You are here
Home > ebooks > Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi

Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi

Jharkhand JTET Child Development and Pedagogy Previous Papers Setwise

1. क्रेशमर ने व्यक्तित्व को निम्न में से किस प्रमुख प्रकार में वर्गीकृत किया है?
(a) कृशकाय (दुर्बल) (b) सुडौलकाय
(c) गोलकाय (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d) क्रेचमर ने शरीर रचना की दृष्टि से व्यक्तित्व को तीन भागों में विभक्त किया है− (1) लम्बकाय/कृशकाय (2) सुडौलकाय/पुष्टकाय (3) गोलकाय/स्थूलकाय।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


2. भारतीय संविधान के किस अनुच्छेद में 6-14 आयु-वर्ग के बच्चों के लिए नि:शुल्क व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार शामिल किया गया है?
(a) अनुच्छेद 26 (b) अनुच्छेद 15
(c) अनुच्छेद 45 (d) अनुच्छेद 21A
Ans: (d) भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21A में 6-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए नि:शुल्क व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार शामिल किया गया है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


3. संघनन का सिद्धान्त निम्न में से किसकी व्याख्या करता है?
(a) अधिगम (b) स्मृति
(c) अभिप्रेरणा (d) सृजनात्मकता
Ans: (b) संघनन का सिद्धान्त स्मृति से सम्बन्धित है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


4. टी. ए. टी. का उद्देश्य निम्न में से किसका मापन है?
(a) बौद्धिक क्षमता (b) अभिक्षमता
(c) अभिवृत्ति (d) मूल्य
Ans: (b) टी. ए. टी. (TAT) का उद्देश्य अभिक्षमता का मापन करना होता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


5. ऐल्बर्ट बण्डूरा निम्न में से किससे सम्बन्धित है?
(a) सामाजिक अधिगम सिद्धान्त
(b) व्यवहारवादी सिद्धान्त
(c) संज्ञानात्मक विकास का सिद्धान्त
(d) मनोलैंगिक विकास
Ans: (a) ऐल्बर्ट बण्डूरा सामाजिक अधिगम सिद्धान्त से सम्बन्धित हैं।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


6. निम्न में से कौन-सी शिक्षा मनोविज्ञान की सर्वाधिक व्यक्तिनिष्ठ विधि है?
(a) अन्तर्दर्शन (b) बहिर्दर्शन
(c) अवलोकन (d) प्रयोगीकरण
Ans: (a) शिक्षा मनोविज्ञान की सर्वाधिक व्यक्तिनिष्ठ विधि अन्तर्दर्शन विधि है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


7. दर्पण चित्र परीक्षण किसको मापने हेतु प्रयुक्त होता है?
(a) अधिगम की गति (b) अधिगम-अन्तरण
(c) सृजनात्मकता (d) अभिरुचि
Ans: (b) दर्पण चित्र परीक्षण अधिगम अन्तरण को मापने हेतु प्रयुक्त होता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


8. अधिगम वक्र में पठार बनता है
(a) परिपक्वता के कारण (b) अभिप्रेरणा के कारण
(c) थकान के कारण (d) अभिरुचि के कारण
Ans: (c) सीखने की गति हमेशा एक तरह से नहीं रहती है‚ सीखने की गति में कभी तीव्रता तो कभी मंदता होती है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


9. निम्न में से कौन-सा शेष से भिन्न है?
(a) टी. ए. टी. (b) 16-पी. एफ.
(c) रैवेन का परीक्षण (d) ड्रॉ-ए-मैन परीक्षण
Ans: (c) टी. ए. टी.‚ 16 पी. एफ. तथा ड्रॉ-ए-मैन परीक्षण व्यक्तित्व परीक्षण है जबकि रैवेन का परीक्षण अशाब्दिक परीक्षण है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


10. क्लाउड पिक्चर टेस्ट निम्न में से किसके मापन में प्रयुक्त होता है?
(a) बुद्धि (b) व्यक्तित्व
(c) अभिक्षमता (d) अभिरुचि
Ans: (b) क्लाउड पिक्चर टेस्ट व्यक्तित्व के मापन में प्रयुक्त होता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


11. सूझ या अन्तर्दृष्टि के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया है?
(a) थॉर्नडाइक (b) गेस्टालवादी मनोवैज्ञानिक
(c) हेगार्टी (d) स्किनर
Ans: (b) अधिगम से सम्बन्धित सूझ या अन्तर्दृष्टि सिद्धान्त का प्रतिपादन गेस्टालवादी मनोवैज्ञानिको ने किया है‚ जिसमे वोल्फगैंग कोहलर तथा कुर्ट कोफ्का प्रमुख है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


12. 7‚ 8‚ 9‚ 10‚ 11‚ 12 की माध्यिका है
(a) 8 (b) 9
(c) 10 (d) 9.5
Ans: (d) Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


13. पूर्व अनुभव के आधार पर संवेदना को अर्थ प्रदान करना कहलाता है
(a) संवेदना (b) प्रत्यक्षज्ञान
(c) अभिप्रेरणा (d) कल्पना
Ans: (b) पूर्व अनुभव के आधार पर संवेदना को अर्थ प्रदान करना प्रत्यक्ष ज्ञान कहलाता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


14. मैक्डूगल के अनुसार प्रत्येक मूल प्रवृत्ति से सम्बद्ध होता है
(a) संज्ञान (b) संवेग
(c) संवेदना (d) चिन्तन
Ans: (b) मैकडूगल के अनुसार संवेग प्रत्येक मूल प्रवत्ति से सम्बद्ध होता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


15. कौन-सा बुद्धि लब्धि स्तर मन्दबुद्धि वाले बच्चों का प्रशिक्षणयोग्य बुद्धि लब्धि स्तर कहलाता है?
(a) 70-79
(b) 50-69
(c) 36-49
(d) 35 एवं निम्न
Ans: (c) टरमैन ने 1916 के स्टैनफोर्ड ने परीक्षण के साथ बुद्धिलब्धि के वितरण की तालिका इस प्रकार तैयार की है− बुद्धिलब्धि की सीमाएँ वर्ग 130 से अधिक प्रतिभाशाली 121 − 130 प्रखर बुद्धि 111 − 120 तीव्र बुद्धि 91 − 110 सामान्य बुद्धि 81 − 90 मन्द बुद्धि 71 − 80 अल्प बुद्धि 71 से कम जड़ बुद्धि इस प्रकार 81 − 90 बुद्धि लब्धि वाले बच्चे मन्दबुद्धि के होते हैं।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


16. पाँच वर्ष के मोहन की मानसिक आयु आठ वर्ष है। उसकी बुद्धि लब्धि कितनी है?
(a) 150 (b) 160
(c) 140 (d) 135
Ans: (b) बुद्धिलब्धि = (वास्तविक आयु/मानसिक आयु)*100 Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


17. निम्न में से कौन-सा विस्मृति का कारण नहीं है?
(a) सीखने में कमी
(b) स्मरण करने की इच्छा
(c) मानसिक द्वन्द्व
(d) सीखने की दोषपूर्ण विधियाँ
Ans: (b) विस्मृति या विस्मरण सीखने में कमी‚ मानसिक द्वन्द्व तथा सीखने की दोषपूर्ण विधियों के कारण होता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


18. रोर्शाक इंकब्लॉट टेस्ट का प्रयोग निम्न में से किसके मापन हेतु किया जाता है?
(a) व्यक्तित्व (b) बुद्धि
(c) अभिरुचि (d) अभिक्षमता
Ans: (a) रोर्शाक इंकब्लॉट टेस्ट का प्रयोग व्यक्तित्व मापन हेतु किया गया है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


19. पिछड़े बच्चों के लिए शैक्षिक लब्धि की अवधारणा किसने दी है?
(a) गॉर्डन (b) शोनेल
(c) बर्टन हॉल (d) सिरिल बर्ट
Ans: (d) पिछड़े बच्चों के लिए शैक्षिक लब्धि की अवधारणा सिरिल बर्ट ने दी है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


20. वह विज्ञान‚ जो संख्यात्मक प्रदत्त को एकत्र करने‚ विभाजित करने‚ प्रस्तुत करने‚ तुलना करने और व्याख्या करने की विधि से सम्बन्धित है‚ कहलाता है
(a) सांख्यिकी (b) गणित
(c) ज्यामिति (d) सम्भाव्यता
Ans: (a) वह विज्ञान जो संख्यात्मक प्रदत्त को एकत्र करने‚ विभाजित करने‚ प्रस्तुत करने‚ तुलना करने और व्याख्या करने की विधि से सम्बन्धित है‚ सांख्यिकी कहलाता है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


21. निम्न में से कौन-सा बुद्धि का सिद्धान्त नहीं है?
(a) एक-तत्त्व सिद्धान्त (b) द्वि-तत्त्व सिद्धान्त
(c) प्रत्यागमन सिद्धान्त (d) बहुतत्त्व सिद्धान्त
Ans: (c) बुद्धि के एक-तत्व सिद्धान्त का समर्थन बिने‚ टरमैन तथा स्टर्न जैसे मनोवैज्ञानिको ने‚ द्वितत्व सिद्धान्त का प्रतिपादन स्पीयरमैन ने तथा बहु-तत्व सिद्धान्त का प्रतिपादन हावर्ड-र्गाडनर ने किया था।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


22. निम्न में से कौन-सा एक उत्तम परीक्षण की विशेषताओं से भिन्न है?
(a) विश्वसनीयता (b) वैधता
(c) वस्तुनिष्ठता (d) अभिक्षमता
Ans: (d) एक उत्तम परीक्षण की निम्नलिखित विशेषताएँ होती है- (1) वैधता‚ (2) विश्वसनीयता‚ (3) वस्तुनिष्ठता‚ (4) विभेदकता‚ (5) प्रमापीकरण‚ (6) व्यापकता‚ (7) विशिष्टता‚ (8) व्यावहारिकता आदि।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


23. पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की द्वितीय अवस्था है?
(a) ज्ञानेन्द्रिय अवस्था
(b) औपचारिक संक्रियता की अवस्था
(c) पूर्व-संक्रिया की अवस्था
(d) मूर्त संक्रिया की अवस्था
Ans: (c) पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की 4 अवस्थाएँ होती हैं− (1) संवेदीगामक अवस्था (Sensor motor stage) (0-2 वर्ष) (2) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था (Pre-operations stage) (2-7 वर्ष) (3) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था (Concrete operations stage) (7-11 वर्ष) (4) औपचारिक संक्रिया अवस्था (Formal operations stage) (11−14 वर्ष)Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


24. निम्न में से कौन-सी एक अन्त:दाावी ग्रन्थि नहीं है?
(a) एड्रिनल ग्रन्थि (b) पीयूष ग्रन्थि
(c) लार ग्रन्थि (d) थायरॉइड ग्रन्थि
Ans: (c) लार ग्रंथि एक अंत:दाावी ग्रंथि नहीं है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


25. बुद्धि लब्धि की गणना का सही सूत्र निम्न में से कौनसा है?
(a) (वास्तविक आयु/मानसिक आयु) *100
(b) (मानसिक आयु/वास्तविक आयु) *100
(c) (मानसिक आयु/वास्तविक आयु) *100
(d) (वास्तविक आयु/मानसिक आयु) *100
Ans: (a) बुद्धि लब्धि = (वास्तविक आयु/मानसिक आयु) *100Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


26. शारीरिक विकास को प्रभावित करने वाला कारक कौन-सा है?
(a) वंशानुक्रम (b) वातावरण
(c) खेल तथा व्यायाम (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d) शारीरिक विकास को प्रभावित करने वाले कारक के अन्तर्गत वंशानुक्रम‚ वातावरण तथा खेल एवं व्यायाम‚ भोजन‚ परिवार की स्थिति‚ दिनचर्या‚ विश्राम तथा निद्रा आदि आते हैं।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


27. आगमनात्मक तर्क के स्तरों में कौन-सी शामिल नहीं है?
(a) अवलोकन (b) प्रयोग
(c) सामान्यीकरण (d) कल्पना
Ans: (d) आगमनात्मक तर्क के स्तरों के अन्तर्गत अवलोकन‚ प्रयोग तथा सामान्यीकरण शामिल है परन्तु कल्पना शामिल नहीं है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


28. ‘चिंतनशील सोच’ की चर्चा इनमें से किसने की है?
(a) ड्यूवी (b) रॉस
(c) वुडवर्थ (d) ड्रेवर
Ans: (a) John Dewey ने ‘‘चिंतनशील सोच’’ की अवधारणा 1910 में दी थी।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


29. मूल प्रवृत्ति की एक प्रमुख विशेषता है‚ जो पायी जाती है
(a) केवल मनुष्यों में
(b) केवल बिल्लियों में
(c) सभी प्राणियों में तथा यह जन्मजात व प्राकृतिक होती है
(d) केवल कलाकारों में
Ans: (c) मूल प्रवृत्तियाँ सभी प्राणियों में पायी जाती है तथा यह जन्मजात व प्राकृतिक होती है।Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


30. सीखी गयी बात को धारण करने और पुन:स्मरण करने में असफल होना
(a) विस्मरण है (b) स्मरण है
(c) धारण है (d) चिन्तन है
Ans: (a) सीखी गयी बात को धारण करने और पुन: स्मरण करने में असफल होना‚ विस्मरण कहलाता है।
Jharkhand JTET Child Development & Pedagogy Previous Papers in Hindi


Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!