You are here
Home > Current Affairs > Daily Current Affairs > डेली कर्रेंट अफेयर्स: 14 जुलाई 2019

डेली कर्रेंट अफेयर्स: 14 जुलाई 2019

संयुक्त राष्ट्र द्वारा तैयार वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक 2019 जारी किया गया

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) और ऑक्सफर्ड पावर्टी ऐंड ह्यूमन डिवेलपमेंट इनीशएटिव (OPHI) द्वारा तैयार वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक (Multidimensional Poverty Index- MPI) 2019, 11 जुलाई को जारी किया गया. रिपोर्ट में 101 देशों में 1.3 अरब लोगों का अध्ययन किया गया. इस रिपोर्ट में गरीबी का आकलन सिर्फ आय के आधार पर नहीं बल्कि स्वास्थ्य की खराब स्थिति, कामकाज की खराब गुणवत्ता और हिंसा का खतरा जैसे कई संकेतकों के आधार पर किया गया.

रिपोर्ट में गरीबी में कमी को देखने के लिए संयुक्त रूप से करीब दो अरब आबादी के साथ 10 देशों को चिन्हित किया गया. आंकड़ों के आधार पर इन सभी ने सतत विकास लक्ष्य 1 प्राप्त करने के लिए उल्लेखनीय प्रगति की. सतत विकास लक्ष्य 1 से आशय गरीबी को सभी रूपों में हर जगह समाप्त करना है. ये 10 देश बांग्लादेश, कम्बोडिया, डेमोक्रैटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, इथियोपिया, हैती, भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान, पेरू और वियतनाम हैं. इन देशों में गरीबी में उल्लेखनीय कमी आई है.

रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे अधिक प्रगति दक्षिण एशिया में देखी गई. भारत में 2006 से 2016 के बीच 27.10 करोड़ लोग, जबकि बांग्लादेश में 2004 से 2014 के बीच 1.90 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले.

इसमें कहा गया है कि 10 चुने गए देशों में भारत और कम्बोडिया में MPI मूल्य में सबसे तेजी से कमी आई और उन्होंने सर्वाधिक गरीब लागों को बाहर निकालने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

भारत के सन्दर्भ में इस सूचकांक के मुख्य बिंदु:

  • भारत का MPI वैल्यू 2005-06 में 0.283 था, जो 2015-16 में 0.123 पर आ गया.
  • भारत में गरीबी में कमी के मामले में सर्वाधिक सुधार झारखंड में देखा गया. वहां विभिन्न स्तरों पर गरीबी 2005-06 में 74.9 प्रतिशत से कम होकर 2015-16 में 46.5 प्रतिशत पर आ गई.
  • वर्ष 2005-06 में भारत के करीब 64 करोड़ लोग (55.1%) गरीबी में जी रहे थे, जो संख्या घटकर 2015-16 में 36.9 करोड (27.9%) पर आ गई.

राष्ट्रमंडल की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर लंदन में विदेश मंत्रियों की बैठक

राष्ट्रमंडल की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर 10 जुलाई को लंदन में विदेश मंत्रियों की बैठक आयोजित की गयी. विदेशमंत्री एस जयशंकर ने इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व किया. इस बैठक में अप्रैल 2018 में राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की बैठक (Commonwealth Heads of Government Meeting – CHOGM) में पारित प्रस्तावों के क्रियान्वयन की समीक्षा की गई. इसके साथ ही इसमें अगले वर्ष होने वाली चोगम (CHOGM) पर भी र्चचा की गई. यह बैठक जून 2020 में रवांडा की राजधानी किगाली में होगी.

भारत ने इस बैठक में मालदीव को राष्ट्रमंडल में फिर से शामिल करने की प्रक्रिया में तेजी लाने का आह्वान किया है. मालदीव गणराज्य ने राष्ट्रमंडल से अपने संबंध 2016 में तोड़ लिये थे. देश के नये राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के नेतृत्व में 2018 इसमें फिर से शामिल होने के लिए आवेदन किया था.


उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को देश का अधिकारिक प्रमुख घोषित गया

उत्तर कोरिया ने 11 जुलाई को अपने संविधान में अहम संशोधन पारित किया है. इस संशोधन के अनुसार उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन अब सरकार के अधिकारिक प्रमुख बन गए हैं. नए संशोधन में कहा गया है कि किम ने कम्युनिस्ट राज्य में सभी मामलों के प्रमुख और देश के सुप्रीम नेता के तौर पर सेवा दी है, इसलिए वह आगे देश का प्रतिनिधित्व करेंगे.

वर्तमान में किम जोंग उन स्टेट अफेयर्स कमीशन (SAC) के चेयरमैन के तौर उत्तर कोरिया पर शासन कर रहे थे. इस संविधान में संशोधन से पहले SAC के चेयरमैन को देश का सुप्रीम नेता माना जाता था.


विकास स्‍वरूप को प्रवासी भारतीय मामलों का सचिव नियुक्‍त किया गया

वरिष्‍ठ राजनयिक विकास स्‍वरूप को विदेश मंत्रालय में वाणिज्‍य पासपोर्ट वीजा और विदेशों में रह रहे भारतीय मामलों का सचिव नियुक्‍त किया गया है. उनकी नियुक्ति पहली अगस्‍त 2019 से प्रभावी होगी. विकास स्‍वरूप 1986 बैच के विदेश सेवा के अधिकारी हैं और वर्तमान में कनाडा में भारतीय उच्‍चायुक्‍त हैं.


प्रेस की आजादी पर पहला वैश्विक सम्मेलन का लंदन में आयोजित किया गया

प्रेस की आजादी पर 11 जुलाई को लंदन में पहला वैश्विक सम्मेलन (ग्‍लोबल कॉन्‍फ्रेंस फोर मीडिया फ्रीडम) का आयोजन किया गया. ब्रिटेन और कनाडा की सरकारें इस सम्मेलन की सह आयोजक थीं. सम्मेलन में भारत की ओर से प्रसार भारती के अध्यक्ष डॉ. ए सूर्य प्रकाश, वरिष्ठ पत्रकार व राज्यसभा सदस्य स्वपन दासगुप्ता और पत्रकार व राजनीतिक विश्लेषक कंचन गुप्ता ने भाग लिया.

देश-दुनिया: एक दृष्टि

सामयिक घटनाचक्र डेलीडोज

कर्नाटक में बागी विधायकों के इस्तीफे पर यथास्थिति: देश की सर्वोच्च अदालत ने कर्नाटक विधान सभा के अध्यक्ष केआर रमेश कुमार से कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के 10 बागी विधायकों के इस्तीफे और अयोग्यता के मामले में यथास्थिति बनाये रखी जाये. कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष को कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के 10 विधायकों के त्यागपत्र प्राप्त हुए थे. उन्होंने कहा था कि वे इन त्यागपत्रों के औचित्य पर विचार करते हुए फैसला करेंगे.

मई में IIP 133.6 अंक: मई, 2019 में औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक (IIP) 133.6 अंक रहा जो मई, 2018 के मुकाबले 3.1 फीसदी ज्‍यादा है. इसका मतलब मई, 2019 में औद्योगिक विकास दर 3.1 फीसदी रही. उधर, अप्रैल-मई, 2019 में औद्योगिक विकास दर 3.7 फीसदी आंकी गई है.

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री जेटको की बैठक में हिस्सा लेंगे: केन्‍द्रीय वाणिज्‍य तथा उद्योग और रेलमंत्री श्री पीयूष गोयल 15 जुलाई को लंदन में भारत-ब्रिटेन संयुक्‍त आर्थिक व्‍यापार समिति (जेटको) की बैठक को सम्‍बोधित करेंगे. अब तक जेटको की 12 बैठकें हो चुकी हैं. 16 जुलाई, 2019 को लंदन में भारत दिवस समारोह में भाग लेंगे. इसका आयोजन संयुक्‍त रूप से ब्रिटेन की सरकार तथा लंदन शहर की ओर से किया जा रहा है.

जून, 2019 में CPI पर आधारित महंगाई दर: केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO) ने जून, 2019 के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) पर आधारित महंगाई दर के आंकड़े जारी किए. इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के लिए CPI आधारित महंगाई दर 2.21 फीसदी रही, जो जून 2018 में 4.93 फीसदी थी. इसी तरह शहरी क्षेत्रों के लिए CPI आधारित महंगाई दर 4.33 फीसदी आंकी गयी, जो जून 2018 में 4.85 फीसदी थी. ये दरें मई 2019 में क्रमशः 1.86 तथा 4.51 फीसदी थीं.

फ्रेंच गुएना में वेगा रॉकेट का प्रक्षेपण असफल: फ्रेंच गुएना के कौरो में 11 जुलाई को एक रॉकेट के माध्यम से संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के एक उपग्रह का प्रक्षेपण नाकाम हो गया. कौरो दक्षिण अमेरिका में फ्रांसीसी क्षेत्र के उत्तरी तट पर स्थित है. यह प्रक्षेपण फ्रांस के कंपनी ‘एरियानेस्पेस’ के हल्के वजन वाले लांचर रॉकेट ‘वेगा’ के 14 सफल प्रक्षेपण के बाद यह उसकी पहली नाकामयाबी है.

पश्चिम बगाल में जल संरक्षण दिवस: पश्चिम बगाल सरकार ने 12 जुलाई को जल संरक्षण दिवस मनाया. पानी बचाने के संदेश के प्रसार के लिए कोलकाता में रैली निकाली गयी, जिसमें मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी शामिल हुई. रैली के बाद जल संरक्षण का संकल्‍प गया.

Top
error: Content is protected !!