराष्ट्र
(c) छोटानागपुर पठार (d) पूर्वी हिमालय पर्वत
उत्तर-(a) : तमिलनाडु तट दक्षिण पश्चिम मानसून के दौरान अधिक वृष्टि प्राप्त नहीं करता है। अक्टूबर से दिसम्बर माह के मध्य दक्षिण भारत से आन्ध्र प्रदेश‚ रायलसीमा‚ तमिलनाडु में सक्रिय रहता है। यहि तमिलनाडु की मुख्य वर्षा वाली अवधि होती है।
23. किस जलवायु में सपाटीकरण उच्चावच को समतल में समानयन करने की प्रक्रिया है?
(a) शुष्क जलवायु (b) शीत जलवायु
(c) उष्णकटिबंधीय जलवायु (d) शीतोष्ण जलवायु
उत्तर-(b) : शीत जलवायु में सपाटीकरण उच्चावच्च को समतल में समानयन करने की प्रक्रिया है।
24. भारत के उत्तरी-पश्चिमी भाग में शीतकालीन वृष्टि मुख्य रूप से निम्नलिखित कारण से होती है−
(a) पश्चिमी विक्षोभ
(b) उत्तर-पूर्व मानसून
(c) उत्तर-पश्चिम मानसून
(d) बंगाल की खाड़ी में अवनमन
उत्तर-(a) : भारत के उत्तरी पश्चिमी भाग में शीतकालीन वृष्टि मुख्य रुप से पश्चिमी विक्षोभ के कारण होती है। ये अतिरिक्त उष्णकटिबन्धिय गर्त होते है। इनकी उत्पत्ति मुख्यत: भूमध्य सागर एवं अटलांटिक महासागर में होती है। जहाँ से ये आर्द्रता भी ग्रहण करते है। उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ से होने वाली वर्षा गेहूँ की कृषि के लिए अत्यधिक लाभकारी होती है।
25. नीचे दिए गए रेखाचित्रमें दर्शाए परिदृश्यों में से कौनसा सही है?


कोड :
(a) सामान्य लैप्स रेट (च्युति या हास दर)
(b) ऊपरी सतह प्रतिलोमन
(c) निचली सतह प्रतिलोमन
(d) पर्यावरणीय लैप्स रेट
उत्तर-(b) : उपरोक्त रेखाचित्र ऊपरी सतह प्रतिलोमन को प्रदर्शित करता है।
26. अभिकथन (A) : भारत का पूर्वी तट उष्णकटिबंधीय चक्रवातों से पश्चिमी तट की अपेक्षा ज्यादा प्रभावित होता है।
कारण (R) :
उष्णकटिबंधीय चक्रवात मूलत: सिर्फ बंगाल की खाड़ी में उत्पन्न होने हैं।
(a) A और R दोनों सही हैं और R, A की व्याख्या नहीं करता है
(b) A और R दोनों सही हैं परन्तु R, A की व्याख्या करता है
(c) A सही हैं‚ परन्त्ुा R गलत है
(d) A गलत है‚ परन्तु R सही है
उत्तर-(c) : भारत का पूर्वी तट उष्णकटिबन्धिय चक्रवातों से पश्चिमी तट की अपेक्षा ज्यादा प्रभावित होता है। यह कथन सत्य है लेकिन उष्ण कटिबन्धीय चक्रवात बंगाल की खाड़ी तथा अरब सागर दोनों में आते है।
27. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
(उष्णकटिबंधीय चक्रवात) (क्षेत्र)
A. हरिकेन 1. ऑस्ट्रेलिया
B. टाइफून 2. जापान
C. विलि विलि (टारनेडो) 3. यू.एस.ए.
D. टायफू 4. चीन A B C D
(a) 3 4 1 2
(b) 1 2 3 4
(c) 4 3 2 1
(d) 2 1 3 4
उत्तर-(a) : सूची-I सूची-II उष्ण कटिबन्धीय चक्रवात क्षेत्र हरिकेन यू.एस.ए.
टाइफून चीन विलि विलि आस्ट्रेलिया टायफू जापान
28. निम्नलिखित में से कौन-सा तापमान प्रवाल भित्ति जीवित रहने के लिए अधिक अनुकूल पारिस्थितिक स्थितियाँ प्रदान करता है?
(a) 10o C से कम (b) 10o C से 15o C
(c) 15o C से 20o C (d) 20o C से अधिक
उत्तर-(d) : प्रवाल की उत्पत्ति एवं विकास के लिए उथला सागर आवश्यक है। प्रवाल 60-100 मी. की गहरायी वाले जल में जीवित नहीं रह सकते है। जिन महासागरों में जल में लवणता की मात्रा अधिक पायी जाती है। प्रवालों का विकास नही हो पाता है। क्योंकि अधिक लवणता रहने से कैल्शियम की कमी हो जाती है। चूना प्रवालों के विकास का मूल आधार है। सागरीय जल में तलपट के जमाव से प्रवाल जीव नष्ट हो जाते है। उष्ण कटिबन्धों में जिन तटों पर ठण्डी पवनें चला करती है‚ उन तटों पर प्रवालों का विकास नहीं हो पाता है।
29. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूची-II
A. प्रवाल-भित्ति 1. जैविक महासागरीय निक्षेप
B. शोल 2. गहरी समतल सतह
C. वितल मैदान 3. शेल्फ तल से खड़ा ढलान
D. महाद्वीपीय ढाल 4. सतही गहराई के साथ अलग-थलग ऊँचाई A B C D
(a) 2 3 1 4
(b) 4 1 3 2
(c) 3 2 4 1
(d) 1 4 2 3
उत्तर-(d) : सूची-I सूची-II प्रवाल भित्ति – जैविक महासागरीय निक्षेप शोल – सतही गहरायी के साथ अलग वितल मैदान – गहरी समतल सतह महाद्वीपीय ढाल – शेल्फ तल से खड़ी ढलान
30. प्रवाल-भित्ति से जुड़े अवतलन सिद्धांत (सब्सीडेंस थ्योरी) की अभिधारणा किसने की?
(a) डैली (b) अगासी
(c) डार्विन (d) डेविस
उत्तर-(c) : प्रवाल भित्ति से जुड़े अवतलन सिद्धान्त की अवधारणा को 1857ई. में चार्ल्स डार्विन ने प्रतिपादित किया है। प्रसिद्ध अमेरिकी विद्वान डेली ने सन् 1915 ई. अपना हिमानी नियन्त्रण सिद्धान्त का प्रतिपादन किया। मरे ने प्रवाल भित्तियों से सम्बन्धित स्थिर स्थल सिद्धान्त का प्रतिपादन किया।
31. ‘यदि एक स्थान पर सायं 6 बजे ज्वार (प्रवाह) आता है तो अगला ज्वार कब आएगा?
(a) अगले दिन 00.13 a. m.
(b) अगले दिन 06.26 a. m.
(c) अगले दिन 12.39 p. m.
(d) अगले दिन 06.52 p. m.
उत्तर-(b) : पृथ्वी अपने अक्ष पर 24 घण्टों में एक चक्कर पूरा कर लेती है अत: प्रत्येक दशान्तर पर 12 घण्टे के बाद एक ज्वार तथा 12 घण्टे के बाद एक भाटा आना चाहिए। परन्तु ऐसा नहीं होता। ज्वार 12 घण्टे 26 मिनट की अवधि के बाद आता है। यदि एक स्थान पर सायं 6 बजे ज्वार आता है‚ तो अगला ज्चार अगले दिन 6.26 am पर आएगा। ज्वार-भाटा की देरी से आने का कारण पृथ्वी की दैनिक गति तथा चन्द्रमा द्वारा पृथ्वी की परिक्रमा करना है।
32. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. ज्वार 1. उष्ण एवं तुलनात्मक रूप से तेज बहने वाली सागर धारा
B. सुनामी 2. शीत सागर
C. गल्फ स्ट्रीम 3. जल का सर्वाधिक उतारचढ़ ाव
D. लेब्राडोर धारा 4. भूकम्पीय गतिविधि के कारण समुद्रीय जल का तरंग रूप में चढ़ाव A B C D
(a) 2 1 3 4
(b) 1 2 3 4
(c) 3 4 1 2
(d) 4 3 2 1
उत्तर-(c) : सूची-I सूची-II ज्वार – जल का सर्वाधिक उतार चढाव सुनामी – भूकम्पीय गतिविधि के कारण समुद्रीय जल का तरंग रूप में चढ़ाव गल्फ स्ट्रीम – उष्ण एवं तुलनात्मक एप से तेज बहने वाली सागर धारा लेब्राडोर धारा – शीत सागर धारा
33. निम्नलिखित में से कौन पारिस्थितिकी व्यवस्था सेवाएँ सहस्त्राब्दि पारिस्थितिकी व्यवस्थता मूल्यांकन रिपोर्ट
(M.A.) का भाग नहीं है?
(a) प्रोविजनिंग (b) उन्नयनकारी
(c) समर्थनकारी (d) विनियामक
उत्तर-(b) : उन्नयनकारी तत्व पारिस्थतिकी व्यवस्था सेवाएँ सहध्Eाब्दी पारिस्थतिकी व्यवस्था मूल्यांकन रिपोर्ट का भाग नहीं है।
34. भारत में निम्नलिखित में से किस स्थान पर प्रथम पक्षीधाम स्थापित किया गया था?
(a) वूदान्थंगल (b) कुद्रेमुख
(c) बन्नारघाट (d) केवलादेव
उत्तर-(a) : भारत में प्रथम पक्षीधाम तमिलनाडु के काँजीपुरम जिले में वेदान्यंगल में वर्ष 1936 में स्थापित किया गया था। बन्नारघाट राष्ट्रीय उद्यान कर्नाटक में स्थित एक पहाड़ी प्रदेश है‚ जिसमें एक घनी प्राकृतिक जन्तुशाला है। यह उद्यान बंगलौर का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान के भरतपुर जिले में स्थित है यह पक्षियों का एक प्रसिद्ध अभ्यारण्य है। जहाँ पक्षियों के अत्यन्त दुलर्भ तथा विलुप्त होती प्रजाति पायी जाती है‚ जैसे साइबेरियन क्रेन। यह एक वर्ल्ड हेरिटेज साइट (अन्तर्राष्ट्रीय धरोहर) है‚ जिसे 1971 में एक अभ्यारण्य घोषित किया गया। कुद्रेमुख राष्ट्रीय उद्यान कर्नाटक में स्थित है। कुद्रेमुख कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले में एक पर्वत है। यहाँ मूल रुप से लोहे के अयस्क का निक्षेप है। यह प्रदेश वन्य जीवों के मामले में घनी है। तुंगभद्रा तथा नेत्रावयी जैसी महत्वपूर्ण नदियों का उद्गम स्थान कुद्रेमुख में है। यहाँ पाए जाने वाले जानवरों में मालाबार के गंघविलाव‚ जंगली कुत्ते‚ रीछ तथा चीतल शामिल है।
35. अभिकथन (A) : भौतिक कारक जनसंख्या के भौगोलिक वितरण का सिर्फ आंशिक और निश्चयात्मक स्पष्टीकरण प्रदान करता है।
कारण (R) :
मनुष्य बस्ती के लिए क्षेत्रों की अपनी पसंद में निश्चय ही निष्क्रिय नहीं होता है और सभी जगहों में उसने अपने वातावरण पर कुछ नियंत्रण करने की योग्यता प्रदर्शित की है।
(a) A और R दोनों सही हैं और R, A की सही व्याख्या है
(b) A और R दोनों सही हैं परन्तु R, A की सही व्याख्या नहीं है
(c) A सही हैं‚ परन्त्ुा R गलत है
(d) A गलत है‚ परन्तु R सही है
उत्तर-(b) : कथन और कारण दोनों सही हैं लेकिन कारण कथन का सही स्पष्टीकरण नहीं है।
36. निम्नलिखित में से कौन-सा केन्द्रीय स्थान सिद्धांत में परिवहन सिद्धांत को इंगित करता है?
(a) K3 (b) K4
(c) K7 (d) K9
उत्तर-(b) : K = 4 जहाँ परिवहन वालों की लागत महत्वपूर्ण होती है वहाँ उच्च स्तर के केन्द्र से निम्न स्तर के केन्द्रों का परिवहन नामों द्वारा सीधा सम्पर्क किया जाता है। इस प्रकार की व्यवस्था में मुख्य केन्द्र चारों ओर निम्न केन्द्र सीमा रेखा के किनारे मुख्य केन्द्रों के मध्य में सीधें जोड़ने वाले मुख्य यातायात मागों पर ठीक मध्य में स्थित होगे।
37. अभिकथन (A) : सामान्यतया क्षैतिज विस्तार उत्तर-
औद्योगिक नगर की विशेषता होती है।
कारण (R) : केन्द्रीय नगर में भूमि की कीमतें अधिक होती है।
(a) A और R दोनों सही हैं
(b) A और R दोनों सही हैं परन्तु R, A की व्याख्या नहीं करता है
(c) A सही हैं‚ परन्त्ुा R गलत है
(d) R सही है‚ परन्तु A गलत है
उत्तर-(b) : नगरों के विकास की क्षैतिज अवस्था उत्तर-औद्योगिक नगर की विशेषता थी। केन्द्रीय नगर की अवधारणा में भूमि की कीमते अधिक होती है। इस तरह कथन और कारण दोनों सही है। लेकिन कारण कथन की सही व्याख्या नहीं कर रहा है।
38. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. छावनी 1. कोच्चि
B. परिवहन 2. बैंगलुरू
C. खनन 3. मऊ
D. आई. टी. 4. अंकलेश्वर A B C D
(a) 1 3 2 4
(b) 3 2 4 1
(c) 3 1 4 2
(d) 3 1 2 4
उत्तर-(c) : सूची-I सूची-II छावनी मऊ परिवहन कोच्चि खनन अंकलेश्वर
आई. टी बैगालुरु
39. अभिकथन (A) : नगरीय जनसंख्या अवस्थिति के अनुसार एकसमान रूप से वितरित नहीं है और लगभग दो-तिहाई तुलनात्मक रूप से निम्न उत्थापन तटीय क्षेत्रों में केंद्रित है।
कारण (R) : तटीय क्षेत्रों में मृदा उर्वरता ने ग्रामीण बस्तियों केन्द्रीकरण किया है।
(a) A और R दोनों सही हैं और R, A की व्याख्या करता है
(b) A और R दोनों सही हैं परन्तु R, A की व्याख्या नहीं करता है
(c) A सही हैं‚ परन्त्ुा R गलत है
(d) A गलत है‚ परन्तु R सही है
उत्तर-(b) : अभिकथन और कारण दोनों सही है लेकिन कारण कथन का स्पष्टीकरण नहीं है।
40. जनांकिकीय संक्रमण मॉडल की कौन-सी अवस्था ‘उच्च जन्म परंतु निम्न मृत्यु दर’ का पूर्वानुमान करती है?
(a) पहली अवस्था (b) दूसरी अवस्था
(c) तीसरी अवस्था (d) दूसरी-उत्तरार्द्ध अवस्था
उत्तर-(b) : जनांकिकीय संक्रमण की द्वितीय अवस्था में जन्मदर उच्च और लगभग स्थायी रहती है किन्तु मृत्यु दर में ह्रास होने लगता है जिससे कुल जनसंख्या में क्रमश: वृद्धि होती जाती है। इस अवस्था में जन्म दर 35 प्रति हजार या इससे ऊपर रहती है किन्तु मृत्युदर 25 से 15 प्रति हजार के मध्य पायी जाती है। मृत्युदर में ह्रास के कई कारण उत्तरदायी होते है जिसमें पोषण‚ सफाई और स्वास्थ्य‚ सुविधाओ में सुधार‚ बीमारियों पर नियन्त्रण और राजनीतिक स्थायित्व के कारण युद्धों में कमी आदि प्रमुख है। वर्तमान में विकासशील देश इसी अवस्था से गुजर रहे है।
41. निम्नलिखित को सुमेलित करें− सूची-I सूचाी-II
(राज्य) (2011जनगणना में साक्षरता की दर % में)
A. उत्तराखंड 1. 69.7
B. छत्तीसगढ़ 2. 70.0
C. तमिलनाडु 3. 60.2
D. गुजरात 4. 73.4 A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 2 3 4 1
(c) 3 4 1 2
(d) 4 3 2 1
उत्तर-(b) : सूची-I सूची-II राज्य 2011 जनगणना में साक्षरता की दर % में
उत्तराखण्ड – 70.0 छत्तीसगढ़ – 60.2 तमिलनाडु – 73.4 गुजरात – 69.7
42. नगरीय भू-अवस्था का संकेन्द्री कटिबंध मॉडल का सिद्धांत या मान्यता निम्नलिखित में से कौन-सी नहीं है?
(a) जनसंख्या की सांस्कृतिक तथा सामाजिक विजातीयता
(b) नगर के भीतर प्रत्येक दिशा में परिवहन समान रूप से आसान‚ शीघ्र एवं सस्ता होता है
(c) भू-भाग में अंतरों के कारण कोई भी जिला ज्यादा आकर्षक नहीं होता है
(d) यहाँ पर बड़े उद्योगों का केन्द्रीकरण होता है
उत्तर-(d) : संकेन्द्रीय पेटी सिद्धान्त की सर्वप्रथम संकल्पना शिकागो के समाजशाध्Eाीय बर्गेस ने 1920 के दशक में प्रस्तुत किया। बर्गेस ने अपने सिद्धान्त में नगर की आन्तरिक संरचना को संकेन्द्रीय पेटियों के रूप में विकसित किया।
(i) प्रथम पेटे (केन्द्रीय व्यापार क्षेत्र/ CBD)- यह नगर के केन्द्र में प्रमुख वाणिज्य‚ यातायात और सामाजिक जीवन केन्द्र है।
(ii) द्वितीय पेटी- संक्रमणीय पेटी – CBD को घेरते हुये बाहर की ओर आवासीय गिरावट का क्षेत्र होता है। इसमें नगर के बड़े-बड़े स्थल पाये जाते है।
(iii) तृतीय पेटी- स्वतन्त्र कार्यशील व्यक्तियों के आवास- इसमें नगर की फैक्ट्री आदि में कम करने वालों के निवास होते है।
(iv) चतुर्थ पेटी- अच्छे आवासों की पेटी- इसमें रहने वाले छोटे व्यापारी‚ पेशेवर लोग‚ क्लर्क आदि रहते है। यहां एक परिवार अधिवास से लेकर आवासीय होटल तक मिलते है।
(v) पांचवी पेटी- अधिगमनकर्त्ताओं की पेटी- यह उपनगरीय कस्बे एवं अर्द्धनगरीय क्षेत्रों की पेटी है।
43. निम्नलिखित में से किसने भूगोल को जीववितरणसंबंधी विज्ञान के रूप में परिभाषित किया?
(a) टॉलमी (b) रिचथोफेन
(c) हेटनर (d) पी.ई. जेम्स
उत्तर-(c) : हेटनर ने भूगोल को जीव वितरण सम्बन्धी विज्ञान के रूप में परिभाषित किया। हेटनर के अनुसार‚ भूगोल एक ऐसा विज्ञान है‚ जो प्राकृतिक विज्ञानों तथा सामाजिक विज्ञानों का समाकलन करता है। इन्होंने अर्ककुण्डे के स्थान पर लैण्डरकण्डे शब्द का प्रयोग किया। इसकी प्रमुख पुस्तकें निम्न है-
(i) Europe Geography its History Character and Method
(ii) Methodology spread of culture on earth
(iii) General Geography
44. काल-स्थान भूगोल की अवधारणा को निम्नलिखित में से किसने प्रतिपादित किया?
(a) हैगस्ट्रैंड (b) हैगेट
(c) जॉन्सटन (d) हार्वे
उत्तर-(a) : काल स्थान भूगोल की अवधारणा को हैगरस्ट्रेंड ने प्रतिपादित किया। उन्होंने 1953 में अपने शोध प्रबन्ध में स्थानिक प्रक्रमण का वर्णन किया और मध्य स्वीडेन की जनसंख्या में अनेकों प्रकार के नवीनीकरणों की चर्चा की विसरण नवीनीकरण का अर्थ स्थान तथा समय के सन्दर्भ में वस्तुओं का वितरित होना है। पीटर हैगेट ब्रिटिश भूगोलवेत्ता है। इन्होने चोर्ले के साथ भूगोल में मॉडल विकास को पोषित किया तथा भौगोलिक तथ्यों के संश्लेषण एवं विश्लेषण पर प्रकाश डाला तथा भूगोल में मात्रात्मक क्रान्ति को विकसित किया। इनकी प्रमुख पुस्तकें निम्न है-
(i) Locational Analysis in Human Geography
(ii) Geography a modearn synthesis
(iii) Models in Geography डेविड हार्वे अमेरिकन भूगोलवेत्ता है। इन्होंने तत्कालीन परम्परागत पूंजीवादी व्यवस्था को निरर्थक बताते हुये भूगोल को सामाजिक मूल्यों से जोड़ने पर बल दिया। इनकी प्रमुख पुस्तकें निम्न है-
(i) Explaination in Geography (ii) Social Justice and Spatial Spsten (iii) Social Justice and city
45. कूट की सहायता से निम्नलिखित को सुमेलित कीजिए− सूची-I सूचाी-II
(मुख्य प्रतिपादक) (भूगोल-दर्शन)
A. गिब्सन 1. आदर्शवाद
B. ग्यूलके 2. यथार्थवाद
C. पीट 3. व्यवहारवाद
D. राइट तथा किर्क 4. आमूल परिवर्तनवाद A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 1 2 4 3
(c) 2 1 4 3
(d) 2 1 3 4
उत्तर-(c) : मुख्य प्रतिपादक भूगोल दर्शन गिब्सन यथार्थवाद ग्यूलके आदर्शवाद पीट आमूल परिवर्तवाद राइट तथा किर्क व्यवहारवाद
46. निम्नलिखित में से कौन-सा बन्दरगाह लैगून पर विकसित किया गया है?
(a) चेन्नई (b) मुंबई
(c) कोच्चि (d) विशाखापट्टनम
उत्तर-(c) : कोच्चि केरल के मालाबार तट पर सागर तथा पश्चजल के मिलन बिन्दु पर स्थित प्रसिद्ध प्राकृतिक बन्दरगाह है‚ जो मसालों‚ काजू‚ नारियल आदि के निर्यात हेतु प्रसिद्ध है चेन्नइर् एक कृत्रिम बन्दरगाह है। मुम्बई के पश्चात यह भारत का दूसरा सवार्धिक व्यापार करने वाला बन्दरगाह है। यहाँ से पेट्रोलियम पदाथोर् तथा लौह अयस्क का नियार्त किया जाता है। मुम्बइर् एक प्राकृतिक बन्दरगाह है‚ जो सालसेट द्वीप पर स्थित है। यह देश का सबसे बड़ा प्राकृतिक बन्दरगाह है। विशाखापट्टनम प्राकृतिक तथा सर्वाधिक गहरा बन्दरगाह है। यह जापान को लौह निर्यात के लिए प्रसिद्ध है।
47. ट्रक खेती किससे संबंधित है?
(a) साग-सब्जी (b) दूध
(c) अनाज (d) मुर्गीपालन
उत्तर-(a) : ट्रक खेती साग-सब्जी से सम्बन्धित है। इस प्रकार की खेती में उत्पादित फलों और सब्जियों को बाजार से काफी दूर भेजा जाता है इसमें परिवहन की आवश्यकता होती है। इस शब्द का प्रयोग अधिकांशत: संयुक्त राज्य अमेरिका में किया जाता है।
48. स्थानान्तरिक कृषि की अनिवार्य विशेषता है−
(a) फसलों का आवर्तन
(b) खेतों का आवर्तन
(c) एकल फसल
(d) काफी उर्वरकों का उपयोग
उत्तर-(b) : उष्ण कटिबन्धीय वर्षा वाले क्षेत्रों तथा अर्द्धमरुस्थलीय क्षेत्रों में विशेषकर दक्षिणी अमेरिका‚ अफ्रीका तथा दक्षिणी पूर्वी एशिया में जहाँ कृषि करने के लिए दशायें अनुकूल नही है‚ उन स्थानों पर स्थानान्तरित कृषि की जाती है। एक स्थान पर कृषि करने के पश्चात एक‚ दो वर्ष के पश्चात अन्य क्षेत्र को कृषि क्षेत्र बना लिया जाता है। ऐसा उर्वर मृदा प्राप्त करने के लिए किया जाता है।
49. स्थानान्तरित कृषि में सर्वनिष्ठ प्रथा क्या है?
(a) आधुनिक मशीनरी का उपयोग
(b) बड़े स्तर पर उर्वरकों का उपयोग
(c) जोतने/परतीकरण के द्वारा क्षीण मृदा को उपयोग में लाना
(d) पशु शक्ति का अधिकतम उपयोग
उत्तर-(c) : जोतने/परतीकरण के द्वारा क्षीण मृदा को उपयोग में लाना झूम खेती या स्थानान्तरित कृषि में सर्वनिष्ठ प्रथा है। ध्यातव्य है कि स्थानान्तरित कृषि एक आदिम प्रकार की कृषि है। जिसमें पहले वृक्षों एवं वनस्पतियों को काट कर उन्हें जला दिया जाता है।फिर साफ की गयी भूमि का पुराने उपकरणों (लकड़ी के हल) से जुताई करके बीज बो दिये जाते हैं।
50. भारत में टाऊन प्लैनिंग के क्षेत्र के अंतर्गत निम्नलिखित समाविष्ट है-
1. शहर नवीकरण
2. शहरी सुख-सुविधाओं एवं सुविधाओं का नियोजन
3. नवीन शहरों का निर्माण
4. महानगरीय शहरों का निर्माण
(a) 1 और 3 सही हैं (b) केवल 1 सही है
(c) 1‚ 2 और 3 सही हैं (d) 2‚ 3 और 4 सही हैं
उत्तर-(c) : भारत में टाऊन प्लैनिंग के अन्तर्गत शहर नवीकरण‚ शहरी सुख-सुविधाओं का नियोजन तथा नवीन शहरों का निर्माण को समाबिष्ट किया जाता है।
51. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. नदियाँ 1. बलुआ पत्थर
B. बस्तियाँ 2. झंझा
C. पवन 3. तटबंध
D. चट्टानें 4. उपग्रह A B C D
(a) 3 4 2 1
(b) 4 3 1 2
(c) 2 1 4 3
(d) 1 2 3 4
उत्तर-(a) : सूची-I सूची-II नदियाँ तटबन्ध बस्तियाँ उपग्रह पवन झंझा चट्टानें बलुआ पत्थर
52. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. फाकलैंड धारा 1. उष्ण धारा
B. नार्वेजियाई धारा 2. शीतल धारा
C. फ्लोरिडा धारा 3. अटलांटिक महासागर
D. ओखोटस्क धारा 4. कामचटका प्रायद्वीप A B C D
(a) 2 3 1 4
(b) 1 2 4 3
(c) 3 1 2 4
(d) 4 3 1 2
उत्तर-(a) : सूची-I सूची-II फाकलैण्ड धारा शीतल धारा नार्वेजियाई धारा अटलांटिक महासागर फ्लोरिडा धारा उष्ण धारा ओखोटस्क धारा कामचटका प्रायद्वीप
53. निम्नलिखित भगोलिविदों में से किसने लोक वित्त भूगोल को इस रूप में परिभाषित किया?
‘कौन व्यक्ति क्या‚ कहाँ और किस कीमत पर प्राप्त करता है’
(a) आर.जे. चॉर्ली (b) डेविड हार्वे
(c) पी. क्लावल (d) आर.जे. बेनेट
उत्तर-(d) : रिचर्ड चोर्ले ब्रिटिश भूगोल है। ये भौतिक भूगोलवेत्ता है। इन्होंने भूगोल में मॉडल एवं तन्त्र विश्लेषण के प्रयोग को विकिसित किया। इनकी प्रमुख पुस्तकें निम्न है- (i) Models in Geography (ii) Geomorphology (iii) Atmosphere (iv) Weather and climate
54. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों मे से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
(प्राकृतिक उद्यान (राज्य) एवं वन्य जीवन)
A. नंदनकानन 1. महाराष्ट्र
B. काजीरंगा 2. मध्य प्रदेश
C. बांधवगढ़ 3. ओड़िशा
D. मेलघाट 4. असम A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 2 3 4 1
(c) 3 4 2 1
(d) 4 1 3 2
उत्तर-(c) : प्राकृतिक उद्यान राज्य एवं वन्य जीव नंदनकानन ओडिशा काजीरंगा असम बांधवगढ़ मध्य प्रदेश मेलघाट महाराष्ट्र
55. निम्नलिखित में से कौन-सी पर्यवेक्षित प्रतिबिम्ब वर्गीकरण तकनीक नहीं है?
(a) समानान्तर पाइपयुक्त वर्गक
(b) माध्य वर्गक से न्यूनतम दूरी
(c) न्यूरल नेटवर्क विश्लेषण
(d) गॉशियन मैक्सिमम संभाविता वर्गक
उत्तर-(c) : न्यूरल नेटवर्क विश्लेषण की पर्यवेक्षित प्रतिबिम्ब वर्गीकरण तकनीक नहीं है।
56. उल्का (मीटिओर) क्या है?
(a) पूँछ के बगैर धूमकेतु
(b) एस्टेरॉइड (ग्रहिका) के वियोज्य टुकड़े
(c) बहुत छोटा तारा
(d) पदार्थ का टुकड़ा जो बाहरी अन्तरिक्ष से पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश कर गया है
उत्तर-(d) : उल्का (Meteors) प्रकाश की चमकीली धारी के रूप में दिखायी देती है। जो आकाश में क्षणभर के लिए दमकती है और लुप्त हो जाती है। उल्कांए क्षुद्र ग्रहों के टुकड़े तथा धूमकेतुओं द्वारा पीछे छोड़े गए धूल के कण होते है।
57. निम्नलिखित में से कौन-सी जनजाति सही ढंग से सुमेलित नहीं है?
(a) बटवा तथा कांगो बेसिन
(b) रूवाला और केन्द्रीय ईरान
(c) इन्यूट और कनाडा
(d) युकलागिर और साइबेरिया
उत्तर-(b) : रूवाला जनजाति सीरिया‚ सउदी अरब और जार्डन में पायी जाती है।
58. निम्नलिखित में से किस क्षेत्र में रोम और ग्रीक की शक्तिशाली समस्याओं का विकास देखने को मिला?
(a) शीतोष्ण क्षेत्र (b) सवाना क्षेत्र
(c) भूमध्यसागरीय क्षेत्र (d) टुंड्रा क्षेत्र
उत्तर-(c) : भूमध्यसागरीय क्षेत्र में रोम एवं ग्रीक की शक्तिशाली समस्याओं का विकास देखने को मिलता है।
59. निम्नलिखित में से किसे भौगोलिक प्रतिरूप (पैटर्न) नहीं समझा जाता है?
(a) केन्द्रित (b) वितरणात्मक
(c) रेखीय (d) यादृच्छिक
उत्तर-(b) : रेखीय प्रतिरुप के नगर वे है‚ जो या तो किसी नहर के किनारे बस हुए गाँवों के विकसित रूप हैं‚ या वे सड़क के किनारे-किनारे बसते हुए घरों के समूह है। उसके बीच में होकर कोई सड़क जाती है। जिसके दोनों किनारों की ओर को मकान फैलते चले गये हैं और यातायात की सुविधा को छोड़कर सड़क से दूर जाकर बसना नहीं चाहते।
60. इंका सभ्यता का माचू पिच्चू कहाँ अवस्थित है?
(a) अर्जेन्टीना (b) ब्राजील
(c) कोलम्बिया (d) पेरू
उत्तर-(d) : इंका सभ्यता का माचू पिच्चू दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में स्थित है ध्यातव्य है कि इंका दक्षिण अमेरिका के मूल निवासियों (रेड इण्डियन) की एक उपजाति है। इन्होंने पहाड़ों पर सीढ़ीदार खेतों का प्रादुर्भाव करके भूमि के उपयोग का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है।
61. मैकिंडर ने वर्ष 1919 में किस प्रख्यात पुस्तक में अपने ‘पिवॅट एरिया’ का नाम बदल कर ‘हार्टलैंड’ रख दिया था?
(a) फोनेर अफेयर्स
(b) द राउंड वर्ल्ड एंड द विनिंग ऑफ द पीस
(c) द डेमोक्रेटिक आइडियल्स एंड दिएलिटी
(d) वर्ल्ड बार एण्ड जियोग्राफी
उत्तर-(c) : मैकिंडर ने 25 जनवरी 1904 को Royal Geographical London के समक्ष एक शोध पत्र प्रस्तुत किया जिसका शीर्षक या ‘‘इतिहास का भौगोलिक धुरी क्षेत्र। इसके अन्तर्गत मैकिण्डर ने विश्व के राजनैतिक स्वरूप का भौगोलिक विश्लेषण कर इसके आधार पर विश्व प्रभुता की भविष्यवाणी की। 1919 में मैकिण्डर ने 6 डेमोक्रेटिक आइडियाज एण्ड रियल्टी में ‘पिवॅट एरिया’ का नाम बदलकर हार्टलैण्ड रख दिया। 1943 ई.
में मैकिण्डर ने अपने पूर्व के सिद्धान्त को संशोधित कर एक लेख में प्रस्तुत किया जिसका नाम था- ‘द राउण्ड वर्ल्ड एण्ड द विनिंग ऑफ द पीस’।
62. चंडीगढ़ के नियोजित शहर का निर्माण करने के पीछे उद्देश्य थे−
1. आधुनिक भारत के सपनों का शहर निर्मित करना।
2. विभाजन के बाद भारत में आने वाले शरणार्थियों को बसाना।
3. उत्तरी-पश्चिम भारत में आकर्षक पर्यटन केन्द्र विकसित करना।
4. कटे-छटे पंजाब को राजधानी शहर प्रदान करना।
(a) 2 एवं 4 सही हैं (b) 2‚3 और 4 सही हैं
(c) 1‚2 और 4 सही हैं (d) केवल 4 सही है
उत्तर-(c) : चंडीगढ़ का नियोजित शहर का निर्माण करने के पीछे निम्न मुख्य उद्देश्य था-
1. आधुनिक भारत के सपनों का शहर निर्मित करना
2. विभाजन के बाद भारत आने वाले शरणार्थियों को बसाना
3. कटे-छटे पंजाब को राजधानी शहर प्रदान करना
63. निम्नलिखित में से कौन-सा वाक्य सही नही है?
(a) उपयोगितावादी नियोजन कार्यात्मक नियोजन है और यह सर्वोच्च एकल विशिष्ट लक्ष्य पाने का प्रयास करना है
(b) खंडीय नियोजन विभिन्न खंडों में समेकित ढंग से नियोजन के साथ समन्वय नियोजन है
(c) समग्र नियोजन को एकल गतिविधि के समस्त घटकों के समेकित नियोजन के निहितार्थ के साथ भी उपयोग किया गया है
(d) नगर नियोजन नगर व्यवस्था के स्थानिक नियोजन की अभिव्यक्ति है
उत्तर-(b) : खंडीय नियोजन विभिन्न खंडों में समेकित ढंग से नियोजन के साथ समन्वय नियोजन है। यह वाक्य असत्य है। शेष अन्य सत्य है।
64. स्वतंत्रता के पश्चात् भारत में बहुत-से नियोजित शहर विकसित किए गए हैं। निम्नलिखित में से कौन-सा स्वातंत्रयोत्तर नियोजित शहर नहीं है?
(a) गाँधीनगर (b) चंडीगढ़
(c) जयपुर (d) भुवनेश्वर
उत्तर-(c) : भारत में सिन्धु घाटी सभ्यता में विकसित नगर नियोजन के प्रमाण मिलते है। जयपुर के नगर नियोजन की नींव 1727ई.
में महाराजा सवाई जयसिंह ने डाली। 1911 ई. में राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानान्तरित हुई तथा दिल्ली की आयोजना प्रसिद्ध नगर नियोजक ‘एडविन ल्यूटेस’ द्वारा बनायी गयी। चण्डीगढ़ नगर की आयोजना प्रसिद्ध वस्तुशाध्Eाी ली कार्बूजिए ने तैयार की।
65. केन्द्रीय प्रवृति का माप कौन-सा नहीं है?
(a) गणितीय माध्य (b) माध्य विचलन
(c) माध्यिका (d) बहुलक
उत्तर-(b) : गणितीय माध्य निम्नलिखित प्रकार के होते है-
(i) समानान्तर माध्य (ii) गुणोत्तर माध्य (iii) हरात्मक माध्य – बहुलक या मोड़ का सांख्यिकी में प्रयोग अधिकतम आवृत्ति वाले मूल्य के लिए किया जाता है। – माध्यिका- किसी समंक श्रेणी के मूल्यों को आरोही अथवा अवरोही क्रम में व्यवस्थित करने के पश्चात जो मूल्य श्रेणी के मध्य में स्थित होता है‚ उसे श्रेणी का माध्यिका मूल्य कहते है।
66. निम्नलिखित में से कौन-सी भारतीय दूर संवेदी सेटेलाइट (IRS-P4) इस नाम से भी जानी जाती है?
(a) रिसोर्स सेट (b) एजु सेट
(c) रिमोट सेट (d) ओशन सेट
उत्तर-(d) : भारत अब तक कई उपग्रह प्रक्षेपित कर चुका है‚ जिसमें कुछ प्रमुख है- आर्यभट्ट (अप्रैल 1975)‚ भास्कर I और II
(जून 1979)‚ रोहिणी‚ इनसैट-1 (A, B, C, D) संचार हेतु आदि।
67. निम्नलिखित में से कौन-से राज्य के लिए मानव विकास सूचकांक निम्नतम दर्ज किया गया है?
(a) बिहार (b) हिमाचल प्रदेश
(c) पंजाब (d) हरियाणा
उत्तर-(a) : बिहार राज्य के लिए मानव विकास सूचकांक निम्नतम दर्ज किया गया।
68. कावेरी नदी बेसिन का जलग्रहण क्षेत्र राज्यों के निम्नलिखित समूहों में से किस समूह में समाविष्ट है?
(a) तमिलनाडु‚ केरल‚ पुदुचेरी‚ आंध्र प्रदेश
(b) तमिलनाडु‚ केरल‚ आंध्र प्रदेश‚ पुदुचेरी
(c) तमिलनाडु‚ आंध्र प्रदेश‚ महाराष्ट्र‚ केरल
(d) तमिलनाडु‚ केरल‚ कर्नाटक‚ पुदुचेरी
उत्तर-(d) : कावेरी नदी कर्नाटक में ब्रहमगिरी से निकलती है। जिसकी प्रमुख सहायक नदियाँ है- भवानी‚ नोमल‚ अमरावती‚ कपिला हेमावती।
69. निम्नलिखित में से कौन-सा केन्द्ररेखीय माप है?
(a) ज्यामितीय माध्य (b) गणितीय माध्य
(c) माध्य केन्द्र (d) मानव विचलन
उत्तर-(c) : माध्य केन्द्र केन्द्रीय रेखीय माप है।
70. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों में से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूचाी-II
A. ब्लाक माउंटेन 1. अरावली
B. वालकैनिक माउंटेन 2. पेनिवेस
C. रेलिक्ट माउंटेन 3. विंध्याचल
D. फोल्ड माउंटेन 4. माउंट पोपा A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 2 1 4 3
(c) 4 3 2 1
(d) 3 4 1 2
उत्तर-(d) : सूची-I सूची-II ब्लॉक माउण्टेन विन्ध्याचल वालकैनिक माउण्ट पोपा रेलिक्ट माउण्टेन अरावली फोल्ड माउण्टेन पेनिवेस
71. निम्नलिखित में से कौन-सा बडा पैमाना मानचित्र है?
(a) 1: 250‚000 (b) 1: 25‚000
(c) 1: 500‚000 (d) 1: 50‚000
उत्तर-(b) : अगर किसी पैमाने का R.F. 1/50,000 से छोटा होगा‚ तो वह पैमाना बड़ा पैमाना होगा।
72. अभिकथन (A) : रास्टर फॉरमेट डेटा संरचना ज्यादा वृहत गणनात्मक क्षमता प्रदान करता है।
कारण (R) : रास्टर फॉरमेट डेटा है।
(a) A और R दोनों सही हैं और R, A की व्याख्या करता है
(b) A और R दोनों सही हैं परन्तु R, A की व्याख्या नहीं करता है
(c) A सही हैं‚ परन्त्ुा R गलत है
(d) A गलत है‚ परन्तु R सही है
उत्तर-(c) : कथन सही है जबकि कारण गलत है।
73. मूल मानचित्र का R.F. 1/50,000 है और नवीन मानचित्र का R.F. 1/250,000 होगा। तो विस्तार एवं संकुचन का सही अनुपात क्या होगा?
(a) संकुचन 1/5 (b) संकुचन (5 गना)
(c) संकुचन 1/10 (d) संकुचन (10 गुना)
उत्तर-(a) : संकुचन 1/5 विस्तार एवं संकुचन का सही अनुपात होगा।
74. सहसंबंध गुणांक (r) का कौन-सा मान सही सुमेलित संबंध श्रेणी नहीं है?
(a) + 0.99 उच्च (b) + 0.50 सामान्य
(c) – 0.01 बहुत निम्न (d) – 0.99 शून्य
उत्तर-(d) : सह-सम्बन्ध का परिणाम परिमाण धनात्मक ऋणात्मक पूर्ण Perfect +1 -1 उच्च
(High) + 0.75 और +1 के बीच -.75 और +1 के बीच मध्यम
(Modcrate) + .25 और +.75 के बीच + .25 और .75 के बीच निम्न (Low) 0 और +.25 के बीच 0 और-. 25 के बीच जीरो (Zero) 0 0
75. निम्नलिखित में से किस वर्ष IRS-1A प्रक्षेपित किया गया?
(a) वर्ष 1982 (b) वर्ष 1987
(c) वर्ष 1988 (d) वर्ष 1990
उत्तर-(c) : 1988 में आई.आर.एस. 1A को प्रक्षेपित किया गया। आई.आर.एस. IA पर राष्ट्र के ऊपर से प्रत्येक बार गुजरने पर लगभग 140 किमी. परमार्ज के साथ क्रमश: 73 मी. और 36.25 मी. विभेदन सहित लिस I (Liss) और लिस- II
(Liss-II) नामक दो कैमरे स्थापित किये गये हैं। 8 वर्ष एवं 4 महीनों की सेवा के बाद जुलाई 1996 के दौरान मिशन सम्पन्न हो गया।

Top
error: Content is protected !!