7 Hindi Chapter 13 एक तिनका

Chapter Notes and Summary
इस कविता के माध्यम से कवि ने घमंड न करने की सीख दी है। कई बार छोटी-से-छोटी चीज़ भी बड़े-से-बड़े घमंड को तोड़ कर रख देती है। कवि ऐसी ही एक घटना का ज़िक्र कर रहा है एक बार वह घमंड में भरा हुआ अपनी छत की मुंडेर पर खड़ा था तभी एकाएक कोई तिनका उसकी आँख में पड़ गया। अचानक ही वह बेचैन हो उठा। आँख लाल हो गई और दुखने लगी। लोग उसकी मदद के लिए आए और कपड़े से उसकी आँखों में पड़ा तिनका निकालने लगे। उस जरा से तिनके से लेखक का सारा घमंड उड़ गया। किसी तरह जब तिनका उसकी आँख से निकला तो लेखक की अक्ल ने उन्हें ताना दिया कि वह किस बात पर इतनी अकड़ में था? उसकी अकड़ को ढीला करने के लिए तो एक ज़रा-सा तिनका ही बहुत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *