You are here
Home > Previous Papers > GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2015 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0012.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2015 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल 0012.

GEOGRAPHY UGC NTA NET JRF PREVIOUS PAPERS IN HINDIयूजीसी नेट/जेआरएफ परीक्षा‚ जून- 2015 भूगोल व्याख्या सहित तृतीय प्रश्न-पत्र का हल

निर्देश : इस प्रश्न-पत्र में पचहत्तर (75) बहु-विकल्पीय प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न के दो (b) अंक हैं। सभी प्रश्न अनिवार्य है।
1. विवर्तनिक बलों के कारण निम्नांकित में किसका निर्माण होता है?
(a) भ्रंश घाटी (b) निलंबी घाटी
(c) अध्यारोपित घाटी (d) पूर्ववर्ती घाटी
उत्तर-(a) : विवर्तनिक बलों के कारण भ्रंश घाटी का निर्माण होता है। तनावमूलक संचलन की तीव्रता के कारण जब भूपटल में एक तल के सहारे चट्टानों का स्थानान्तरण हो जाता है तो उत्पन्न संरचना को भ्रंश कहते हैं। जिस तल के सहारे भूपटल की चट्टानों में खण्डों का स्थानान्तरण होता है उसे विभंग तल या भ्रंश तल कहते हैं।
2. उच्च अक्षांश क्षेत्रों में निम्मंजित हिमनदीय घाटियों को किस नाम से जाना जाता है?
(a) महासागरीय खाई (b) अंत: सागरीय कटक
(c) फियोर्ड (d) अंत: समुद्री केनियन
उत्तर-(c) :
उच्च अक्षांश क्षेत्रों में निम्मजित हिमनदीय घाटियों को फियोर्ड के नाम से जाना जाता है। फियोर्ड एक प्रकार का तट होता है जिसका विकास यद्यपि दोनों गोलार्द्धों में होता है परन्तु यहाँ प्रमुख रूप से न्यूजीलैण्ड‚ चिली‚ आलस्का‚ ब्रिटिश‚ कोलम्बिया‚ नार्वे में अधिकता से मिलता है। ये उत्तरी गोलार्द्ध में ज्यादा बनेंगे। क्योंकि उत्तरी गोलार्द्ध में महाद्वीप की अघिकता है। महाद्वीप जल्दी गर्म व जल्दी ठण्डा होता है। जिससे Glaciasion age व Global worming होते रहने से जलस्तर ऊंचे नीचे होते रहते हैं। 3 सूची-I को सूची-II के साथ सुमेलित करें तथा नीचे दिये गए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(a) बेसाल्ट (i) नीस
(b) ग्रेनाइट (ii) क्वार्टराइज
(c) सैंडस्टोन (iii) शिस्ट
(d) शेल (iv) स्लेट
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (ii) (i) (iv) (iii) (b) (i) (ii) (iii) (iv)
(c) (iv) (ii) (i) (iii) (d) (iii) (i) (ii) (iv)
उत्तर-(d) : बेसाल्ट − शिस्ट ग्रेनाइट − नीस सैंडस्टोन − क्वार्टजाइट शैल − स्लेट
4. पृथ्वी की उत्पत्ति के संबंध में कांट के निम्नांकित अभिकथनों पर विचार करें :
(a) कांट ने अपनी सिद्धान्त में न्यूटन के गुरुत्व सिद्धान्त का उपयोग किया।
(b) कांट ने कोणीय संवेग के संरक्षण के सिद्धान्त को स्वीकार कर विकसित किया।
(c) यद्यपि लैप्लेस ने पृथ्वी की उत्पत्ति की न्यूटन की प्राक्कलपना को प्रस्तुत किया‚ तथापि कांट को निहारकीय संकल्पना का वास्तविक प्रतिपादक माना जाता है। कौन से कथन सही है?
(a) (a) और (b) (b) (b) और (c)
(c) (a) और (c) (d) (a), (b) और (c)
उत्तर-(d) : a, b व c तीनों सत्य हैं। पृथ्वी की उत्पत्ति के सम्बन्ध में जर्मन दार्शनिक काण्ट ने 1755 ई. में अपनी वायत्य राशि परिकल्पना का प्रतिपादन किया‚ जो न्यूटन के गुरुत्वाकर्षण के नियम पर आधारित थी।
5. अत्यधिक वलन के परिणामस्वरूप होता है–
(a) विलोम भ्रंश (b) भूसन्नत
(c) नैपे निर्माण (d) विखण्डित ब्लाक
उत्तर-(c) : अत्यधिक वलन के परिणामस्वरूप नैपे का निर्माण होता है। नैपे या ग्रीवाखण्ड तीव्र क्षैतिज संचलन या संपीडन का परिचायक है। परिवलित वलन में दोनों भुजाएं समानान्तर तथा क्षैतिज होती है और अधिक सम्पीडन होने पर परिवलित मोड़ का एक खण्ड दूसरे पर चढ़ जाता है। इस क्रिया को उत्क्रम कहते हैं। इससे भी अधिक सम्पीडन होने पर वलन की भुजा इतनी अधिक मुड़ जाती है कि वह वलन के अक्ष पर टूट जाती है तथा निचली परतें ऊपर आ जाती हैं। इस प्रकार क्षैतिज संचलन तथा सम्पीडन के जारी रहने पर वलन की टूटी हुई भुजा अपने स्थान से दूर जाकर अन्य प्रकार की चट्टान पर चढ़ जाती है। इसे ही ग्रीवाखण्ड या नैपे कहते हैं।
6. “सभी प्रवाल भित्तियां आरम्भ में किसी द्वीप के निकट उपान्त भित्तियां थी।” यह किस सिद्धान्त में दर्शाया गया है :
(a) डे का हिमनदीय नियंत्रण सिद्धांत
(b) डेली का सब्सिडेन्स सिद्धान्त
(c) डार्विन का हिमनदीय नियंत्रण सिद्धान्त
(d) डार्विन का सब्सिडेन्स सिद्धान्त
उत्तर-(d) : चार्ल्स डार्विन ने अपने सिद्धान्त का प्रतिपादन 1837 में किया‚ किन्तु 1842 में उसमें संशोधन किया गया। डार्विन ने प्रवाल भित्तियों के अध्ययन के बाद पाया कि यद्यपि प्रवाल छिछले सागर में ही जीवित रह सकती है तथापि उनमें निर्मित भित्तियाँ अत्यधिक गहरायी तक पायी जाती है इस सन्दर्भ में डार्विन ने बताया कि जिस स्थल या द्वीप के सहारे प्रवाल भित्तियाँ बनती हैं वह स्थिर नहीं रहती वरन् उनमें क्रमश: अवतलन होता रहता है।
7. गुटेनबर्ग डिस्कान्ट्यूनिटी निम्नांकित में किसके मध्य पाया जाता है :
(a) ऊपरी क्रोड तथा निचला क्रोड
(b) मैंटल तथा क्रोड
(c) पर्पटी और मैंटल
(d) ऊपरी मैंटल तथा निचला मैंटल
उत्तर-(b) : गुटेनबर्ग डिस्कान्ट्यूनिटी निचले मैन्टल व बाहरी कोर के मध्य पायी जाती है।
8. समुद्र अधस्थल विस्तार की संकल्पना का प्रतिपादन किसने किया?
(a) डब्ल्यू.जे. मार्गन (b) टी.जे. विल्सन
(c) ली पिचॉन (d) हैरी हेस
उत्तर-(d) : समुद्र अधस्तल विस्तार की संकल्पना हैरी हेस ने की है। जो 1960 ई. में प्रस्तुत की गयी थी। इस संकल्पना के अनुसार महासागरीय तली के क्षेत्रफल में लगातार विस्तार होते रहते हैं क्योंकि crust के सहारे लगातार नये magnas के उद्भेदन से Basaltic crust (महासागरीय crust) का निर्माण होते रहते हैं तथा इस कटक से दोनों ओर विपरीत दिशा में प्राचीन crust खिसकते रहते हैं। इससे महासागरीय crust के क्षेत्रफल में लगातार वृद्धि होती है।
9. हवाई में मौना लोवा किस लिए प्रसिद्ध है?
(a) बोटेनिकल गार्डन के लिए
(b) 1950 से समुद्र तल में वृद्धि की मॉनीटरिंग के लिए
(c) वर्षा की मॉनीटरिंग के लिए
(d) 1957 से वायुमंडलीय कार्बनडाइआक्साइड की निरंतर मॉनीटरिंग के लिए
उत्तर-(d) : 1957 से वायुमण्डलीय कार्बनडाईआक्साइड की निरन्तर मानीटरिंग के लिए हवाई द्वीप में मौना लोवा प्रसिद्ध है। जो हवाईद्वीप का प्रमुख ज्वालामुखी भी है।
10. सूची-I को सूची-II से सुमेलित करें और नीचे दिए गए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची – I सूची – II
(a) समताप रेखा (i) बादल के समान औसत प्रतिशत वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
(b) समलवण रेखा (ii) समान अवधि तक धूप वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
(c) समवाह गति रेखा (iii) महासागर में समान लवणता वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
(d) आइसोनेफ (iv) समान वायु गति वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (ii (iii) (i) (iv) (b) (i) (ii) (iii) (iv)
(c) (ii) (iii) (iv) (i) (d) (iv) (iii) (i) (ii)
उत्तर-(c) :
a. समताप रेखा − समान अवधि तक धूप वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
b. समलवण रेखा − महासागर में समान लवणता वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
c. समवाह गति रेखा − समान वायु गति वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
d. आइसोनेफ − बादल के समान औसत प्रतिशत वाले स्थानों को जोड़ने वाली रेखा
11. पृथ्वी पर एकमात्र वास्तविक रूप से अनवरत दाब कटिबंध है–
(a) दक्षिणी गोलार्ध उपोष्ण उच्च
(b) उत्तरी गोलार्थ उपोष्ण उच्च
(c) विषुवतीय निम्न
(d) दक्षिणी गोलार्थ उपध्रुवीय निम्न
उत्तर-(d) : पृथ्वी पर एकमात्र वास्तविक रूप से अनवरत दाब कटिबन्ध दक्षिणी गोलार्द्ध में उपध्रुवीय निम्न वायुदाब कटिबंध है। यह यहाँ अर्ण्टाकटिका महाद्वीप के कारण रहता है जो पूर्णत:
बर्फच्छादित महाद्वीप है।
12. कौन-से दो वैश्विक पवन उपोष्ण हाई से उत्पन्न होते हैं?
(a) ध्रुवीय पूर्वी और पछुवा हवाएं
(b) व्यापारिक पवन और ध्रुवीय पूर्वी हवाएं
(c) व्यापारिक पवन और पछुवा हवाएं
(d) चिनूक और फॉन
उत्तर-(c) : व्यापारिक पवन उपोष्ण उच्च वायुदाब पेटी (300-350) से उष्ण कटिबन्धीय निम्न वायुदाब पेटी की तरफ प्रवाहित होती है उष्ण कटिबंधीय निम्न वायुदाब पेटी में उच्च ताप होने के कारण हवाएँ ऊपर की तरफ प्रवाहित होती हैं और उपोष्ण उच्च वायुदाब पेटी पर उतरती है जिस कारण धरातल पर उच्च दाब हो जाता है। हवाओं की प्रवाहित होने की प्रवृत्ति उच्च वायुदाब से निम्न वायुदाब की तरफ होती है जिस कारण धरातल पर व्यापारिक पवन उपोष्ण उच्च वायुदाब से उष्ण कटिबंधीय निम्न वायुदाब की ओर प्रवाहित होती है।
13. एक विमान 10 कि.मी. की ऊँचाई पर उड़ रहा है। उस ऊँचाई पर तापमान –40oC है। भूमि पर आसपास का तापमान कितना होगा?
(a) 24oC (b) 25oC
(c) 30oC (d) 20oC
उत्तर-(b) : विमान 10 किमी. की ऊँचाई पर है 10 किमी. पर तापमान = – 400C ऊपर से नीचे की तरफ आने पर तापमान 6.50C की दर से बढ़ेगा। अत: 10 किमी. जमीन पर आने पर तापमान में आयी कुल कमी • 6.50C 10 = 65 अत: जमीन पर तापमान = – 40 + 65 = +250C
14. निम्नलिखित में से कौन संघनन के लिए आश्यक शर्त नहीं है?
(a) संतृप्तता (b) सतह
(c) अधिक ऊँचाई (d) जलवाष्प
उत्तर-(c) : जल के गैसीय रूप (जलवाष्प – water vapour) का जल (ठोस-हिम या तरल) में रूपान्तरण ही संघनन कहलाता है। संघनन के लिए सतह सबसे आवश्यक तत्व है। संघनन की क्रिया वायुमण्डल में स्थित सापेक्षिक आर्द्रता की मात्रा पर आधारित होती है। जब हवा में सापेक्षिक आर्द्रता-शत प्रतिशत हो जाती है तो उस हवा को संतृत्व हवा कहते हैं और इसी अवस्था को संतृप्तता कहते हैं। वायु के संतृप्त अवस्था में पहुँचने के उपरान्त ही संघनन की क्रिया प्रारम्भ होती है और वायु के संतृप्त होने में जलवाष्प की मुख्य भूमिका है‚ अत: संघनन में अधिक ऊँचाई का कोई योगदान नहीं है। संघनन नीचे अथवा अधिक ऊँचाई दोनों में प्रारम्भ हो सकता है।
15. नीचे दो कथन दिए गए हैं। एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) के रूप में दिया गया है। नीचे दिए गए कूटों में से सही उत्तर चुनिए :
अभिकथन (A) :
समान आतपन में जमीन की सतह जल सतह की तुलना में अधिक तेजी से तथा अधिक गर्म होती है।
कारण (R) : जमीन का विशिष्ट तापमान जल के विशिष्ट तापमान से अधिक होता है।
कूट :
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (R) (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सही हैं और (R) (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सही है लेकिन (R) गलत है।
(d) (A) गलत है लेकिन (R) सही है।
उत्तर-(c) : समान आतपन में प्राप्त होने पर जमीन की सतह जल सतह की तुलना में अधिक तेजी से तथा अधिक गर्म होती है। क्योंकि जमीन (स्थल) की विशिष्ट उष्मा सामर्थ्य जल सतह की अपेक्षा कम होती है यही कारण है कि स्थल (जमीन) जल्दी गर्म व जल्दी ठण्डी हो जाती है। जबकि जल सतह की विशिष्ट उष्मा सामर्थ्य अधिक होती है यही कारण है कि जल सतह स्थल की अपेक्षा देर से गर्म व देर से ठण्डा होता है।
16. निम्नलिखित में से किससे हवा की अस्थिरता में वृद्धि नहीं होती?
(a) सूर्यास्त के पश्चात् पृथ्वी की सतह का विकिरण शीतलन
(b) मेघ शीर्ष से विकिरण शीतलन
(c) गर्म सतह से होकर गुजरती हवा का नीचे से गर्म होना
(d) वायुमंडल के सबसे निचले हिस्से में सघन सौर तापन
उत्तर-(*) : मेघ शीर्ष से विकिरण शीतलन एवं सूर्यास्त के पश्चात पृथ्वी की सतह का विकिरण शीतलन दोनों तथ्य हवा की अस्थिरता में वृद्धि नहीं करता। इस प्रकार एक से अधिक उत्तर बन रहा है अत: विकल्प सही नहीं है
17. महासागरीय धारा की गति लगभग है–
(a) विद्यमान हवा की गति का 2%
(b) विद्यमान हवा की गति का 4%
(c) विद्यमान हवा की गति का 6%
(d) विद्यमान हवा की गति का 8%
उत्तर-(a) : महासागरीय धारा विद्यमान हवा की गति का 2% है। सागरों में जल के एक निश्चित दिशा में प्रवाहित होने की गति को धाराएँ कहते हैं। महासागरीय धाराओं को प्रभावित करने वाले निम्न कारक हैं−लवणता‚ तापमान‚ घनत्व‚ वायुदाब आदि
18. निम्नलिखित में से किस महाकल्प में महासागर का जल प्लावी बर्फ से मुक्त था–
(a) आद्य महाकल्प
(b) पुराजीवी महाकल्प
(c) सीनोजोइक महाकल्प
(d) मध्यजीवी महाकल्प
उत्तर-(d) : मध्यजीवी महाकल्प में महासागर का जल प्लावी बर्फ से मुक्त था। मध्यजीवी महाकल्प का समय 248 मिलियन वर्ष पूर्व से 65 मिलियन वर्ष पूर्व तक था। जैविक भू-आकृतिक व विवर्तनिक दृष्टियों से यह महाकल्प सर्वाधिक उथल पुथल वाला काल रहा। इस महाकल्प की सबसे बड़ी घटना है−सबसे बड़े प्राणी डायनासोर का उद्भव‚ विकास व उसका विलुप्त हो जाना। इसी महाकल्प में पैंजिया का निर्माण हुआ था तथा पुन: पैंजिया का विघटन भी इसी महाकल्प में हुआ था। इस महाकल्प को घटनाओं के आधार पर 3 कल्पों में विभाजित करते हैं−ट्रियासिक‚ जुरैसिक व क्रिटेशियस।
19. समुद्री बर्फ की लवणता होती है–
(a) 0-3%0 (b) 3-10%0
(c) 11-17%0 (d) 28-35%0
उत्तर-(a) : समुद्री बर्फ की लवणता 0 – 3%0 होती है। एक किलोग्राम सागरीय जल में घुले हुए ठोस पदार्थों की कुल मात्रा को लवणता कहते हैं। सामान्य रूप में सागरीय लवणता को प्रति हजार ग्राम जल में स्थित लवण की मात्रा (%0) के रूप में दर्शाया जाता है। सागरों में लवण की मात्रा 330%0 से 370%0 के बीच रहती है।
20. सूची-I को सूची-II के साथ सुमेलित करें तथा नीचे दिए गए कूटों का प्रयोग करते हुए सही उत्तर का चयन करे :
सूची-I सूची-II
(नदी) (समुद्र में ढोया जाने वाला तलछट 104टन/ y में)
(a) गंगा (i) 726
(b) मीकांग (ii) 500
(c) ब्रह्मपुत्र (iii) 1600
(d) यांगशी (iv) 1000
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (iii) (ii) (iv) (i) (b) (ii) (i) (iii) (iv)
(c) (iii) (iv) (i) (ii) (d) (iv) (iii) (i) (ii)
उत्तर-(c) :
(नदी) (समुद्र में ढोया जाने वाला तलछट 104टन/ब् में
a. गंगा 1600
b. मीकांग 1000
c. ब्रह्मपुत्र 726
d. यांगशी 500
21. वह स्थान जहाँ जीव अथवा जीवों का समुदाय वास करता है उसे कहाँ जाता है :
(a) पर्यावरण (b) वायुमंडल
(c) निवास्य (d) समाज
उत्तर-(c) : किसी जैविक इकाई के रहने का वह विशेष भौतिक स्थान जहाँ वह अपने पर्यावरण में जैविक अनुकूलन स्थापित करता रहता है तथा पुर्नउत्पादन क्रिया करता है निवास्य स्थान कहलाता है। किसी स्थान विशेष में मनुष्य के आस-पास भौतिक वस्तुओं के आवरण जिसके द्वारा मनुष्य घिरा होता है को पर्यावरण कहा जाता है। पृथ्वी के चारों तरफ कई सौ किलोमीटर की मोटाई में व्याप्त गैसीय आवरण को वायुमण्डल कहा जाता है। पृथ्वी की आकर्षण शक्ति के कारण ही यह वायुमण्डल उसके साथ टिका हुआ है।
22. प्रकाश संश्लेषण वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा :
(a) विकिरण ऊर्जा रासायनिक ऊर्जा में परिवर्तित होती है।
(b) विकिरण ऊर्जा ताप ऊर्जा में परिवर्तित होती है।
(c) विकरण ऊर्जा जैव-ऊर्जा में परिवर्तित होती है।
(d) विकिरण ऊर्जा भू-तापीय ऊर्जा में परिवर्तित होती है।
उत्तर-(a) : पौधे ऐसे जीव होते हैं जो सौयिक ऊर्जा प्राप्त करते हैं तथा उसे प्रकाश ऊर्जा की सहायता से प्रकाश संश्लेषण की क्रिया से अपना आहार स्वयं निर्मित करते हैं। इस तरह पौधों द्वारा सौर्यिक ऊर्जा का रासायनिक ऊर्जा या आहार ऊर्जा में स्थानान्तरण होता है तथा इस ऊर्जा का आहार शृंखला के विभिन्न पोषण स्तरों के सहारे विभिन्न जन्तुओं में गमन तथा प्रवाह होता है।
23. ‘अधिभौम जल’ निम्नलिखित के बीच होता है :
(a) पर्पटी और मैंटल (b) मैंटल और क्रोड
(c) भूतल और भौम जलस्तर (d) भूतल और ट्रोपोपॉज
उत्तर-(c) : अधिभौम जल भूतल और भौम जलस्तर के मध्य पाया जाता है। भौम जलस्तर के ऊपरी भाग को असम्पृक्त मण्डल कहते हैं। जिससे होकर जल रिस कर नीचे पहुँचता है इसे वेडोज जोन भी कहते हैं। पर्पटी तथा मैंटल के मध्य मोहो असम्बद्धता पायी जाती है। मैंटल और क्रोड के मध्य गुटेनबर्ग असम्बद्धता पायी जाती है। भूतल तथा ट्रोपोपॉज के मध्य क्षोममण्डल स्थित है।
24. निम्नांकित में कौन पादपों का मैक्रो-पोषक नहीं है?
(a) कार्बन (b) लौह
(c) नाइट्रोजन (d) ऑक्सीजन
उत्तर-(b) : जीवमण्डल के जैविक एवं अजैविक तत्वों या पदार्थों को पोषण तत्व भी कहा जाता है क्योंकि ये पदार्थ विभिन्न जीवों के शरीर एवं उâतकों के निर्माण एवं सम्बर्द्धन में सहायता करते हैं। पारिस्थितिक तन्त्र में संचालित होने वाले पोषण तत्वों को निम्न वर्गों में विभाजित किया जाता है−
(i) Micro elements (मैक्रो पोषक तत्व)− इन तत्वों के अन्तर्गत ऑक्सीजन‚ कार्बन‚ हाइड्रोजन‚ नाइट्रोजन‚ फॉसफोरस‚ पोटेशियम कैल्शियम इत्यादि को सम्मिलित किया जाता है।
(ii) सूक्ष्ममात्रिक तत्व (trace elements)– इसके अन्तर्गत लोहा‚ ताँबा‚ मैगनीज इत्यादि आते हैं। इस प्रकार लौह मैक्रो पोषक नहीं है।
25. ‘प्राइमेट सिटी’ के नियम की संकल्पना किसके द्वारा दी गई थी?
(a) ई. हन्टिंगटो (b) ई.सी. सेम्पल
(c) एम. जेफरसन (d) डब्ल्यू. क्रिस्टलर
उत्तर-(c) : मार्क जेफरसन ने 1939 ई. में प्राइमेट सिटी के नियम की संकल्पना को प्रस्तुत किया है। प्राइमेट सिटी किसी भी देश अथवा प्रदेश के सन्दर्भ में एक ऐसी leading city होती है जो उस प्रदेश विशेष में पायी जाने वाले नगरों के सम्पूर्ण अनुक्रम में शीर्षस्थ होती है हटिंगटन नियतिवादी विचारक थे‚ जिन्होंने बताया कि किसी भी संस्कृति के विकास में जलवायु का प्रत्यक्ष प्रभाव पड़ता है। उन्होंने जलवायु के आधार पर विश्व को विभिन्न प्रदेशों में विभक्त किया। एलन चर्चिल सेम्पल अमेरिकन नियतिवादी समर्थक थी जो रेटजेल की शिष्या थीं। डब्ल्यू. क्रिस्टालर ने 1933 में केन्द्र स्थल सिद्धान्त का प्रतिपादन किया।
26. भूगोल के जनक इरैटोस्थनीज किस स्कूल से संबंधित हैं–
(a) रोमन (b) अरब
(c) जर्मन (d) ग्रीक
उत्तर-(d) : भूगोल के जनक इरैटोस्थनीज ग्रीक भूगोलवेत्ता थे। इन्होंने भूगोल शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग किया था। इन्होंने ‘ज्योग्राफिया’ नामक ग्रन्थ की रचना की। इन्होंने पृथ्वी तल का मानव के निवास के रूप में अध्ययन कर भूगोल का विषय वस्तु बताया। रोमन स्कूल (भूगोल वेत्ता) से सम्बन्धित भूगोलवेत्ता निम्न है− स्ट्रेबो टालमी‚ प्लिनी‚ पाम्पोनियस मेला इत्यादि। इसी प्रकार अरब भूगोलवेत्ता निम्नलिखित हैं−अल मसूदी‚ इब्न हाकल‚ अल बख्नी‚ अल इदरीसी‚ इल्म खाल्दून इत्यादि
27. वान थ्युनेन का कृषि स्थान सिद्धांत किस पर आधारित है–
(a) अनुभूति मूलक दृष्टिकोण (b) प्रासंगिक दृष्टिकोण
(c) निगमनात्मक दृष्टिकोण (c) व्यवहारगत दृष्टिकोण
उत्तर-(b) : प्रसिद्ध जर्मन अर्थशास्त्री वान थ्यूनेन (1783-1850) ने सर्वप्रथम 1826 ई. में कृषि के स्थानीकरण का सिद्धान्त का प्रतिपादन किया। यह सिद्धान्त प्रासंगिक दृष्टिकोण पर आधारित है। वान थ्यूनेन ने अपने मॉडल में विलग प्रदेश को 6 संकेन्द्रीय पेटियों में विभाजित किया है−
1. शाक सब्जी उत्पादन 2. काष्ठ उत्पादन
3. अन्न उत्पादन 4. चारागाह एवं परती के साथ
5. शस्यावर्तन 6. त्रिक्षेत्र पद्धति
7. पशुचारण
28. निम्नांकित में कौन ली-प्ले के स्थल-कार्य-लोक के त्रित्व से काफी प्रभावित थे तथा उन्होंने पर्यावरणीय-कार्य-जैव के वैकल्पिक त्रित्व को अपनाया?
(a) राक्सबी (b) गिडींस
(c) हर्बर्ट्सन (d) चिस्होल्म
उत्तर-(b) : गिडींस ली-प्ले के स्थल-कार्य-लोक के त्रित्व से काफी प्रभावित थे तथा उन्होंने पर्यावरण कार्य जैव के वैकल्पिक त्रित्व को अपनाया। गिडिस हक्सले के शिष्य थे। प्रथम विश्व युद्ध के पूर्व भूगोल की दिशा को निर्धारित करने में पेट्रिक गिडिस की ‘क्षेत्रीय सर्वेक्षण की संकल्पना’ का विशेष महत्व है। इन्हें ब्रिटेन में ‘व्यावहारिक भूगोल का जन्मदाता’ माना जाता है। राक्सबी की Book–Hand Book of China का प्रकाशन 1944 ई. में हुआ। 1904 में ब्रिटिश भूगोलवेत्ता हरबर्टन ने Royal Geographical Society के समक्ष ‘विश्व के प्राकृतिक प्रदेश’ शोध पत्र प्रस्तुत किया जो 1905 में प्रकाशित हुआ।
29. किस भारतीय भूगोलशास्त्री ने ‘ज्योग्रॉफी ऑफ पुरान्स’ नामक पुस्तक लिखी है?
(a) एस. एम. अली (b) पी.पी. करण
(c) एम. शफी (d) बी. दूबे
उत्तर-(a) : ज्योग्राफी ऑफ पुरान्स नामक पुस्तक एस. एम. अली द्वारा लिखी गयी पुस्तक है। Japan in the Blucyrass पी.पी.
करन द्वारा लिखी गयी पुस्तक है। उर्दू भाषा के कवि एम. शफी द्वारा लिखी गयी पुस्तक − दिल की दुनिया है। बी. दूबे द्वारा लिखी गयी पुस्तक − No Need to count : A Practical Approach to casin blackyack है।
30. सूची-I को सूची-II के साथ सुमेलित करें तथा नीचे दिए गए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(आधुनिक भारतीय (विशेषज्ञता का क्षेत्र) भूगोलशास्त्री)
(a) आर. एल. सिंह (i) शहरी भूगोल
(b) जी.एस. गोसाल (ii) बस्ती भूगोल
(c) सी.डी. देशपांडे (iii) प्रादेशिक विकास और नियोजन
(d) वी.एल. एस. प्रकाश राव (iv) जनसंख्या भूगोल
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (i) (ii) (iii) (iv) (b) (iii) (i) (iv) (ii)
(c) (ii) (iv) (i) (iii) (d) (iv) (iii) (ii) (i)
उत्तर-(c) :
आधुनिक भारतीय विशेषज्ञता का क्षेत्र भूगोलवेत्ता
a. आर. एल. सिंह − बस्ती भूगोल
b. जी.एस. गोसाल − जनसंख्या भूगोल
c. सी.डी. देशपाण्डे − शहरी भूगोल
d. वी.एल.एस. प्रकाश राव − प्रादेशिक विकास और नियोजन
31. निम्नांकित में कौन विद्वान व्यवहारगत भूगोल से संबंधित नहीं है?
(a) डब्ल्यू.के. किंक (b) पीटर गोल्ड
(c) वाइ. फु. ट्वान (d) गिल्बर्ट व्हाइट
उत्तर-(c) : वाइ. फु. ट्वान मानववादी भूगोल से सम्बन्धित है। तुआन मानववादी शब्द के पहले उपयोगकर्त्ता थे। वाइ. फु. ट्वान के अनुसार मानववाद वह परिदृष्टि है जिसमें मानव तथा स्थान के बीच के सम्बन्धों को वैज्ञानिक रूप में व्याख्यापित किया जाता है। इनके अलावा डब्ल्यू. के. किंक‚ गिल्बर्ट व्हाइट व पीटर गोल्ड व्यवहारगत भूगोलवेत्ता थे। पीटर गोल्ड पेंसिलवानिया के अमेरिकन भूगोलवेत्ता थे। जिन्होंने मानसिक मानचित्र बनाया। इनकी प्रमुख पुस्तकें निम्न हैं−The Geographer at work, Mental map, Spatial Organisation.
32. निम्नांकित में किस राज्य में अद्यतन जनगणना में सबसे कम जनसंख्या का घनत्व था?
(a) अरुणाचल प्रदेश (b) जम्मू और कश्मीर
(c) सिक्किम (d) मिजोरम
उत्तर-(a) : उपर्युक्त दिये गये चारों राज्यों में अरुणाचल प्रदेश का जन घनत्व सबसे कम है− 17/2km,. इसी प्रकार मिजोरम का जनघनत्व 52/2km, सिक्किम का 86/2km, नया जम्मू व कश्मीर का 124/2km, है। सर्वाधिक जनघनत्व वाले 5 राज्य इस प्रकार हैं-
(a) बिहार – 1106
(b) पश्चिम बंगाल – 1028
(c) केरल – 860
(d) उत्तर प्रदेश – 829
(e) हरियाणा – 573
33. जनांकिकीय संक्रमण का कौन-सा चरण अल्पविकास की अवस्था को सूचित करता है?
(a) उच्च स्थैतिक चरण (b) आरंभिक विस्तार चरण
(c) अग्रिम विस्तार चरण (d) निम्न स्थैतिक चरण
उत्तर-(a) : यह उच्च स्थैतिक चरण में होगा। इसमें जन्मदर व मृत्यु दर दोनों उच्च होती है। दोनों की दर 35/1000 से ऊँची होती है। इस अवस्था में कृषि आधारित अर्थव्यवस्था पायी जाती है। इस अवस्था में चिकित्सा सुविधाओं की असुविधा के कारण मृत्यु दर उच्च रहती है तथा अशिक्षा के अभाव में जन्म दर भी उच्च रहती है जिस कारण यह अल्प विकास की अवस्था कही गयी है।
34. जनगणना वर्ष 2011 में भारत के किस जिले ने उच्चतम यौनानुपात अंकित किया था?
(a) माहे (पाण्डिचेरी) (b) अल्मोड़ा (उत्तराखण्ड)
(c) अलवर (राजस्थान) (c) तंजावुर (तमिलनाडु)
उत्तर-(a) :जनगणना वर्ष 2011 में भारत के माहे (पाण्डिचेरी) का उच्चतम यौनानुपात अंकित किया गया था। माहे (पाण्डिचेरी) का यौनानुपात 1176 था। अल्मोड़ा (उत्तराखण्ड) का यौनानुपात 1139 तथा अलवर (राजस्थान) का यौनानुपात 895 था। सर्वाधिक लिंगानुपात वाले 5 राज्य जनगणना : 2011 1084 996 993 991 989 केरल तमिलनाडु आन्ध्र प्रदेश छत्तीसगढ़ मेघालय महिलाओं की सं./हजार पुरुष
35. निम्नांकित में कौन-सा घनत्व फार्मूला : ED = NK SK का उपयोग करके निकाला जाता है‚ जिसमें N निवासियों की संख्या है‚ K प्रति व्यक्ति आवश्यकता की मात्रा है‚ S वर्ग कि.मी. में क्षेत्र है तथा K प्रति कि.मी.2उत्पादित संसाधनों की मात्रा है।
(a) अंकगणितीय (b) कृषिय
(c) फिजियोलॉजिकल (d) आर्थिक
उत्तर-(d) : यह आर्थिक घनत्व का फार्मूला है।
(i) अंकगणितीय घनत्व • प्रदेश को कुल जनसंख्या प्रदेश का कुल क्षेत्रफल
(ii) कृषिय घनत्व • कृषि में संलग्न या कृषि पर आधारित जनसंख्या कुल कृषि योग्य भूमि
(iii) फिजियोलॉजिकल घनत्व (कायिक घनत्व • प्रदेश को कुल जनसंख्या प्रदेश की कुल कृषि योग्य भूमि
36. `जनसंख्या का केंद्र’ सूचित करने के लिए केंद्रीय प्रवृत्ति के किस साधन का उपयोग किया जाता है?
(a) माध्यिका (b) बहुलक
(c) माध्य (d) हार्मोनिक माध्य
उत्तर-(c) : यदि किसी समंक श्रेणी के समस्त मूल्यों के योग में उनकी संख्या (पदों की संख्या) से भाग दे दिया जाए तो इस प्रकार प्राप्त भजनफल उस समंक श्रेणी के समान्तर माध्य को प्रकट करेगा। बहुलक के द्वारा उस मूल्य का पता चलता है जिसकी आवृत्ति सबसे अधिक है। इसी कारणवश दैनिक जीवन व व्यापारिक क्रिया-कलापों के अलावा किसी वस्तु के उत्पादन तथा मौसम आदि का पुर्वानुमान लगाने में बहुलक का काफी प्रयोग होता है। किसी समंक श्रेणी के मूल्यों को आरोही अथवा अवरोही क्रम में व्यवस्थित करने के पश्चात जो मूल्य श्रेणी के मध्य में स्थित होता है उसे श्रेणी का माध्यिका मूल्य कहते हैं।
37. निम्नांकित में कौन-सी संकल्पना क्षेत्र के संसाधनों पर जनसंख्या के दबाव का अध्ययन करने की दृष्टि से जनसंख्या के आकार को भूमि क्षेत्र से संबंधित करता है?
(a) जनसंख्या वृद्धि दर (b) जनसंख्या घनत्व
(c) कृषि घनत्व (d) फिजियोलॉजिकल घनत्व
उत्तर-(b) : जनसंख्या घनत्व संसाधनों पर जनसंख्या के दबाव का अध्ययन करने की दृष्टि से जनसंख्या के आकार की भूमि से सम्बन्धित करता है। जबकि कृषि घनत्व कुल कृषि योग्य भूमि और कृषि पर आधारित जनसंख्या के पारस्परिक सम्बन्ध को प्रकट करता है। फिजियोलाजिकल घनत्व यह प्रकट करता है किसी प्रदेश के प्रति इकाई भूमि पर औसतन कितने मनुष्यों का भार है।
38. विश्व में किस धर्म के प्रभुत्व के अंतर्गत सर्वाधिक भूभागीय क्षेत्र है?
(a) बौद्ध (b) इस्लाम
(c) ईसाई (d) हिंदु
उत्तर-(c) : विश्व में ईसाई धर्म के प्रभुत्व के अन्तर्गत सर्वाधिक भूभागीय क्षेत्र आता है। विश्व की लगभग 30% जनसंख्या ईसाई धर्म से सम्बन्धित है। यूरोप‚ उ0 अमेरिका‚ द0 अमेरिका तथा ऑस्ट्रेलिया में इनकी सर्वाधिक जनसंख्या पायी जाती है। ईसाई धर्म के बाद इस्लाम विश्व का दूसरा सबसे बड़ा धर्म है। इसका विस्तार उ0 अफ्रीका‚ द0 पश्चिमी‚ दक्षिणी पूर्वी एशिया में है। अनुयायियों की संख्या की दृष्टि से हिन्दू धर्म विश्व का तीसरा सबसे बड़ा धर्म है। बौद्ध धर्म के प्रवर्तक गौतम बुद्ध हैं। बौद्ध धर्म का विस्तार भारत सहित अनेक एशियाई देशों में पाया जाता है।
39. निम्नांकित में किस लेखक ने ‘मांग कोण’ की संकल्पना दी है‚ जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है?

(a) (b) Q P F मूल्य मात्रा
(a) पैरेटो (b) अगस्ट लॉश
(c) क्रिस्टॉलर (d) वेबर
उत्तर-(b) : अगस्ट लॉश ने अपने मॉडल में मांग कोण की संकल्पना प्रस्तुत की है। क्रिस्ट्रालर ने 1933 ई0 में केन्द्र स्थल सिद्धान्त प्रस्तुत किया। बेवर ने उद्योगों के स्थनीयकरण का सिद्धान्त प्रस्तुत किया।
40. निम्नांकित किन फसलों का समूह 20o-27oC तापमान तथा 150 से.मी. से अधिक वार्षिक वर्षा वाले क्षेत्र में उपजाया जा सकता है?
(a) जौ‚ जूट‚ चाय (b) रबर‚ चावल‚ जूट
(c) चाय‚ कॉफी‚ मक्का (d) चावल गेहूँ‚ मक्का
उत्तर-(b) : फसलों का समूह रबर‚ चावल‚ जूट‚ 200–270C तापमान 1500से0मी0 से अधिक वर्षा वाले क्षेत्रों में उपजाया जा सकता है। इसके अलावा प्रश्न में दी गयी फसलों का तापमान तथा वर्षा की मात्रा निम्न हैं− फसल वर्षा की मात्रा तापमान जौ 70-90 सेमी. 100C–180C चाय 150-250 सेमी. 240C–300C कॉफी 150−250 सेमी0 160C–280C गेहूँ 80 सेमी. 100C–150C मक्का 50−75 सेमी. 210C–270C
41. सूची-I को सूची-II से सुमेलित करे और नीचे दिए गये
कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(लेखक) (सिद्धान्त)
(a) वेबर (i) न्यूनतम उत्पादन लागत
(b) स्मिथ (ii) अधिकतम लाभ
(c) हाटलिंग (iii) न्यूनतम परिवहन लागत
(d) हूवर (iv) बाजार प्रतिस्पर्धा
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (iii) (ii) (iv) (i) (b) (i) (ii) (iii) (iv)
(c) (iii) (iv) (i) (ii) (d) (i) (ii) (iv) (iii)
उत्तर-(a) : लेखक सिद्धान्त
a. बेवर − न्यूनतम परिवहन लागत
b. स्मिथ − अधिकतम लाभ
c. हाटलिंग − बाजार प्रतिस्पर्धा
d. हूवर − न्यूनतम उत्पादन लागत
42. नीचे दो कथन दिए गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) कहा गया है। नीचे दिए गये कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
अभिकथन (A) : जापान में सभी इस्पात उत्पादन तटीय स्थलों में होता है।
कारण (R) : जापानी इस्पात उत्पादन क्षमता तटीय क्षेत्रों में अवस्थित है तथा इनको गहरे पानी वाले पत्तनों की सीधी सुविधा है।
कूट :
(a) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सत्य है‚ परन्तु (R) असत्य है।
(d) (A) असत्य है‚ परन्तु (R) सत्य है।
उत्तर-(a) : जापान में सभी इस्पात उत्पादन तटीय स्थलों में होता है इसका कारण है कि जापानी इस्पात उत्पादन क्षमता तटीय क्षेत्रों में अवस्थित है तथा इनको गहरे पानी वाले पत्तनों की सीधी सुविधा है। साथ ही तटीय स्थलों पर उत्पादन होने से कच्चे माल को ढोने की परिवहन लागत की भी बचत होती है।
43. एक क्षेत्र के निम्नलिखित मानचित्र पर विचार करें :

उत्तर-(c) : उपरोक्त चित्र में विकल्प 3 सही मेट्रिक्स का चयन करता है। अत: उत्तर 3 होगा।
44. दिए गए ग्राफ के अनुसार ab, bc और cd के संबंध में निम्नलिखित में से कौन-सा एक शहरी भूमि उपयोग का सही क्रम है?

(a) औद्योगिक‚ आवासीय और वाणिज्यिक
(b) वाणिज्यिक‚ आवासीय और औद्योगिक
(c) वाणिज्यिक‚ औद्योगिक और आवासीय
(d) आवासीय‚ वाणिज्यिक और औद्योगिक
उत्तर-(b) : शहरी भूमि के उपयोग का क्रम इस प्रकार है-
वाणिज्यिक‚ आवासीय और औद्योगिक
45. हिवटेलसी ने विश्व की कृषि प्रणालियों का वर्गीकरण किया। उन्होंने कितनी कृषि प्रणालियों की पहचान की है?
(a) 10 (b) 19
(c) 14 (d) 13
उत्तर-(d) : हिवटेलसी ने विश्व को 13 कृषि प्रदेशों में विभक्त किया था। ये अमेरिकी भूगोलवेत्ता थे इन्होंने compage (कम्पेज) शब्द प्रस्तावित किया था। इनकी पुस्तक का नाम Mayor agricultural Regions of the Last है जिसका प्रकाशन 1936
ई. में किया गया था।
46. निम्नलिखित में से कौन-सा एक देशों का समूह 2013 के विश्व कोयला संगठन के अनुसार विश्व के अग्रणी कुल कोयला आयातक देशों का समूह है?
(a) बांग्लादेश‚ दक्षिण अफ्रीका और फ्रांस‚ भारत
(b) पोलैंड‚ दक्षिण अफ्रीका‚ जापान और फ्रांस
(c) चीन‚ जापान‚ भारत‚ द. कोरिया
(d) जापान‚ दक्षिण कोरिया‚ फ्रांस‚ कनाडा
उत्तर-(c) : 2013 के विश्व कोयला संगठन के अनुसार आयातक देशों का क्रम इस प्रकार है- चीन‚ जापान‚ भारत‚ दक्षिण कोरिया
47. सूची-I को सूची-II से सुमेलित करें और नीचे दिए गये
कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(रिजली द्वारा भारतीय प्रजाति (संबंधित प्रजातियों के का वर्गीकरण) प्रतिनिधि)
(a) इण्डो-आर्यन (i) राजस्थान के भील
(b) द्रविड़ (ii) ओडिशा के ब्राह्मण
(c) मंगोलीय (iii) हरियाणा के जाट
(d) मंगोल-द्रविड़ (iv) उत्तराखण्ड के भूटिया
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (i) (ii) (iii) (iv) (b) (iv) (iii) (ii) (i)
(c) (ii) (iv) (i) (iii) (d) (iii) (i) (iv) (ii)
उत्तर-(d) :
(रिजली द्वारा भारतीय प्रजाति का वर्गीकरण)
(सम्बन्धित प्रजातियों के प्रतिनिधि)
a. इण्डो-आर्यन हरियाणा के जाट
b. द्रविड़ राजस्थान के भील
c. मंगोलीय उत्तराखण्ड के भूटिया
d. मंगोल-द्रविड़ ओडिशा के ब्राह्मण
48. नीचे दो कथन दिए गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) दूसरे को कारण (R) कहा गया है। नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
अभिकथन (A) :
हिन्द महासागर कई महा-शक्तियों का सैन्य अड्डा बन गया है।
कारण (R) : हिन्द महासागर और निकटवर्ती देशों में काफी भौगोलिक-राजनीतिक लाभ हैं।
कूट :
(a) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सत्य है‚ परन्तु (R) असत्य है।
(d) (A) असत्य है‚ परन्तु (R) सत्य है।
उत्तर-(a) : हिन्द महासागर कई महाशक्तियों का सैन्य अड्डा बन गया है क्योंकि हिन्द महासागर और निकटवर्ती देशों में काफी भौगोलिक एवं राजनीतिक लाभ है। हिन्द महासागर में पश्चिमी देशों ने अपना सैन्य अड्डा स्थापित किया है जिससे उन देशों को हिन्द महासागर के सागरीय संसाधनों का लाभ भी प्राप्त हो सकेगा साथ ही साथ सैन्य अड्डा स्थापित करने वाले देश हिन्द महासागर में राजनैतिक दबाव भी बना सकेंगे। जिससे उन्हें राजनीतिक लाभ भी प्राप्त होगा।
49. सूची-I को सूची-II से सुमेलित करें और नीचे दिए गये
कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(राज्य) (जनजाति)
(a) गुजरात (i) गोंड
(b) मध्य प्रदेश (ii) मिकिर
(c) असम (iii) खोंड
(d) ओडिशा (iv) भील
कूट :
(a) (b) (c) (D) (a) (b) (c) (d)
(a) (i) (ii) (iii) (iv) (b) (iii) (iv) (i) (ii)
(c) (iv) (i) (ii) (iii) (d) (ii) (iii) (iv) (i)
उत्तर-(c) :
राज्य जनजाति
a. गुजरात भील
b. मध्य प्रदेश गोंड
c. असम मिकिर
d. ओड़िशा खोंड
50. सूची-I सूची-II से सुमेलित करें और नीचे दिए गये कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
सूची-I सूची-II
(देश) (दलीय प्रणाली की सरकार)
(a) संयुक्त राज्य अमेरिका (i) एक दलीय
(b) चीन (ii) द्विदलीय
(c) भारत (iii) त्रिदलीय
(d) यूनाइटेड किंगडम (iv) बहुदलीय
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (i) (ii) (iii) (iv) (b) (ii) (i) (iv) (iii)
(c) (iii) (iv) (ii) (i) (d) (iv) (iii) (i) (ii)
उत्तर-(b) :
देश दलीय प्रणाली की सरकार
a. संयुक्त राज्य अमेरिका द्विदलीय
b. चीन एक दलीय
c. भारत बहुदलीय
d. यूनाइटेड किंगडम त्रिदलीय
51. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन जाति प्रदेश की संकल्पना का आधार है?
(a) जाति का संख्यात्मक बल
(b) प्रदेश में जाति की सामाजिक श्रेणी
(c) जनसंख्या में जाति का अनुपात
(d) भू-स्वामित्व में जाति हिस्सेदारी
उत्तर-(c) : जाति प्रदेश में संकल्पना का आधार जनसंख्या में जाति का अनुपात है। जाति के अनुपात से ही जाति प्रदेश की संकल्पना का निर्धारण हो सकेगा।
52. निम्नलिखित में से कौन दर्शाए गए मॉडल के प्रतिपादक है?


(a) जेलिन्स्की का गतिशीलता मॉडल
(b) रेली का प्रवास मॉडल
(c) गोसल का प्रवास मॉडल
(d) ली का प्रवास मॉडल
उत्तर-(d) : दिया गया प्रवास मॉडल ली का प्रवास मॉडल है। इन्होंने अपने सिद्धान्त का प्रतिपादन 1966 ई0 में किया था। इन्होंने जनसंख्या प्रवास को चार कारकों का परिणाम माना है− (a) मूल स्थान के कारक‚ (b) गन्तव्य स्थान के कारक‚ (c) मध्यवर्ती अवरोध‚ (d) व्यक्तिगत कारक प्रसिद्ध जनसंख्या भूगोलविद् जेलिंस्की ने 1971 में जनसंख्या के प्रवास से सम्बन्धित प्रस्तुत किया जिसे गतिशीलता संक्रमण मॉडल के नाम से जाना जाता है। जेलिस्की के विचार से जनसंख्या के प्रवास की प्रवृत्ति जनांकिकीय संक्रमण की अवस्थाओं से काफी समानता रखती है।
53. निम्नलिखित में से किस प्रदेश को “सांस्कृतिक सजातीयता द्वारा चित्रित सन्निहित भौगोलिक क्षेत्र…..” के रूप में परिभाषित किया जाता है।
(a) जनसंख्या प्रदेश
(b) भौगोलिक प्रदेश
(c) सांस्कृतिक परिमंडल
(d) बस्ती जोन
उत्तर-(c) : सांस्कृतिक सजातीयता द्वारा चित्रित सन्निहित भौगोलिक क्षेत्र सांस्कृतिक परिमण्डल के रूप में परिभाषित किया जाता है। प्राचीन केन्द्रों में संस्कृति (भाषा‚ विचार‚ ज्ञान‚ धर्म परम्परा का समिश्रण) का विकास तथा प्रसार सक्रिय रहा है। इन्हीं सांस्कृतिक केन्द्रों को संस्कृति मण्डल कहा जाता है तथा इनके बीच संस्कृति विषमता परिलक्षित होती है।
54. निम्नलिखित में से किस संवैधानिक संशोधन अधिनियम में 12 वीं अनुसूची है जिसके द्वारा नगर-निगम निकायों को कार्य सौंपे गए हैं?
(a) 73 वाँ (b) 72 वाँ
(c) 74 वाँ (d) 75 वाँ
उत्तर-(c) : 12वीं अनुसूची 74वाँ संवैधानिक संशोधन अधिनियम 1992 द्वारा जोड़ा गया। यह अनुसूची नगर निकायों से सम्बन्धित है। जबकि 73 वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम द्वारा संविधान में 11वीं अनुसूची जोड़ी गयी।
55. किस शहरी संरचना मॉडल में तीन क्षेत्रों : (a) मौत का शहर‚ (b) जरूरत का शहर और (c) अपेक्षाधिकता का शहर के रूप में वर्गीकृत किया गया है?
(a) शहरी संरचना का उपयोज्य मॉडल
(b) बहु केंद्रक
(c) सेक्टर मॉडल
(d) सामाजिक क्षेत्र विश्लेषण मॉडल
उत्तर-(d) : यह संरचना सामाजिक क्षेत्र विश्लेषण मॉडल की है। बहुकेन्द्रक मॉडल सी.डी. हैरिस और ई. एल. उलमैन द्वारा प्रस्तुत किया गया था जिन्होंने 1945 के अपने सम्मिलित लेख ‘द नेचर ऑफ सिटीज’ में इस सिद्धान्त को प्रस्तुत किया। इस सिद्धान्त के अनुसार नगर भू उपयोग प्रतिरूप प्राय: अलग बहुत से केन्द्रों के चारों ओर विकसित होता है न कि केवल एक ही केन्द्र के चारों ओर। सेक्टर मॉडल के प्रतिपादक अमेरिकन नगरीय भूगोलवेत्ता होमर होयट है।
56. भारत में क्षेत्रीय असंतुलनों तथा क्षेत्रीय विसंगतियों के अध्ययन हेतु निम्नलिखित में से कौन-सी एक प्रणाली प्रयोग में लाई गई है?
(a) अभारित कोटि (b) सम्मिश्र सूचकांक
(c) प्रमुख संघटक विश्लेषण (d)इनपुट-आउटपुट एनालिसिस
उत्तर-(c) : भारत में क्षेत्रीय असंतुलनों तथा क्षेत्रीय विसंगतियों के अध्ययन हेतु प्रमुख संघटक विश्लेषण प्रणाली प्रयोग में लायी जाती है।
57. निम्नलिखित में से कौन-सा प्रदेश में आर्थिक गतिविधि के प्रकारों तथा मात्रा को निर्धारित नहीं करता?
(a) परिवहन लागत
(b) आय की असमानता
(c) उत्पादन प्रौद्योगिकी
(d) समीकरण का मांग पक्ष
उत्तर-(b) : आर्थिक गतिविधि के प्रकार तथा मात्रा के निर्धारण में उत्पादन प्रौद्योगिकी तो सबसे महत्वपूर्ण तत्व है। उत्पादन प्रोद्योगिकी की स्थापना होने पर ही आर्थिक गतिविधियाँ जन्म लेती हैं। उत्पादन प्रौद्योगिकी के लिए कच्चा माल प्राप्त करने हेतु परिवहन लागत भी महत्वपूर्ण कारक है आर्थिक गतिविधि चलायमान रहने के लिए समीकरण का मांग पक्ष भी महत्वपूर्ण कारक है।
58. प्रादेशिक योजना का मुख्य जोर निम्नलिखित पर है–
(a) क्षेत्रीय विसंगति को दूर करना
(b) आर्थिक विकास आरंभ करना
(c) औद्योगिक विस्तार किया जाना
(d) प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोतरी लाना
उत्तर-(a) : प्रादेशिक योजना का मुख्य उद्देश्य किसी क्षेत्र विशेष की विसंगतियों को दूर करना होता है। विश्व के सभी भागों में विकास का स्तर एक समान नहीं होता है। क्योंकि प्रत्येक क्षेत्र में भिन्न-भिन्न भौगोलिक‚ सांस्कृतिक‚ राजनैतिक विविधता पायी जाती है। एक ओर जहां अमेजन जैसे क्षेत्र हैं जहाँ पर न्यूनतम विकास हुआ है वहीं दूसरी ओर उत्तरी प0 यूरोपीय देश है जहाँ पर उच्च कोटि का विकास हुआ है अत: प्रादेशिक नियोजन के द्वारा ऐसी नीतियाँ बनायी जाती हैं जिनके द्वारा इन क्षेत्रीय विसंगतियों को दूर किया जा सके। द्वीपीय विसंगतियों के दूर होने पर आर्थिक विकास का आरम्भ होना‚ औद्योगिक विस्तार किया जाना‚ प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोत्तरी जैसे कारक स्वत; ही उत्पन्न हो जाते हैं।
59. डगलस सी. नार्थ का प्रादेशिक विकास मॉडल प्रादेशिक विकास में`…………..कारक’ की भूमिका पर जोर देता है।
(a) हेक्साजेनस (b) एंडोजेनस
(c) इंडोजेनस (d) एक्सोदजेनस
उत्तर-(d) : डगलस सी. नार्थ का प्रादेशिक विकास मॉडल प्रादेशिक विकास में एक्सोदजेनस कारक की भूमिका पर जोर देता है। एक्सोदजेनस कारक क्रिस्टालर द्वारा केन्द्र स्थल सिद्धान्त में प्रयोग किया गया है।
60. सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और नीचे दिए गए कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए :
सूची-I सूची-II
(संकल्पना) (परिभाषा)
(a) नगरीय वृद्धि (i) अपेक्षाकृत विशाल और सघनता से बसी हुई आबादी जो मुख्यत: गैरवृ âषिगत आर्थिक व्यवसायों में लगी हो।
(b) नगर-समूह (ii) शहरों एवं नगरों की नेट आबादी में बढ़ोत्तरी।
(c) नगरीय (iii) प्रदत्त देश में कुल जनसंख्या के संबंध में शहरी जनसंख्या में आनुपातिक वृद्धि।
(d) नगरीकरण (iv) शहरों का एक ऐसा समूह जो एक-दूसरे से इतनी निकटता से सटा हुआ हो कि बसी हुई एकल शहरी संस्थिति का निर्माण करे।
कूट :
(a) (b) (c) (d) (a) (b) (c) (d)
(a) (iv) (i) (iii) (ii) (b) (ii) (iv) (i) (iii)
(c) (iii) (ii) (iv) (i) (d) (i) (iii) (iii) (iv)
उत्तर-(b) :
संकल्पना परिभाषा
a. नगरीय वृद्धि शहरों व नगरों की नेट आबादी में बढ़ोत्तरी।
b. नगर-समूह शहरों का एक ऐसा समूह जो एक-दूसरे से इतनी निकटता से सटा हुआ हो कि बसी हुई एकल शहरी संस्थिति का निर्माण करे।
c. नगरीय अपेक्षाकृत विशाल और सघनता से बसी हुई आबादी जो मुख्यत: गैर-कृषिगत आर्थिक व्यवसायों में लगी हो।
d. नगरीकरण प्रदत्त देश में कुल जनसंख्या के संबंध में शहरी जनसंख्या में आनुपातिक वृद्धि।
61. गोविन्द सागर झील कहाँ स्थित है?
(a) रणजीत सागर बाँध
(b) हीराकुंड बाँध
(c) कोसी बाँध
(d) भाँखड़ा नांगल बाँध
उत्तर-(d) : भाँखडा नांगल बाँध के निकट गोविन्द सागर झील का निर्माण किया गया है जिसकी लं0 88 किमी. तथा चौ0 8 किमी.
है। भाँखडा नांगल परियोजना सतलज नदी पर पंजाब‚ हरियाणा‚ राजस्थान राज्यों का संयुक्त उपक्रम है। यह देश की सबसे बड़ी बहुउद्देशीय परियोजना है। हीराकुण्ड बाँध महानदी पर बनाया गया है। कोसी बाँध का निर्माण कोसी नदी पर बिहार राज्य में किया गया है। कोसी नदी को बिहार का शोक कहा जाता है।
62. भारत के किस राज्य में सकल कृषि क्षेत्र का सर्वाधिक प्रतिशत सिंचित क्षेत्र है?
(a) जम्मू-कश्मीर (b) उत्तर प्रदेश
(c) पंजाब (d) हरियाणा
उत्तर-(c) : सकल कृषि क्षेत्र का सर्वाधिक सिंचित क्षेत्र पंजाब राज्य में है। उसके बाद क्रमश: उ.प्र.‚ हरियाणा तथा जम्मू-कश्मीर राज्य आते हैं।
63. काकरापारा सिंचाई परियोजना का निर्माण किस नदी पर हुआ है–
(a) नर्मदा (b) गोदावरी
(c) ताप्ती (d) महानदी
उत्तर-(c) : काकरापारा सिंचाई परियोजना का निर्माण ताप्ती नदी पर हुआ है। इसके अलावा ताप्ती नदी पर उकई परियोजना का निर्माण हुआ है। गोदावरी नदी पर−पोचम्पाद परियोजना आन्ध्र प्रदेश में तथा जायकवाड़ी परियोजना महाराष्ट्र राज्य में है। महानदी पर बालीमेला परियोजना उड़ीसा राज्य में स्थित है। नर्मदा व टोंस नदी पर पेंच व बाण सागर परियोजना मध्य प्रदेश में स्थित है।
64. सिंधु नदी कहाँ से निकलती है?
(a) मानसरोवर झील (b) कैलाश श्रेणी
(c) लोकतक झील (d) तिब्बत
उत्तर-(a) : सिन्धु नदी सिन्धु नदी सिस्टम की प्रमुख नदी है। यह हिमालय के निर्माण के पूर्व से प्रवाहित रही है जिससे इसका स्वरूप Antecedent हो गया है। भारत में प्रवेश करने पर यह ट्रास हिमालय के दो पर्वत शृंखलाओं लद्दाख Range एवं जास्कर Range के बीच से होकर पश्चिम की ओर प्रवाहित होती है तथा हिमालय को नंगा पर्वत के पास काट कर वृहद गार्ज का निर्माण करता है। इसकी उत्पत्ति तिब्बत में मानसरोवर झील के समीप ग्लेशियर से होती है।
65. नीचे दो कथन दिए गये हैं‚ एक को अभिकथन (A) और दूसरे को कारण (R) कहाँ गया है। नीचे दिए गये कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
अभिकथन (A) :
पंजाब‚ हरियाणा और उत्तर प्रदेश भारत के प्रमुख गेहूँ उत्पादक राज्य हैं।
कारण (R) : सुप्रवाहित उर्वर भूमि‚ बुआई के समय 10 से 15oC का तापमान और लगभग 75 से.मी. वर्षा बेहतर गेहूँ उत्पादन के लिए आवश्यक हैं।
कूट :
(a) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या है।
(b) (A) और (R) दोनों सत्य है और (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(c) (A) सत्य है‚ परन्तु (R) असत्य है।
(d) (A) असत्य है‚ परन्तु (R) सत्य है।
उत्तर-(a) : पंजाब हरियाणा व उ0प्र0 भारत के प्रमुख उत्पादक राज्य हैं। क्योंकि सुप्रवाहित उर्वर भूमि‚ बुआई के समय 100C से 150C का तापमान और लगभग 75 सेमी0 वर्षा बेहतर गेहूँ उत्पादन के लिए आवश्यक है।
66. किस नहर ने श्री गंगानगर‚ बीकानेर और जैसलमेर जिलों की कृषि संबंधी गतिविधियों को रूपांतरित कर दिया है।
(a) कान्हर नहर (b) राम गंगा नहर
(c) शारदा सहायक नहर (d) इंदिरा गांधी नहर
उत्तर-(d) : इंदिरा गाँधी नहर द्वारा राजस्थान के गंगा नहर‚ बीकानेर जैसलमेर जिलों की लगभग 12.58 लाख हे0 भूमि की सिंचाई हो सकेगी। इस नगर की सिंचाई द्वारा राजस्थान में न केवल 9.05 लाख टन अतिरिक्त खाद्यान्न उत्पादन हो सकेगा वरन् व्यावसायिक फसलों की कृषि‚ डेरी‚ मत्स्य पालन‚ भेड़ पालन‚ औद्योगीकरण आदि को प्रोत्साहन मिलेगा। इस नहर के लिए व्यास नदी पर बने पोंग बैराज से बल दिया जा रहा है।
67. यू. एन.डी.पी. द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट जिसमें जनसंख्या की साक्षरता-स्तर‚ स्वास्थ्य की स्थिति एवं प्रति व्यक्ति आय की तुलना करता है‚ कहलाता है :
(a) मानव शिक्षा प्रतिवेदन (b) मानव जनसंख्या प्रतिवेदन
(c) मानव विकास प्रतिवेदन (d) मानव गुणवत्ता प्रतिवेदन
उत्तर-(c) : यू0एन0डी0पी0 द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट मानव विकास प्रतिवेदन में 3 तत्वों की तुलना की जाती है− 1. जनसंख्या का साक्षरता स्तर‚ 2. स्वास्थ्य की स्थिति‚ 3. प्रति व्यक्ति आय
68. निम्नलिखित का प्रयोग करते हुए कंप्यूटर में स्थानिक आँकड़ों का संग्रहण किया जाता है :
(a) प्लॉटर‚ अंकरूपक और कुंजी पटल
(b) कुंजी पटल और प्लॉटर
(c) स्कैनर‚ अंकरूपक और कुंजी पटल
(c) अंकरूपक और स्कैनर
उत्तर-(d) : कम्प्यूटर में स्थानिक आँकड़ों का संग्रहण करने के लिए अंकरूपक और स्कैनर का प्रयोग किया जाता है।
69. लैंडसैट‚ एस.पी.ओ.टी. और आई. आर. एस. निम्नलिखित के उदाहरण हैं :
(a) सूर्य-तुल्यकालिक उपग्रह (b) भू-तुल्यकालिक उपग्रह
(c) रडार (d) प्राकृतिक उपग्रह
उत्तर-(a) : लैंडसैट‚ एस0पी0ओ0टी0 और आई0आर0एस0 सूर्य तुल्यकालिक उपग्रह है। संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा लैंडसैट प्रोग्राम शुरू किया गया। मानवयुक्त अन्तरिक्ष उड़ानों एवं प्रारम्भिक मौसम उपग्रहों के सकल परीक्षण के पश्चात् संयुक्त राज्य अमेरिका के ‘नेशनल ऐरोनोटिक्स एण्ड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन’ ने 1967 में एक महत्वाकांक्षी अन्तरिक्ष प्रोग्राम पर कार्य प्रारम्भ कर दिया। इस प्रोग्राम में 6 सूर्य तुल्यकालिक ‘अर्थ रिसोर्सिज टेक्नोलॉजी उपग्रहों को अन्तरिक्ष में स्थापित किया। इस योजना के अनुसार इन उपग्रहों को छोड़ने से पूर्व ERTS-A, B, -C – D, – E नाम देने का निश्चय किया गया बाद में इसी का नाम लैंडसैट कर दिया गया। स्पॉट प्रोग्राम 1978 में फ्रांस की सरकार द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय वाणिज्यिक दृष्टि से प्रारम्भ किया गया था।
70. जी.आई. एस. उपकरणों का उपयोग करते हुए भूजल खोज हेतु निम्नलिखित में से कौन-सी सर्वाधिक उपयुक्त सांख्यिकीय विधि है?
(a) मानक विचलन विधि
(b) प्रमुख संघटक विश्लेषण विधि
(c) जाँच और भूल विधि
(d) सूचक-उपरिशायी विधि
उत्तर-(d) : जी.आई.एस. उपकरणों का प्रयोग करते हुए भूजल खोज हेतु सूचक उपरिशायी विधि सर्वाधिक उपयुक्त सांख्यिकीय विधि है। मानक विचलन विधि का सूत्र है− 2 d N उपर्युक्त सूत्रों में का अर्थ मानक विचलन‚ N का अर्थ पदों की संख्या d2का अर्थ समान्तर माध्य से निकाले गये विचलनों के वर्गों का योग है। यह माप श्रेणी के सभी मूल्यों पर आधारित होता है। इन्हीं लक्षणों के कारण सह सम्बन्ध विश्लेषण व अर्थ पूर्णता की जाँच आदि अनेक सांख्यिकीय विधियों में मानक विचलन का प्रयोग होता है।
71. निम्नलिखित में से किस देश ने सर्वप्रथम परिचालानात्मक दूर संवेदी उपग्रह का प्रक्षेपण किया?
(a) संयुक्त राज्य अमेरिका (b) यूनाइटेड किंगडम
(c) यू.एस.एस.आर. (d) जर्मनी
उत्तर-(a) : संयुक्त राज्य अमेरिका ने सर्वप्रथम परिचालानात्मक दूर संवेदी उपग्रह का प्रक्षेपण किया।
72. रेखापुंज आंकड़े निम्नलिखित से शुरू होते हैं−
(a) प्रदर्शित विन्डो का शीर्ष-दायाँ कोना
(b) प्रदर्शित विन्डो का शीर्ष-बायाँ कोना
(c) प्रदर्शित विन्डो का अधस्तल-दायाँ कोना
(d) प्रदर्शित विन्डो का अधस्तल-बायाँ कोना
उत्तर-(b) : रेखा पुंज आंकड़े प्रदर्शित विन्डो का शीर्ष बांया कोना से शुरू होता है।
73. निम्नलिखित में से कौन-सा पद किसी बंटन के प्रसरण को दर्शाया है?

उत्तर-(c)
74. मान लें कि किसी देश में चार परिवार रहते हैं। इन परिवारों की औसत प्रति व्यक्ति आय रू 5000 है। यदि तीन परिवारों की आय क्रमश: 3000‚ रू. 4000 और रू. 7000 है‚ तो चौथे परिवार की आय कितनी है :
(a) 7500 (b) 2000
(c) 3000 (d) 6000
उत्तर-(d)
75. सूची-I को सूची-II से सुमेलित करें और नीचे दिए गये कूटों से सही उत्तर का चयन करें− सूची-I सूची-II
(लैंडसैट 4 और 5 टी.एम.) (प्रणाली की विशेषताएँ)
(a) आई. एफ. ओ.वी. (i) 185 कि.मी.
(b) पुनर्भ्रमण (ii) 705 कि.मी.
(c) ऊँचाई (iii) 16 दिन
(d) स्वाथ विड्थ (iv) 1-5, 7 बैण्डों के लिए 3030 मी.
कूट :
(a) (b) (c) (d)
(a) (i) (ii) (iii) (iv)
(b) (ii) (iii) (i) (iv)
(c) (iv) (iii) (ii) (i)
(d) (iv) (iii) (i) (ii)
उत्तर-(c) :
(लैंडसैट 4 और 5 टी.एम.) (प्रणाली की विशेषताएं)
a. आई.एफ.ओ.वी. 1−5‚ 7 बैण्डों के लिए 3030 मी.
b. पुनर्भम्रण 16 दिन
c. ऊँचाई 705 कि.मी.
d. स्वाथ विड्थ 185 कि.मी.

Top
error: Content is protected !!