You are here
Home > ebooks > UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers in Hindi

UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers in Hindi

UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers in Hindi यू.जी.सी. NTA नेट परीक्षा जून-2019 इतिहास

1. उस स्थल की पहचान कीजिए जहाँ घोड़ा होने के प्रमाण नहीं मिलते है?
(a) गलियाइ (1895-1695 ई.पू.)
(b) बुर्जहोम (1700 ई. पू.)
(c) पिराक (करीब 1300 ई. पू.)
(d) इनामगाँव (करीब 1400 ई.)
Ans. (b) : बुर्जहोम का शाब्दिक अर्थ ‘भुर्ज वृक्ष का स्थान (Place of Berch) होता है। बर्च (भोज) वृक्षों के इस स्थल को डि. टेरा एवं पीटरसन ने 1953 में खोजा था। यहां से गड्ढाघर‚ मालिक के साथ कुत्ते दफनाने का साक्ष्य मिलता है। गड़ासा (हार्वेस्टर) का साक्ष्य बुर्जहोम से मिलता है। यहां से प्राप्त एक घड़े पर सींग वाले देवता का चित्र मिला है जो कोटदीजी के प्राक्‌ हड़प्पा चरण में लोकप्रिय था। यहाँ से घोड़े का कोई साक्ष्य प्राप्त नहीं होता हैं।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


2. कालीबंगा‚ जहाँ प्राकहड़प्पा संस्कृति के अनेक स्थल पाए गए हैं‚ निम्नलिखित किस क्षेत्र में स्थित था?
(a) सिंध (b) पंजाब
(c) राजस्थान (d) गुजरात
Ans. (c) : कालीबंगा राजस्थान के गंगानगर जिले में घग्घर नदी के बाएं किनारे पर स्थित सैन्धव सभ्यता का एक महत्वपूर्ण स्थल है। यहां 1961 ई. में बी.बी. लाल तथा बी.के. थापड़ ने खुदाई करवाई संभवत: यह सैन्धव सभ्यता की तीसरी राजधानी थी। यहां से जुते हुए खेत के साक्ष्य मिलते है। यहाँ से भूकम्प के प्राचीनतम साक्ष्य मिलते है। जिसके फलस्वरूप यहां की प्राक्‌ हड़प्पा सभ्यता का अन्त (लगभग 2700-2600 ई.पू.) हो गया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


3. धर्मशास्त्र रचनाओं के संबंध में निम्नलिखित में से कौन-सा वक्तव्य सहीं नहीं है?
(a) इनमें चार वर्णो और सामाजिक जीवन के मानदंडो का संदर्भ है
(b) इनमें विभिन्न जातियों का संदर्भ नहीं है
(c) इनमें देश-धर्म और कुल-धर्म का संदर्भ है
(d) इनमें जोर दिया जाता है कि प्रत्येक व्यक्ति अपने वर्ण के धर्म का पालन करें
Ans. (c) : धर्मशास्त्र के अंतर्गत धर्मसूत्र‚ स्मृतियां तथा टीकाओं को रखा जाता है। गौतम धर्मसूत्र सर्वाधिक प्राचीन है। वर्णव्यवस्था का स्पष्ट वर्णन सूत्रों में प्राप्त होता है। वर्णशंकर की कल्पना और जाति या मिश्र जाति के उद्‌भव की जानकारी सर्वप्रथम सूत्र साहित्य में ही मिलती है। कालान्तर में इन्हीं अवधारणाओं का विस्तार स्मृतियों में दिखता है। सर्वप्रथम गौतम धर्मसूत्र में वार्ता को शूद्र का वर्णधर्म बताया गया है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


4. निम्नलिखित में से किस महाजनपद से यूनानियों के खिलाफ लड़ने वाली फारसी सेना को पुरुषों और सामग्री की आपूर्ति होती थी?
(a) गांधार (b) कंबोज
(c) मगध (d) वत्स
Ans. (a) : गांधार जनपद यूनानियो से पूर्व हखामनी अथवा फारसी साम्राज्य का भाग था। यूनानियों के खिलाफ युद्ध में लड़ने वाली फारसी सेना को पुरूषों तथा सामग्री की आपूर्ति इसी महाजनपद से होती थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


5. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): गुप्तकाल को सांस्कृतिक विकास के क्षेत्र में प्राय: क्लासिकल युग कहा जाता है। कारण (R) : गुप्त काल के कलात्मक आदर्शों की प्रशंसा करते हुए यह तर्क दिया जाता है कि यह एक ऐसा युग है जिसमें कलात्मक क्रियाकलापों का आश्चर्यजनक विकास देखने को मिला। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही है परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (b) : गुप्त सम्राटों का शासनकाल प्राचीन भारतीय इतिहास के उस युग का प्रतिनिधित्व करता है जिसमें सभ्यता और संस्कृति के प्रत्येक क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति हुई तथा हिन्दू संस्कृति अपने उत्कर्ष की पराकाष्ठा पर पहुँच गई। गुप्तकाल की चहुमुंखी प्रगति को ध्यान मे रखकर ही इतिहासकारों ने इस काल को ‘स्वर्ण युग’ की संज्ञा से अभिहित किया है। इस काल को ‘क्लासिकल युग’ अथवा भारत का ‘पेरीक्लीन युग’ आदि नामों से भी जाना गया है। निम्नलिखित विशेषताओं ने गुप्तकाल को भारतीय इतिहास का स्वर्णकाल बनाया – 1 – राजनैतिक एकता का काल 2 – महान सम्राटो का काल 3 – श्रेष्ठ शासन -व्यवस्था का काल 4 – आर्थिक समृद्धि का काल 5 – धार्मिक सहिष्णुता का काल 6 – साहित्य‚ विज्ञान एवं कला के चरमोत्कर्ष का काल 7 – भारतीय संस्कृति के प्रचार का काल आदि।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


6. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): अब इस सम्बन्ध में काफी कम संदेह है कि सिन्धु घाटी सभ्यता के कतिपय पहलू द्वितीय और प्रथम सहदााब्दि की संस्कृतियों में मिलते है। कारण (R) : सिन्धु घाटी सभ्यता और वैदिक संस्कृति के बीच प्रारंभिक हैती सभ्यता के अस्तित्व को अब नहीं माना जाता है। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही हैं परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (b) : हत्ती या हित्ती तुर्की (एशियाई) साम्राज्य के बड़े भाग के स्वामी थे। भाषा के रूप में हित्ती हिंद-यूरोपीय परिवार की है परन्तु उसकी लिपि प्राचीन सुमेअी-साजुली-अजूटी है और उसका साहित्य ऊवकादी अथवा उससे भी पूर्ववर्ती सुमेरी से प्रभावित है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


7. निम्नलिखित में से कौन-सा गलत है?
(a) लेखन के दैनदिन कार्य बन जाने के बहुत दिनों बाद तक मौखिक परम्परा के प्रति मोह बना रहा।
(b) भर्तृहरि ने घोषणा की थी कि ‘समझ के पास वाक्‌ रूप होता है ….. वाक्‌ प्रकटीत जागरूकता सभी प्रकार के ज्ञान की नींव है।
(c) इस प्रकार भारतीयों ने ‘कंठस्थ’ की अपेक्षा ‘गं्रथस्थ’ को वरीयता दी।
(d) नौवीं शताब्दी के लातिनी वयाकरणों का विचार आदर्शक भारतीय विचारों से बिल्कुल अलग था। इसलिए यूरोप में विद्धान व्यक्ति वह था जो ‘लिटरेटस’ अर्थात्‌ पढ़ा-लिखा (लेटर्ड मैन) होता था।
Ans. (c) : श्रुति हिन्दू धर्म के सर्वोच्च और सर्वोपरि धर्मग्रन्थ है। श्रुति का शाब्दिक अर्थ है सुना हुआ अर्थात ईश्वर की वाणी जो प्राचीन काल में ऋषियों द्वारा सुनी गई तथा जगत में फैलाई गई। इन्हें वेद कहते हैं। इनके अलावा अन्य ग्रन्थों को स्मृति माना गया। अर्थात्‌ मनुष्यों के स्मरण और बुद्धि से बने ग्रंथ जो वस्तुत: श्रुति की ही मानवीय विवरण और व्याख्या माने जाते हैं। श्रुति और स्मृति में कोई विवाद होने की अवस्था में श्रुति को ही मान्यता मिलती है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


8. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची-I सूची-II (पुस्तक) (लेखक)
(A) काव्यदर्श (i) अभिनवगुप्त
(B) अष्टाध्यायी (ii) पतंजली
(C) महाभाष्य (iii) पाणिनी
(D) तंत्रलोक (iv) दंडी नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(iv); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(i)
(b) (A)-(iv); (B)-(iii); (C)-(ii); (D)-(i)
(c) (A)-(iii); (B)-(ii); (C)-(i); (D)-(iv)
(d) (A)-(iii); (B)-(i); (C)-(ii); (D)-(iv)
Ans. (b) : सूची-I सूची-II (पुस्तक) (लेखक) (A) काव्यदर्श (iv) दंडी (B) अष्टाध्यायी (iii) पाणिनी (C) महाभाष्य (ii) पतंजली (D) तंत्रलोक (i) अभिनवगुप्त
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


9. भरतपुर पुरातात्विक स्थल के संबंध में निम्नलिखित में से कौन-सा वक्तव्य सही नहीं है?
(a) यह पश्चिम बंगाल में स्थित है।
(b) यह राजस्थान में स्थित है जहाँ से प्रवासी पक्षियों की हड्डियों के अवशेष मिले थे।
(c) कालावधि I में मछली पकड़ने‚ शिकार करने और कृषि के साक्ष्य मिले हैं।
(d) कालावधि II में लोहे और उत्तरी काले चमकदार मृदभांड के प्रयोग के साक्ष्य मिले हैं।
Ans. (b) : भरतपुर पुरातात्विक स्थल पश्चिम बंगाल में स्थित है। यहाँ के कालखण्ड-I से ताबें की वस्तुएं प्राप्त हुई हैं। जो काले और लाल मृदभाण्डो की संस्कृति से जुड़ी हुई है। साथ में सूक्ष्मपाषाण औजार‚ नवपाषाण कुल्हाड़ी‚ पकी मिट्टी के मनके भी मिले है। यहां एक गड्ढे में चावल के जले हुए अवशेष मिले है। ताम्रपाषाण काल खण्ड-II में कुछ मात्रा में तांबे की वस्तुएं मिली है। इसी काल से लोहे के भालाग्र और लोहे के स्लैग भी मिले है। यहां कई अन्य प्रकार के मृदभाण्ड भी पाए गए है जिसमें चिकनी मिट्टी के घोल के लेप वाले काले मृदभाण्ड और एक धूसर/पांडु लेप वाला मृदभाण्ड शामिल है। पालतू मवेशी‚ भैस‚ बकरी तथा हिरण साथ में सांभर‚ मछली‚ कछुए और पक्षी जैसे पशुओ की हड्डियों के अवशेष मिले है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


10. निम्नलिखित में से कौन-सा मिल के हिस्ट्री ऑफ ब्रिटिश इंडिया के संबंध में सही नहीं है?
(a) इसने भारत की पारंपरिक संस्थाओं को जड़ और पश्चगामी पाया।
(b) मिल द्वारा किया गया विश्लेषण साम्राज्यिक सरकार के अनुकूल था।
(c) यह हेलीबरी कॉलेज में भारतीय सिविल सेवा के ब्रिटिश अधिकारियों हेतु भारत के सम्बन्ध में एक पाठ्यपुस्तक बनी।
(d) इस पर ब्रिटिश उपयोगितावादी दर्शन का कोई असर नहीं था।
Ans. (d) : मिल की पुस्तक ‘हिस्ट्री ऑफ ब्रिटिश इंडिया’ का सर्वप्रथम प्रकाशन 1818 ई. में हुआ था। इस पुस्तक पर ब्रिटिश उपयोगिता वादी दर्शन का अत्यधिक प्रभाव दिखाई पड़ता है। मिल द्वारा किया गया विश्लेषण साम्राज्यिक सरकार के अनुकूल था। इसने भारत की पारंपरिक संस्थाओं को जड़ और पक्षगामी पाया। मिल की यह पुस्तक हेलीबरी कॉलेज में भारतीय सिविल सेवा के ब्रिटिश अधिकारियों हेतु भारत के सम्बन्ध में एक पाठ्यपुस्तक बनी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


11. निम्नलिखित में से किसको उपकरणों के सुव्यवस्थित विवरण वाली पहली उपलब्ध भारतीय रचना कहा जाता है?
(a) आर्यभटिया (b) सूर्य सिद्धान्त
(c) ब्रह्मास्फुट सिद्धान्त (d) खंड़ाखड़ाइका
Ans. (c) : ब्रह्मगुप्त गुप्तकालीन एक प्रसिद्ध गणितज्ञ थे। उन्होने दो महत्त्वूपूर्ण ग्रन्थों की रचना की – ब्रह्मास्फुट सिद्धान्त तथा खण्डखाद्यक अथवा खण्डखाद्य पद्धति। ब्रह्मास्फुट सिद्धांत के 19 से 24 तक के अध्याय खगोलीय उपकरणों और प्रेक्षणों को समर्पित है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


12. निम्नलिखित में से कौन-सा सही सुमेलित नहीं है?
(a) नागर शैली : नागर मंदिरों का आधार वर्गाकार होता है जिसकी प्रत्येक भुजा के मध्य में अनेक प्रक्षेप होते है जो क्रॉस-रूप प्रदान करते हैं।
(b) द्रविड़ शैली : इस शैली की सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता उनके पिरामिडाकार शिखर हैं।
(c) कश्मीरी शैली : यह बाह्य विश्व के किसी भी प्रकार के प्रभाव से रहित विशुद्ध स्थानीय शैली है।
(d) बेसर शैली : यह उत्तरी और दक्षिणी शैलियों का मिश्रण है।
Ans. (c) : कश्मीरी शैली का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण मार्तण्ड सूर्य मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण कार्कोट वंश के राजा ललितादित्य मुक्तापीड द्वारा करवाया गया था। इस मंदिर के वास्तुकला की विशेषता इसके मेहराब हैं। मंदिर के स्तंभो और द्वार मंडपो की वास्तु शैली रोम की गोथिक शैली से कुछ अंशो मे मिलती जुलती है। इसके स्तंभो में ग्रीक संरचना का प्रयोग किया गया है। इस मंदिर में चीनी‚ रोमन‚ ग्रीक और भारतीय शैली की झलक दिखाई देती है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


13. बागोर साइट के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौनसा सही नहीं है?
(a) यह राजस्थान में अवस्थित है।
(b) इसके विशुद्ध मध्यपाषाण प्राक-भाण्ड चरण के होने के सम्बन्ध में हमारे पास 5365-3775 ई. पू. की अवधि की कार्बन तिथियाँ हैं।
(c) इसके प्रारंभ से ही कृषि सम्बन्धी चिन्ह पाये गए हैं।
(d) जबु‚ बैल‚ भेड़‚ बकरी और सुअर का करीब 5000 ई.
पू. से ही पालतू पशु के रूप में पालन किया जाता था।
Ans. (c) : बागोर राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में स्थित है। यहां 1968 से 1970 तक वी.एन. मिश्र ने उत्खनन कार्य करवाया था। बागोर भारत का सबसे बड़ा मध्य पाषाणिक स्थल है। यहां से मध्यपाषाण‚ ताम्रपाषाण युग एवं लौह युग का साक्ष्य प्राप्त होता है। मध्यप्रदेश में स्थित आदमगढ़ तथा बागोर दो मध्यपाषाणिक स्थल ऐसे है जो पशुपालन के प्राचीनतम साक्ष्य प्रस्तुत करते हैं। बागोर से चैल्सेडनी औजारो की प्राप्ति अत्यधिक मात्रा मे हुई है। बागोर से जबु‚ बैल‚ भेड़‚ बकरी और सुअर की करीब 5000 ई. पू. से ही पालतू पशू के रूप में पालन किया जाता था। इसके विशुद्ध मध्यपाषाण प्राक्‌ – भाण्ड चरण के होने के सम्बन्ध में हमारे पास 5365-3775 ई. पू. की अवधि की कार्बन तिथियां है। यहां प्रारम्भ से ही कृषि सम्बन्धी चिन्ह नहीं मिलते है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


14. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची- I सूची- II (पुस्तक) (लेखक)
(A) इरफान हबीब (i) परहैप्स दि अर्लिएस्ट प्लाउडफील्ड सो फार एक्सकेवेटिड एनीह्वेयर इन दि वल्र्ड
(B) बी.बी. लाल (ii) इमैजिनिंग रिवर सरस्वती-
अ डिफेन्स ऑफ कॉमन सेंस
(C) आर.एच. मीडो (iii) रीजनल इंटरेक्शन इन इंडस वैली अर्बेनाइजेशन
(D) मार्सिया ए. फेन्ट्रेस (iv) दि डोमेस्टिकेशन एंड एक्सप्लायटेशन ऑफ प्लांट्‌स एंड एनिमल्स इन दि गे्रटर इंडस वैली नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(i); (B)-(iii); (C)-( ii); (D)-(iv)
(b) (A)-(iv); (B)-(i); (C)-(ii); (D)-(iii)
(c) (A)-(ii); (B)-( i); (C)-(iii); (D)-(iv)
(d) (A)-(ii); (B)-(i); (C)-(iv); (D)-(iii)
Ans. (d) : सूची- I सूची- II (पुस्तक) (लेखक) (A) इरफान हबीब इमैजिनिंग रिवर सरस्वती-अ डिफेन्स ऑफ कॉमन सेंस (B) बी.बी. लाल परहैप्स दि अर्लिएस्ट प्लाउडफील्ड सो फार एक्सकेवेटिड एनीह्वेयर इन दि वल्र्ड (C) आर.एच. मीडो दि डोमेस्टिकेशन एंड एक्सप्लायटेशन ऑफ प्लांट्‌स एंड एनिमल्स इन दि गे्रटर इंडस वैली (D) मार्सिया ए. फेन्ट्रेस रीजनल इंटरेक्शन इन इंडस वैली अर्बेनाइजेशन
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


15. राजशेखर के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-सा वक्तव्य सही है?
(a) वह चोल वंश का सर्वाधिक शक्तिशाली शासक (985-
14 सी.ई.) था।
(b) वह प्रतिहार शासक महेन्द्रपाल और महिपाल का दरबारी कवि (सी. 9वीं-10वीं शताब्दी सी.ई.) था।
(c) वह पुराणों में उल्लिखित सातवाहन (सी. 230 बी.सी.ई.) का पहला ज्ञात शासक था।
(d) इसने संगम संकलन के दस परितोष गीतों में से एक सिरिपांडरुप्पतल की रचना की।
Ans. (b) : राजशेखर कन्नौज के प्रतिहारवंशीय राजा महेन्द्रपाल और उसके पुत्र महिपाल (नवी-दसवी शताब्दी ई) की राज्यसभा मे रहते थे। वे संस्कृत के प्रसिद्ध कवि तथा नाटककार थे। राजशेखर नाटककार कम‚ कवि अधिक थे। उनके ग्रन्थों में काव्यात्मकता अधिक है। वे शब्द कवि है। उन्होने लोकोक्तियाँ तथा मुहावरों का खुलकर प्रयोग किया। उनके नाटक रंगमंच के लिए उपयुक्त नहीं है अपितु वे पढ़ने मे ही विशेष रोचक है। इनकी प्रमुख रचनाएं है – (1) बाल रामायण (2) बाल भारत (3) विद्धशालभंजिका (4) कर्पूर मंञ्जरी (5) काव्यमीमांसा
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


16. निम्नलिखित में से कौन-सा मनुस्मृति में मिश्रित जातियों को दिए जाने वाले विभिन्न दर्जो के सम्बन्ध में सही नहीं है?
(a) वर्ण व्यवस्था में एक दर्जा कम की पत्नी से जन्में बच्चों को द्विजो के भाग के रूप में स्वीकृति मिलती थी।
(b) वर्ण दर्जे के हिसाब से दो या तीन डिग्री नीचे की महिला से जन्में बच्चों से शूद्रों में एक नया समूह निर्मित होता था।
(c) यदि महिला का सम्बन्ध दर्जा पुरुष के दर्जे से ऊँचा होता था‚ तो ऐसे विवाह की संततियो को माता-पिता के दर्जो के नीचे रखा जाता था।
(d) अनुलोम विवाह को प्रतिलोम विवाह की अपेक्षा कहीं अधिक‚ पवित्र कानून का उल्लंघन करने वाला माना जाता था।
Ans. (d) : मनुस्मृति हिन्दू धर्म का एक प्राचीन धर्मशास्त्र है। इसे मानव धर्मशास्त्र‚ मनुसंहिता आदि नामों से भी जाना जाता है। मनुस्मृति में वर्ण व्यवस्था का विस्तार से वर्णन मिलता है। इसके अनुसार वर्ण व्यवस्था में एक दर्जा कम की पत्नी से जन्में बच्चों की द्विजो के भाग के रूप में स्वीकृति मिलती थी। वर्ण दर्जे के हिसाब से दो या तीन डिग्री नीचे की महिला से जन्में बच्चों से शूद्रो में एक नया समूह निर्मित होता था। यदि महिला का संबन्धित दर्जा पुरूष के दर्जे से ऊंचा होता था तो ऐसे विवाह की संततियों के माता-पिता के दर्जों से नीचे रखा जाता था। प्रतिलोम विवाह को अनुलोम विवाह की अपेक्षा कहीं अधिक पवित्र कानून का उल्लंघन करने वाला माना जाता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


17. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): तर्क दिया जाता है कि आरंभिक ऐतिहासिक दक्षिण-भारत में कवियों द्वारा किया गया गुणगान राजनीतिक सत्ता का आधार नहीं था। कारण (R) : उक्त काल के कवि अपनी भौतिक खुशहाली के लिए राजाओं पर निर्भर होते थे। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही है परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (d) : आरंभिक ऐतिहासिक दक्षिण भारत मे कवियों राजाओं की प्रशंसा में अनेक कविताएं लिखी। इसके बदले में उन्हें राज्य की ओर से अच्छे पुरस्कार प्राप्त होते थे। परम्परा के अनुसार उन्हें धन के अतिरिक्त भूमि‚ अश्व‚ रथ‚ हाथी आदि से भी पुरस्कृत किया जाता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


18. निम्नलिखित में से कौन-सा छोटे सार्वजनिक बाजारों तथा बड़े व्यापारिक केन्द्रो के बीच के स्थानीय विनिमय केन्द्र को इंगित करता है?
(a) मंडपिका (b) तेवराम
(c) गण (d) अग्रहार
Ans. (a) : आठवीं शताब्दी ईस्वी के पश्चात्‌ अनेक कस्बों का उल्लेख प्राप्त होता है जो सभवत: बड़े-बड़े गाँवो से स्थापित होने लगे थे। इन कस्बो में एक मंडपिका (बाद में मंडी) होती थी। जहां आस-पास के गांव के लोग अपने-अपने उत्पादो की ब्रिकी हेतु इकट्‌ठा होते थे। ये छोटे सार्वजनिक बाजारो तथा बड़े व्यापारिक केन्द्रो के बीच के स्थानीय विनिमय केन्द्र थे।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


19. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची- I सूची- II (स्थान) (काल)
(A) किली गुल मुहम्मद (i) 3370-2530 BC
(B) डम्ब सादध (ii) 4555-3885 BC
(C) कालीबंगा (iii) 2980-1865 BC
(D) राना घुंडाई (iv) 4550-3164 BC नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(iv)
(b) (A)-(ii); (B)-( i); (C)-(iii); (D)-(iv)
(c) (A)-(iii); (B)-(iv); (C)-(ii); (D)-(i)
(d) (A)-(iv); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(i)
Ans. (b) : सूची- I सूची- II (स्थान) (काल) (A) किली गुल मुहम्मद 4555-3885 BC (B) डम्ब सादध 3370-2530 BC (C) कालीबंगा 2980-1865 BC (D) राना घुंडाई 4550-3164 BC
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


20. निम्नलिखित में से किसमें रेडियोंकार्बन कालनिर्धा रण तकनीक लागू की जाती है?
(a) पुरालेख विद्या (b) पुरातत्व विज्ञान
(c) पाण्डुलिपि (d) पुरालेख सामग्री
Ans. (b) : कार्बन-14 द्वारा काल निर्धारण विधि के रेडियों कार्बन काल निर्धारण तकनीक कहते है। इस का प्रयोग पुरातत्व-जीव विज्ञान में जन्तुओं और पौधों के प्राप्त अवशेषो के आधार पर जीवन काल‚ समय चक्र का निर्धारण करने में किया जाता है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


21. ‘‘यदि हम अहार में निकले लोहा की बात छोड़ दें तो भारत में प्रारंभिक लौह स्तर हेतु सभी 14 कार्बन
(14C) तिथियाँ करीब 1000 ई.पू. अथवा इससे थोड़ा पहले की आती हैं’’। यह मत किसका है?
(a) राकेश तिवारी (b) बी. एंड आर. अल्चिन
(c) इरफान हबीब (d) बी. शशिकरन
Ans. (c) : इरफान हबीब का कथन है कि ‘यदि हम अहार में निकले लोहा की बात छोड़ दे तो भारत में प्रारंभिक लौह स्तर हेतु सभी 14 कार्बन (14C) तिथियां करीब 1000 ई.पू. अथवा इससे थोड़ा पहले की आती है।’
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


22. चट्टानों और मुक्त रूप से खड़े स्तम्भों पर उत्कीर्ण लेखों के लोक प्रदर्शन की विधि भारतीय शासकों द्वारा निम्नलिखित में से किनके द्वारा अपनायी गई सम्बन्धित प्रथा का अनुकरण थी?
(a) हखामनी (b) यूनानी
(c) शक (d) पार्थियन
Ans. (a) : मौर्यकाल के सर्वोत्कृष्ट नमूने‚ अशोक के एकाश्मक स्तम्भ है। इन स्तम्भों का निर्माण चुनार के बलुआ पत्थरों से हुआ है। इन स्तम्भों के दो मुख्य भाग है – (1) स्तम्भ यष्टि या गावदुम लाट तथा शीर्ष भाग। स्तम्भों की चमकीली पालिश घंटावृति तथा शीर्ष भाग में पशु आकृति के कारण पाश्चात्य विद्धानों का मत है कि इसकी कला के प्रेरणा अखेमनी‚ ईरान से मिली है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


23. निम्नलिखि में से कौन-सा गलत तरीके से सुमेलित है?
(a) आर.एस. शर्मा : अर्बन डिके इन इंडिया
(b) जोना विलियम्स : द आर्ट ऑफ गुप्ता इंडिया : एंपायर एंड प्रॉविंस
(c) ए.एल. बाशम : द वंडर दैट वाज इंडिया
(d) रोमिला थापर : मिथ एंड रियलिटी स्टडीज इन द फॉर्मेशन ऑफ इंडियन कल्चर
Ans. (d) : ‘मिथ एंड रियलिटी स्टडीज इन द फॉर्मेशन ऑफ इंडियन कल्चर’ नामक पुस्तक के लेखक डी.डी. कौशाम्बी है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


24. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची-I सूची-II (राज्य) (भौगोलिक सीमा)
(A) अवन्ती (i) मध्य भारत का मालवा क्षेत्र
(B) गांधार (ii) आधुनिक पेशावर और रावलपिंडी जिले तथा कश्मीर घाटी
(C) चेदी (iii) मध्य भारत में बुंदेलखंड का पूर्वी भाग
(D) वज्जि (iv) नेपाल की पहाड़ियों तक गंगा का उत्तरी भाग नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(iv)
(b) (A)-(ii); (B)-(iii); (C)-(iv); (D)-(i)
(c) (A)-(iii); (B)-(ii); (C)-(i); (D)-(iv)
(d) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iv); (D)-(iii)
Ans. (a) : सूची- I सूची- II (राज्य) (भौगोलिक सीमा) (A) अवन्ती (i) मध्य भारत का मालवा क्षेत्र (B) गांधार (ii) आधुनिक पेशावर और रावलपिंडी जिले तथा कश्मीर घाटी (C) चेदी (iii) मध्य भारत में बुंदेलखंड का पूर्वी भाग (D) वज्जि (iv) नेपाल की पहाड़ियों तक गंगा का उत्तरी भाग
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


25. अग्रहारों के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-से वक्तव्य सही हैं?
(a) यह एक संस्कृत शब्द है जिसका प्रयोग विशेष रूप से प्रथम सहदााब्दी के मध्य से हुआ था।
(b) यह एक ऐसा शब्द था जो ब्राह्मणों को दिए जाने वाले भूमि अनुदान की एक श्रेणी का पदनाम था।
(c) सामान्य तौर पर ये अनुदान स्थायी होते थे।
(d) दान प्राप्तकर्ता को उत्पादन संघटित करने और भूमि से राजस्व व अन्य संसाधन एकत्र करने का अधिकार दिया जाता था। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर चुनिए :
(a) केवल (a), (c) और (d)
(b) केवल (b) और (d)
(c) (a), (b), (c) और (d)
(d) केवल (a), (b) और (c)
Ans. (c) : गुप्तकाल मे मंदिरों तथा ब्राह्मण वर्ग को जो भूमि दान में दी जाती थी उसे ‘अग्रहार’ कहा जाता था। इस प्रकार की भूमि सभी करों से मुक्त होती थी तथा इनके ऊपर धारकों का पूर्ण स्वामित्व होता था। ऐसे भूमिदानों का उद्देश्य एकमात्र शैक्षणिक एवं धार्मिक था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


26. ‘‘संभवत: शकों द्वारा उनके राजनीतिक प्रभुत्व हेतु अपनाया गया सांस्कृतिक नवाचार ही था कि एक नए युग का नाम उनके नाम पर रखा गया।’’ शेल्डन पोलॉक के अनुसार यह ‘सांस्कृतिक नवाचार’ क्या था?
(a) भारी बख्तरयुक्त सेना
(b) पार्थियन शॉट
(c) शराब‚ मांस और सिले हुए वध्Eों का प्रयोग
(d) राजनीतिक प्रयोजनों हेतु संस्कृत का प्रयोग
Ans. (d) : सीथियनो को ही भारत में शक कहा गया। चीनी लेखकों ने इसकों सई या सईवांग कहा है। यूनानियों के पश्चात्‌ भारत पर शकों का हमला हुआ। सर्वाधिक विख्यात एवं शक्तिशाली शक नरेश रूद्रदामन था। उसका गिरनार या जूनागढ़ लेख चम्पू शैली एवं विशुद्ध गद्यात्मक संस्कृत भाषा मे लिखा गया पहला अभिलेख है। शेल्डन पोलॉक के अनुसार राजनीतिक प्रयोजनो हेतु संस्कृत का प्रयोग संभवत: शकों द्वारा उनके राजनीतिक प्रभुत्व हेतु अपनाया गया सांस्कृतिक नवाचार ही था कि एक नए युग का नाम उनके नाम पर रखा गया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


27. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): ऐसा माना जाता है कि अजातशत्रु ने 493 ई.पू. में अपने पिता की हत्या की। उसने कौशल को अपने राज्य में मिला लिया जबकि वहाँ का शासक उसका मामा था। कारण (R) : मगध के बिंबसार का पुत्र अजातशत्रु मगध का शासक बनने के लिए आतुर था और उसने अन्य क्षेत्रों को अपने राज्य में मिलाया। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही है परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (a) : अजातशत्रु अपने पिता बिम्बिसार की हत्या करने के पश्चात्‌ मगध का शासक बना। अजातशत्रु मगध का शासक बनने के लिए आतुर था और उसने अन्य क्षेत्रों को अपने राज्य में मिलाया। ऐसा माना जाता है कि अजातशत्रु ने कौशल जनपद को भी अपने राज्य मे मिला लिया जबकि वहां का शासक उसका मामा था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


28. बादामी के निकट महाकुटेश्वर स्थित मंदिरों के समूह से उस मंदिर को पहचानें जिसके गर्भगृह के एक भाग का कुछ महत्त्व है।
(a) गलागनाथ (b) संघमेश्वर
(c) हुचिमल्लीगुडी (d) कदासिद्धेश्वर
Ans. (b) : बादामी और पट्टदकल के बीच में स्थित महाकूटेश्वर मन्दिर समूह नागर शैली के शिखर से युक्त त्रिरथ प्रकार के मन्दिर है। इस समूह के मंदिरों में सगमेश्वर मंदिर प्राचीनतम है जिसका निर्माण विजयादित्य (697-733 ई.) के शासनकाल मे 725 ई. के आसपास हुआ था। इस मंदिर का विमान (गर्भगृह) की बनावट त्रिरथ प्रकार की है जिसका दोहरी दीवालों से युक्त साधार आदितल है। स्तम्भयुक्त वाह्य प्राचीर विमान के सामने स्थित अर्द्धमण्डप का निर्माण करती हैं।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


29. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): राष्ट्रवादी इतिहास लेखन ने भारतीय संस्कृति के आध्यात्मिक घटक तथा पश्चिमी संस्कृति के भौतिकवादी आधार को एक आवश्यक और अंतर्निहित अंतर के रूप में देखा। कारण (R) : यह अंशत: उस विचार की प्रतिक्रिया थी जिसकी यह धारणा थी कि धर्म भारत के पारंपरिक समाज में एक ऐसा केन्द्रीय कारक था जिसने प्रगति को अवरुद्ध किया। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही है परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (a) : राष्ट्रवादी इतिहास लेखन ने भारतीय संस्कृति के आध्यात्मिक घटक तथा पश्चिमी संस्कृति के भौतिकवादी आधार को एक आवश्यक और अंतर्निर्हित अंतर के रूप में देखा क्योंकि यह अंशत: उस विचार की प्रतिक्रिया थी जिसकी यह धारणा थी कि धर्म भारत के पारंपरिक समाज में एक ऐसा केन्द्रीय कारण था जिसने प्रगति को अवरूद्ध किया। अत: विकल्प (a) सही है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


निम्नलिखित परिच्छेद को पढ़े और नीचे दिए गए प्रश्न (30-31) के उत्तर दें :
पूर्व मध्यकाल के राजनीतिक इतिहास में राज्यों और भूमि अनुदानों का विस्तार देखने को मिला। ब्राह्मणों को दिए जाने वाले भूमि-अनुदानों ने राजनीतिक शक्ति के विधिमान्यकरण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई और कृषि सम्बन्धो पर उसका महत्त्वपूर्ण प्रभाव पड़ा। उपमहाद्वीप के विभिन्न भागों में कृषि का विस्तार हुआ और ग्रामीण समाज अत्यधिक स्तरीकृत बन गया। यह शहरी अवनति का काल नहीं था। यह दक्षिण भारत को देखने से बिल्कुल स्पष्ट है कि यहाँ शिल्पों‚ शहरों‚ व्यापार और व्यापार संघो का पर्याप्त विकास हुआ। उपमहाद्वीप‚ चीन और दक्षिण-पूर्व एशिया के बीच व्यापारिक सम्बन्धों में काफी विस्तार हुआ। भक्ति पूजा धार्मिक विचार और व्यवहार की प्रमुख विशेषता थी। मंदिर न केवल पवित्र स्थल थे‚ बल्कि शहरी केन्द्रो के मूल और राजनीतिक प्रतीक भी थे। उन्हें पर्याप्त संरक्षण मिला जिसके कारण वे विभिन्न सामाजिक समूहों के क्रियाकलापों और आकांक्षाओं के केन्द्र बिन्दु बन गए। संस्कृत और देशी भाषाओं में अनेक पुस्तकों की रचना सहित सांस्कृतिक क्षेत्र में पर्याप्त विकास हुआ। मदिर मूर्तिकला का विकास और परिष्करण हुआ‚ विभिन्न क्षेत्रीय शैलियाँ स्पष्ट दिखाई पड़ने लगी। 600 से 1200 ई. के दौरान राजनीतिक‚ सामाजिक‚ आर्थिक और सांस्कृतिक स्तरों पर घटनाक्रम ने विशिष्ट क्षेत्रीय संघटनों और प्रतिमानों में निश्चित रूप धारण किया।
30. यहाँ इंगित ‘पूर्व मध्यकाल’ का प्रारंभ लगभग कब हुआ?
(a) 1206 ई. (b) 12वीं शताब्दी
(c) 11वीं शताब्दी (d) 600 ई.
Ans. (d) : उपरोक्त परिच्छेद में इंगित ‘पूर्व मध्यकाल’ का प्रारंभ लगभग 600 ई. में हुआ।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


31. ब्राह्मणों को दिए गए भूमि-अनुदानों का क्या परिणाम हुआ?
(i) उन्होंने शासकों की स्थिति को सुदृढ़ किया।
(ii) इससे कृषि का विकास हुआ क्योंकि प्राय:
अनुदान प्राप्तकर्ता को खेती के तहत्‌ नई भूमि लानी पड़ती थी।
(iii) भेदभावविहीन ग्रामीण समाज का और स्तरीकरण हुआ।
(iv) धार्मिक संस्थाओं और व्यक्तियों को भूमि-अनुदान प्रदान करने की प्रथा की शुरूआत 600 ई. से हुई। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें :
(a) (i), (ii), (iii), (iv) (b) (i), (ii), (iii)
(c) (i), (iii), (iv) (d) (ii), (iii), (iv)
Ans. (b) : उपरोक्त परिच्छेद के अनुसार ब्राह्मणों को दिए गए भूमि-अनुदानों का निम्नलिखित परिणाम हुआ। (i) उन्होंने शासकों की स्थिति को सुदृढ़ किया। (ii) इससे कृषि का विकास हुआ क्योंकि प्राय: अनुदान प्राप्तकर्ता की खेती के तहत नई भूमि लानी पडती थी। (iii) भेदभाव विहीन ग्रामीण समाज का और स्तरीकरण हुआ।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


32. गुरुनानक के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a) जब नानक सोलह वर्ष के थे‚ तभी उनके माता-पिता ने उनकी शादी कर दी‚ बाद में वह एक व्यापारी और किसान बन गए।
(b) भाई मर्दाना की गुरु नानक से मुलाकात हुई और वे आजीवन मित्र बने रहे।
(c) उन्होंने हिन्दु और सूफी धार्मिक स्थलों के दर्शन करते हुए पानीपत से असम की यात्रा की।
(d) वह श्रीलंका गये‚ परन्तु कश्मीर जाने की तीव्र इच्छा के बावजूद वहाँ नहीं जा पाये।
Ans. (*) : इस प्रश्न का कोई उत्तर सही नहीं है। आयोग ने इसका उत्तर नहीं घोषित किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


33. निम्नलिखित में से कौन-से विद्वानों ने 1579 ई. में महजर का प्रारूप तैयार किया था?
(a) अबुल फजल और शेख मुबारक
(b) शेख मुबारक और अब्दुन नबी
(c) अब्दुन नबी और बदायूनी
(d) शेख मुबारक और फैजी
Ans. (d) : 1579 ई. में अकबर ने महजर जारी किया। महजर जारी करने की प्रेरणा शेख मुबारक तथा उसके पुत्रों फैजी तथा अबुल फजल द्वारा दी गई थी। महजर ने अकबर को यह अधिकार दिया कि उलमा में किसी विषय पर मतभेद होने की दशा मे वह साम्राज्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए किसी एक विचार को जिसे वह सर्वोत्तम समझे‚ मान्यता दे सकता है। शेख मुबारक ने महजर का प्रारूप तैयार किया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


34. निम्नलिखित में से कौन-सी फारसी पुस्तक में कपास धुनने के चाप का प्रारंभिक साहित्यिक संदर्भ मिलता है?
(a) मिफ्ताह-उल फुजाला
(b) काव्वाज लेक्सिकन
(c) सीरत-ए फिरोजशाही
(d) फुतुहात-ए फिरोजशाही
Ans. (b) : फारसी पुस्तक काव्वाज लेक्सिकन में कपास धुनने के चाप का प्रारंम्भिक साहित्यक संदर्भ मिलता है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


35. शाहजहाँ पहला मुगल बादशाह था जिसने माहीमरातिब नामक एक नए ध्वज की शुरूआत की। इसे किसी व्यक्ति को प्रदत्त सर्वोच्च सम्मान माना जाता था। शाहजहाँ से पहले कौन-सा भारतीय शासक इसे प्रदान किया करता था?
(a) सिंध के अरब शासक (b) दिल्ली के सुल्तान
(c) दिल्ली के सूर (d) मालवा के सुल्तान
Ans. (b) : माही-मरातिब नामक एक ध्वज जो कि मुगल काल मे किसी व्यक्ति को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान था तथा यह केवल उनको दिया जाता था जिनकी रैंक 7 हजार या ऊपर की होती थी। यह ध्वज शाहजहा के समय प्रदान किया जाने लगा। इसके पूर्व यह झण्डा दिल्ली सल्तनत के सुल्तानों द्वारा दिया जाता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


36. शॉहजँहानाबाद में साहिबाबाद बगीचे का निर्माण किसने करवाया था‚ जिसे धनी व्यापारियों के लिए सराय के रूप में उपयोग किया जाता था?
(a) नूरजहाँ (b) रोशन आरा बेगम
(c) जहाँ आरा बेगम (d) जीनत-उन निसा
Ans. (c) : जहांआरा बेगम शाहजहां की पुत्री थी। शाहजहांनाबाद का नक्शा जहांआरा बेगम ने ही बनवाया था। चांदनी चौक तथा शॉहजँहानाबाद में स्थित साहिबाबाद का बगीचे का निर्माण भी जहां आरा बेगम ने करवाया था। ‘साहिबाबाद का बगीचा’ बेगम का बाग के नाम से भी जाना जाता था। इसमें धनी व्यापारियों तथा यात्रियों के लिए एक सराय भी बनवायी गई थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


37. ‘‘उसने सड़को पर सुरक्षा सुनिश्चित करने और यात्रियों को सुविधाएँ प्रदान करने के लिए राजमार्ग पर दो कोस की दूरी पर सरायों का निर्माण कराया। यहाँ यात्री बिस्तर और पका भोजन प्राप्त कर सकते थे। बिना पके भोजन की आपूर्ति की भी व्यवस्था थी। उसने ऐसी लगभग 1700 सरायों का निर्माण कराया।’’ यह शासक कौन है?
(a) इब्राहिम लोदी (b) शेरशाह
(c) अकबर (d) शाहजहाँ
Ans. (b) : शेरशाह ने सड़को को सुरक्षित करने और यात्रियों की सुविधा के लिए उसने दो-दो करोह (कोस) अर्थात चार-चार मील की दूरी पर सराएं बनाई। हिन्दुओं और मुसलमानों के लिए इन सरायों में अलग-अलग खण्ड बनवाए गए‚ जहाँ उन्हें चारपाई बिस्तर तथा भोजन मिल सकते थे। मुसलमानों के लिए मुसलमान और हिन्दुओं के लिए ब्राह्मण रसोइए रखे गए। जो हिन्दु जातिगत नियम के कारण स्वयं खाना पकाते थे उनके लिए अनपक्की खाद्य सामग्री की भी व्यवस्था की गई।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


38. भारत में से किस उत्पाद की शुरूआत पुर्तगालियों द्वारा नहीं की गई थी?
(a) तम्बाकू (b) पान
(c) काजू (d) अनन्नास
Ans. (b) : पान का उद्‌भव स्थल दक्षिणी पूर्वी एशिया का मलाया द्वीप है। इसके अनेक नाम है यथा तांबूल‚ नागवल्ली‚ नागवल्लीदल‚ तांबूली‚ पर्ण‚ नागरबेल आदि।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


39. निम्नलिखित कथन को पढ़कर नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें :
‘‘समाजशाध्Eिायो ने यह बताया है कि जातियाँ भी ‘संस्कृतीकरण’ के रूपों के अंतर्गत अपने व्यवसायों के साथ-साथ अपने दर्जें में कैसे परिवर्तन करती हैं।’’ ‘संस्कृतीकरण’ के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया था?
(a) कार्ल मार्क्स (b) एम.एन. श्रीनिवास
(c) रोमिला थापर (d) मैक्स वैबर
Ans. (b) : भारत मे धार्मिक‚ सांस्कृतिक और सामाजिक परिवर्तनों की कुछ विशेषताओं की व्याख्या के लिए डॉ. श्री श्रीनिवास ने अपनी पुस्तक ‘दक्षिण भारत के कुर्गो मे धर्म और समाज में सर्वप्रथम संस्कृतिकरण की अवधारणा का प्रयोग किया। श्रीनिवास के अनुसार संस्कृतिकरण वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से तथाकथित निम्न जातियां‚ उच्चतर वर्णो विशेषतया ब्राह्मणों के विश्वासों‚ संस्कारों‚ जीवन शैली तथा दूसरे सांस्कृतिक प्रतिमानों को अपना लेती हैं।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


40. अलाउद्दीन की कृषि व्यवस्था में गियासुद्दीन तुगलक द्वारा अनेक परिवर्तन किए गए। इस संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा सही नहीं है?
(a) उसने किसानों का बोझ कम करने के लिए हुक्म-ए मसाहत (माप) के स्थान पर हुक्म-ए हासिल (फसल बँटाई) को अपनाया।
(b) गियासुद्दीन ने ग्राम प्रमुखों को साधारण किसानों के स्तर पर लाने के अलाउद्दीन के सिद्धान्त में विश्वास नहीं किया और उनकी परिलब्धियों का बहाल किया।
(c) उसने खेती और चरागाह को कर-निर्धारण से छूट प्रदान की।
(d) उसने भू-राजस्व की प्रथा को भी जारी रखा और उसे प्रोत्साहित किया।
Ans. (d) : गियासुद्दीन तुगलक 1320-1325 ई. तक दिल्ली का सुल्तान रहा। उसकी आर्थिक नीतियों का आधार रस्मेंमियान थी अर्थात्‌ संयम‚ सख्ती एवं नरमी के बीच एक संतुलन ले के चलना। उसने अलाउद्दीन खिलजी की कृषि व्यवस्था में अनेक परिवर्तन किए यथा – (1) किसानों का बोझ कम करने के लिए हुक्म ए-मसाहत (माप) के स्थान पर हुक्म-ए-हासिल (फसल बटाई) को अपनाया। (2) ग्राम प्रमुखों को साधारण किसानों के स्तर पर लाने के अलाउद्दीन के सिद्धान्त पर विश्वास नहीं किया और उनकी परिलब्धियों को बहाल किया। (3) खेती और चारागाह को कर निर्धारण से छूट प्रदान की।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


41. निम्नलिखित में से कौन-सा राजस्व अनुदान धार्मिक बुद्धिजीवियों को नहीं दिया जाता था?
(a) आमलक (b) इदरार
(c) इनाम (d) औकाफ
Ans. (d) : आमलक‚ इदरार तथा इनाम राजस्व अनुदान धार्मिक बुद्धिजीवियों को दिया जाता था। औकाफ ‘वक्फ परिसंपत्तियां’ होती थीं। ‘वक्फ’ शब्द अरबी भाषा के ‘वकुफा’ शब्द से व्युत्पन्न है जिसका अर्थ है रोक कर अथवा बांध कर रखना।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


42. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): पूर्व मध्यकाल में सामंतवाद की कुछ महत्त्वपूर्ण विशेषताएँ पायी जाती थीं‚ परंतु यह यूरोपीय सामंतवाद से काफी भिन्न था। कारण (R) : दक्षिण भारत में पूर्व मध्यकाल शहरी विकास का काल था जैसा कि शिल्पों‚ व्यापार‚ व्यापार संघों और शहरी केन्द्रो के विकास से स्पष्ट है। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही है और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही है परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (b) : पूर्व मध्यकाल में भारत में सामंतवाद की कुछ महत्त्वपूर्ण विशेषताएं पायी जाती थी परन्तु यह यूरोपीय सामंतवाद से इस अर्थ में भिन्न था कि भारतीय सामंतवाद में कृषि दासता (सर्फदम) एवं मैनर व्यवस्था का अभाव दिखता है। इसलिए भारतीय सामंताद को अर्द्ध सामंती कहा गया है। दक्षिण भारत में पूर्व मध्यकाल शहरी विकास का काल था जैसा कि शिल्पों‚ व्यापार‚ संघो और शहरी केन्द्रो के विकास से स्पष्ट है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


43. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची-I सूची- II (दोत) (क्षेत्र)
(A) चचनामा (i) गुजरात
(B) रियाज उल सलातिन (ii) दक्कन
(C) मिरात-ए अहमदी (iii) बंगाल
(D) नुस्खा-ए दिलकुशा (iv) सिंध नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(iv); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(i)
(b) (A)-(iv); (B)-(iii); (C)-(ii); (D)-(i)
(c) (A)-(iii); (B)-(ii); (C)-(i); (D)-(iv)
(d) (A)-(iii); (B)-(i); (C)-(ii); (D)-(iv)
Ans. (*) : सूची- I सूची- II (दोत) (क्षेत्र) (A) चचनामा सिंध (B) रियाज उल सलातिन बंगाल (C) मिरात-ए अहमदी गुजरात (D) नुस्खा-ए दिलकुशा दक्कन
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


44. ‘‘सूफीवाद तब सर्वेश्वरवादी बनना शुरू हुआ जब इब्र अल-अरबी (1240 में मृत्यु) के विचार सबसे पहले जलालुद्दीन रूमी (1207-73) और अब्दुर रहमान जउनी
(1414-92) के फारसी काव्य और उसके बाद अशरफ जहाँगीर सिमनोनी (पंद्रहवी शताब्दी के प्रारम्भ) के भारत के भीतर प्रयासों पर अपना प्रभाव डालने लगे। इसी समय शंकराचार्य की वेदांत विचाधारा के सर्वेश्वरवाद का प्रभाव ब्राह्मणवादी विचारों के भीतर लगातार बढ़ रहा था।’’ निम्नलिखित में से वह कौन-सा मुगल शासक था जिसने सबसे पहले इस विचार को पहचाना?
(a) बाबर (b) अकबर
(c) जहाँगीर (d) औरंगजेब
Ans. (c) : अकबर की भाँति जहाँगीर भी दरवेशों‚ संतो और विभिन्न पंथो के धार्मिक चिंतको से मिलने और संलाप करने को हमेशा उत्सुक रहता था‚ और उन्हें दानों-अनुदानों से नवाजा करता था। जहांगीर को सर्वाधिक शांति वेदांत के अनुयायियों कें मध्य मिलती थी। वेदांत को वह तसब्बुफ शास्त्र कहता था। उनसे सानिध्य स्थापित करने के प्रयत्न के सिलसिले में वह अपने शासन काल के ग्यारहवें वर्ष (1616) में उज्जैन निवासी जदरूप गोसाई से मिला था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


45. ताप्ती नदी के किनारे लगभग 1400 ई. में बुरहानपुर शहर की स्थापना किसने की थी?
(a) नासिर खाँ फारुकी (b) मुहम्मद कुली
(c) इब्राहिम आदिल शाह (d) सुल्तान कुली
Ans. (a) : बुरहानपुर मध्यप्रदेश में ताप्ती नदी के किनारे स्थित खानदेश का एक प्रख्यात नगर है। इसकी स्थापना लगभग 1400 ई. में फारूकी वंश के सुल्तान नासिर खां फारूकी द्वारा की गई थी। अकबर ने 1599 ई. में बुरहानपुर पर अधिकार कर लिया तथा 1601 ई. मे खानदेश को मुगल साम्राज्य में मिला लिया। बुरहानपुर‚ खानदेश की राजधानी था। 1631ई. में इसी स्थान पर मुमताज महल की मृत्यु हुई थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


46. मीर जुमला ने अहोम राज्य पर हमला करके अहोम की राजधानी गढ़गाँव पर कब्जा कर लिया। 1663 ई. में अहोम राज्य और उसके बीच एक सन्धि हुई। अहोम ने किस वर्ष मुगलों को कुल हाजो को छोड़ने और मानस नदी को सीमा के रूप में स्वीकार करने के लिए बाध्य किया?
(a) 1667 (b) 1681
(c) 1685 (d) 1689
Ans. (b) : औरंगजेब ने मीर जुमला को बंगाल का गवर्नर नियुक्त किया था। मीर जुमला ने मार्च 1662 को असम के अहोम राज्य पर हमला करके अहोम की राजधानी गढ़गॉव पर कब्जा कर लिया। 1663 ई. में अहोम राज्य और उसके मध्य एक सन्धि हुई। अहोमो ने जुमला की मृत्यु के पश्चात्‌ 1681 में पुन: मुगलों के कूच हाजी को छोड़ने तथा मानस नदी को सीमा के रूप में स्वीकार करने के लिए बाध्य किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


47. निम्नलिखित में से कौन-से दोत सिन्ध के इतिहास से सम्बन्धित हैं?
(i) फतवा-ए जहाँदारी (ii) मिरात-ए सिकन्दरी
(iii) तारीख-ए ताहिरी (iv) मतहर-ए शाहजहानी नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें:
(a) केवल (i) और (ii) (b) केवल (ii), (iii) और (iv)
(c) (i) और (iii) (d) केवल (iii) और (iv)
Ans. (d) : तारीख-ए ताहिरी‚ मीर ताहिर‚ मुहम्मद नास्यानी द्वारा लिखी गई थी जबकि मजहर-ए-शाहजहानी के लेखक यूसुफ मिराक थे। ये पुस्तके सिंध का इतिहास जानने हेतु महत्त्वपूर्ण दोत हैं।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


48. 18वीं शताब्दी के दोत ‘तुहफात-उल हिन्द’ में निम्नलिखित में से किस बोली में विशाल शब्दावली दी गई है?
(a) ब्रज (b) अवधी
(c) राजस्थानी (d) गुजराती
Ans. (a) : मिर्जा खां द्वारा रचित तुहफत उल हिन्द मध्यकालीन अत्यंत प्रसिद्ध कोश है। इस पुस्तक में ब्रजभाषा के क्षेत्र का उल्लेख किया है। 18वीं शताब्दी में रचित इस पुस्तक मे ब्रजभाषा के विशाल शब्दावलियों का संग्रह मिलता है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


49. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची-I सूची- II
(A) मलिक सरवर (i) गुजरात सल्तनत
(B) जफर खाँ (ii) बहमनी सल्तनत
(C) दिलावार खाँ गौरी (iii) जौनपुर सल्तनत
(D) अलाउद्दीन हसन (iv) मालवा सल्तनत नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(iii); (B)-(iv); (C)-(i); (D)-(ii)
(b) (A)-(ii); (B)-(i); (C)-(iv); (D)-(iii)
(c) (A)-(iii); (B)-(i); (C)-(iv); (D)-(ii)
(d) (A)-(iv); (B)-(iii); (C)-(ii); (D)-(i)
Ans. (c) : सूची- I सूची- II (A) मलिक सरवर जौनपुर सल्तनत (B) जफर खाँ गुजरात सल्तनत (C) दिलावार खाँ गौरी मालवा सल्तनत (D) अलाउद्दीन हसन बहमनी सल्तनत
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


50. निम्नलिखित में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
(a) इब्नबतूता भारत में उत्पादित आम का बढ़ाचढ़ाकर वर्णन करता है।
(b) वह गुठली बोकर उसके उत्पादन का उल्लेख करता है।
(c) इब्नबतूता उल्लेख करता है कि भारत में आम की कलम बाँधने की प्रथा थी। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर चुनिए :
(a) केवल (a) (b) केवल (c)
(c) (a) और (b) (d) (b) और (c)
Ans. (c) : इब्नबतूता मोरक्को का एक यात्री था जो मुहम्मद बिन तुगलक के शासनकाल में भारत आया था। उसने भारत में उत्पादित आम का बढ़ाचढ़ाकर वर्णन किया है। उसके अनुसार भारत के लोग कच्चे आम का आचार बनाते हैं तथा पके हुए फल चूस कर या काट कर खाते हैं। इब्नबतूता आम की गुठली बोकर उसके उत्पादन का उल्लेख करता है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


51. अलाउद्दीन खिलजी की मौत के बाद उसकी मूल्य नियंत्रण व्यवस्था ध्वस्त हो गई और कुतुबुद्दीन मुबारक खिलजी के शासनकाल में कीमतो में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई। निम्नलिखित में से कौन-सा इतिहासकार/यात्री मुबारक खिलजी के शासनकाल के दौरान बढ़ती कीमतों के बारे में उल्लेख करता है?
(a) शेख मुबारक (b) याहया बिन अहमद सरहिंदी
(c) शैफुद्दीन अली यजदी (d) मिर्जा हैदर दुगलत
Ans. (a) : अलाउद्दीन खिलजी की मौत के बाद उसकी मूल्य नियंत्रण व्यवस्था ध्वस्त हो गई और कुतुबुद्दीन मुबारक खिलजी के शासनकाल में कीमतों में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई जिसका उल्लेख शेख मुबारक ने किया है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


52. निम्नलिखित में से कौन-से कथन सहीं है?
(i) पूर्व मध्यकालीन-भारत में साम्प्रदायिक धार्मिक समूहों का विकास हुआ। इनमें से भक्ति पूजा पर बल देने वाले सिद्धांतवादी सम्प्रदाय लोकप्रिय हुए।
(ii) मंदिर राजनीतिक‚ सामाजिक‚ सांस्कृतिक और आर्थिक कार्यों के गतिशील स्थल बन गए।
(iii) पूर्व मध्यकालीन भारत के शहरी केन्द्रो को दो वर्गो में विभाजित किया जा सकता है – इनमे से एक को प्रशासनिक शहर और दूसरे को वाणिज्यिक शहर कहा जा सकता है।
(iv) चँूकि मंदिरों ने विभिन्न सामाजिक समूहों को आकृष्ट किया‚ इस प्रकार उन्होंने अपवर्जन के पक्षधरो का विरोध किया। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें :
(a) (i), (ii), (iv) (b) (ii), (iii), (iv)
(c) (i), (ii), (iii) (d) (i), (ii)
Ans. (a) : पूर्व मध्यकालीन भारत में साम्प्रदायिक धार्मिक समूहों का विकास हुआ। इनमे से भक्ति पूजा पर बल देने वाले सिद्धांतवादी सम्प्रदाय लोकप्रिय हुए। इस काल में मंदिर राजनीतिक सामाजिक‚ सांस्कृतिक और आर्थिक कार्यो के गतिशील स्थल बन गए। चूंकि मंदिरो ने विभिन्न सामाजिक समूहों को आकृष्ट किया इस प्रकार उन्होंने अपवर्जन के पक्षधरों का विरोध किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


53. भारत और उज्बेकिस्तान के दो बादशाहों के नाम बताइए जो हिन्दू-कोह या हिन्दूकुश को दोनों साम्राज्यों की सीमा तय करने पर सहमत हुए।
(a) अकबर और अब्दुल्ला खाँ उज्बेक
(b) जहाँगीर और अब्दुल्ला खाँ उज्बेक
(c) जहाँगीर और अब्दुल मुमीन उज्बेक
(d) शाहजहाँ और इमाम कुली
Ans. (a) : सन्‌ 1583 में अब्दुल्ला खां उज्बेक ने तैमूरी शासन शाहरूख मिर्जा से बल्ख छीन लिया और उसके बाद 1585 में बदख्शां को भी जीत लिया। मिर्जा हकीम की मृत्यु के बाद (1585) अकबर ने काबुल को अपने साम्राज्य मे मिला लिया। इस प्रकार अब मुगल और उज्बेक सीमाएं एक दुसरे से लग गई। अकबर ने हकीम हुमां नामक अपने एक वकील को एक पत्र और मौखिक संदेश के साथ अब्दुल्ला के पास भेजा जिसके पश्चात्‌ हिन्दुकुश को दोनों राज्यों के मध्य की सीमा तय करते हुए एक समझौता हो गया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


54. सिखों द्वारा मुक्त रसोई (लंगर) की अवधारणा कहाँ से अपनाई गई थी?
(a) हिन्दू मंदिरों से (b) गिरिजाघरों से
(c) सूफी दरगाहों से (d) शंकराचार्य के मठों से
Ans. (c) : लंगर प्रथा लगभग 15वीं सदी में शुरू हुई थी। श्री गुरूनानक देव जी के प्रवचन‚ यात्राएं सम्पर्क सूत्रों से स्पष्ट होता है कि वह भूमि पर बैठकर साथियों‚ श्रद्धालुओं के साथ भोजन करते थे। किन्तु गुरु अमरदास जी ने लंगर की नियमित प्रथा शुरू की थी। लंगर अथवा मुक्त रसोई की अवधारणा सिक्ख गुरूओं ने सूफी दरगाहों अथवा खानकाहों से अपनाई थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


55. lekeâeJeer ऋणों के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौनसे कथन सहीं नहीं है?
(i) ये कृषि प्रयोजनों हेतु किसानों को दिए जाते थे।
(ii) ये व्यापारिक प्रयोजनों हेतु व्यापारियों को दिए जाते थे।
(iii) ये चौधरियों और मुकद्दमों के माध्यम से दिए जाते थे‚ जो अलग-अलग किसानों को वितरण करते थे।
(iv) चौधरी और मुकद्दम उनकी अदायगी के लिए गारंटी नहीं देते थे। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें:
(a) केवल (i), (ii) और (iii)
(b) केवल (i), (ii) और (iii)
(c) (i), (ii), (iii), (iv)
(d) केवल (ii) और (iv)
Ans. (d) : मुहम्मद बिन तुगलक ने कृषि से सम्बन्धित एक नए विभाग दीवान-ए-अमीर कोही की स्थापना की थी जो राज्य की तरफ से सोन्धर अथवा तकावी ऋण प्रदान करता था। ये कृषि कार्य हेतु दिए जाते थे जो कि चौधरियों और मुकद्दमों के माध्यम से किसानों को वितरण किए जाते थे।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


56. कश्मीर में ऋषि सिलसिला का संस्थापक कौन था?
(a) सैय्यद मुहम्मद हमदानी (b) शेख अब्दुल कादिर
(c) शेख नूरुद्दीन (d) बाकी बिल्लाह
Ans. (c) : सूफी विचाधारा से प्रेरित ऋषि आंदोलन कश्मीर मे शेख नुरुद्दीन ऋषि द्वारा चलाया गया। कश्मीर में 15वीं-16वीं सदियो मे सूफीवाद के ऋषि पंथ का उदय हुआ। शेख नूरुद्दीन ऋषि को नन्द ऋषि के नाम से भी जाना जाता है जिसने कश्मीर के लोगों के जीवन पर गहरा प्रभाव डाला।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


57. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सहीं नहीं है?
(a) बलूतेदारों से यह अपेक्षा की जाती थी कि जरूरत पड़ने पर वे अपनी क्षमता के अनुसार ग्रामीणों की सेवा करें।
(b) उनका पारिश्रमिक हमेशा वस्तु के रूप में दिया जाता था।
(c) वे गाँव के मंदिरों के चढ़ावे का एक निश्चित हिस्सा और विशेष अवसरो पर कुछ अन्य परिलब्धियों के पात्र थे।
(d) स्थायी बलूतेदारों के सेवा के अधिकार और विभिन्न पारिश्रमिक प्राप्त करने के अधिकार को उके मिरास या वतन के रूप मे मान्यता प्रदान की गई थी।
Ans. (b) : महाराष्ट्र में ग्रामीण सेवक मुख्यतया कारीगर होते थे और दक्कन में ग्रामीण समाज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होते थे। उन्हें बलूतेदार कहा जाता था और उनकी आय को बलूता कहा जाता था जो कृषि उपज के हिस्से के रूप में होती थी। बारह शब्द का प्रयोग आमतौर पर बलूता से पहले किया जाता था। बारह बलूतों में तीन श्रेणियों को वर्गीकृत किया जाता था जिन्हें कास या ओल कहा जाता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


58. फ्रांसीसी यात्री जॉन-बैप्टिस्ट टैवर्नियर ने गोलकोंडा के राजधानी नगर को क्या नाम दिया था?
(a) गोलकोंडा (b) भागनगर
(c) फलकनुमा (d) हैदराबाद
Ans. (b) : जीन बैप्टिस्ट टैवर्नियर 17वीं शताब्दी में भारत की यात्रा करने वाला एक फ्रांसीसी यात्री तथा मणि व्यापारी था। अपनी गोलकुण्डा यात्रा के दौरान उसने गोलकुण्डा की राजधानी को ‘भागनगर’ नाम दिया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


59. मंगोल खाँ तरमाशरीन ने निम्नलिखित में से किस तुगलक शासक के शासनकाल में भारत पर आक्रमण किया था?
(a) गियासुद्दीन तुगलक (b) मुहम्मद बिन तुगलक
(c) फिरोज शाह तुगलक (d) सुल्तान मुहम्मद
Ans. (b) : तरमाशरीन ने मोहम्मद बिन तुगलक के शासनकाल में 1322 ई. में भारत पर आक्रमण किया था। मुहम्मद तुगलक ने उसे 5000 दीनार की सहायता देकर वापस भेज दिया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


60. निम्नलिखित में से कौन-से कर मुक्त व्यापार सुविधाएँ प्रदान करने और करों में कमी किए जाने की श्रेणी में आते हैं?
(a) साइर-दाम (b) मुकाता
(c) मापा (d) राहदारी नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें :
(a) (a) और (b) (b) (b) और (c)
(c) (b) और (d) (d) (a), (c) और (d)
Ans. (d) : साइरदाम‚ मापा तथा राहदारी कर मुद्रा व्यापार सुविधाएं प्रदान करने और करों में कमी किए जाने की श्रेणी में आते हैं।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


61. सिख धर्म के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-से कथन सहीं हैं?
(i) 1750 ई. के दशक से सिख दल और मिसल (समूह) अलग-अलग प्रमुखों (सरदारों) के नेतृत्व में अधिक से अधिक शक्तिशाली बन गए जिन्होंने अत्यंत पेशेवर तरीके से हथियारबंद सैनिक संगठित किए।
(ii) चक गुरु (अमृतसर) में वार्षिक ‘सरबत खालसा’ के आयोजन की प्रथा थी‚ परंतु आपसी मतभेद के कारण प्रत्येक सरदार ने अपने लिए अलग क्षेत्र के निर्माण का इरादा बनाया।
(iii) इस प्रक्रिया पर अंत में रणजीत सिंह (1780-1839) ने रोक लगाई‚ उन्होने खालसा के नाम से पंजाब में एक राज्य की स्थापना की।
(iv) सभी गुरु खत्री थे‚ परंतु सत्रहवीं शताब्दी में उनके सेनापति अर्थात्‌ मसंद अधिकांशत: जाट थे। नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करे :
(a) केवल (i), (ii) और (iv)
(b) केवल (ii), (iii) और (iv)
(c) (i), (ii), (iii), (iv)
(d) केवल (iii) और (iv)
Ans. (c) : मिसलें छोटे राजनीतिक सिक्ख क्षेत्र थे। मुगल बहादुरशाह की 1710 को प्रसारित राजाज्ञा से बड़े पैमाने पर सिक्खों का उत्पीड़न हुआ। आगे फर्रूखसियर ने भी इसी नीति को जारी रखा। अतएव सिक्खों ने अपने को तरुड़ दल तथा बुड्ढा दल में संगठित किया। आगे चलकर इन्ही से अनेक राज्यसंघ बने जो मिसले कहलाई।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


62. 600 से 1200 ई. के बीच की अवधि के दौरान क्षेत्रीय संघटनों के उदय के लिए निम्नलिखित मे से क्या प्रासंगिक नहीं है?
(i) संस्कृत ग्रन्थों का विकास
(ii) देशी भाषाओ का विकास
(iii) स्थापत्यकला और कला का परिष्करण
(iv) कला और स्थापत्यकला की विशिष्ट क्षेत्रीय शैलियों का उदय नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर का चयन करें :
(a) (ii), (iv) (b) (iii), (iv)
(c) (i), (iii) (d) (i), (ii)
Ans. (c) : 600 ई. से 1200 ई. (पूर्व मध्यकाल) के बीच की अवधि के दौरान क्षेत्रीय संघटनों के उदय हेतु प्रासंगिक बिन्दु थे – देशी भाषाओं का विकास‚ कला और स्थापत्यकला की विशिष्ट क्षेत्रीय शैलियों का उदय। जबकि संस्कृत ग्रंथो का विकास और स्थापत्य कला और कला का परिष्करण प्रासंगिक नहीं है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


63. संगीत के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सहीं नहीं है?
(a) शात्रीय संगीत से सम्बन्धित कृति लज्जत-ए सिकंदरी की रचना सुल्तान सिकंदर के संरक्षण में हुई थी।
(b) अबुल फजल ने छत्तीस संगीतकारों के नाम बताए है‚ जिन्होंने अकबर के दरबार में स्वर और वाद्य संगीत बजाया था।
(c) शाहजहाँ ने अपने दरबार में न तो संगीत को प्रोत्साहित किया और न संगीतकारों को पुरस्कार प्रदान किए। उसकी रुचि स्थापत्यकला में थी।
(d) औरगजेब ने अपने शासनकाल के प्रारंभिक दस वर्षों के दौरान सामान्यत: संगीतकारों को पुरस्कार प्रदान किये और ऐसा लगता है कि वह संगीत के प्रति समर्पित था।
Ans. (c) : शाहजहाँ अत्यन्त रसिक एवं संगीत मर्मज्ञ था। वह दीवाने खास में प्रतिदिन संगीत सुना करता था। वह स्वयं एक अच्छा गायक था। शाहजहाँ के दरबार में लाल खाँ‚ खुशहाल खां एवं विलास खां प्रमुख संज्ञीतज्ञ थे। शाहजहाँ के काल में भी संगीत की नई-नई शैलियों का विकास हुआ था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


नोट- (64 – 68 के लिए) निम्नलिखित परिच्छेद को पढ़े और उसके बाद दिए गए प्रश्नों के उत्तर दें :
जहाँगीर ने दो बार लाहौर से लगभग 29 कि.मी. दूर शिकार महल के रूप में उपयोग किए जाने वाले एक मीनार‚ तालाब और मंडप का उल्लेख करता है। आज इस जगह को शेखपुरा के नाम से जाना जाता है‚ परन्तु जहाँगीर ने 1606 में इसे जहाँगीरपुरा कहा है और उसके बाद 1620 में इसे जहाँगीराबाद कहता है‚ इन दोनों का अर्थ है जहाँगीर का शहर‚ इसमें जहाँगीराबाद अधिक भावात्मक रूप है। यहाँ जहाँगीर के प्रिय लंगड़े हिरण की 1606 में मौत हुई थी‚ उसे एक कब्र में दफना दिया गया था। और उसके ऊपर हिरण की प्रतिमा और कश्मीर में मुल्ला मुहम्मद हुसैन द्वारा लिखी प्रशस्ति लगा दी गई। इस समाधि प्रस्तर के समीप उस क्षेत्र के जागीरदार सिकंदर मुइन खान की देखरेख में 1606 में लगभग एक मीनार का निर्माण कराया गया था। जहाँगीर के आदेशानुसार सिकंदर मुइन खान ने एक तालाब और राजमहल का भी निर्माण कराया। जब निर्माण कार्य प्रगति पर था‚ उसी समय मुइन की मौत हो गई‚ इसके बावजूद परिसर का निर्माण कार्य 1620 में ठीक प्रकार से पूरा हो गया‚ बाद के चरणों का निर्माण कार्य इरादत खाँ की देखरेख में पूरा हुआ। इसके निर्माण पर इतना अधिक व्यय हुआ था कि बादशाह ने अपने संस्मरणों में इस राशि का उल्लेख किया है। जहाँगीर ने इस स्थल को एक ‘शाही शिकार स्थल’ माना था‚ यद्यपि उसके उत्तराधिकारियों ने इस जगह को अपर्याप्त पाया और 1634 में इसके मंडप के पुनर्निर्माण पर काफी धन व्यय किया।
64. निम्नलिखित मे से किस शहर में अकबर के शासनकाल में निर्मित ‘नीम सराय मीनार’ स्थित है?
(a) पानीपत (b) मालदा
(c) लाहौर (d) मुल्तान
Ans. (b) : अकबर के शासनकाल में निर्माण कार्यो मे हिन्दुमुस्लिम शैलियों का व्यापक समन्वय दिखता है‚ अकबर ने आगरा तथा फतेहपुर सीकरी के अनेक किलों व महलों का निर्माण करवाया। उसके शासनकाल में मालदा में नीम सराय नामक मीनार का निर्माण करवाया गया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


65. जहाँगीर ने अपनी किस पुस्तक में मीनार‚ तालाब और मंडप का दो बार उल्लेख किया है?
(a) मासिर-ए जहाँगीरी (b) तुजुक-ए जहाँगीरी
(c) इकबालनामा-ए जहाँगीरी (d) मजलिस-ए जहाँगीरी
Ans. (b) : तुजुक-ए जहाँगीरी मुगल बादशाह जहांगीर की आत्मकथा है। यह फारसी में लिखी गई है। इस पुस्तक में जहांगीर ने मीनार‚ तालाब तथा मंडप का दो बार उल्लेख किया है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


66. इनमें से किसे शेखू बाबा भी कहा जाता था?
(a) शहजादा कामरान (b) बादशाह हुमायँू
(c) शेख सलीम चिश्ती (d) बादशाह जहाँगीर
Ans. (d) : जहाँगीर का जन्म 31अगस्त 1569 को मुगल सम्राट अकबर की पत्नी मरियम उज्जमानी से हुआ। जहांगीर का जन्म शेख सलीम चिश्ती के आशीर्वाद से हुआ था अत: अकबर उसे प्यार से शेखू बाबा कहकर पुकारता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


67. जहाँगीरपुरा और जहाँगीराबाद दोनों नामो का एक ही अर्थ अर्थात्‌ ‘जहाँगीर का शहर’ है। पुरा शब्द किस भाषा से लिया गया है?
(a) मराठी (b) उर्दू
(c) फारसी (d) संस्कृत
Ans. (d) : ‘पुरा’ शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


68. शेखूपूरा मीनार की योजना अकबर के शासनकाल मे निर्मित हिरण मीनार के समान है। हिरण मीनार निम्नलिखित में से किस शहर में स्थित है?
(a) फतेहपुर सीकरी (b) दिल्ली
(c) आगरा (d) सिकन्दरा
Ans. (a) : हिरन मीनार फतेहपुर सीकरी में स्थित है। इसे अकबर ने अपने प्रिय हाथी‚ हिरन के नाम पर बनवाया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


69. ब्रिटेन ने भारत पर शासन करने का अधिकार कैसे हासिल किया? निम्नलिखित वक्तव्यों पर विचार करें और सही कूट चुने :
(i) 1757 से 1857 के दौरान मुगल साम्राज्य का विघटन और मराठा‚ सिख और अन्य क्षेत्रीय संप्रभुओं द्वारा अर्पण और उनकी विजय।
(ii) ब्रिटिश संवैधानिक विधि और यूरोप में प्रतिपादित ‘लॉ ऑफ नेशन्स’ के अधीन भारत में संप्रभुता में ब्रिटिश संसद का प्राधिकार और सभी सभ्य राष्ट्रों की मान्यता शामिल थी।
(iii) चार्टर प्रदान किए जाने से ईस्ट इंडिया कंपनी को संप्रभुता का दर्जा मिला और पेरिस और वर्सेल्स की संधियों और कांग्रेस ऑफ वियना ने इस दर्जे की अंतर्राष्ट्रीय मान्यता संप्रेषित की।
(iv) 1857 के विद्रोह के दमन के बाद मुगल शहंशाह ने ब्रिटेन को संप्रभुता हस्तांतरित की।े नीचे दिए गए विकल्पों से सही उत्तर चुनिए :
(a) केवल (i) और (ii)
(b) केवल (i), (ii) और (iii)
(c) (i), (ii), (iii) और (iv)
(d) केवल (i) और (iv)
Ans. (b) : ब्रिटेन के भारत पर शासन करने का अधिकार प्राप्त करने में निम्न चरण थे – (1) – 1757 से 1857 के दौरान मुगल साम्राज्य का विघटन और मराठा‚ सिक्ख और अन्य क्षेत्रीय संप्रभुताओं द्वारा अर्पण और उनकी विजय। (2) – ब्रिटिश सवैधानिक विधि और यूरोप में प्रतिपादित ‘लॉ ऑफ नेशन्स’ के अधीन भारत में संप्रभुता में ब्रिटिश संसद का प्राधिकार और सभी सभ्य राष्ट्रो की मान्यता शामिल थी। (3) – चार्टर प्रदान किए जाने से ईस्ट इंडिया कम्पनी को संप्रभुता का दर्जा मिला और पेरिस और ब्रसेल्स की संधियो और कांग्रेस ऑफ वियना ने इस दर्जे की अंतर्राष्ट्रीय मान्यता संप्रेषित की।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


70. भारत में अंग्रेजों की स्थिति में तब सुधार हुआ जब 1632 ईस्वी में उन्हें ‘गोल्डन फरमान’ दिया गया। यह फरमान उन्हें किसने दिया?
(a) मुगल शहंशाह जहाँगीर (b) गोलकुण्डा का सुल्तान
(c) अहमदनगर का सुल्तान (d) बीजापुर का शासक
Ans. (b) : 1632 ई. में अंग्रेजो ने गोलकुंडा के सुल्तान से फरमान प्राप्त कर 500 पैगोडा वार्षिक कर अदा करने के बदले गोलवंâुडा राज्य में स्थित बंदरगाहों से व्यापार करने का एकाधिकार प्राप्त किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


71. निम्नलिखित में से कौन-सा कदम लॉर्ड कर्जन ने नहीं उठाया था?
(a) द कलकत्ता म्युनिसिपल एमैडमेट ऐक्ट
(b) इंडियन यूनिवर्सिटिज ऐक्ट
(c) इंडियन ऑफिशियल्स सीक्रेट्‌स एमेंडमेंट ऐक्ट
(d) वर्नाकुलर प्रेस ऐक्ट
Ans. (d) : वर्नाकुलर प्रेस एक्ट वाइसराय लिटन द्वारा 1878 ई. में पास हुआ था। इस एक्ट ने भारतीय भाषाओं में प्रकाशित होने वाले सभी समाचार पत्रों पर नियंत्रण लगा दिया। किन्तु यह एक्ट अंग्रेजी में प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों पर लागू नही किया गया। इस घृणित अधिनियम को लार्ड रिपन ने 1882 ई. में रद्द किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


72. प्रथम एंग्लो-वर्मा युद्ध (1824-26) के बाद कौन-सी संधि हुई?
(a) अराकान सन्धि (b) टेनासेरिस सन्धि
(c) रंगून सन्धि (d) यांडूब संधि
Ans. (d) : प्रथम आंग्ल-बर्मा युद्ध 1824-26 को हुआ था। युद्ध का मुख्य कारण बर्मा राज्य की सीमाओं का ब्रिटिश साम्राज्य के आस-पास तक फैल जाना था‚ जिस कारण से अंग्रेजो के समक्ष एक संकट खड़ा होने का खतरा बढ़ गया था। इस युद्ध के पश्चात्‌ यांडूब की सन्धि हुई।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


73. यूरोप में सातवर्षीय युद्ध (1756-1763) के फलस्वरूप भारत स्थित फ्रांसीसी और ब्रितानी बस्तियों के बीच भी खुली शत्रुता पैदा हो गई। दक्षिण में डुप्ले और बुसी की प्राप्तियों को 1760-61 में तहस-नहस कर दिया गया। भारत में फ्रांसीसी परिसंपत्तियों के पुनस्र्थापन का प्रावधान किस सन्धि से हुआ?
(a) पांडिचेरी की सन्धि (b) वांडिवाश की सन्धि
(c) पेरिस की सन्धि (d) लंदन की सन्धि
Ans. (c) : कर्नाटक का तृतीय युद्ध अंग्रेजो तथा फ्रांसीसीयों के मध्य 1756 ई. से 1763 ई. तक चला। इसी समय यूरोप में ‘सप्तवर्षीय युद्ध’ आरम्भ हो गया था। कर्नाटक का तृतीय युद्ध सप्तवर्षीय युद्ध का ही एक महत्त्वपूर्ण अंश माना जाता है। 1763 ई. में सम्पन्न हुई पेरिस सन्धि के द्वारा अंग्रेजो ने चन्द्रनगर को छोड़कर शेष अन्य प्रदेश जो फ्रांसीसियों के अधिकार में 1749 ई. तक थे‚ वापस कर दिए और ये क्षेत्र भारत के स्वतंत्र होने तक इनके पास बने रहे।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


74. सरकारी अभिलेखों के संदर्भ में कंसल्टेशन्स क्या थे?
(a) बंगाल में अंग्रेज ईस्ट इंडिया कंपनी के तमाम किस्म के कारोबार।
(b) अंग्रेज ईस्ट इंडिया कंपनी के तमाम किस्म के सैन्य अभिलेख।
(c) प्रेसीडेंसियों के गवर्नरों को उनके सलाहकारों की रिपोर्ट।
(d) शिक्षा और न्यायपालिका से संबंधित अभिलेख।
Ans. (a) : भारत में ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कम्पनी का शासन 1773 ई. से शुरू हुआ। बंगाल में ईस्ट इण्डिया कंपनी के तमाम किस्म के कारोबार को सरकारी अभिलेखों के संदर्भ में कंसल्टेशन कहा जाता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


75. निम्नलिखित में से किस आंदोलन के दौरान सत्याग्रह‚ बहिष्कार और जन-विरोध के कई अन्य कारगर तौर‚ तरीकों का विकास और प्रयोग हुआ?
(a) बंग-भंग विरोधी आंदोलन (b) चंपारण आंदोलन
(c) खेड़ा सत्याग्रह (d) खिलाफत आंदोलन
Ans. (a) : अंग्रेजो ने भारतीयों के मध्य फूट डालने के लिए बंगाल विभाजन का निर्णय लिया तथा 16 अक्टूबर 1905 को विभाजन की तिथि घोषित की। भारतीयों ने इसका व्यापक पैमाने पर विरोध किया। नेताओं ने लोगों से विदेशी वध्Eों एवं वस्तुओं के बहिष्कार की अपील की। योजना के क्रियान्वयन की तिथि को शोक पर्व के रूप में मनाया गया। रवीन्द्रनाथ टैगोर ने इस दिन रक्षाबन्धन पर्व के रूप में मनाए जाने का आह्वान किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


76. 1946-47 के दौरान हैदराबाद का निजाम कौन था?
(a) नज्म-उद-दौला (b) कासिम रिजवी
(c) मीर उस्मान अली (d) मीर विलायत अली
Ans. (c) : 1946-47 में हैदराबाद का निजाम मीर उस्मान अली था। इसने हैदराबाद पर 17 सितम्बर 1948 तक शासन किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


77. सार्वजनिक मंचों पर प्रदर्शनीय कार्यक्रमों पर कड़ा राजकीय नियंत्रण लगाने वाले द ड्रामेटिक परफार्मेंसेस ऐक्ट को किस वर्ष में पारित किया गया था?
(a) 1888 (b) 1896
(c) 1876 (d) 1898
Ans. (c) : सार्वजनिक मंचो पर प्रदर्शनीय कार्यक्रमों पर कड़ा राजकीय नियंत्रण लगाने वाले द ड्रोमेटिक परफार्मेसेस एक्ट ब्रिटिश सरकार द्वारा सन्‌ 1876 में लागू किया गया था। नाटकीय प्रदर्शन अधिनियम‚ जिसे अक्सर ‘डी.पी.ए’ के नाम से जानते है‚ 1876 में वायसराय नार्थब्रुक के प्रशासन के तहत लाया गया था। अधिनियम में भारत में थिएटर को बेहतर ढ़ंग से नियंत्रित करने के लिए ब्रिटिश प्रशासन को सशक्त बनाने का प्रावधान था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


78. भारतीय समाज को मूक‚ बधिर और गतिहीन समाज बताने वाले सबसे पहले विद्वान कौन थे?
(a) कार्ल मार्क्स (b) मार्क ब्लॉक
(c) ए. एल. बाशम (d) जी.डब्ल्यू. एफ. हीगल
Ans. (d) : जार्ज विलहेम फ्रेड्रिक हेगेल सुप्रसिद्ध दार्शनिक थे। हेगेल का दर्शन निरपेक्ष प्रत्ययवाद या चिद्‌वाद अथवा वस्तुगत चैतन्यवाद कहलाता है। इन्होने सर्वप्रथम भारतीय समाज को मूक‚ बधिर और गतिहीन समाज बताया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


79. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची- I (संघ) सूची- II (संस्थापक)
(A) द सत्य महिमा धर्म ऑफ उड़ीसा
(i) पं. शिव नारायण अग्निहोत्री
(B) द स्वामी नारायण संप्रदाय ऑफ गुजरात
(ii) महिमा गोसाई
(C) द परमहंस मंडली (iii) सहजानंद स्वामी
(D) देव समाज (डिवाइन सोसायटी)
(iv) दादोबा पांडुरंग नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(ii); (B)-(iii); (C)-(iv); (D)-(i)
(b) (A)-(iii); (B)-(iv); (C)-(ii); (D)-(i)
(c) (A)-(iv); (B)-(iii); (C)-(i); (D)-(ii)
(d) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(iv)
Ans. (a) : सूची- I (संघ) सूची- II (संस्थापक) (A) द सत्य महिमा धर्म ऑफ उड़ीसा महिमा गोसाई (B) द स्वामी नारायण संप्रदाय ऑफ गुजरात सहजानंद स्वामीे (C) द परमहंस मंडली दादोबा पांडुरंग (D) देव समाज (डिवाइन सोसायटी) पं. शिव नारायण अग्निहोत्री
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


80. मद्रास उच्च न्यायालय में मुथुस्वामी अय्यर की नियुक्ति का निम्नलिखित में से किसने इस आधार पर विरोध किया था कि देशज अधिकारियो को समान परिस्थितियों में कार्यरत यूरोपीय अधिकारियों के समान वेतन नहीं मिलना चाहिए?
(a) द हिन्दू (b) अमृत बाजार पत्रिका
(c) द ट्रिब्यून (d) मद्रास मेल
Ans. (d) : सर थिरूवरूर मुथुस्वामी अय्यर एक भारतीय वकील थे जो 1877 में मद्रास उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त होने वाले पहले मूल भारतीय बने। उन्होंने 1893 में मद्रास उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश के रूप में भी काम किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


81. इनमे से कौन फरैजी आंदोलन से संबद्ध नहीं था?
(a) हाजी शारियतुल्ला (b) टीटू मियाँ
(c) दुदु मियाँ (d) नया मियाँ
Ans. (b) : फरायजी आन्दोलन की शुरूआत 1838 ई. में हुई थी। बंगाल के फरीदपुर का यह सम्प्रदाय ‘हाजी शरीयतुल्ला’ के विचारों से प्रभावित था। ये लोग सामाजिक राजनीतिक तथा धार्मिक परिवर्तन के हिमायती थे। इसके अन्य नेता थे- दादू मियां तथा नया मियां आदि। टीटू मीर जिनका असली नाम मीर नाजिर अली था‚ ने बंगाल के 24 परगना क्षेत्र में किसानों और दस्तकारों पर होने वाले अत्याचार का विरोध किया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


82. 395 अनुच्छेद और 12 अनुसूचियों वाला भारत का संविधान किस अवधि के दौरान तैयार किया गया?
(a) दिसम्बर 1946 और दिसम्बर 1949
(b) दिसम्बर 1945 और जनवरी 1950
(c) अगस्त 1947 और जनवरी 1950
(d) दिसम्बर 1946 और जनवरी 1950
Ans. (a) : संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसम्बर 1946 ई. में इसके अस्थायी अध्यक्ष डॉ. सच्चिदानन्द सिन्हा की अध्यक्षता में हुई थी। भारतीय संविधान सभा में 299 सदस्य थे। 114 दिनों की लम्बी चर्चाओं के पश्चात्‌ 26 नवम्बर 1949 ई. को संविधान का कार्य पूर्ण हुआ। मूल संविधान में 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियां थी। वर्तमान में भारत के संविधान में 395 अनुच्छेद और 12 अनुसूचियां है। संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


83. मुजफ्फर अहमद ने 1925 में काजी नजरूल इस्लाम के साथ मिलकर किस पार्टी का स्थापना की?
(a) लेबर स्वराज पार्टी
(b) वर्कर्स एण्ड पीजेंट्‌स पार्टी
(c) स्वराज पार्टी
(d) ऑल डंडिया टे्रड यूनियन कांग्रेस
Ans. (a) : बंगाल में मुजफ्फर अहमद ने 1925-26 में काजी नजरूल इस्लाम के सहयोग से लेबर स्वराज पार्टी (जो बाद में किसानों तथा मजदूरो की पार्टी कहलाई) की स्थापना की। लेबर स्वराज पार्टी ने ‘लांगल’ (हल) नामक एक साप्ताहिक पत्र बंगला भाषा में निकाला था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


84. निम्नलिखित में से किन क्षेत्रों में‚ 19वीं सदी में‚ व्यवस्थित रूप से राजकीय पहल दिखाई देती है?
(a) गणित‚ भौतिक-विज्ञान‚ रसायन-विज्ञान
(b) मानचित्र और सर्वे‚ वनस्पति-विज्ञान‚ भू-विज्ञान‚ चिकित्सा
(c) धर्मशास्त्र‚ साहित्य और गणित
(d) कला‚ भाषा-विज्ञान‚ नाट्यशास्त्र
Ans. (b) : ट्राइगोनोमेट्रीकल सर्वे आफ इण्डिया की स्थापना 1802 में हुई। भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण की स्थापना 1887 में हुई। भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण की स्थापना 1851 में हुई। 1868 में बंगाल में एक अलग सिविल मेडिकल डिपार्टमेंट की स्थापना हुई। 1869 में भारत सरकार में एक पब्लिक हेल्थ कमिश्नर तथा सांख्यिकी अधिकारी की नियुक्ति की गई। 1896 में इण्डियन मेडिकल सर्विस की स्थापना हुई। इस प्रकार इन क्षेत्रों में 19वीं सदी में व्यवस्थित रूप से राजकीय पहल दिखाई पड़ती है।े
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


85. गाँधीजी ने किस वर्ष साबरमती आश्रम (अहमदाबाद) छोड़ा और स्वराज प्राप्ति के बाद ही लौटने का व्रत लिया?
(a) 1933 (b) 1922
(c) 1930 (d) 1929
Ans. (c) : गाँधी जी ने साबरमती आश्रम की स्थापना 1917 को साबरमती नदी के किनारे किया था। 12 मार्च 1930 को यही से गाँधी जी ने दांडी यात्रा शुरू करते समय कसम खाई थी कि जब तक भारत को आजादी नहीं मिल जाएगी वे आश्रम में पैर नहीं रखेगे।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


86. इस बहस का अभी अंत नहीं हुआ है कि ब्रिटिश शासन के अधीन भारतीय अर्थव्यवस्था का अभिलक्षण विकास या गतिरोध था या उत्तरोत्तर गरीबी बढी थी। इस बहस के अनिर्णीत चरित्र का क्या प्रमुख कारण है?
(a) गुणात्मक साक्ष्य की विविध प्रकार से व्याख्या की जाती है।
(b) संबंधित गुणात्मक आंकड़े अपर्याप्त हैं।
(c) लेखक विशेष की वैचारिक प्राथमिकताएँ।
(d) भारतीय अर्थव्यवस्था का औपनिवेशिक चरित्र।
Ans. (b) : ब्रिटिश शासन के अधीन भारतीय अर्थव्यवस्था का अभिलक्षण निर्धारित करने वाले सम्बन्धित गुणात्मक आंकड़े अपर्याप्त हैं जिससे यह निर्णय करना मुश्किल है कि इस समय भारतीय अर्थव्यवस्था का अभिलक्षण विकास या गतिरोध था या उत्तरोत्तर गरीबी बढ़ी थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


87. फ्रांसिस कैरो ने भारत मे पहली फ्रांसीसी फैक्टरी की स्थापना कब की?
(a) 1667 ई. में (b) 1669 ई. में
(c) 1672 ई. में (d) 1674 ई. में
Ans. (a) : 1667 में फ्रांसिस कैरो के नेतृत्व में फ्रांस से नाविकों का जत्था रवाना हुआ। 1668 ई. में फ्रांसिस कैरो ने सूरत में पहली फ्रांसीसी फैक्ट्री स्थापित की। दूसरी फैक्ट्री मछलीपट्टनम में स्थापित की गई थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


88. निम्नलिखित में से किसने मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड अधिनियम के प्रावधानों को लागू कराने के लिए अंग्रेजो का साथ दिया और उनके प्रति निष्ठा की घोषणा की? 1930 के दशक के उत्तरार्द्ध में इसका कांग्रेस में विलय हो गया‚ जिससे राष्ट्रीय आंदोलन का आधार व्यापक हुआ।
(a) सत्यशोधक समाज (b) द जस्टिस पार्टी
(c) द्रविड़ कषगम (d) गैर-ब्राह्मण संघ
Ans. (d) : महाराष्ट्र में गैर ब्राह्मण आंदोलन का आरम्भ ज्योतिबा फुले के नेतृत्व में हुआ। महाराष्ट्र में गैर ब्राह्मण आंदोलन ने 19वीं सदी के अंत तक दो समानांतर प्रवृत्तियों का विकास किया। एक अधिक धनी गैर ब्राह्मणों के नेतृत्ववाली रूढ़िवादी प्रवृत्ति थी‚ जो अपनी मुक्ति के लिए ब्रिटिश सरकार में आस्था रखते थे और 1919 के मांटेग्यू चेम्सफोर्ड सुधारों के बाद उन्होने गैर ब्राह्मण एसोसिएशन नाम से एक अलग और निष्ठावान राजनीतिक दल का गठन किया जिसने अंग्रेजी शासन का समर्थन किया। बंबंई प्रेसीडेंसी के गैर ब्राह्मण आंदोलन ने विदर्भ में 1938 में औपचारिक रूप से कांग्रेस मे विलय का निर्णय किया और इस तरह कांग्रेस को एक व्यापक जनाधार प्रदान किया।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


89. इनमें से किसने यह लिखा कि कांग्रेस का जन्म एक षड़यंत्र के तहत हुआ था जिसका उद्देश्य था भारत में एक लोकप्रिय जनउभार को पहले से रोकना और पूँजीवादी नेता इसमें शामिल थे?
(a) आर.पी. दत्त (b) आर.सी. दत्त
(c) जे.पी. नारायण (d) बी.जी. तिलक
Ans. (a) : रजनी पामदत्त ने अपनी पुस्तक इंडिया टुडे में यह लिखा कि कांग्रेस का जन्म अंग्रेजो के षड़यंत्र के तहत हुआ था जिसका उद्देश्य था अंग्रेजो के विरूद्ध भारतीय जनता के मन में बढ़ने वाले असंतोष को बाहर निकालकर एक सेफ्टी वाल्व का कार्य करना था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


90. किस व्यवस्था अथवा बंदोबस्त के अधीन भारतीय राज्य‚ विदेश और रक्षा मामलों के अपने अधिकार खो बैठे?
(a) राज्यविलय नीति (b) सहायक सन्धि प्रणाली
(c) स्थायी बंदोबस्त (d) द्विशासन प्रणाली
Ans. (b) : भारत में सहायक सन्धि की शुरूआत सर्वप्रथम डूप्ले ने भारतीय नरेशो को धन के बदले अपने सैनिको को किराए पर उपलब्ध करवाने से की। बाद में क्लाइव तथा कार्नवालिस ने भी इस नीति को अपनाया। वेलेजली ने इसे सुनिश्चित एवं व्यापक स्वरूप प्रदान किया। सहायक सन्धि कम्पनी और देशी राज्यों के बीच होती थी। सन्धि के अनुसार कम्पनी देशी राज्यों को सैनिक सहायता देने का वचन देती थी और उसके बदले में उससे निश्चित आर्थिक सहायता लेती थी। इस सन्धि को स्वीकारने वाले राज्य विदेश और रक्षा मामलों के अपने अधिकार खो बैठते थे।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


91. निम्नलिखित मे से कौन-सा युग्म सही रूप से सुमेलित नहीं है?
A (संघ) B (संबद्ध)
(a) भारत त्री महामंडल (i) सरला देवी चौधरानी
(b) वीमेंस इंडियन एसोसिएशन
(ii) तिय्या
(c) द नेशनल काउंसिल ऑफ वूमेन
(iii) लेडी मेहरीबाई टाटा
(d) ऑल इंडिया वीमेंस कांफरेंस
(iv) मार्गे्रट कजिंस
Ans. (b) : वीमेंस इंडियन एसोसिएशन की स्थापना 1917 में एनी बेसेन्ट द्वारा अड्यार मद्रास में की गई थी। इसमे माग्रेट कजिंस तथा जीना राजा दासा आदि महिलाएं उनकी सहयोगी थी। इस एसोसिएशन का उद्देश्य महिलाओं की अशिक्षा‚ बाल-विवाह‚ देवराजी आदि कुप्रथाओं से बचाना व उनका सशक्तीकरण करना था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


92. गवर्नर-जनरल को ‘द सर्वेट ऑफ द एम्परर’ घोषित करने वाले वाक्यांश का शासकीय मुहर से कब विलोप किया गया?
(a) गवर्मेन्ट ऑफ इंडिया ऐक्ट‚ 1858 के बाद से
(b) 1833 के चार्टर ऐक्ट के बाद से
(c) 1813 के चार्टर ऐक्ट के बाद से
(d) 1784 के पिट्‌स इंडिया ऐक्ट के बाद से
Ans. (*) : इसका कोई भी उत्तर आयोग ने सही नहीं माना है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


93. सूची-I को सूची- II के साथ सुमेलित कीजिए :
सूची- I (लेखक) सूची- II (पुस्तक)
(A) वेरा एंस्टे (i) इकॉनोमिक डेवलपमेंट ऑफ इंडिया
(B) बी.एम. भाटिया (ii) फेमिंस इन इंडिया
(C) डी.एच. बुचानन (iii) द डेवलपमेंट ऑफ कैपिटलिस्ट
(D) डी.आर. गाडगिल (iv) इंडस्ट्रियल एवोल्यूशन इन इंडिया नीचे दिए गए विकल्प में से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(a) (A)-(iii); (B)-(ii); (C)-(i); (D)-(iv)
(b) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iii); (D)-(iv)
(c) (A)-(iv); (B)-(iii); (C)-(i); (D)-(ii)
(d) (A)-(i); (B)-(ii); (C)-(iv); (D)-(iii)
Ans. (b) : सूची- I सूची- II (लेखक) (पुस्तक) (A) वेरा एस्टे इकॉनोमिक डेवलपमेंट ऑफ इंडिया (B) बी.एम. भाटिया फेमिंस इन इंडिया (C) डी.एच. बुचानन द डेवलपमेंट ऑफ कैपिटलिस्ट (D) डी.आर.गाडगिल इंडस्ट्रियल एवोल्यूशन इन इंडिया
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


94. ब्रिटिश भारत के इतिहास में मैसूर को उसके पुराने शासक परिवार को वापस सौंपा जाना एक अद्वितीय घटना थी। इसे किसने अंजाम दिया?
(a) लॉर्ड केनिंग (b) मार्कीस ऑफ रिपन
(c) मार्कीस ऑफ लेंसडाउन (d) डफरिन
Ans. (b) : विलियम बेंटिक ने 1831 में कुशासन के आधार पर मैसूर का अंग्रेजी राज में विलय कर लिया था जिसे लार्ड रिपन ने उसके पुराने शासक राजवंश को पचास वर्ष बाद वापस कर दिया‚ जो ब्रिटिश भारत के इतिहास में एक अभूतपूर्व घटना थी। फ्लोरेंस नाइटेंगल ने लार्ड रिपन को भारत के उद्धारक की संज्ञा दी थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


95. निम्नलिखित में से किस स्थान से सुभाष चन्द्र बोस ने ‘दिल्ली चलो’ का अपना प्रसिद्ध आह्वान किया?
(a) रूस (b) जर्मनी
(c) इटली (d) सिंगापुर
Ans. (d) : सुभाष चन्द्र बोस ने 5 जुलाई 1943 को आजाद हिन्द फौज के सुप्रीम कमाण्डर के रूप में सेना को सम्बोधित करते हुए ‘दिल्ली चलो’ का नारा दिया था। 21 अक्टूबर 1943 को सुभाष चन्द्र बोस ने आजाद हिन्द फौज के सर्वोच्च सेनापति की हैसियत से स्वतन्त्र भारत की अस्थायी सरकार बनायी थी।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


96. इनमें से किसने भारत में चलचित्रों की अवधारणा का प्रवेश कराया?
(a) कोलोरेलो और कॉनेग्लिया (b) हीरालाल सेन
(c) लुईस और ऑगस्ट लुमिएरे (d) दादा साहब फाल्के
Ans. (c) : ल्युमिएरे ब्रदर्स ने 19वीं सदी के आखिरी दशक में सिनेमा का आविष्कार किया था। बंबई में जुलाई‚ 1896 में पहली बार इनकी फिल्मों का प्रदर्शन हुआ था। 1899 में एच.एस. भाटवेडकर ने पहली न्यूज रील बनाई। पहली फीचर फिल्म बनाने का श्रेय दादा साहब फाल्के को जाता है। जिन्होनें 1913 मे पहली मूक फिल्म ‘राजा हरिश्चन्द्र’ का निर्माण किया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


97. निम्नलिखित में से क्या सही नहीं है?
(a) 1857 के विद्रोह से पहले दिल्ली और लखनऊ में रहने वाले अंग्रेजो और भारतीयों के बीच वैयक्तिक सम्बन्ध काफी हद तक दोस्ताना थे।
(b) 1857 से पहले की दिल्ली में अधिकतर यूरोपीय लोग पुराने दिल्ली शहर (वॉल्ड सिटी) में भारतीयों के घरों में किराए पर रहते थे।
(c) 1857 के बाद भारतीयों को दिल्ली और लखनऊ से बाहर कर दिया गया था।
(d) 1857 के बाद ब्रिटिश गैरिसन को शाहजहाँबाद के पुराने शहर (वॉल्ड सिटी) के बाहर ले जाया गया था।
Ans. (d) : 1857 के बाद ब्रिटिश गैरिसन को शाहजहांबाद के पुराने शहर (वॉल्ड सिटी) के बाहर न ले जाकर उसे रिज एरिया में स्थानान्तरित कर दिया गया था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


98. नीचे दो कथन दिए गए हैं‚ एक को अभिकथन (A) कहा गया है और दूसरे को कारण (R) कहा गया है :
अभिकथन (A): भारत के क्रमिक उद्योगीकरण ने न सिर्फ पँूजीपतियों को सार्वजनिक जीवन के अग्रभाग में ला खड़ा किया बल्कि एक औद्योगिक मजदूर वर्ग को भी उत्पन्न किया। कारण (R) : यूरोपीय स्थिति के विपरीत भारत में सर्वहारा बने किसानों के बीच से मजदूरों की कोई खुली भर्ती नहीं हुई‚ यह भर्ती आमतौर पर बेरोजगारों के बीच से हुई। उपर्युक्त दो कथनों के संदर्भ में निम्न में से क्या सही है?
(a) (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की सही व्याख्या (R) है।
(b) (A) और (R) दोनों सही हैं परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
(c) (A) सही है परन्तु (R) गलत है
(d) (A) गलत है परन्तु (R) सही है
Ans. (b) : कथन (A) और कारण (R) दोनों सही है‚ परन्तु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


99. केनिंग-लॉरिस स्कूल‚ मिल स्कूल और मेयो-नॉर्थब्रूक स्कूल किस प्रशासनिक विवाद से सम्बन्धित थे?
(a) समाज-सुधारों से संबन्धित अधिनियमन।
(b) स्थायी बंदोबस्त का क्रियान्वयन‚ जारी रहना और विस्तार।
(c) नए क्षेत्रों में महालवाड़ी बंदोबस्त की शुरूआत।
(d) 1857 के विद्रोह के बाद भारत के प्रति उदार दृष्टिकोण का अपनाया जाना।
Ans. (b) : केनिंग-लारेस स्कूल‚ मिल स्कूल तथा मेयो नार्यब्रुक स्कूल स्थायी बन्दोबस्त का क्रियान्वयन जारी रहने और विस्तार के विवाद से सम्बन्धित थे। स्थायी बन्दोबस्त 1790 में जमींदारों के साथ एक 10 वर्षीय समझौता हेतु शुरू किया गया था जिसे 1793 में स्थायी कर दिया गया। यह व्यवस्था बंगाल‚ बिहार‚ उड़ीसा‚ उत्तर प्रदेश के बनारस खण्ड तथा उत्तरी कर्नाटक में लागू की गई थी। इस व्यवस्था के तहत ब्रिटिश भारत के कुल क्षेत्रफल का लगभग 19 प्रतिशत भाग सम्मिलित था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


100. निम्नलिखित में से क्या सही क्रम में सुमेलित नहीं है?
(a) द हिन्दू : जी. सुब्रमण्यम अय्यर
(b) अमृत बाजार पत्रिका : मोतीलाल घोष
(c) बंगाली : सुरेन्द्रनाथ बनर्जी
(d) सुधारक : एन.एन. सेन
Ans. (d) : ‘सुधारक’ समाचार पत्र की स्थापना सन्‌ 1888 में गोपाल गणेश अगरकर ने की थी। यह समाचार पत्र अंग्रेजी तथा मराठी में प्रकाशित होता था। इसका प्रकाशन पूना‚ महाराष्ट्र से होता था।
UGC NTA NET JRF History (Itihas) Previous Papers & Questions in Hindi


Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!